कलौंजी का दूसरा नाम क्या है?

कलौंजी को अक्सर लोग ठीक तरीक़े से जान नहीं पाते हैं और दूसरे मसलों से मेल कर बैठते हैं. इसलिए बहुत से लोगों को ये भी नहीं पता होगा की कलौंजी का दूसरा नाम क्या है? आज के इस पोस्ट के ज़रिए हम आपको कलौंजी के बारे में विस्तार में बताएँगे.

मसलों का हमारे खानपान में एक अलग ही महत्व है. ये केवल स्वाद बढ़ाने के लिए उपयोग में नहीं लाए जाते हैं बल्कि इनमें अनेक प्रकार के औषधि गुण भी होते है. तो जब बात कलौंजी की आती है तो हमारे मन में कुछ काले काले दाने का चित्र नज़र आने लगता है.यदि आपको भी कलौंजी के अन्य नाम और उससे जुड़ी कुछ बेहद ज़रूरी जानकारी के बारे में जानना है तब आपको यह आर्टिकल पूरा पढ़ना होगा. तो फिर चलिए शुरू करते हैं.

अनुक्रम दिखाएँ

कलौंजी का दूसरा नाम क्या होता है?

कलौंजी का दूसरा नाम आशीष के बीज है. वहीं इसे इसके अलावा काला बीज और काला जीरा भी कहा जाता है. कलौंजी के पौधे क़रीब १२ इंच तक ऊँचे बढ़ सकते हैं. वहीं इन फलों के बीज को ही कलौंजी कहा जाता है. वहीं कलौंजी के बहुत से औषधि गुण भी होते हैं जिनके बारे में हम आगे जानने वाले हैं.

kalonji ka dusra naam kya hai

कलौंजी को अंग्रेजी में क्या कहते है?

कलौंजी को अंग्रेजी में Nigella seedsकहते है. जिसका उच्चारण नैजेल्ल सीड होता है. वहीं इन्हें black cumin भी कहा जाता है.

कलौंजी का वैज्ञानिक नाम (Scientific Name) क्या है?

कलौंजी का वैज्ञानिक नाम है “NIGELLA SATIVA“.

कलौंजी किसे कहते हैं?

कलौंजी एक औषधि पौधा होता है. इस पौधे के बीज को ही कलौंजी कहा जाता है और हमारे देश में मसाले के रूप में इस्तमाल किया जाता है. असल में कलौंजी रनुनकुलेसी कुल का पौधा है. ये पुरे वर्ष भारत में सभी जगह पाया जाता है.

इस पौधे के बीज काले रंग के होते है. वहीं ये तिल के दाने समान दीखते है. लेकिन इनका आकार अंडानुमा होता है. कलौंजी को आप किसी भी दुकान में देख सकते हैं.

वास्तविक नामनैजेल्ल सीड
संस्कृत नामकृष्णजीरा
रनुनकुलेसी कुलझाडिया पोधा

कलौंजी की पोषण का महत्व

कलौंजी के बीज में काफ़ी मात्रा में crude fibers, amino acids, iron, sodium, calcium, और potassium पायी जाती है. वहीं कलौंजी में आपको बहुत से विटामिन भी देखने को मिलेंगे जिनमें शामिल है – Vitamin A, Vitamin B, Vitamin B12, Niacin, और Vitamin C.

कलौंजी का तेल बहुत ही बेहतर होता है दूसरे सभी तेलों से क्यूँकि इसमें महजूद होती है essential fatty acids, vitamins, और minerals. वहीं इसमें आपको 17% protein, 26% carbohydrates, और 57% plant fats और oils भी मिलते हैं.

क्या कलौंजी और काला जीरा एक ही चीज़ होते हैं?

जी नहीं. कलौंजी और काला जीरा एक ही चीज़ नहीं होते हैं. जहां Jeera को अंग्रेज़ी में cumin seed कहा जाता है, वहीं कलौंजी को nigella seeds कहा जाता है. दोनों असल में दिखने में एक समान प्रतीत होते हैं, इसलिए लोगों को इन दोनों में ख़ास अंतर नज़र नहीं आता है.

कलौंजी (Nigella Seed) के फायेदे

कलौंजी के बहुत से फायेदे होते हैं. चलिए इनके विषय में जानते हैं.

1. याददाश्त को बढ़ाता है

कलौंजी को नियमित खाने से बच्चों की याददाश्त को बढ़ाता है. बुजुर्गों के लिए यह उनकी कमजोर याददाश्त में सुधार करने में बहुत मददगार है.

2. मधुमेह के लिए उपकारी

टाइप 2 मधुमेह में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए कलौंजी बहुत मददगार है.

3. हृदय को स्वस्थ रखता है

कलौंजी दिल के लिए बहुत प्रभावी है. यह आपके शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करके आपके दिल को स्वस्थ रखता है.

4. सूजन को कम करता है

कलौंजी के बीज में सूजन-रोधी गुण होते हैं जो विभिन्न पुरानी सूजन का इलाज कर सकते हैं. यह जोड़ों के बीच चिकनाई प्रदान करके जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए जाना जाता है.

5. रक्तचाप को नियंत्रित करता है

रक्तचाप को नियंत्रित रखने के कलौंजी का तेल काफ़ी फायदेमंद होता है.

6. सरदर्द कम करता है

थोड़ा कलौंजी का तेल माथे पर रगड़ने से आपके गंभीर सिरदर्द कम हो सकते हैं और आपको आराम मिल सकता है.

कलौंजी को मराठी में क्या कहते हैं?

कलौंजी को मराठी में मंगरेला या कल्ला क़ल्ला के दाने कहते हैं.

कलौंजी को भोजपुरी में क्या कहते हैं?

कलौंजी को भोजपुरी में मंगरेला कहते हैं.

कलौंजी को बंगला में क्या कहते हैं?

कलौंजी को बंगला में कालाज़ीरो कहते हैं.

कलौंजी को मलयालम में क्या कहते हैं?

कलौंजी को मलयालम में करीम जिरकम कहते हैं.

कलौंजी को तमिल में क्या कहते हैं?

कलौंजी को तमिल में क़रुण जिरागम कहते हैं.

कलौंजी को तेलुगु में क्या कहते हैं?

कलौंजी को तेलुगु में नल्ला जीरा कारा कहते हैं.

निष्कर्ष

कलौंजी के बीज बहुत ही फायेदेमंद होते हैं. इसे हम मसाले के रूप में भी इस्तमाल करते हैं. उम्मीद है कि आपको कलौंजी का दूसरा नाम क्या है और उससे जुड़ी सभी बातों के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी हो तब उसे अपने दोस्तों के साथ share ज़रूर करें.

यदि आपको किसी भी तरह से कोई डाउट हो तब आप नीचे कॉमेंट में हमें अपने सवाल पूछ सकते हैं. ऐसे ही जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे आर्टिकल पढ़ते रहें.

Previous articleOut of Love Full Series Download Available on Tamilrockers and Other
Next articleकंप्यूटर के 51 महत्वपूर्ण प्रश्न
नमस्कार दोस्तों, मैं Prabhanjan, HindiMe(हिन्दीमे) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We HindiMe Team Support DIGITAL INDIA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here