वेबसाइट क्या है और इसकी परिभाषा

क्या आपको पता है वेबसाइट क्या है (What is website in Hindi) और Website कितने प्रकार के होते हैं. ऐसे बहुत सारे सवाल बहुत आजकल हर किसी के मन में आते है. क्यूँ ना आज के लेख में हम इसके बारे में विस्तार से चर्चा करें. यही नहीं इस विषय के सम्बन्धी और जितनी भी जानकारी है, उन सभी के बारे में हम चर्चा करेंगे जिससे की आपके मन में कोई ओर सवाल ना आए.

हर किसी के पास Mobile, Laptop और tablet हैं, सायद आपके पास भी इनमे से एक तो जरुर होगा. वरना मेरा ये लेख आप कहाँ से पढ़ पाते अभी. इनसे हम बहुत सारे कार्य करते हैं, जैसे Game खेलना, गाने सुनना, Movie देखना आपको ये कार्य करने के लिए कोई Internet की आवस्यकत नहीं है .

परंतु  कुछ दुसरे कार्य जैसे किसको email भेजना, online Shopping करना, Information search करना और Online Business करना, Online Movie Ticket, Train ticket, Hotel Book करना इन सभी कार्य के लिए Internet  बहुत ही जरुरी है.

चलिए कुछ नया सीखने में देरी क्यूँ, अब विस्तार से इस विषय पे चर्चा करेंगे है के आख़िर में वेबसाइट क्या होता है.

वेबसाइट क्या है – Website in Hindi

Website Kya Hai Hindi

बहुत सारे Webpages के Collections को Website कहते हैं. यह भी कहा सकते हैं एक website या site एक एसा Location हैं जाहाँ बहुत सारे webpages को रखा जाता है. हर webpage में कुछ ना कुछ Information होती है. जैसे अभी आप एक website के एक पेज पे हैं जिस पेज पे “website क्या है” इसकी जानकारी है. और यह webpage हमारी Website जिसका नाम है hindime.net (https://hindime.net) का ही एक हिस्सा है. जब हमारे पेज के दुसरे पोस्ट के उपर आप क्लिक करेंगे तो एक नया पेज खुलेगा वो भी एक webpage ही है.

Website को Open करने के लिए हम एक application या software का इस्तमाल करते हैं. जिसको हम कहते हैं web Browser. EX- Google chrome, Operamini, UC Browser. अगर अभी बी आपको समझ में नहीं आया तो मेरा ये ex को पढ़ें-आपके सारे संदेह दूर कर देगा, जैसे की मैंने कहा https://hindime.net यह website है और इस site के Home page पे जब आप होंगे आपको बहुत सारे post देखने को मिलेंगे जो कुछ ओर नहीं वो अलग अलग webpage के address/link हैं. एसे webpages हमारे साईट पे करीबन 300-400 होंगे. हर पेज में कुछ जानकारी होती है. अब इस वाक्य को पढ़ें “बहुत सारे WebPages के Collections को Website कहते हैं”. सायद आप समझ गए होंगे.

वेबसाइट की परिभाषा

आपको इन निचे दिए गए सब्दों के बारे में जानकारी होनी चाहिए आज के विषय को अच्छे से समझने के लिए.

Static Web Page

Static Web Page इसके नाम से ही आप समझ गए होंगे की ये एसा page है. जहाँ सारे कभी भी नहीं बदलते है page fixed रहते हैं. जिनको कोई भी इन्हें बदल नहीं सकता है. ये static web pages हर नए और पुराने user के लिए एक जैसे ही होते हैं. आप जब भी website open करते है देखे होंगे जिन pages के content कभी नहीं बदलते है. वो पेज हर किसी के लिए एक जैसे दिखाई देते हैं. लेकिन कुछ site है, जैसे Facebook.com जिनके page के content हर वक्त बदलते रहते हैं और अलग अलग यूजर के लिए अलग webpage होते हैं.

यहाँ कुछ static web page के कुछ उदहारण है. EX- about us page और Contact us page जीनके content कभी बी नहीं बदलते हैं. उमीद है अब आपको आसानी हो गई होगी static page को समझने में. अब जानते हैं dynamic webpage.

Dynamic Web Page

सायद आप static web page को समझ गए हैं तो इसे भी बड़ी आसानी समझ जाओगे. क्यूंकि Dynamic web page content हमेसा बदलते रहते हैं. यहाँ पे हर user मतलब आपके लिए जो पेज खुले हागा वो मेरे लिए कुछ और होगा. जैसे fb में जब मै login करता हूँ तो मेरा पेज आपके fb page से काफी अलग होगा.

Dynamic का मतलब है, जो पेज बार बार बदलता रहता है. वैसे ही और एक example लेलो shopping sites के हर web pages भी हर user के लिए बदलते रहते हैं. क्यूंकि आप कुछ search करते होंगे लेकिन मै कुछ दूसरा page shopping करने के लिए पेज OPEN कर सकता हूँ. ये दोनों dynamic webpage के उदाहाण है. क्या आप अपनी वेबसाइट अपने पसंद की Design की बनाना चाहते हो तो आपको php सिखाना होगा चलिए अब इसके बारे में ही बात करेंगे.

Home Page

Website के पहले Page को Homepage कहते हैं. या जब कोई Website को Visit करते हैं तब जो Page खुलता है उसे ही Home Page कहते हैं. ex: https://hindime.net इसमें click करने के बाद जो page खुलेगा उसे इस Site का Home Page कहते हैं. website के root Directory में ये Page रहता है. इस पेज में ये सारे Files भी रहते हैं index.html, index.htm, index.shtml, index.php, default.html और home.html

Search Engine

Search Engine एक प्रोग्राम है. या ये बोल सकते हो ये एक एसा web प्रोग्राम है जो Internet के असीमित database में से User जो Information या सवाल को Internet में search करता है. उसके संभंधि जो Information Search Engine (Google, Yahoo, Bing) को मिलती है उसको Search Result page में दिखता है. जैसे Google करता है. हर query (सवाल) को world wide web में सर्च किया जाता है.

Web Address/URL

URL का full form होता है Uniform Resource Locator. ये एक formatted text string है जिसे की Web Browser, email clients या किसी अन्य Software में इस्तमाल किया जाता है किसी Network Resource को ढूंडने के लिए. Network Resource कोई भी फाइल्स हो सकती हैं जैसे की Web Pages, Text Document, Graphics या Programs.

Domain

एक domain name ही आपके Website का नाम बताता है. इसके जरिये ही लोग Website तक लोग पहुँच पाते है, यह website की पहचान है. Letter और Number से ही Website का नाम लिखा जा सकता है. Domain name का इस्तमाल एक या एक से अधिक IP Address की की पहचान करने के लिए किया जाता है. जैसे Microsoft.com यह एक domain का नाम है सायद आप सभी इसे वाकिफ होंगे. एक निर्दिष्ट Webpage की पहचान करने के लिए Domain name को URL में लिखा जाता है.

https://hindime.net/about इस URL में अगर आप ध्यान से देखेंगे तो hindime.net Domain Name का नाम है.

आप देखे ही होंगे हर Blog/Website के अंत में एक नाम जुदा रहता है. जैसे .net, .com, .in, .org, ये सभी Top Level Domain को दर्शाते हैं. चलिए अब कुछ उदहारण समझते हैं.

.Gov – Government agencies
.Edu – Educational institutions
.Org – Organizations (nonprofit)
.Mil – Military
.Com – commercial business
.Net – Network organizations
.In – India
.Ca – Canada
.Th – Thailand

वेबसाइट के प्रकार – Types of website in Hindi

हर रोज आप कुछ ना कुछ जानकारी हासिल करने के लिए Internet का इस्तमाल करते हैं और कई तरह तरह के Blogs या Website को Open करते हैं.

ये सभी वेबसाइट के अलग अलग प्रकार हैं. किंतु इन सभी प्रकार को अगर देखा जाए तब इन्हें हम दो हिस्सों में बाँट सकते हैं.

1. Static website
2. Dynamic website

तो चलिए लिए अब वेबसाइट के प्रकार के बारे में विस्तार से जानते हैं.

1. Static Website

Static website एक ऐसी वेबसाइट है जिसकी web pages को store किया जाता है एक ऐसी फ़ॉर्मैट में जिसे की भेजा जाता है एक client web browser को. आसान शब्दों में कहें तब Static website बहुत ही basic type की website होती है जिन्हें की आसानी से create किया जा सकता है।

इसके लिए आपको किसी प्रकार की कोई web programming और database design का ज्ञान होना ज़रूरी नहीं होती, बल्कि इसके बिना भी आप आसानी से एक static website बना सकते हैं. इसकी web pages को code किया गया होता है HTML में.

इसके codes fixed होती हैं प्रत्येक page के लिए जिससे की जो भी जानकारी महजूद होती है एक पेज में वो बदलती नहीं है और इसलिए ये ठीक एक printed page के तरह ही दिखते हैं.

2. Dynamic Website

Dynamic website एक ऐसी वेबसाइट होती है जो की खुद को बदलती है या customize करती है बहुत बार और वो भी automatically. आसान शब्दों में बताया जाए तब Dynamic website एक ऐसी collection होती है dynamic web pages की जिसके content dynamically बदलते रहते हैं.

ये वेबसाइट अपने कांटेंट access करती हैं एक database या Content Management System (CMS) से. ऐसे में जब आप किसी भी प्रकार का बदलाव करते हैं database के कांटेंट में, तब वेबसाइट के content भी अपने आप भी बदल जाते हैं या अप्डेट हो जाते हैं।

Dynamic website में client-side scripting या server-side scripting, या दोनों का इस्तमाल होता है dynamic content generate करने के लिए.

Webpage, Website, Web Server और Search Engine में क्या अंतर होता है ?

प्राय लोगों को इन चारों Technical terms के विषय में ज्यादा पता नहीं होता है क्यूंकि ये बहुत ही confusing होते हैं. इसलिए चलिए इनके विषय में जानते हैं और उनके बीच स्तिथ अंतर को भी जानते हैं.

Web page

ये documents होते हैं जिन्हें की एक web browser में display किया जा सकता है. Web Browsers जैसे की Firefox, Google Chrome, Opera, Microsoft Internet Explorer, या Apple’s Safari. इन documents को “pages” भी कहा जाता है.

Website

ये एक collection होता है web pages का जिन्हें की एक साथ group किया जाता है और usually ये connected होते हैं एक दुसरे के साथ. अक्सर एक a “web site” को simply एक “site” भी कहा जाता है.

Web Server

यह एक computer होता है जो की एक website को host करता है Internet में.

Search Engine

यह एक ऐसा website होता है जो की users को मदद करता है दुसरे web pages को ढूंडने के लिए, उदाहरण के लिए Google, Bing, या Yahoo.

ऊपर बताये गए चीज़ों को समझने के लिए चलिए एक simple analogy का इस्तमाल करते हैं — एक public library. हम एक

Library में जो कुछ भी करते हैं चलिए उसे समझते हैं :
1.  सबसे पहले search index को खोजें और फिर उस book का title खोजें जिसे आप चाहते हैं.
2.  Book का catalog number का एक note करें.
3.  फिर उस particular section को जाएँ जिसमें की आपको वह book होगी, फिर सही catalog number को खोजें, और इससे आप अपना book सकते हैं.

चलिए अब इस Library को एक Web Server के साथ compare करते हैं :
•  एक library एक web server के जैसे होता है. इसमें बहुत से sections होते हैं, जो की similar होते हैं एक web server के समान जिसमें multiple websites host किया जाता है.
•  Library की अलग अलग sections होते हैं जैसे की science, math, history, इत्यादि. ये sections websites के समान होते हैं. प्रत्येक section एक unique website के तरह होते हैं (जैसे दो sections में समान books नहीं होते हैं).
•  Sections में मेह्जुद books Webpages के तरह होते हैं. एक website के बहुत सारे webpages होते हैं, जैसे की Science section (जो की एक website है) उसमें किताबें अलग अलग विषय के हो सकते हैं जैसे heat, sound, thermodynamics, statics, इत्यादि. (इन्हें आप webpages कह सकते हैं).
•  इसमें वो search index एक search engine के समान होता है. प्रत्येक book की एक unique location होती है library में (जैसे दो books को एक स्थान या एक जगह में नहीं रह सकते हैं) और जिन्हें एक catalog number से specify किया जाता है.
•  वहीँ webpages के भी unique addresses होते हैं. इन unique addresses का इस्तमाल होता है एक webpage को retrieve करने के लिए एक web server से. इसके लिए बस address को web browser के address bar में type करना होता है.

आज आपने क्या सीखा

कैसा लगा मेरा ये लेख मुझे तभी पता चलेगा जब आप निचे कमेंट करेंगे. तो आज हम क्या सीखे ये फिर से देख लेते हैं. आपने  आज सीखा वेबसाइट क्या है और इसके प्रकार (What is Website in Hindi). हम इसके सम्बन्धी जानकारी के बारे में भी विस्तार से चर्चा किए हैं.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post Website क्या होता है in hindi पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Previous articleNew Year Tech Resolution 2018 – अपने जीवन को कैसे बनाये बेहतर
Next articleEthereum क्या है और ये Bitcoin से कैसे बेहतर है?
चन्दन इस हिंदी ब्लॉग के Founder हैं. वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है. अगर आपको ब्लॉगिंग या Internet जुड़ी कुछ जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है. हमारा यह मकसद है के इस ब्लॉग पे आपको अछे से अछे जानकारी मिले.

93 COMMENTS

  1. तो सर ये ब्लॉग वेबसाइट की किस श्रेणी में आते हैं। कृपया ये भी बताये

  2. Bhai jee muje ye jankari chahiye ki jis tarah Ham YouTube ke videos ka monetization on karna hota hai to website me bhi her post Adsense code dalna padta hai

  3. Sir
    Mai web ya yu kahen ki net ki duniya me abhi abhi kadam rkha hu .
    Me apni site banana chahta hu jis pr mai apna blog likh saku
    Please help me

  4. Dear sir, me ek website banana chahta hu.
    Please mujhe suggest kren ki me kis kis tarah ki website bana skta hu jo ki sbse km h pr user jyada search krte h

  5. Sir ji bahut achi jankari di apne.
    Sir mai home cleaning ka kam karta hu. humare pas machin bhi hai. Lekin humko utne order nahi milate. Agar mai webside bana lu to kya mujhe order milenge.

  6. i want ask one question

    kya ek hi website par different-2topic par article likhne se like: (motivation , health , tech etc.)
    se jyada money earn kiye ja sakte h
    please reply

  7. बहुत बहुत धन्यावाद श्रीमान, जितने भी सवाल हमारे जहन में उठ रहे हैं सभी का निदान आपने पल भर में ही कर दिया ।
    श्रीमान मैं आपका तह दिल से धन्यावाद करता हूं। आप जीवन भर हसते और मुस्कराते रहे ।

  8. सर आपके लेख से मैं समझा हूँ कि बेबसाइट बनाने के लिए जिस चीज की सबसे पहले और ज्यादा जरूरत है वह डोमिन है और जरूर इसको किसी वेब सर्वस से प्राप्त किया जा सकता है और इसके लिए जरूर कुछ ना कुछ कीमत चुकानी होती होगी जो कि मासिक त्रैमासिक यहां सालाना होगी या लाइफ टाइम भी हो सकती है क्या डोमिन फ्री में भी होते हैं या कुछ समय के लिए फ्री और बाद में चार्ज से दिए जाते हैं और कहां-कहां खर्च होता है वेबसाइट बनाने के लिए कृपया जानकारी दें

    • lalit ji, blog ke liye domian aur hosting chahiye hota hai. Dono hi paid hote hain. inhe aap yearly ya usse jyada ke liye le sakte hain wahin validity khatm ho jane ke baad aapko phir se paise dene honge iski validity ko badhane ke liye. wahin kuch free domain bhi hote hain lekin ranking ke liye ye utne sahi nahi hote hain. iske alawa blog mein aapko theme, plugins ke liye bhi paison ka bhuktan karna pad sakta hai.

  9. Mast Information h apka..
    We have received very valuable information. We request to you kindly keep it up further.

  10. mera ek sawal hai sir…
    .net
    .in
    .com
    is trh ke jo bhi domain hai wo kaun kaun se hai jo india me kaam krte hai aur kaun kaun se india ke bahar bhi kaam kr skte hai.
    jaise ki hum koi website .in se bnaye to kya wo india ke bahar run karegi ya block kr di jayegi

  11. Hello sir,
    me ek apni websites bnana chahta hu kya websites free me nhi bna sakte kya sir ye janana tha mujhe agr free me bna sakte hai help me sir
    Thanks sir, aapka article baise bohot aacha hai

    • Anil ji, aapki baatein sunkar achha laga ki aap hamare article ko pura padh rahe hain. Waise matra ki galtiyan to hai, lekin yeh ek technology blog hone ke karan hum knowledge par jyada dhyaan de rahe hain, waise yadi koi galti ho to hame kshyma karen.

  12. इसके लिए धन्यवाद sir जी
    मुझे जानकारी चाहिए कि app और वेबसाइट के अपने पास कागज क्या क्या होना चाहिए और कहा से बनते हैं या फिर मिलते हैं जिससे कहि प्रूफ कर सके कि यह हमारी है

  13. Ton of knowledge in one article…. It was well written and easy to understand. Thank you so much for sharing your experiences. It is like a gold for people like us… I have a website https://magicalhorrorstories.com and was looking for such inspiration. Please do visit to my website. Your visit simply make my day.

  14. Sir ji, please aap is sampoorna jankari ko kisi filmi style me video ke dwara samjhane ka mera aagrah swikar kar lenge to mujhe atyant khushi hogi. Kadachit aap ke lekh bahut hi spast aur saral bhasha me hain parantu school me kuch bacche to mand buddhi hote hi hain aur main unme se ek tha, isiliye plzz……

  15. काफी अच्छी जानकारी दी है एक बात अपने लिखी ब्लॉग से पैसा कमा सकते । कैसे। फ्री ब्लॉग बनाकर पैसे कमा सकती है। यदि हाँ तो कृपया यह बताएँ उसके लिए क्या करना है।

  16. Sir,mujhe business ke liya ek website mere name se chahi ye,mujhe isliya kiya karna chahiye.please sir mujhe help kariye

  17. मै एक blogger बनाया था जिसको google adsense ने disapprovied कर दिया है क्या आप मेरे हैल्प करेगे मेरे ब्लॉग्गेर को approvied कराने मे

  18. क्या मैं अपना personal website बना सकता हूं। और क्या अलग से wordpress का use कर सकता हूं। और क्या क्या करना होता है। कैसे होगा।

  19. सोसल नेटवर्किंग वेबसाइट कैसे बनाई जाती है इसके लिये क्या जरूरत होती है कृपया पूरी जानकारी बताये

  20. Mujhe apka post achha lga mara ik questions hai ki web page designing ke bad us web page ko internet pe aplod kaise krte h

  21. बहुत खूब ।बिषय समझ पाने मै कोइ दिक्कत नहीं ।फिर से धन्यवाद ।

    • Thanks ji. अधिक जानकारी के लिए आप हमें हमारे Community में अपने सवाल पूछ सकते हैं https://ask.hindime.net/ जहाँ पर आपको आपके सारे सवालों के जवाब बहुत ही जल्द मिल जाएगी.

  22. मुझे भी अपनी website बनानी है उसके लिए क्या किया जाए ?

    • Hello Satyendra ji, अधिक जानकारी के लिए आप हमें हमारे Community में अपने सवाल पूछ सकते हैं https://ask.hindime.net/
      जहाँ आपको आपके सारे सवालों के जवाब बहुत ही जल्द मिल जाएगी.

  23. Maine bhi meri khud ki ek website banayi hai kisi ki madad se.
    Apki ye jankari Padh ke mere ko kaafi kuch Samjh aaya.
    Thanks Sir

    • Hello Arti ji, Dhanyawad ki aapko ye article Website क्या है और इसके प्रकार pasand aaya. Aise hi hamare saath dete rahen aur hum aapko achhi jankari pradan karte rahenge.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here