MICR Code क्या है और ये IFSC Code से कैसे अलग है?

क्या आप जानते हैं की ये MICR Code क्या है (What is MICR Code in Hindi)? यदि आपने कभी Banking Transaction किया होगा तब आपने कभी न कभी ये शब्द MICR Code के बारे में जरुर सुना होगा. Banking के दुनिया में IFSC, MICR बहुत ही परिचित नाम हैं. इन्हें प्राय समय financial transactions जैसे की money transfer करना NEFT, RTGS के दोरान इस्तमाल में लाया जाता है. ये terms भले ही बहुत ही common हैं लेकिन इनकी importance बहुत ज्यादा है इसलिए इनके विषय में सही तरीके से जानना बहुत ही जरुरी है.

चूँकि इन सभी basic information के विषय में आपको कहीं details में नहीं मिलेगा लेकिन इनके बारे में जानना बहुत ही जरुरी है क्यूंकि ये आपके banking transaction के वक़्त बहुत काम में आती हैं. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को इस बैंकिंग term MICR Code क्या होता है के विषय में जानकारी दी जाये जिससे की आपको इन दोनों के बारे में अच्छे से पता चले और इनके अंतर के विषय में भी पता चले. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की आखिर ये MICR Code in hindi क्या होता है और ये क्यूँ जरुरी हैं.

MICR कोड क्या होता है (MICR Code in Hindi)

MICR Code Kya Hai Hindi

यदि आपने कभी किसी check को बड़े ध्यान दे देखा होगा तब आपको उस check के निचे में magnetic inks bar codes printed हुए जरुर नज़र आये होंगे. इन्ही bar codes को MICR code कहा जाता है. इसका full form है ‘Magnetic Ink Character Recognition’. सही माईने में MICR का नाम उस technology को दिया जाता है जिसकी मदद से ये code को print किया जाता है. इन्हें मुख्य रूप से एक security bar code के तरह आपके transaction को protect करने के लिए इस्तमाल किया जाता है. इसके अलावा MICR code online money transfers का भी एक मुख्य हिस्सा है. क्यूंकि सभी bank branch को एक unique MICR code दिया जाता है और ये RBI को मदद करता है bank branch को पहचानने के लिए जिससे clearing process में तेजी आती है.

MICR की शुरुवात कब से हुई

भारत में MICR code की technology को सन 1980 में इस्तमाल में लाया गया. इसी साल सबसे पहली बार इस unique system को cheque clearing system में कार्यरत किया गया.

इस Code में क्या होता है ?

MICR code में मुख्य रूप से 9 digit होते हैं.
पहली की तीन digit (1-3) शहर के नाम बताती है
और आपके इलाके के PIN Code के पहले तीन digits के समान ही होते हैं. उदहारण के लिए New Delhi की Pincode की पहली three digit है 110 इसलिए यहाँ स्तिथ सभी bank branches की MICR Code 110 से शुरू होती है.

4-6 digit आपके Bank के विषय में जानकारी देती है
सभी Banks को एक three digit code, दिया जाता है जो की MICR Code में 4-6 digit होते हैं. उदहारण के लिए SBI की code है “002” इसलिए SBI Bank के सभी Branches के 4-6 digit होगी “002” चाहे वो भारत के किसी भी location पर स्तिथ हो.

आखिर के तीन digit (7-9) branch code के विषय में बताता है ,
ये serial wise होते है, मतलब की अगर Delhi में SBI की एक ही branch है तब उसका branch code होगा 001. अगर दो तब 001,002. आप यदि चाहें तब किसी भी Bank के किसी भी Branches की MICR Code RBI की Official website में देख सकते हैं.

उदहारण
चलिए एक उदहारण से समझते हैं. अगर आपकी एक Account है Andheri (West), Mumbai branch में State Bank of India (SBI) की. तब उसकी MICR code क्या होगी?
Mumbai की City code: 400
SBI की Bank code: 002
Andheri (West) की Branch code: 003
इसलिए इसकी MICR code होगी: 400002003

Note : – अगर आपके पास एक MICR code है, तब आप चाहें तो bank name, branch और city के विषय में जान सकते हैं, इसके लिए आपको बस इस प्रक्रिया को reverse करना होगा.

कैसे MICR Cheques की Processing में तेज़ी लाती है?

पहले दोर में cheques को manually clear किया जाता था इसमें गलतियाँ होने की ज्यादा संभावना होती थी, जिसके चलते cheque clearing process में बहुत देरी हुआ करती थी. MICR Code को cheques के ऊपर print किया जाता है, ये unique magnetic ink usually iron oxide होती हैं जिसमें की magnetic material present होती है और जो इसे machine-readable बनती है. ये बिलकुल ही error proof होती है. ये MICR code इतनी ज्यादा clear होती है की और fine होती है की इसे machine बड़े ही आराम से पढ़ सकता है भले ही इसमें दुसरे marks और stamps मेह्जुद हों.

Reserve Bank of India के report के अनुसार (Payments in India: Vision 2009-2012) के तहत, सभी bank branches में MICR codes enabled कर दी गयी है. इसके पीछे RBI का मानना है की इससे paper-based clearing process बहुत हद तक कम हो जाएगी. ख़ास इसीलिए बहुत से MICR- Cheque Processing Centres को establish किया गया है जिससे करीब 95 per cent तक की volume और value of cheques को देश में ही processed कर दिया जाये. पुरे विश्व में सभी देशों के अपने अपने standards होते हैं.

IFSC Code और MICR Code में क्या अंतर है

  • भारत में IFSC code को मुख्य रूप से develop electronic money transfer को initiate करने के लिए किया गया है किसी भी दो banks के भीतर , वहीँ MICR एक Magnetic Ink Recognition technology है इसलिए इसे मुख्य रूप से cheque processing को faster और simpler करने के लिए इस्तमाल में लाया जाता है.
  • IFSC code में 11 digits का unique alphanumeric code होता है, वहीँ MICR code में 9 digit वाला numeric code होता है.
  • IFSC code का इस्तमाल Money Transfer जैसे की NEFT और RTGS में होता है वहीँ MICR Code का इस्तमाल केवल Cheques clearing के लिए होता है.

MICR Code के Advantages क्या हैं

Readability और Security
चूँकि MICR Code में iron oxide-based ink का इस्तमाल होता है इसलिए ये MICR characters बहुत readable होते हैं चाहे उसमें कैसा भी marks या overprinted हो. इसके साथ MICR systems बहुत ही high level की security प्रदान करते हैं क्यूंकि MICR characters एक stringent format को follow करते हैं जिससे की documents को forge करना बहुत कठिन होता है.

Few Errors का होना
अगर हम दुसरे character recognition systems को MICR के साथ compare करें तब इसमें error rate बहुत ही कम होते हैं. MICR scanners बहुत ही precisely और accurately characters को decipher करते हैं जिससे बहुत ही कम गलतियाँ होती हैं.

MICR Code के Disadvantages क्या हैं

High Standards
MICR documents की Documents को Print करना इतना आसान नहीं है क्यूंकि इनकी Standard Level बहुत High होती है. इसमें बहुत ही precise requirements की जरुरत होती है MICR character fonts, MICR registration, paper-moisture content के लिए और grain एवं toner adhesion के लिए भी. इसके साथ सभी MICR character fonts का ANSI requirements के अनुरूप होना बहुत आवश्यक है. MICR fonts जो की इन Standards में खरा नहीं होते उन्हें ये reject कर देती है.

Expensive Equipment
MICR readers बहुत ही expensive होते हैं. MICR printers में जो cartridges का इस्तमाल किया जाता है वो plain ink toner cartridges की तुलना में बहुत ज्यादा costly होता है.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को MICR Code क्या है (What is MICR Code in Hindi)? के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को MICR Code क्या है के बारे में समझ आ गया होगा. मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख MICR Code क्या होता है? कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले. मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

आइये आप भी इस मुहीम में हमारा साथ दें और देश को बदलने में अपना योगदान दें.

10 COMMENTS

  1. Sir aap mujhe ye bataye ki aap APNE blog me kon sa font ko use kiye hai aur ye bhi bataye ki hum jab aapke post KO padhte hai aur jab scroll down ya up karte hai toh Jo upar wala menu bar or search bar wala kaha HMJ likha hai wo kaise sath sath chalta hai kyunki sir maine waise setting nahi kar paa raha hu APNE blog so help kare

  2. हेल्लो sir आपकी पोस्ट बहुत अच्छी है
    sir may अपने ब्लॉग पर पोस्ट लिखने के लिए नए टॉपिक कैसे सेलेक्ट कर सकता हूँ जिसकी डिमांड हमेशा रहे या आप अपने ब्लॉग पर कैसे टॉपिक सेलेक्ट करते है जिस पर आप पोस्ट लिख सके
    और google tranding को देख कर तो नहीं लगता की उसमे मुझे कुछ ऐंसा टॉपिक मिल जाये जिसकी डिमांड हमेशा रहे
    sir कुछ टिप्स जरूर दे और हो सके तो मेरी वेबसाइट को देख कर ही कुछ टिप्स दे की मुझे क्या करना चाहिए या नहीं

    • Hello Anoop जी, आपकी बातें सुनकर अच्छा लगा. वैसे Topic selection का कोई criteria नहीं होता है, जो topic में आपकी knowledge है उसे आप चुन सकते हैं, वैसे evergreen topics को चुनना ज्यादा बेहतर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.