Hindi Me Jankari YouTube Channel
Home Table

Table

Table एक data structure होता है जो की organize करता है information को rows और columns में. इसका इस्तमाल किया जा सकता है दोनों ही तरीकों के लिए, जो की हैं data को store करने के लिए और data को display करने के लिए एक structured format में. उदाहरण के लिए, databases store करते हैं data को tables में जिससे की information को जल्दी से access किया जा सके specific rows से. Websites अक्सर इस्तमाल करते हैं tables का वो भी multiple rows की data को display करने लगे एक page में.

Spreadsheets combine करती है दोनों ही purposes को एक table की, जैसे की data को store करने का और data की displaying करने का एक structured format में.

Databases में अक्सर multiple tables मेह्जुद होते हैं, जिसमें की प्रत्येक को design किया गया होता है एक specific purpose के लिए. उदाहरण के लिए, एक company database में मेह्जुद हो सकती है separate tables वो भी employees, clients, और suppliers के लिए. प्रत्येक table में शामिल हो सकती है उसकी अपनी ही set की fields, जो की आधारित होती है की किस प्रकार की data को वो table store करें.

Database tables में, प्रत्येक field को एक column माना जाता है, वहीँ प्रत्येक entry (या record), को एक row consider किया जाता है. एक specific value को accessed किया जा सकता है table से वो भी केवल data की requesting कर एक individual column और row से.

Websites अक्सर इस्तमाल करते हैं tables का वो भी data को display करने के लिए एक structured format में. यानि की, HTML में एक <table> tag, और एक <tr> (table row) और <td> (table data) tags भी होते हैं specify करने के लिए rows और columns को. चूँकि बहुत सी tables इस्तमाल करती हैं top row वो भी header information के लिए, HTML भी support करती हैं एक <th> tag को जिसका की इस्तमाल होता है define करने के लिए cells को header row में.

Tables को शामिल कर एक webpage में, बड़ी मात्रा की data को display किया जा सकता है एक easy-to-read format में. HTML की पहले समय की बात करें तब, tables का इस्तमाल किया जाता था webpages के overall layout को बनाने के लिए. वहीँ, cascading style sheets (CSS) को आज के समय में ज्यादा prefer किया जाता है webpage layouts की designing करने के लिए.

Spreadsheets दोनों ही काम करते हैं data को store करने का और वहीँ data को display करने का एक table format में. Programs जैसे की Microsoft Excel और Apple Numbers प्रदान करते हैं एक grid, या matrix cells की जिसमें की users data को enter कर सकें. प्रत्येक cell को define किया जाता है एक specific row/column pair के द्वारा, जैसे की A3, जो की refer करता है cell को first column और third-row की table के. Data की formatting कर एक table में, spreadsheet applications प्रदान करती है एक simple तरीका जिससे की दोनों data और share data को enter किया जा सकें.

« Back to Wiki Index
16,834FansLike
2,904FollowersFollow
616FollowersFollow
15,600SubscribersSubscribe