भारत के दूरसंचार विभाग ने एयरटेल, जियो और बीएसएनएल को 5G परीक्षण के लिए स्पेक्ट्रम किया आवंटित

पिछले ही महीने, Department of Telecom (DoT) ने सभी telecom operators को हरी झंडी दे दी थी भारत में 5G trials शुरू करने के लिए वो भी बिना किसी Chinese OEMs के हिस्सेदारी के। आज की बात करें, तब इंडस्ट्री के सूत्रों से ये मालूम हुआ है की, DoT ने 5G spectrum allocate कर दिया है telcos को, जिसमें शामिल हैं Airtel, Reliance Jio, Vi (Vodafone Idea), BSNL, और MTNL, जिससे की वो भारत में 5G network की testing शुरू कर पाएँ। 

एक दूरसंचार कंपनी के एक अधिकारी ने पीटीआई (लाइवमिंट के माध्यम से) को एक बयान में कहा, “दूरसंचार ऑपरेटरों को 700 मेगाहर्ट्ज बैंड, 3.3-3.6 गीगाहर्ट्ज़ (गीगाहर्ट्ज़) बैंड और 24.25-28.5 गीगाहर्ट्ज़ बैंड में विभिन्न स्थानों पर स्पेक्ट्रम आवंटित किया गया है।”

india 5g trials network

DoT के अनुसार, 5G नेटवर्क से मौजूदा 4G नेटवर्क की तुलना में दस गुना बेहतर डाउनलोड स्पीड देने की उम्मीद है। इसके अलावा, इससे स्पेक्ट्रम दक्षता में भी सुधार होने की उम्मीद है। टेलीकॉम दिग्गज विभिन्न भारतीय सेटिंग्स में 5G नेटवर्क का परीक्षण करेंगे, जिसमें टेली-मेडिसिन, टेली-एजुकेशन और ड्रोन-आधारित कृषि निगरानी शामिल हैं।

अनजान लोगों के लिए, भारतीय दूरसंचार विभाग ने मोबाइल सेवा प्रदाताओं को देश में 5G नेटवर्क का परीक्षण शुरू करने की अनुमति दी है। भारत के DoT ने यह भी उल्लेख किया है कि 5G परीक्षण चीनी ओईएम पर निर्भर नहीं होंगे, ऑपरेटरों को Huawei या ZTE से 5G उपकरण का उपयोग न करने के लिए कहा गया है। 

नतीजतन, Jio देश में अपने 5G परीक्षणों का संचालन करने के लिए स्वदेशी तकनीक और उपकरणों का उपयोग करेगा। जबकि अन्य दूरसंचार ऑपरेटरों ने एरिक्सन, सैमसंग, नोकिया और सी-डॉट जैसी कंपनियों के साथ भागीदारी की है।

5G परीक्षण, जो लगभग छह महीने तक चलेगा, दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु और हैदराबाद सहित पूरे भारत के कई शहरों में होगा। साथ ही, इसका परीक्षण देश के शहरी, अर्ध-शहरी और साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाएगा। हालांकि, सूत्रों के अनुसार, दूरसंचार ऑपरेटरों को अभी तक हरियाणा, पंजाब और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ जैसी जगहों पर स्पेक्ट्रम आवंटित नहीं किया गया है।

Previous articleMaharani Web Series Download 480p, 720p Available on Tamilrockers and Other
Next articleभारत के लिए किफायती 5G स्मार्टफोन पर काम कर रहे हैं गूगल और जियो: पिचाई
नमस्कार दोस्तों, मैं Prabhanjan, HindiMe(हिन्दीमे) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We HindiMe Team Support DIGITAL INDIA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here