कोएक्सिअल केबल क्या है?

Coaxial Cable, एक तरह की transmission तार है जिसे signal की high frequency के लिए इस्तमाल किया जाता है। चलिए इसे मैं और आसान शब्दों में समझाता हूँ।

दरशल Coaxial Cable एक, चार परतों वाली मोटी तार होती है, जिसे अधिकतर आपने TV और setup box को install करते वक्त देखा होगा।

ये Cable TV से setup box के connection में मददगार होती है, जिसे लगाने से setup box से आने वाली signal की quality बहोत अच्छी हो जाती है। जिससे आप किसी भी तरह की picture quality में बद्लाव देख सकते है और TV में किसी भी तरह की दिखाई देने वाकी सभी picture की quality बढ़ जाती है।

Coaxial Cables की श्रेणी

Radio government (RG) ratings के अनुसार Coaxial cables को आमतोर से तीन कैटेगॉरी में बाँटा जाता है.

Coaxial Cable Kya Hai Hindi
  • RG – 59: जिसकी impedance होती है 75W और इसे मुख्य रूप से cable TV में उपयोग किया जाता है।
  • RG – 58: जिसकी impedance होती है 50W और इसे मुख्य रूप से thin Ethernet में उपयोग किया जाता है।
  • RG – 11: जिसकी impedance होती है 50W और इसे मुख्य रूप से thick Ethernet में उपयोग किया जाता है।

Coaxial Cable Diagram in Hindi

इस cable की बनावट circular insulator की तरह होती हैं, ये cable चार परतों में घिरे होने के कारन काफी safe और secure होती है। इनके परतों की बात की जाए तो सबसे उपर की परत में plastic cover/outer jacket, फिर metal insulator, इसके बाद dielectric flexible tube और फिर metal insulator core या copper wire (inner conductor) होती है।

Coaxial Cable Diagram in Hindi

ये इसका आखरी हिस्सा होता है। इसमें inner conductor ही है जिसे connect किया जाता है signal की quality के लिए।

Coaxial Cable के उपयोग

जैसा की इस cable के uses के बारे में आपको थोडा बहोत पता लग ही गया होगा की इसे genrally कहाँ – कहाँ उपयोग में लाया जाता है।
सबसे ज्यादा antenna को TV या digital setup box से जोड़ने के लिए।

  1. VCR को TV से जोड़ने के लिए।
  2. Computer के wire connectivity के लिए।
  3. Security System
  4. Shared Cable Network
  5. Digital Telephone Network में
  6. Cable TV Network में

Coaxial Cable के प्रकार

ये cable मुख्य रूप से दो तरह की होती है, आइये जानते है

  • Thiknet Core
  • Thinnet Core

ThikNet Core Coaxial Cable – इस cable की metal insulator core यानी (inner conductor) जो बनी होती है copper से, इसकी मोटाई अधिक होती है। इसकी inner core conductor की मोटाई अधिक होने के कारण इसमें बहोत से अंतर होते है – जैसे की इसकी frequency speed काफी high होती है और ये 500 मीटर तक अपनी signal को आसानी से transmit कर सकती हैं।

ThinNet Core Coaxial Cable – Thinnet core में इसकी inner conductor की मोटाई कम होती है, जिसके कारण इसमें इसकी frequency speed काफी low होती है, लगभग 200 मीटर तक अपनी signal को आसानी से transmit कर सकती हैं।

Coaxial Cable के लाभ

  • इनका इस्तमाल high frequency applications में ज़्यादा होता है।
  • इनकी क़ीमत काफ़ी खिफ़ायती होती है दूसरों के मुक़ाबले।
  • इस cable में EMI (Electric Magnetic Interference) और RFI (Radio Frequency Interference) बहोत कम होती हैं।
  • ये cable twisted pair cable के बजाए इसकी bandwidth काफी अधिक होती हैं।
  • इसमें आपको high transfer rates देखने को मिलता है।

ये थी कुछ ऐसे लाभ जो को आपको प्राप्त होते हैं, यदि आप Coaxial Cable का इस्तमाल करते हैं।

Coaxial Cable के हानि

  • ये cable दुसरे cable के अंतर में भारी होते हैं।
  • ये cable twisted pair cable के अपेक्षा ये महंगा होता हैं।
  • चूँकि इसमें केवल एक ही सिंगल cable का इस्तमाल किया जाता है, इसलिए यदि किसी प्रकार की दिक़्क़त होती है इस केबल में तब पूरा नेट्वर्क ठप हो जाएगा।
  • इस cable में सुरक्षा को लेकर काफ़ी मतभेद है, क्यूँकि इसे आसानी से थोड़ा जा सकता है, साथ में बीच में आप T-joint (of BNC type) का इस्तमाल कर इसमें छेड़ छाड कर सकते हैं।
  • इसे ज़्यादातर जगहों में grounded करना आवास्यक होता है किसी प्रकार के interference को रोकने के लिए।

ये थी कुछ ऐसे हानि जो को आपको देखने को मिल सकते हैं, यदि आप Coaxial Cable का इस्तमाल करते हैं।

Coaxial Cable को आमतोर से किस नाम से जाना जाता है?

Coaxial Cable को आमतोर से “coax” के नाम से भी जाना जाता है।

Coaxial Cable का आविष्कार सबसे पहले किसने किया था?

Coaxial Cable का आविष्कार सबसे पहले इंग्लैंड के इंजीनियर और गणितज्ञ ओलिवर हीविसाइड द्वारा 1880 में इसका निर्माण किया गया था।

Coaxial Cable का कौन सा कैटेगॉरी cable TV में उपयोग किया जाता है?

Coaxial Cable का RG – 59: जिसकी impedance क़रीब 75W की होती है, उसका इस्तमाल cable TV में होता है।

आज आप ने क्या सिखा

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Coaxial Cable क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी। और में आशा करता हूँ आप लोगों को कोएक्सिअल केबल के बारे में समझ आ गया होगा.

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा.

आपको यह लेख Coaxial Cable के प्रकार कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Previous articleअपना पासपोर्ट कैसे चेक करें?
Next articleIRCTC क्या है और अकाउंट कैसे बनाये?
नमस्कार दोस्तों, मैं Prabhanjan, HindiMe(हिन्दीमे) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We HindiMe Team Support DIGITAL INDIA

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here