Hindi Me Jankari YouTube Channel
Home UAT (User Acceptance Testing)

UAT (User Acceptance Testing)

UAT एक ऐसी process होती है जिसे की designed किया गया होता है जो की ये मदद करती है की, ये ensure करें की products जिन्हें की जब release किया जाये तब वो user expectations को meet करें. UAT का full form होता है “User Acceptance Testing.”

इसमें शामिल होते हैं एक ऐसी प्रक्रिया जिसमें की एक product के ऊपर काफी सारे series के specific tests किये जाते हैं जिससे की ये देखा जा सकें की वो product सच में users के जरूरतों को पूर्ण करने में खरा उतर पायेगा या नहीं. वैसे ये user acceptance testing process किसी भी प्रकार के product पर apply किया जा सकता है, वहीँ लेकिन अगर हम computer industry की बात करें तब, इसे अक्सर associate किया जाता है software programs के साथ.

Software applications को typically गुजरना पड़ता है काफी सारे multiple development stages से, उन्हें general public के लिए release किये जाने से पहले. इन stages में शामिल हैं initial development process, alpha testing stage, beta testing stage, release candidate stage, और public release उस software की. वैसे प्रत्येक software program को इन सभी stages से गुजरने की कोई भी जरुरत नहीं होती है, लेकिन ज्यादातर software programs को test किया जाता है multiple users के द्वारा उन्हें पुरे तरीके से release किये जाने से पहले.

Primary UAT stages वो भी software development के में शामिल होते हैं alpha और beta testing stages. वहीँ अगर alpha testing stage की बात करें तब एक limited number की users वो भी एक (और possibly बहार की) company में test होती हैं एक early version उस software की जिसमें मुख्य रूप से देखा जाता है bugs और user interface issues.

वहीँ beta testing stage में, एक larger group of users (usually जो की company के बहार से हैं) test करते हैं software को और feedback प्रदान करते हैं, जिसमें शामिल होता है bug reports और usability issues. ये feedback software company को ये बताती है की वो product user expectations को meet करता भी है या नहीं, वहीँ ये development team को enable करता है की जिससे की वो necessary revisions करें official release से पहले.

चूँकि software को modify और update (hardware products की तुलना में) करना बड़ा आसान होता है, user acceptance testing फिर भी continue होती है एक software program को release कर देने के बाद भी. बहुत से programs अब अपने में शामिल करने लगे हैं feedback और bug submission forms, वो भी directly software के साथ, जो की users को allow करता है feedback प्रदान करने के लिए जैसे जैसे वो software का इस्तमाल करने लगे.

« Back to Wiki Index
16,829FansLike
2,904FollowersFollow
615FollowersFollow
15,600SubscribersSubscribe