Animation क्या है और कैसे बनाये?

शायद ही कोई ऐसा हो जिसे की ये ना पता हो की Animation क्या है (What is Animation in Hindi). मैंने ऐसा इसलिए कहा क्यूंकि आजकल सभी को animation के बारे में कुछ न कुछ जानकारी तो पहले से पता ही है. पर आपको ये भी जानना जरुरी है के और एनिमेशन कैसे बनाये. आप बच्चों की ही बात देख लो उन्हें बड़ों से ज्यादा पता होता है Cartoons और Animation के बारे में. ऐसा शायद इसलिए की कंप्यूटर एनीमेशन और graphics के इस्तमाल से complex चीज़ों को और भी रोचक बनाया जा सकता है. उदहारण के लिए यदि एक गणित के problem को pen और paper में समझाया जाये तब शायद उसे समझने में कोई बच्चा ज्यादा समय लगा दे पर उसी problem को अगर समझाने के लिए अगर animation का इस्तमाल किया जाये तब इससे वो problems के letters colorful और रोचक दिखाई पड़ता है TV या computer screen पर, ये concept को ज्यादा interesting बनाता है और उसे visualize करने में आसानी होती है.

जैसे जैसे हम technologically advanced हो रहे हैं, हमारे प्राय सभी चीज़ें digitalize बन रहे हैं. ऐसे में भला animation क्यूँ पीछे रहे. अब तो लोगों ने animation के प्रति इतनी उत्सुकता दिखाने के कारण इन animation के कामों की बहुत ज्यादा demand बढ़ गयी है. इसलिए animation की field एक बड़ा platform प्रदान कर रही सभी छात्रों के लिए जो की इसे एक career option के तरह भी चुन सकते हैं. Animation के field में भी आप अच्छा काम करके आप फिल्म्स इंडस्ट्री, मीडिया हाउसेस, एडवरटाइजिंग एजेंसी, डिजिटल एजेंसी, इ-लर्निंग जैसे industries में कार्य कर सकते हैं और बाकि profession के तरह ही बढ़िया पैसा कमा सकते हैं. लेकिन इन सभी चीज़ों से पहले आपको ये समझना होगा की एनिमेशन क्या होता है, इसके क्या प्रकार हैं और इसमें कैसे अपना career बनाया जा सकता है. पूरी जानकारी के लिए आपको ये article अच्छे तरीके से पढना होगा और अंत तक आपको जरुर एनीमेशन इन हिंदी के विषय में बहुत सी जानकारी प्राप्त हो जाएगी. तो फिर चलिए शुरू करते हैं.

अनुक्रम

एनिमेशन क्या है (What is Animation in Hindi)

Animation Kya Hai Hindi

आखिर एनीमेशन का अर्थ क्या है? Animation एक प्रकार का process है जिसमें designing, drawing, layouts बनाना और photographic sequences की preparation करना मुख्य है जिसे की बाद में multimedia या किसी gaming products में integrate किया जाता है. इसके principle की बात करें तब इसमें still images को कुछ इस प्रकार से exploite और manage किया जाता है जिससे इसके movement होने का illusion पैदा हो. इसमें motion का illusion पैदा करने के लिए उन images को जल्दी जल्दी display किया जाता है और ये images बहुत ही कम अलग होते हैं एक दुसरे से. जब continuously हम इन स्थिर images को एक sequence में देखें तब हमें एक video animation के तरह लगता है जिसमें characters या objects movement कर रहे हों.

आधुनिक entertainment industry जैसे की film और television ने बहुत ही उंचाइयाँ प्राप्त करी हैं क्यूंकि ये तीनों fields : Animation, Graphics और Multimedia ने अपने क्षेत्र में काफी advancement करी हैं. उदहारण के लिय Television advertisements, cartoons serials, presentation और model designs – ये सभी चीज़ों में animation और multimedia techniques का इस्तमाल किया गया है.

एनिमेशन के प्रकार

वैसे तो Animation के बहुत से अलग अलग types होते हैं. लेकिन यहाँ हम कुछ important types के बारे में ही जानेंगे.

  • Traditional (Cel) animation (Cel animation या hand-drawn animation)
  • Stop-motion animation (Claymation, Cut-outs)
  • Motion Graphics (Typography, Animated logo)
  • Computer animation
    1) 2D animation
    2) 3D animation
    3) VFX

चलिए अब इन Animation types के बारे में और जानकारी प्राप्त करते हैं.

Cel Animation

Cel animation एक प्रकार का traditional animation होता है जिसे की hand drawings के द्वारा किया जाता है. इस process में बहुत सारे pictures को create किया जाता है जो की एक दुसरे से बहुत ही कम अलग होते हैं लेकिन वो nature wise prograssive होते हैं. इस progressive nature के कारण उन्हें कुछ actions को represent करने के लिए इस्तमाल किया जाता है. इन drawings को trace करने के लिए transparent sheet का इस्तमाल होता हिया.

यही transparent sheet को cel कहा जाता है और ये एक प्रकार का medium होता है Frames को draw करने के लिए. अभी के समय में cel animations को ज्यादा आकर्षक बनाने के लिए drawings के साथ music, matching sound effects और साथ में सही timing का इस्तमाल होता है प्रत्येक effect के लिए. उदहारण के लिए एक cartoon show में, 10-12 frames को rapid succession per second के साथ चलाया जाता है जिससे उस cel animation को एक movement प्रदान किया जा सके.

Stop Animation

Stop animation या stop motion animation एक प्रकार का technique है जिससे की objects को अपने आप ही move करा सकते हैं. इसमें कुछ images को draw किया जाता है different positions में और उन्हें separately photographed किया जाता है. Puppetry एक बहुत ही प्रमुख frame-to-frame animation type है. कुछ Hollywood movies जिसमें की animate किया गया है via stop-motion effects वो हैं King Kong, The Dinosaur, और The Lost World.

Motion Graphics

ये motion graphics digital footage या animation के pieces होते हैं जो की ऐसे illusion create करते हैं जिसमें लगता है की वो illusion motion में हैं और rotate भी कर रहे हैं. इन्हें अक्सर audio के साथ combine किया जाता है बेहतर आकार देने के लिए और इन्हें दुसरे multimedia projects में इस्तमाल किया जाता है.
ये motion graphics को आप commonly इस्तमाल हो रहे frame-by-frame footage और animation के जैसे animation में कम ही use किया जाता है. ये motion graphics को typical animation के जैसे कोई story based में ही इस्तमाल नहीं किया जाता है बल्कि ये animated abstract shapes और forms जैसे की logos और logo elements में ज्यादातर use किये जाते हैं.

Computer Animation

Computer Animation एक बहुत ही latest technique है जिसमें मुख्य रूप से तीन चीज़ें शामिल है जो की है 2D animation, 3D animation, VFX. ये न केवल hand-drawn characters को enhance करता है बल्कि उन्हें real भी प्रतीत कराता है, यदि हम इसकी तुलना करें पहले के animations से.

2D Animation: 2D Animation क्या होता है? इसे करने के लिए Powerpoint और Flash animations का इस्तमाल किया जाता है. माना की इनकी features प्रायतः similar होते हैं cel animation के, लेकिन 2D animation ज्यादा popular इसलिए बन गए क्यूंकि इसमें scanned drawings का इस्तमाल किया गया computer में जैसे की cartoon film में होता है. एक बहुत ही popular animation software जिसका इस्तमाल computer 2D animation बनाने के लिए किया जाता है वो है Adobe Flash.

3D Animation: 3D Animation क्या है? इसका इस्तमाल filmmaking में होता है जहाँ की हमें unusual objects या characters की जरुरत होती हैं जिन्हें की आसानी से display नहीं किया जा सकता. उदहारण के लिए 3D animation के इस्तमाल से हम बहुत सारे लोगों को एक जगह में खड़े कर सकते हैं, पर्वत को किसी table के ऊपर स्थापित कर सकते हैं. इसमें बहुत से different shapes, mathematical codes का इस्तमाल, actions और colors का display किया जाता है जो की mind-blowing होता है और ऐसा प्रतीत होता है की ये किसी actual picture से copy किया गया हो. Best 3D Animation Software की बात करूँ तब Maya, 3D Max और Blender मुख्य हैं.

VFX : Visual Effects का short form होता है VFX. इस process में ऐसे imagery को create किया जाता है जो की live action shoot से अलग होता है किसी film making में. Visual Effects में live action footage (special effects) और create किये गए imagery (digital effects) को एक साथ integrate किया जाता है, जिससे ऐसा प्रतीत होता है की वो environment पूरी तरह से realistic हों, लेकिन इसके साथ ही भयानक हों, कीमती हों, impractical हों और यहाँ तक की impossible भी हो किसी भी film में capture करने के लिए. इसमें अब CGI (Computer Generated Imagery) का इस्तमाल होता है ऐसे चीज़ें बनाने के लिए.

इन सभी animation types के इस्तमाल से ये एक नयी और बेहतरीन amazing technology की शुरुवात करती हैं Internet के field में (website design और graphics के लिए), film industry और media में भी. इसके अलावा, animation एक ऐसी popular Internet marketing strategies बन गयी है जिसके इस्तमाल से आप visitors को अपने site या blog में ज्यादा देर तक रोकने में सक्षम हो सकते हैं.

एनिमेशन कैसे कैसे बनाये

Animation एक प्रकार का art और science है, यह एक नयी प्रकार का art form है जो की evolved हुआ है technical innovations से frame projector science में. यदि आप ये समझना है की Animation कैसे काम करता है तब आपको पहले ये समझना होगा की उसके पीछे की scientific principle कैसी काम करती हैं जो की animation को work करने में मदद करती है.

तब इसके पीछे की principle क्या है?

ये बहुत ही simple है और एक बहुत ही simple theory के ऊपर based हैं जो की है -persistence of vision, इस theory के हिसाब से, एक human eye image को ज्यादा समय तक retain कर सकता है और अगर ज्यादा images को ये retain कर सकता है जब ज्यादा images को high speed में project किया जाता है तब. इसका ये मतलब हुआ की एक इन्सानी आंख कुछ समय लगता है एक single image को consive करने के लिए. जब बहुत सारे images बहुत ही कम समय के लिए दिखाया जाता है तब हमारी आखें सभी images को retain करती है और जिसके परिणाम स्वरुप एक illusion बनकर तैयार होता है – यही Animation कहलाता है.

क्यूँ 24 Frames Per Second होता है?

आप 12 frames per second भी try कर सकते हैं लेकिन इसमें जो action आप देखते है वो ज्यादा appealing नहीं होती है. Live action movies में applicable rate होती है 30 frames per second और TV animation में, कोई भी drawing जिसे की produced किया जाता है कोई action के लिए वो twice exposed होता है. इसका मतलब है की अगर आपको एक second की animated action produce करनी है तब आपको 12 drawings की जरुरत होती है जो की 24 frames के समान होती है. इसका कारण है की कुछ mileage प्राप्त करना.

Animation की Length को Measure कैसे करे?

Animation को footage के द्वारा measure किया जाता है. आपको ये term footage के विषय में पता होना चाहिए. हम इस footage का शब्द बहुत बार इस्तमाल करते हैं जैसे की wedding की footage. Animation में भी footage और कुछ नहीं बल्कि animation की length को कहा जाता है और इसे Feet में measure किया जाता है. Normally 1 foot की animation की length 16 frames of animation की होती है. इसका मतलब है की animation की 1 second, one and half feet के समान होती है.

1 foot = 16 frames
1 sec animation = 24 frames = 1 1/2 feet.

Frame Rates:

Animation की final quality के लिए frame rate का बहुत ही बड़ा महत्व होता है. Frame rate ये determine करती है की कितने frames per second को display किया जाता है जब आप animation को playback करते हैं तब. अगर आप frame rate को high set करते हैं, तब आप बहुत सारे drawings produce करते हैं. वहीँ अगर आप इसे low set करते हैं तब आपकी animation थोड़ी choppy नज़र आती है.

Drawn Animation के लिए 12 frames per second (FPS) को ज्यादा recommend किया जाता है. ये film में इस्तमाल हो रहे frame rate का आधा ही होता है. इसलिए इसे ‘drawing on twos’ के नाम से refer किया जाता है.

Typical Frame Rates क्या हैं

12 fps: Cartoon animation में ज्यादातर drawn on twos ही होते हैं. जब इन्हें film में डाला जाता है, तब frames दोगुना exposed होते हैं उसे 24 fps बनाने के लिए. वहीँ हमारे case में हम simply play back कर सकते हैं 12 fps में.

15 fps: ये ज्यादा इस्तमाल में नहीं आता है.

24 fps: Film

25 fps: Pal (European) Television में.

29.97 fps: जब color को television standard में add किया गया, एक slight adjustment करना ही पड़ता है जिससे उस extra signal जिसको color के लिए इस्तमाल किया गया होता है को वह accommodate करता है. Video को 30 fps में play किया जाता है, लेकिन कभी कबार एक frame को drop किया जाता है keep up करने के लिए. इसे ही ‘Drop frame’ कहा जाता है.

30 fps: Black और White NTSC (US) Television के लिए.

Animation में क्या Career Options है?

वैसे तो Animators के लिए बहुत से work opportunities होते हैं. Professions जैसे की graphic designer, multimedia developer, game developer, character designers, keyframe animators, 3D momodellers layout artists इत्यादि. इसके साथ बहुत से sectors में भी आप काम कर सकते है, जिनके बारे में चलिए जानते हैं

  • Advertising
  • Online and Print News Media
  • Film & Television
  • Cartoon production
  • Theater
  • Video Gaming
  • E-learning

ये सभी industries तो हैं ही लेकिन उसके साथ अब तो दोनों government और private sector enterprises में भी बहुत oppourtinities हैं. Animation अपने आप में ही एक बहुत ही बड़ा industry बन गया है. बस इसके लिए आपको अच्छे से animations के skills को सीखना होगा.

एनीमेशन कोर्स क्या है और कितने प्रकार के होते हैं?

Animation Courses उन Courses को कहा जाता है जिसमें छात्रों को Animation से सम्बंधित सभी जानकारी प्रदान की जाती है. इसके साथ उन्हें Animation Softwares के साथ परिचित किया जाता है जिससे उन्हें Animation के designs बनाने में सुविधा हो. इसके अलावा उन्हें market trends के हिसाब से शिक्षित किया जाता है, जिससे की course के समाप्ति पर उन्हें उनके दक्षता के आधार पर jobs मिल सकें. इसलिए Animation field में jobs के लिए Animation courses का करना बहुत ही जरुरी होता है.

Animation Course Types क्या हैं

वैसे तो animation सीखने के लिए बहुत से अलग अलग प्रकार के Courses उपलब्ध हैं. लेकिन यदि हम officially courses के बारे में जानें तब ये मुख्य रूप से दो प्रकार के ही हैं

1) Animation Degree Course
2) Animation Diploma Course

डिप्लोमा और डिग्री, जहाँ Diploma Course एक साल का होता है, वहीँ Degree Course 3 साल का होता है.

Animation Degree Course के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

यहाँ मैंने निचे छात्रों के लिए Animation Degree Course में एडमिशन लेने के लिए जो योग्यता होना चाहिए उसके विषय में जानकारी दी है.

  • इसमें admission के लिए छात्रों का 12th पास होना आवश्यक है.
  • तथा 12th (+2) 45% या उससे ज्यादा से पास होना आवश्यक होता है.
  • Competiton को देखते हुआ कुछ Colleges में admission के लिए प्रवेश परीक्षा भी होती है. आपको इसके लिए पहले ही Apply करना होगा.
  • इसमें आप Course चुनने के लिए बहुत सारे options मि
  • लेंगे जिन्हें आपको अपने choice के अनुसार Select कर सकते है.

Animation Diploma Course के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

यहाँ मैंने निचे छात्रों के लिए एनीमेशन Diploma Course में एडमिशन लेने के लिए जो योग्यता होना चाहिए उसके विषय में जानकारी दी है.

  • इसमें admission के लिए छात्रों का 10th पास होना आवश्यक है.
  • तथा 10th 45% या उससे ज्यादा से पास होना आवश्यक होता है.
  • Competiton को देखते हुआ कुछ Colleges में admission के लिए प्रवेश परीक्षा भी होती है. आपको इसके लिए पहले ही Apply करना होगा.
  • इसमें आप Course चुनने के लिए बहुत सारे options मिलेंगे जिन्हें आपको अपने choice के अनुसार Select कर सकते है.

Course सीखने के लिए क्या क्या Skills चाहिए?

यदि आपने सच में Animation सीखने का पूरा मन बना लिया है तब तो ये बात बहुत अच्छी है. क्यूंकि ये बहुत ही rewarding career बन सकता है अगर आपने इसमें अपना पूरा मन देकर मेहनत की तब. Courses के हिसाब से आप किसी मान्यता बोर्ड से 10th या 12th की पढाई कर Diploma या Degree Course में join हो सकते हैं. यहाँ पर में आप लोगों को कुछ महत्वपूर्ण tips देने वाला हूँ जो की आपको इस course में काफी मदद करने वाले हैं.

कुछ महत्वपूर्ण टिप्स :

1 – बढ़िया observation skills का होना.
2 – ज्यादा Creative होना.
3 – इसमें Drawing /Sketching skills का होना आपको मदद कर सकता है.
4 – सबसे महत्वपूर्ण की patience और concentration का होना.
5 – बना रहे Character के ability को ठीक से समझना और उसमें खो जाना.
6 – अच्छी communication skills का होना.
7 – बेहतर computer और software skills का होना.
8 – अंतिम और सबसे जरुरी चीज़ सही team work ability का होना.

Animators कितना कमाते है?

Animation एक बहुत ही dazzling career option है. In-house की training एक leading animation production studio में करने के बाद, एक candidate एक junior animator के हिसाब से काम कर सकता है जिसमें उसकी salary Rs.12000 से Rs.18000 के बिच रहता है. जैसे जैसे एक animator expertise और experience gain करता है, तब he/she बड़े आराम से अच्छे promotions और salary प्राप्त कर सकते हैं जिसमें आपकी salary Rs. 25,000 से Rs.40,000 तक भी हो सकती है.

Animation महत्वपूर्ण क्यूँ है?

Animation एक प्रकार का art है; ये हमारे जीवन में एक बहुत ही बड़ा और महत्वपूर्ण role अदा करता है क्यूंकि internet में हम बहुत से चीज़ें देख सकते हैं जो की animations हैं. Animation की मदद से reality को cartoon form में देख सकते हैं जो की उसे ज्यादा impactful बनाता है.

Human brain ज्यादा बेहतर होता है देखी और सुनी चीजों को याद रखने में जब उसे निरंतर कोई चीज़ें दिखाई जाती है, पढाई करने की तुलना में. यह एक बहुत ही बेहतर तरीका है बहुत से लोगों को एक साथ कोई चीज़ convey करने के लिए.

Animation एक ऐसा field है जो की लाखों लोगों को रोजगार प्रदान करता है जिसमें artists, animators, producers और technicians मुख्य हैं, वो ऐसे ही बहुत से diverse animated content produce करते हैं पूरी दुनिया के लिए क्यूंकि उनकी demand सबसे ज्यादा है. Animation का इस्तमाल केवल animated films तक ही शिमित नहीं है, बल्कि हम ये कह सकते हैं की करीब 90% तक की films और television shows बिना visual effects artists के हो ही नहीं सकती है.

Artistically, बोलें तो शुरुवात से ही animation के इस्तमाल से storytelling में काफी advancement हुई है. यह animation हमारे history of entertainment, art, economy और culture का एक बहुत ही बड़ा integral part रहा है.

यह एक बहुत ही powerful style और tool है sharing, promoting और educating करने के लिए एक बहुत ही बड़ी audiences को एक साथ. चाहे वो educational content हो schools के लिए, या training videos हो किसी industry के लिए, या informational consumer videos, animation की economic और practical को हम हरसमय और हर जगह में देख और अनुभव कर सकते हैं, जिसे करोंड़ों लोग ज्यादातर अनुभव करते हैं.

Animations के Advantage क्या है?

चलिए Animation के कुछ advantages के बारे में जानते हैं.

1. Skill और ability Improvement
Interactive animation से बच्चों और बड़ों को आसानी होती है complex और difficult चीज़ों को आसानी से समझने के लिए वो भी बहुत ही कम समय में. साथ ही ये उनके skills और ability को भी बढ़ने में मदद करता है.

2. Interactivity
Interactivity एक प्रकार का mutual action होता है learner, learning system, और learning material के बिच. Learners बहुत ही जल्द और fast तरीके से सीख सकते हैं इन interative videos को देखकर, जिसमें audio और video का इस्तमाल होता है.

3. Engagement ज्यादा होती है
Interactive learning जिसमें live-action animation, simulation, video, audio, graphics, feedback, expert advice, और questions और answers होती है वो learners में interest पैदा करती है जिसके चलते वो ज्यादा engage होकर चीज़ों को देखते हैं.

4. Flexibility और safety
बहुत सी चीजें काफी dangerous होती हैं जैसे की real-life learning experiments जो की physics और chemistry में होती हैं. Computer animation इन सभी के लिए अच्छा विकल्प रहा है :

  • बहुत से experiments ज्यादा dangerous होने के कारण उन्हें workplace में किया नहीं जा सकता है, लेकिन उन्हें समझने के लिए animated video का इस्तमाल किया जा सकता है.
  • Animation programs ऐसे बहुत से dangerous events को represent कर सकती है बिना किसी hazards के.
  • अगर कोई learner mistake भी करता है या उसे कुछ चीज़ समझ में नहीं आता है तब वो बिना injured हुए उस experiment को repeat भी कर सकता है.

5. Motivation
चूँकि animation से काफी inspiring और interactive तरीके से लोगों को समझाया जा सकता है इसलिए ये एक बेहतर तरीका है लोगों को motivate करने के लिए.

6. Frustration को Eliminate करता है
Computer animation इतना ज्यादा आकर्षक होता है की जिससे कठिन और complex चीज़ों को भी आसानी से समझा जा सकता है. इससे learner के मन में कोई frustration पैदा नहीं होता है.

7. Practicality
ये true-to-life situations present करने में सक्षम होता है जो की learners प्रतिदिन face करते हैं. Adults ज्यादातर practical learners होते हैं — मतलब की वो कोई real problem को face कर उनसे ज्यादा अच्छे तरीके से सीखते हैं. Computer animation भी learners को allow करती है learn-by-viewing, learn-by-doing और learn-by-coaching से सीखने के लिए.

8. Consistent
सभी learners वही समान principles और skills learn करते हैं. ये उन्हें चीज़ों को organized तरीके से समझने में मदद करते हैं.

9. इसमें आप ऐसे process और चीज़ों को देख सकते हैं जिन्हें की practically दिखा पाना संभव नहीं है. उदाहरण के लिए geological events जैसे की earthquakes या erosion patterns.

10. इसमें हम complex sequence के प्रत्येक sequence को अलग अलग कर देख सकते हैं जिससे learners के सभी doubts आसानी से दूर हो जाते हैं.

Animation Technology के Disadvantages क्या हैं?

सभी technology के advantages के साथ साथ कुछ disadvantages भी होते हैं. तो चलिए आगे उन्ही के बारे में जानते हैं.

1. कुछ information real-life learning के अक्सर खो जाते हैं animation program में. Learner पूरी तरह से चीज़ों को practically सीख नहीं सकता है.

2. Computer animation programs शायद ठीक से function करे technical point of view से, लेकिन उन्हें curriculum में fit करना इतना आसान नहीं है.

3. Computer Animation को ठीक तरीके से implement करने के लिए teachers को programming technology के विषय में कुछ experience जरुर होनी चाहिए.

4. इन animations को store करने के लिए extensive memory और storage space की जरुरत होती है.

5. इन animation को ठीक तरीके से play करने के लिए special equipment की जरुरत होती है जो की कभी कभी ज्यादा costly भी हो जाती है.

Animation के Application

चलिय ऐसे कुछ important areas के बारे में जानते हैं जहाँ की animation को extensively इस्तमाल किया जाता है.

1. Education
सभी को मालूम है की हम इन्सान videos और images को ज्यादा याद रखते हैं text की तुलना में. इसलिए animation के इस्तमाल से education purposes में बच्चो को बेहतर चीज़ें समझाया जा सकता है. और ये उन्हें चीज़ों को ठीक से समझने में मदद करता है.

2. Entertainment
Animation का इस्तमाल entertainment में बहुत होता है खासकर computer graphics में. Diverse animation services के इस्तमाल से बहुत सारे top animation companies लोगों के लिए या TV के लिए animated videos बनाते हैं entertainment के लिए. बहुत से animation series और movies को ख़ास बच्चों के लिए ही बनाया जाता है. Studios जैसे की Pixar, DreamWorks और DC Animation Studios ज्यादातर animated movies बनाने में सबसे आगे हैं.

3. Advertisement
Companies अपने products को बेचने के लिए ज्यादातर advertisement का इस्तमाल करते हैं. इन advertisement को ज्यादा रोचक बनाने के लिए उसमें animation का इस्तमाल होता है.

4. Marketing
Animation बहुत ही ज्यादा creativity लाता है marketing में, जिससे वो आपको ज्यादा demographics तक पहुँचने में मदद करता है.

5. In Scientific visualization
इनका इस्तमाल accurate और representative scientific visualization बनाने के लिए किया जाता है research और analytical studies के लिए. साथ ही इससे आप 3D models भी बना सकते हैं. उदाहरण के लिए Medical studies में.

6. Creative arts
Motion graphics का ज्यादा इस्तमाल creative art बनाने में इस्तमाल होता है.

7. Gaming
बिना animation के तो Gaming industry की कल्पना भी कर पाना संभव नहीं है. क्यूंकि इस industry में सभी चीज़ों के लिए animation की जरुरत होती है चाहे वो कोई 3D character हो game का या कोई short video. सभी चीज़ें जैसे की texturing, lighting और rigging को several graphic professionals के द्वारा किया जाता है clients के requirements के हिसाब से.

8. Simulations
Simulations का इस्तमाल उन जगहों में किया जाता है जहाँ की लोगों की real life training करना dangerous होता है और उन्हें control नहीं किया जा सकता है. उदहारण के लिए Pilot simulation, flight चलाने के लिए. इससे candidate को सच में flight चलाने के आभास हो जाता है. साथ में उन्हें पहले ही कई accidents से बचाया जा सकता है.

9. Medical
Animation का medical industry में भी बहुत काम होता है. इसके इस्तमाल से professionals और medical students human anatomy के भीतरी details को clarity के साथ देख सकते हैं. इससे उन्हें complex concepts को समझने में आसानी होती है. साथ ही नए students बहुत से surgery को practically करने से पहले उन्हें simulation में कर अच्छा खासा experience प्राप्त कर सकते हैं.

10. Architecture and engineering
3D animation के इस्तमाल से बहुत से complex architecture designs को पहले बनाया जा सकता है जिससे ये पता तो चल सकता है की वो designs सच में implement करना possible है भी या नहीं.

Frequently Asked Questions (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

1Q – Animation Photoshop क्या होता है?

A – Animation Photoshop एक प्रकार का software होता है जिसका इस्तमाल users अपने creativity के अनुसार image बना सकते हैं. ये बहुत ही user friendly animation software होता है जिसके इस्तमाल से आप न केवल अच्छा image बना सकते हैं, बल्कि उसके साथ उसे edit भी कर सकते है. इसके अलावा आप इससे यही काम दुसरे clients के लिए कर अच्छा पैसा भी कमा सकते हैं.

2Q – Sir जो YouTube पे Poster के पीछे animation चलता है वो कैसे होता है?

A – Youtube पे जो poster पीछे animation चलता है उसे green screen animation कहा जाता है. इस green screen पर कोई भी animation को आप software के मदद से कर सकते हैं. ये animation अक्सर आप free में download कर सकते हैं internet से.

3Q – Sketching Animation की Job की Salary कितनी होती है?

A – Sketching animation की job की salary 15 हज़ार से 20 हज़ार तक हो सकती है. ये salary आपके experience और expertise के हिसाब से बढ़ भी सकती है.

4Q – Cut out Animation क्या है?

A – Cutout animation एक प्रकार का form होता है Stop-motion animation का जिसमें flat characters, props और backgrounds को cut करके इस्तमाल किया जाता है. इन्हें paper, card, stiff fabric और photographs से काटकर निकाला जाता है.

Conclusion

Computer animation के बहुत ज्यादा advantages है traditional way of education और training की तुलना में. Motivation और skill improvement सबसे ज्यादा main benefits होते हैं. आखिर में इसका main goal यह है की कैसे learners’ time और useless effort of learning को कम कर सकें, और इन्हें ज्यादा practical और task-oriented बनाएं.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को एनिमेशन क्या है (What is Animation in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को कंप्यूटर एनीमेशन क्या है के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा. यदि आपको मेरी यह post एनिमेशन क्या होता है इन हिंदी अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.