कोरोना वायरस की जांच का खर्च कितना है विभिन्न राष्ट्रो मे?

आप में से ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जिनके मन में ये सवाल जरुर होगा की कोरोना वायरस की जाँच का खर्च कितना है विभिन्न राष्ट्रों में? जायज सी ही बात है इस विषय में आप सभी को जानना भी चाहिए. वहीँ भारत की बात करूँ तो यह Coronavirus test यदि आप सरकार द्वारा चलायी जाने वाली laboratories और अस्पताल में करते हैं तब यह पूरी तरह से मुफ्त है. वहीँ आपको इसके लिए पैसों का भुक्तान करना पड़ सकता है प्राइवेट अस्पताल में.

ऐसे में बहुत से WhatsApp forward में काफ़ी गलत जानकारी फैलाई जा रही है जो की बिलकुल ही गलत है. ऐसे में मैंने सोचा की क्यूँ न में आपको लोगों तक सही जानकारी बता सकूँ जिससे आपको ये सही तरीके से पता चले की आखिर कोरोना वायरस की जाँच में कितना खर्च होता है और साथ में विभिन्न राष्ट्रों की इसकी कीमत कितनी है. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

कोरोना की जांच और इलाज का खर्च

कोरोना वायरस की जांच और इलाज का खर्च

कोरोना वायरस की जाँच का खर्च भारत में Rs.4,500 तक का हैं. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की यह Coronavirus test यदि आप सरकार द्वारा चलायी जाने वाली laboratories और अस्पताल में करते हैं तब यह पूरी तरह से मुफ्त है. वहीँ आपको इसके लिए पैसों का भुक्तान करना पड़ सकता है प्राइवेट अस्पताल में, जी की है Rs.4,500 तक.

जहाँ पहले इस कोरोना वायरस की test को सरकारी अस्पतालों में और laboratories में ही किया जाता था, वहीँ बिगड़ते हालत को देखते हुए सर्कार ने इन test को सरकार द्वारा स्वीकृत NABL-accredited private laboratories को भी allow कर दिया है की वो अब COVID-19 samples की testing कर सकें. वहीँ सरकार ने अपने guidelines में ये बात जाहिर की है की इन private labs में sample testing की कीमत Rs 4,500 से ज्यादा नहीं किया जा सकता है.

प्राइवेट लैब के लिए तैयार की गयी दिशा-निर्देश क्या हैं?

चलिए अब जनते हैं की आखिर वो main guidelines क्या हैं जिन्हें की issue किया गया है इन private testing centres के लिए –

* National task Force ने ये recommend किया है की COVID-19 Samples की testing का maximum cost Rs 4,500 तक ही रखा जा सकता है private labs पर. “इसमें शामिल हैं Rs 1500 वो भी एक screening test के लिए suspect cases में और एक additional Rs 3,000 की कीमत वो भी confirmation test charges के तोर पर लिया जा सकता है “.

* Appropriate biosafety और biosecurity precautions का अवलंबन करना जरुरी है testing के दौरान और जब आप respiratory samples collect कर रहे हैं तब.

* एक preference के हिसाब से, Samples की home collection की जा सकती है private testing laboratories के द्वारा. इससे की Virus की transmission को दूर किया जा सकता है.

कोरोना वायरस की जाँच कितना होता है विभिन्न राष्ट्रों में?

चलिए अब गौर करते हैं की COVID-19 Test की charges कितनी होती है विभिन्न राष्ट्रों में :-

चीन में जाँच का खर्च कितना है

चीन की बात करें, जहाँ की coronavirus को सबसे पहले report किया गया था, वहां पर tests मुफ्त में नहीं किये जाते हैं. सूत्रों के अनुसार एक coronavirus test की कीमत है लगभग 370 yuan, जो की होती है भारतीय मुद्रा में करीब Rs 4,000.

अमेरिका और यूरोप में जाँच का खर्च कितना है

दोनों US और Europe में काफी shortage है Covid-19 testing kits की. इसलिए सरकार को बाध्य होकर “private labs, clinics के ऊपर निर्भर रहना होता है “ वहीँ इसलिए लिए उन्हें कुछ charges का भुक्तान करना होता है.

US की बात करें तब, coronavirus test charges निर्भर करती है की उस नागरिक के insurance policy के ऊपर. वहीँ latest reports के अनुसार, US Medicare ने जो prices release की है Covid-19 tests के लिए, वो है $35.92 (Rs 2,729) उन tests के लिए जिन्हें की develop किया गया है Centers for Disease Control और Prevention के द्वारा और $51.33 (Rs 3,900) बाकि सभी प्रकार के commercial tests के लिए.

वहीँ Health Insurance जिन्होंने किया है उन्हें किसी भी प्रकार का भुक्तान नहीं करना पड़ता है.

श्री लंका में जाँच का खर्च कितना है

Sri Lankan government ने private hospitals को allow कर दिया है Covid-19 tests conduct करने के लिए, जिसमें वो maximum cost करीब Rs 6,000 तक charge कर सकते हैं.

बांग्लादेश में जाँच का खर्च कितना है

वहीँ बांग्लादेश सरकार ने approv किया है एक locally developed low-cost coronavirus testing kit की, जिसके कारण इस test की कीमत लगभग Rs 300 तक ही शिमित है.

पाकिस्तान में जाँच का खर्च कितना है

वहीँ पाकिस्तान सरकार ने ये ऐलान किया है उनके सरकारी अस्पतालों में की गयी COVID-19 Test बिलकुल मुफ्त है. उनके राष्ट्र में करीब eight government laboratories है और 25 hospitals पुरे देशभर में. वहीँ लेकिन ये test chargeble हैं पाकिस्तान के Private अस्पताल में और laboratories में.

क्या कोरोना वायरस की जाँच को कम किया जा सकता है?

एक बहुत ही बढ़िया खबर सामने आई है जो की है की Pune-based Mylab ने हाल ही में ही commercial approval पाया है Indian FDA/Central Drugs Standard Control Organisation (CDSCO) के द्वारा जिससे की वो एक affordable coronavirus testing kit तैयार कर सकें. इन kits की कीमत approximately Rs 1,200 राखी गयी है और ये stores तक कुछ दिनो में पहुँच भी जाएँगी.

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख कोरोना वायरस की जांच का खर्च कितना है जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को कोरोना की जांच और इलाज का खर्च के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post कोरोना वायरस की प्रारंभिक जांच के लिए खर्च पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here