5 Most Powerful Women in Business of India

हमारे भारत देश में जहाँ पहले लड़कियों को लडको से कम समझा जाता था और लड़कियों को बोझ समझ कर उनके पैदा होने से पहले या फिर पैदा होने के बाद ही उन्हें मार दिया जाता था, आज उसी देश में लड़कियां लडको के साथ कंधे से कंधा मिला कर अपनी तरक्की के ऊँचाइयों को छू रही हैं और अपना नाम रोशन कर रही हैं. भारत के बहुत सारे देशों में लड़कियों को कभी ऊँचा स्थान नहीं दिया गया उन्हें हमेसा लडको के निचे ही दर्जा दिया गया है. लड़कियों से हमेसा यही कहा गया है की उनका काम सिर्फ घर गृहस्थी को संभालना ही है ना की बाहार के कारोबार करना है जो लड़के करते हैं. लेकिन आज के वक़्त में वही लड़कियां समाज के उन पाबंदियों को तोड़ कर भारत का नाम पुरे विश्व में रोशन कर रही हैं. और केवल अपने कारोबार को नहीं बल्कि अपनी परिवार के तरफ भी अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभा रहे हैं. तो चलिए आज इस लेख में हम उन 5 Most Powerful Women in Business के बारे में जानेगे जिन्होंने अपनी जगह ‘Top 100 आमिर हिन्दुस्तानी’ लोगों के सूचि में बनाया हैं.

Arundhati Bhattacharya

Arundhati Bhattacharyaअरुंधती भट्टाचार्य एक Indian Banker हैं और वो SBI के chair person के पद पर काम करने वाली पेहली महिला हैं. Arundhanti भारत की सबसे कामयाब business महिला हैं. उनका जन्म कोलकाता के बंगाली परिवार में हुआ था. उनका बचपन भिलाई में बिता और उन्होंने अपनी पढाई बोकारो के St. Xavier’s School से पूरी की. 22 वर्ष की आयु में उन्होंने SBI जॉइन किया और तबसे ही उन्होंने 36 साल की करियर में अलग अलग पद पर काम किया. आखिर में प्रतिप चौधरी को chair person के पद से retire होने के बाद उसका दैत्वा अरुंधती जी को सौप दिया गया. उस पद की ज़िम्मेदारी को उन्होंने बखूबी निभाया और SBI को एक नए मुकाम पर पंहुचा दिया.साल 2015 में अरुंधती जी का नाम Forbes के 30th सूचि में विश्व के सबसे पावरफुल महिला में जुड़ गया, उनका नाम पेहली बार इस सूचि में आया. अरुंधती भट्टाचार्य जी के पास $300 billion की संपत्ति है.

Chanda Kochhar

Chanda Kochharचंदा कोछार भारत के दुसरे बड़े Private Bank ICICI बैंक के MD और CEO के पद पर है. चंदा जी का जन्म जोधपुर राजस्थान में हुआ था. उन्होंने अपने ग्रेजुएशन की पढाई मुंबई के Jai Hind College से पूरी की. ग्रेजुएशन की पढाई के बाद management studies में मास्टर डिग्री हासिल की. साल 1984 में चंदा कोछार ने ICICI Bank में management training के तौर पर join किया. साल 1994 में चंदा जी को Assistant General Manager और 1996 में Deputy General Manager के पद पर काम करने का मौका मिला. साल 1999 में उनको ICICI के E-commerce division के नेतृत्व को संभालने का ज़िम्मेदारी मिला. चंदा कोछार के नेतृत्व के अन्दर, साल 2000 में ICICI ने retail बिज़नेस शुरू किया और 5 साल के बाद ICICI इंडिया का सबसे बड़ा retail financer बन गया. चंदा जी के नेतृत्वा के वजह से ICICI बैंक को ‘Best Retail Bank in India’ award से नवाज़ा गया.

उनके इसी कामयाबी के लिए चंदा जी को बहुत सारे पुरस्कार से सम्मानित किया गया जैसे- ‘Retail Banker of The Year’ by The Asian Banker in 2004,’Business Women Of The Year’ by The Economics Times in 2005, ‘Rising Star Award’ by Retail Banker International in 2006,ranked 11th in the list of ‘Top 50 Women in World Business’ by the Financial Times in 2010, ‘Padma Bhushan Award’ in 2011.

Kiran Mazumdar-Shaw

Kiran Mazumdar-Shawकिरण मजुमदार भारतीय Business महिला हैं जिन्होंने अपने दम पर Biocon एक बड़ा बायोतक्निकि कंपनी खड़ा किया और आज वो उसी कंपनी की MD और Chairman हैं. Kiran का जन्म Bangalore में हुआ और उन्होंने अपना ग्रेजुएशन zoology में Bangalore University से और मास्टर डिग्री Ballart College, Melbourne University से पूरा किया. अपनी पढाई पूरी करने के बाद अपना प्रोफेशनल कैरिएर शुरू करने के लिए Cartlon & United Beverages में ट्रेनी के हिसाब से काम किया. 4 साल काम करने के बाद किरण Biocon Biochemicals Ltd. जो Ireland में स्तिथ है वहां काम किया. वहां से काम करने के बाद किरण ने भारत में Biocon कंपनी शुरू करने का फैसला किया. शुरुआत में उन्हें बहुत सी कठनाइयों का सामना करना पड़ा, कड़ी मेहनत के बाद आखिर में अपनी कंपनी को 1978 में खड़ा किया. तब वो एक छोटा सा enzymes कंपनी था लेकिन आज वो भारत का सबसे बड़ा biopharmaceuticals company है जो अपने प्रोडक्ट्स विश्व में 85 देशों में export करता है. किरण जी अपने कंपनी के द्वारा Biocon Foundation भी चला रही हैं जिसमे वो cancer से पीड़ित लोगों का इलाज मुफ्त में करवाती हैं जिन लोगों की आर्थिक स्तिथि ठीक नहीं है.

Shikha Sharma

Shikha Sharmaसिखा शर्मा Axis Bank की MD और CEO के पद पर साल 2009 से है. Sikha Sharma army के घर जन्म लेने वाली वो महिला है जिनका मान्ना है की अपने चिंता और डर को ख़तम कर हर हालात का सामना करना चाहिए और इन्ही आदर्शों को मान कर सिखा जी अपने सामने आये कठिन से कठिन परिस्थितियों का सामना किया है. उन्ही के मेहनत का नतीजा है की आज Axis बैंक भारत का तीसरा सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक है. Axis बैंक से जुड़ने से पहले सिखा शर्मा ने 29 वर्ष तक ICICI बैंक के साथ काम किया है. सिखा शर्मा के नेतृत्वा के अन्दर Axis बैंक को बहुत सारे पुरस्कार प्राप्त हुए हैं विशेषकर साल 2004 में ‘Bank of the Year in India’ by The Banker Magazine,Financial Times और साल 2015 में ‘Certificate of Recognition for excellence in Corporate Governance’ मिला.

Nishi Vasudeva

Nishi Vasudevaनिशि वासुदेव Hindustan Petroleum Corporation Ltd. (HPCL) का पहली महिला chairman और MD के रूप में चुना गया. निशि अपना ग्रेजुएशन kolkata के IIM से पूरा कर अपना करियर स्टेट इंजीनियरिंग कंसल्टेंसी फर्म इंजीनियरस इंडिया लिमिटेड के साथ शुरू किया. साल 2007 में निशि पहली महिला है जिनको Indian oil कंपनी का दैत्वा सौपा गया. Indian oil और Bharat Petroleum के बाद HPCL इंडिया में तीसरा सबसे बड़ा refiner और fuel retailer है. HPCL के MD के पद पर काम करने से पहले निशि इसी कंपनी के cooking gas sales का देख रेख करती थी. Petroleum Industry में निशि वासुदेव को 34 साल का अनुभव है, उन्होंने बहुत सारे साखा पर काम किया है जैसे मार्केटिंग,कॉर्पोरेट,स्ट्रेटेजी और प्लानिंग एंड इनफार्मेशन सिस्टम. निशि जी का माशिक आमदनी 7.25 million है.

loading...

7 COMMENTS

  1. Nice. Mai dekh pa raha hun ki apne apne page par kafi adds laga rakhi hai. Agar ap ek page par 3 adds he lagaye to kada thik hai. Coz Googe 3 adds ko jada preference deta hai uski policy ke according. Baki as u wish.

    Apne hosting kon si le rakhi hai?

  2. धन्यवाद सबीना मैडम , आपका यह आर्टिकल उन सब लड़कियो के लिए प्रेरणा है जो अपने आप को लड़को से काम समझती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here