फ्रेंडशिप डे क्यों मनाई जाती है?

बहुत से लोग Friendship Day मनाते तो हैं लेकिन उन्हें ये नहीं पता होता है की आखिर में फ्रेंडशिप डे क्यूँ मनाते हैं?  हो सकता है की शायद उन्होंने इसके बारे में कभी न सोचा हो. किसी ने ठीक ही कहा है ” दोस्तों के बिना जिंदगी अधूरी है” क्योंकि दोस्ती का रिश्ता भले ही खून का रिश्ता न हो, बल्कि यह रिश्ता किसी पारिवारिक रिश्ते से कम भी नहीं होता!

इसलिए आज के इस लेख में हम दोस्ती दिवस अर्थात Friendship Day की चर्चा करने जा रहे है. आज अमेरिका जैसे विश्व के अनेक देशों के साथ-साथ भारत में भी हर साल फ़्रेंडशिप दिवस मनाया जाता है. सभी उम्र की महिलाओं, पुरुषों द्वारा अपने मित्रों के साथ इस दिन को बेहतरीन अंदाज में सेलिब्रेट किया जाता है, या यूँ कहें कि दोस्ती का जश्न मनाया जाता है.

लेकिन फ्रेंडशिप डे असल में क्या है? इसका इतिहास क्या है? इसे क्यों मनाया जाता है? फ्रेंडशिप डे का महत्व क्या है? अक्सर इस विषय पर आज भी लोगों को पर्याप्त जानकारी नहीं है. इसलिए friendship Day मनाने वाले तथा फ्रेंडशिप का महत्व जानने वाले प्रत्येक व्यक्ति के लिए आज का यह लेख खास होने वाला है तो आइए बिना देरी किए इस लेख को शुरू करते हैं और जानते हैं कि आखिर में ये फ्रेंडशिप डे क्या होता है और क्यों मनाई जाती है?

फ्रेंडशिप डे क्या है – What is Friendship Day in Hindi

Friendship Day Kyu Manaya Jata Hai Hindi

फ्रेंडशिप डे जिसे हिंदी में ‘मित्रता दिवस” कहा जाता है. यह दिन सभी मित्रों के लिए विशेष होता है. प्यार, भाईचारे के इस दिन में सभी मित्र एकजुट होकर इस दिन को सेलिब्रेट करते हैं.

दोस्तों इस दिन का महत्व इसलिए भी बढ़ जाता है. क्योंकि हर साल संडे के दिन ही फ्रेंडशिप डे को मनाया जाता है, तो ऐसे में सभी उम्र के लोग अपने मित्रों के साथ मिलकर इस Fun Day को और अधिक खास बना देते हैं. असल में आम दिनों के मुकाबले यह दिन दर्शाता है कि “आपके लिए आपके मित्र आपकी जिंदगी में क्या अहमियत रखते हैं”. आइये जानते हैं

सर्वप्रथम मित्रता दिवस कब आयोजित किया गया था?

पुरे विश्व में सर्वप्रथम मित्रता दिवस सन 1958 को आयोजित किया गया था.

फ्रेंडशिप डे क्यों मनाया जाता है

Friendship Day हम इसलिए मनाते है क्यूंकि इस दिन हम अपने दोस्तों को ये एहसास दिलाते है की उनका कितना ज्यादा महत्व है हमारे जीवन में. इस त्यौहार के माध्यम से प्यार, अपनापन और अपनी भावनाओं को व्यक्त किया जाता है अपने दोस्तों के साथ. वहीँ इस दिन को ख़ास तोर से दोस्तों और दोस्ती को न्योछावर किया जाता है.

इसलिए यह Friendship Day काफी ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है हमारे और हमारे दोस्तों के लिए. वहीँ इससे दोस्ती में अपनापन आता है और साथ में दोस्तों का साथ भी मजबूत होता है. वहीँ इस दिन हमें अपने अच्छे पलों को याद कर गिले सिक्वे को दूर करना चाहिए. क्यूंकि दोस्ती से अच्छा रिश्ता पूरी दुनिया में और कुछ भी नहीं होता है.

Friendship Day कैसे मनाया जाता है?

एक मित्र दूसरे मित्र को फ्रेंडशिप बैंड बांधते हैं, फ्रेंडशिप डे T-shirt गिफ्ट देते हैं, तथा जिन मित्रों से मुलाकात नहीं हो पाती वह सोशल मीडिया के माध्यम से अपने सभी नए एवं पुराने दोस्तों को इस दिन की याद में मित्रता दिवस की बधाइयां देते हैं तथा मित्रता के रिश्ते को यूं ही बनाये रखने के लिए कहते हैं.

वैसे तो दोस्ती का हर दिन खास होता है, लेकिन आज भागदौड़ भरी जिंदगी में जो लोग समय की कमी की वजह से नहीं मिल पाते हैं, वे इस दिन मिलने के लिए जरूर टाइम निकालते हैं तथा इस दिन किसी मित्र के साथ हुई पुरानी कड़वाहट को दूर कर दुबारा से दोस्ती का बैंड बांधकर दोस्ती शुरू हो जाती है.

आजकल friendship Day में दोस्त मिलकर कैंटीन में पार्टी करते हैं, पुरानी यादों को ताजा करते हैं , खेलते है, और इस तरह फ्रेंडशिप डे को के इस पर्व को मनाया जाता है.

फ्रेंडशिप डे कब मनाया जाता है?

Friendship को विश्व भर में प्रत्येक वर्ष अगस्त के पहले रविवार को मनाया जाता है. इस साल वर्ष 2019 में फ्रेंडशिप डे को 4 अगस्त को मनाया गया था.

हालांकि आपका यह जानना जरूरी है कि यूनाइटेड नेशन द्वारा World Friendship day को जुलाई में 30 तारीख को मनाया जाता है. परंतु भारत समेत दुनिया के कई ऐसे देश हैं जहां फ्रेंडशिप डे को अगस्त के पहले सप्ताह में मनाने जाने का दौर है/

दरअसल विश्व भर में विभिन्न देशों द्वारा इस दिन को मनाये जाने का अंदाज अलग-अलग है. वर्तमान समय में भारत में भी पश्चिमी देशों की संस्कृति (Culture) की तरह फ्रेंडशिप डे को भी मनाया जाने लगा है.

अब यह सवाल आता है कि आखिर फ्रेंडशिप डे मनाने की शुरुआत कब से हुई? यह जानने के लिए हमें इतिहास में जाना होगा.

फ्रेंडशिप Day मनाने का इतिहास?

फ्रेंडशिप डे मनाने की शुरुआत पहली बार वर्ष 1958 में हुई जब पहली बार पैराग्वे में एक दिन को अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस के रूप में इस दिन को मनाया गया. लेकिन उस समय Friendship Day मनाने का अंदाज थोड़ा अलग था.

ग्रीटिंग कार्ड के जरिए मित्रों को फ्रेंडशिप डे की शुभकामनाएं भेजी जाती थी, परंतु जैसे-जैसे इंटरनेट का प्रचार प्रसार हुआ तो विश्व के अन्य देशों में इस दिन को मित्रता दिवस के रूप में सेलिब्रेट किया जाने लगा.

दरअसल पहली बार मित्रता दिवस को मनाने का यह विचार “डॉ रामन आर्टिमियो ब्रैको” द्वारा प्रस्तावित किया गया. दरअसल दोस्ती के लिए आयोजित की गई इस बैठक में “वर्ल्ड मैत्री क्रूसेड” को जन्म दिया आपको बता दें कि वर्ल्ड मैत्री क्रूसेड एक ऐसी नींव है, जो धर्म जाति रंग के आधार पर भेदभाव किए बगैर विश्व में मित्रता को बढ़ावा देती है.

फ्रेंडशिप डे की शुरुआत कैसे हुई?

दरअसल इसके पीछे एक रोचक कहानी है जिसमें वर्ष 1935 में अमेरिकी सरकार द्वारा एक व्यक्ति को उसकी सजा के लिए उसे मार दिया गया था. जिसके बाद मारे जाने वाले व्यक्ति का मित्र इस घटना से काफी आहत हुआ और उसने भी आत्महत्या कर ली.

और इस तरह दोस्त की याद में दिए गए इस बलिदान की वजह से सरकार ने अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे के रूप में मनाने का निर्णय लिया. और तब से ही दोस्ती के दिवस को मनाया जा रहा है और वर्तमान समय में न सिर्फ पश्चिमी देशों में बल्कि एशिया के अन्य देशों में भी मित्रता दिवस को सेलिब्रेट किया जाता है.

यहाँ आपका जानना जरूरी है कि मित्रता के इस पर्व को मित्रता दिवस के अलावा भी अलग-अलग उद्देश्य हेतु विभिन्न तिथियों में मनाया जाता है.

राष्ट्रीय मित्रता दिवस – अगस्त के पहले रविवार|

महिला मित्रता दिवस – अगस्त के तीसरे रविवार|

अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस – इंटरनेशनल फ्रेंडशिप एंड ओल्ड फ्रेंड्स न्यू फ्रेंड्स वीक मई का तीसरा सप्ताह|

फ्रेंडशिप डे का महत्व

दोस्ती का रिश्ता सबसे अनमोल रिश्तो में से एक होता है प्राचीन काल से ही दोस्ती की मिसाल दी जाती है! हालांकि अब दौर बदल चुका है. लेकिन आज भी हमें निजी जिंदगी में मित्रता के कई उदाहरण देखने को मिल जाते हैं.

अन्य पर्व के त्योहारों की तरह ही फ्रेंडशिप Day “मित्रता का यह दिन दोस्ती” का होता है जिसमें वे गले लग कर एक दूसरे को फ्रेंडशिप डे की बधाइयां देते हैं, तथा पुरानी गले-शिकवों को मिटाकर Friends forever बैंड एक दूसरे को पहनाते हैं. अतः मित्रता का यह दिन सभी मित्रों को मित्रता के इस रिश्ते को कायम रखने में याद दिलाता है.

फ्रेंडशिप डे सभी के लिए इतना ज्यादा महत्वपूर्ण क्यूँ होता है?

फ्रेंडशिप डे के इतना ज्यादा महत्वपूर्ण होने के पीछे कई कारण शामिल हैं. चलिए उन कारणों पर गौर करते हैं.

  • ये दोस्त ही हैं जो की हमें हमारे ख़राब परिस्तिथि में भी हमें हसाते हैं.
  • ये दोस्त ही हैं जिनके साथ हम काफी अच्छी तरह से सहज हो पाते हैं और कोई भी विषय में बातचीत कर सकते हैं.
  • ये दोस्त ही हैं जो की हमारे लिए हमेशा भगवान से प्रार्थना करते रहते हैं.
  • ये दोस्त ही हैं जो की हमारे ऊपर तब विस्वास करते हैं जब हमें अपने आप पर ही विस्वास नहीं होता है.
  • ये दोस्त ही हैं जो की हमें असल में जीना सिखाते हैं और हमारे चेहरे का मुस्कान बनते हैं.
  • ये दोस्त ही हैं जो की विपत्ति के समय में हमारे साथ खड़े होते हैं. फिर चाहे तो Financially हो या Emotionally.

ये तब भी हमारे साथ खड़े होते हैं जब कोई दूसरा नहीं होता है, या जब हम गलत भी हो. भले ही इनका और हमारा खून का रिश्ता नहीं होता है लेकिन मुझे लगता है की हमें भगवान का शुक्रगुजार होना चाहिए की उसने एक इतनी बेहतरीन रिश्ता बनाया. वहीँ वो लोग सबसे ज्यादा खुस्नाशिब होते हैं जिनके जीवन में दोस्तों की कमी नहीं होती हैं.

आज आपने क्या सीखा?

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख फ्रेंडशिप डे क्यों मनाया जाता है जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को फ्रेंडशिप डे कब मनाया जाता है के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post फ्रेंडशिप डे क्यों मनाई जाती है पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here