100+ Short Moral Stories in Hindi for Students

सदियों से Moral Stories in Hindi या जिसे हम हिंदी में नैतिक कहानियाँ कहते हैं, वो भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग रही हैं, और हिंदी साहित्य कोई अपवाद नहीं है। हिंदी में बच्चों के लिए Hindi Moral Story से लेकर वयस्कों के लिए हिंदी में लघु नैतिक कहानियों तक, भाषा में कहानियों का एक विशाल संग्रह है जो मूल्यवान जीवन सबक प्रदान करता है।

नैतिकता के साथ हिंदी में Panchatantra Stories in Hindi और नैतिकता के साथ हिंदी में Akbar Birbal Stories in Hindi सबसे लोकप्रिय हैं, अक्सर उन्हें और अधिक आकर्षक बनाने के लिए चित्रों के साथ। हिंदी में प्रेरणादायक और प्रेरक नैतिक कहानियाँ छात्रों और वयस्कों को पूरा करती हैं, जबकि नैतिक मूल्यों वाली हिंदी कहानियाँ और नैतिक पाठों वाली हिंदी कहानियाँ मानव व्यवहार की एक झलक पेश करती हैं।

इस लेख में, हम Story with Moral in Hindi की दुनिया का पता लगाएंगे, जिसमें हिंदी में सर्वश्रेष्ठ नैतिक कहानियां और हिंदी में Short Motivational Stories in Hindi शामिल हैं जो समय की कसौटी पर खरी उतरी हैं। तो बिना देरी के चलिए शुरू करते हैं।

Moral Stories in Hindi for Students (2024)

यहाँ पर हमने कुछ ऐसे Short Hindi Moral Stories को जगह दी है जो की आपको ज़रूर से पसंद आने वाली है। साथ में बहुत से रोचक Hindi moral stories for Kids भी आपको आगे पढ़ने को मिलेगी।

moral stories in hindi with pictures

वहीं ऐसी कहानियों में आपको पढ़ने में मज़ा तो आता है, वहीं इसमें बहुत कुछ नयी बातें सीखने को भी मिलती है। तो चलिए नयी नयी Hindi Short Stories पढ़ते हैं।

1. किसान और सांप की कहानी: Best Moral Story in Hindi

एक बार की बात है, भारत के एक छोटे से गाँव में एक किसान रहता था। एक दिन, जब वह अपने खेतों में काम कर रहा था, वह एक सांप से टकरा गया जो घायल था और चलने में असमर्थ था।

farmer snake moral stories in hindi for class 5

सांप के लिए दया महसूस करते हुए, किसान ने इसे घर ले जाने का तय किया। क्यूँकि उसे लगा की सांप की स्वास्थ्य ठीक नहीं है इसलिए इसे ठीक से देखभाल करना सही रहेगा। जब तक वह पूरी तरह से ठीक नहीं हो गया, उसने सांप की देखभाल की, उसे खाना खिलाया और उसके घावों की देखभाल की।

लेकिन जैसे-जैसे दिन बीतते गए, किसान ने ये नोटिस करना शुरू किया कि सांप की आंखों में एक दुष्ट नजर है। वह सांप के आसपास असहज महसूस करने लगा, और सोचने लगा कि कहीं उसने उसे अपने घर के अंदर ले जाने में गलती तो नहीं कर दी।

एक दिन, जब किसान सो रहा था, साँप उसके ऊपर झपटा, वार करने के लिए तैयार हो गया। लेकिन जैसे ही उसने अपना सिर उठाया, किसान को लगा कि वो अब उसे काटने वाला है, अब उस किसान ने उसे गर्दन से पकड़ लिया और अपने घर से बाहर फेंक दिया।

जैसे ही साँप रेंगता हुआ दूर चला गया, वह किसान की ओर मुड़ा और बोला, “मैं साँप हो सकता हूँ, लेकिन मैं कृतघ्न नहीं हूँ। तुमने मेरी जान बचाई, और इसके लिए, मैं हमेशा तुम्हारा ऋणी रहूँगा।”

किसान को एहसास हुआ कि साँप के रूप के आधार पर उसका अनुमान लगाना गलत था। उन्होंने सीखा कि दयालुता के छोटे से छोटे कार्य का भी बड़ा प्रभाव हो सकता है, और यह कि हमें हमेशा दूसरों के साथ करुणा और सम्मान के साथ व्यवहार करना चाहिए, चाहे वे कोई भी हों या वे कैसे दिखते हों।

सीख

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है की किसी को उसके आक़ार से पहचानना ग़लत है। कोई दिखने में भले ही ख़तरनाक हो लेकिन ये ज़रूरी नहीं की उसका व्यवहार भी उतना ही ख़तरनाक हो।

2. लोमड़ी और अंगूर की कहानी: Chalak Lomdi Story in Hindi with Moral

एक बार की बात है, एक चतुर लोमड़ी थी जो हमेशा अपने अगले भोजन की तलाश में रहती थी। एक दिन की बात है, बाहर बहुत गर्मी पड़ रही थी, जब वह अपने खुराक की तलाश में भटक रही थी, तो उसने एक ऊँची शाखा से लटके रसीले अंगूरों का एक गुच्छा देखा।

fox grapes moral stories in hindi for class 7

लोमड़ी कूदी और उछली, लेकिन वह अंगूरों तक नहीं पहुंच सकी। कई कोशिशों के बाद लोमड़ी थक गई और उसे भूख लग गई। निराश महसूस करते हुए, उसने खुद से बुदबुदाते हुए चलने का फैसला किया, “वे अंगूर वैसे भी शायद खट्टे थे।”

कहानी की शिक्षा यह है कि जब हम अपने लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर सकते हैं, तो बहाने बनाना आसान होता है और खुद को समझाने की कोशिश करते हैं कि हम वास्तव में इसे पहले स्थान पर नहीं चाहते थे। लेकिन कभी-कभी, हमें यह पहचानने की आवश्यकता होती है कि हम अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सक्षम नहीं थे क्योंकि यह असंभव था।

बल्कि इसलिए कि हम अभी तक इसे प्राप्त करने में सक्षम नहीं थे। हमें अपने लक्ष्यों को कभी नहीं छोड़ना चाहिए और इसके बजाय कड़ी मेहनत करते रहना चाहिए और अपनी आकांक्षाओं के प्रति प्रयास करना चाहिए। ऐसे आगे कुछ ओर कहानी भी आपको पढ़ने को मिलेगी जैसे की Moral stories in Hindi with a moral lesson।

सीख

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है की कड़ी मेहनत से ही लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है।

3. चार दोस्त और शेर की कहानी: Dost Ki Madad Moral Story in Hindi

एक बार की बात है, चार दोस्त थे जो एक घने जंगल से गुजर रहे थे। ये चार दोस्त थे एक हिरण, एक चूहा, एक कौआ और एक कछुआ।

4 friends short moral stories in hindi for class 8

जब वे चल रहे थे, तब वे एक शेर से टकरा गए जो घायल था और हिलने-डुलने में असमर्थ था। उन चारों दोस्तों ने शेर की मदद करने और उसे ठीक करने के लिए उसकी देखभाल करने का फैसला किया।

कुछ समय बाद शेर पूरी तरह से ठीक हो गया और उसने अपने अगले भोजन के लिए शिकार करने का फैसला किया। शेर को ठीक होता देख उन्हें लगा की वो शेर उनपर झपटकर उनका शिकार कर सकता है। ये सोचकर ये सभी दोस्त डर गए कि शेर आसानी से उन पर पलट सकता है।

लेकिन शेर ऐसे बिलकुल भी नहीं था। उसे ये बिलकुल याद आया कि उसके दोस्तों ने उस पर कितनी मेहरबानी की थी, और उसने उनकी जान बख्शने का फैसला किया। उसने घोषणा की कि वह उन्हें कभी नुकसान नहीं पहुँचाएगा, और यह कि वे अपने क्षेत्र से अपनी इच्छानुसार आ और जा सकते हैं।

चारों दोस्तों ने ये सीखा कि दयालुता का सबसे छोटा कार्य भी बड़ा प्रभाव डाल सकता है। उन्होंने महसूस किया कि किसी जरूरतमंद की मदद करने से उन्हें एक शक्तिशाली सहयोगी मिला है जो हमेशा उनकी तरफ रहेगा।

सीख

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है की हमें हमेशा दूसरों की सहायता करना चाहिए।

4. चींटी और टिड्डा की कहानी: Moral Stories of Hindi

एक बार की बात है, एक चींटी थी जो पूरे दिन कड़ी मेहनत करती थी, भोजन इकट्ठा करती थी और आने वाली सर्दियों के लिए उसका भंडारण करती थी। चींटी जानती थी कि उसे हमेशा आगे के लिए तैयार रहना जरूरी है, ताकि जब ठंड के महीने आएं, तो उसके पास खाने के लिए पर्याप्त खाद्य हो।

ant moral stories in hindi for class 9

दूसरी ओर, एक टिड्डा था, जो अपना दिन गाते-बजाते बिताता था, और भविष्य के बारे में नहीं सोचता था। जब सर्दियाँ आईं, तो टिड्डी ने खुद को भूखा और ठंडा पाया, उसके पास कोई भोजन या आश्रय नहीं था।

टिड्डा चींटी के घर गया और कुछ खाने को माँगा, लेकिन चींटी ने मना कर दिया। उसने टिड्डे से कहा कि उसे गायन और वादन में अपना समय बर्बाद करने के बजाय कड़ी मेहनत और तैयारी करनी चाहिए थी।

टिड्डे ने एक मूल्यवान सबक सीखा: केवल क्षण में जीने के बजाय कड़ी मेहनत करना और भविष्य के लिए तैयार होना महत्वपूर्ण है। चींटी ने उसे दिखाया कि तैयार रहने से सारा फर्क पड़ सकता है, और कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प से सफलता मिल सकती है।

सीख

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है की हमें हमेशा आगे के लिए तैयार रहना चाहिए और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।

5. लालची कुत्ता की कहानी: Lalchi Kutta Story Moral in Hindi

एक बार की बात है एक आवारा कुत्ता था जो हमेशा भूखा रहता था। एक दिन, जब वह सड़कों पर घूम रहा था, उसने जमीन पर मांस का एक टुकड़ा पड़ा देखा। कुत्ते ने जल्दी से मांस को अपने मुँह में पकड़ लिया और अपने पुरस्कार का आनंद लेने के लिए भाग गया।

greedy dog moral stories in hindi very short

जब वह दौड़ रहा था, कुत्ते ने पास के एक तालाब में अपना प्रतिबिंब देखा। यह सोचकर कि मांस के एक बड़े टुकड़े के साथ एक और कुत्ता है, लालची कुत्ते ने मांस के दूसरे टुकड़े को हड़पने के लिए अपना मुंह खोल दिया। लेकिन जैसे ही उसने ऐसा किया, उसके मुंह में मांस का टुकड़ा तालाब में गिर गया और तल में डूब गया।

कुत्ते को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसके पास कुछ भी नहीं बचा। इतना लालची होने के लिए उसे शर्म और मूर्खता महसूस हुई।

सीख

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है की लालच हमारे पतन का कारण बन सकता है।

6. लोमड़ी और बकरी की कहानी: The Fox and The Goat Story in Hindi

एक समय की बात है, जंगल में एक चतुर लोमड़ी रहती थी। एक दिन, लोमड़ी इधर उधर घूम रही थी और गलती से वह एक गहरे कुएं में गिर गई। उसने कुएं से बाहर निकलने की बहुत कोशिश की लेकिन असफल रही। तभी एक बकरी वहाँ पर पानी पीने के लिए कुएं पर आई।

Fox and Goat Story in Hindi

लोमड़ी को एक तरकीब सूझी। उसने बकरी से कहा, “कुएँ में उतरो, यहाँ का पानी बहुत मीठा है!” बकरी के मन में लालच आ गया और उसने तुरंत कुएं में छलांग लगा दी। यही तो लोमड़ी चाहती थी। चतुर लोमड़ी ने बकरी के सींगों पर पैर रखा और सुरक्षित कुएं से बाहर निकल गई।

बाहर निकलते ही वह बेचारी बकरी को कुएं में फंसा छोड़कर भाग गयी बकरी को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसने खुद से कहा, “मुझे चालाक लोमड़ी पर भरोसा नहीं करना चाहिए था और बिना सोचे-समझे कुएं में कूद जाना चाहिए था।”

बच्चों, इससे पता चलता है कि हमें किसी की मीठी बातों पर भरोसा करने से पहले अच्छी तरह सोच लेना चाहिए।

सीख

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है की किसी को भी भरोसा करने से पहले अच्छी तरह सोच लेना चाहिए।

Moral Stories को हिंदी में क्या कहते हैं?

Moral Stories को हिंदी में नैतिक कहानियाँ कहा जाता है।

बच्चों के लिए नैतिक कहानी क्या है?

यदि आप भी अपने बच्चों के लिए नैतिक कहानी खोज रहे हैं तब आपको ऊपर बहुत सी कहानियाँ मिल जाएँगी जिसे की आप खुद से देखकर सिख सकते हैं।

आज आपने क्या सीखा?

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Moral Stories in Hindi जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को ख़ास कर छोटे बच्चों को प्रेरणादायक कहानियों (short moral hindi stories) के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है।

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी कहानियां भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं।

यदि आपको यह लेख Hindi Moral Stories पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये।

About the Author

Sumit Singh

Sumit Singh

मुझे पढ़ना और लिखना बहुत पसंद है। मुझे सूचनात्मक विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मुझे कहानी लेखन, कविता और कुछ कविताओं को लिखने में गहरी रुचि है।

Related Posts

Leave a Comment