Study Time Table कैसे बनाये और कैसे उसको Follow करे

क्या आपको पता है पढाई करने के लिए Study Time Table कैसे बनाये और कैसे उसको follow करे. इस लेख में इसकी पूरी जानकारी पूरी सरल steps और tips के साथ मैं आपको बताऊंगा. जब एक Student की Success की बात करे. चाहे वो किसी भी class में हो या तैयारी करता हो उसको सबसे पहले Time Management का knowledge होना बोहत ही जरुरी है. आप देखे ही होंगे जितने भी Topper और Successful Student हैं. वो पुरे साल भर अपना Time Table follow करते हैं.

Topper Student पढाई के साथ खेल कूद, social life को भी अच्छा manage करते हैं और अंत में अछे Marks के साथ पास होते हैं. क्यूंकि वो अपना टाइम टेबल बनाने के साथ उसको Follow भी करते हैं. आमतोर पे Students के साथ ये सवाल जुड़े रहते हैं. क्या आपको साथ भी एसा होता है. जब आप पढाई करते हो तो आप अपनी पढाई को टालते रहते हो. अपने आप को उल्लू बनाते रहते हो. क्या आप पढाई को दुसरे दिन पे टालते हो. क्या आप दिन भर वो पढूंगा, इतना बजे ये पढूंगा बस ये सोचते रहते हो.

क्या आप Time management कर नहीं कर पा रहे हो. क्या आप अपने पढाई के लिए time नहीं दे रहे हो. आखिर exam के वक्त सारी सारी रात जागते हो चाय, सिगरते और coffee के सहारे पढाई करते हो. इसका मतलब आप Time Table बनाये ही नहीं हो और या फिर उसको Follow नहीं कर रहे हो. तो अब आपको चिंता करने की कोई जरुरत नहीं. इस लेख को Follow कीजिये ये एक topper Student का टाइम टेबल है. तो देरी किस बात सुरु करते हैं Study Time table कैसे बनाये और क्या हैं इसके फायदे.

Topper बनने के लिए Study Time Table कैसे बनाये

study timetable kaise banaye

अब आपको निचे effective Time Table (TT) बनाने के तरीके बताऊंगा. आब आगे पढने से पहले आप अपने इरादों को बुलंद करलें और सोच लें की चाहे कुछ भी हो जाये बिना किसी बहाने के टाइम टेबल को follow करूँगा या करुँगी. पहले जानलो टाइम टेबल बनाने के क्या हैं फायदे.

हर Student को Time Table क्यूँ बनाना चाहिए और क्या हैं इसके फायदे

कोई भी बिना फायदे के कुछ करता ही नहीं. टाइम टेबल बनाने के बोहत सारे फायदे हैं एक एक कर के निचे दिए गए हैं.

  • आप कम समय में और आसानी से अपने Goal को हासिल कर सकते हो.
  • सबको time दे सकते हो Social life, Physical Life और Study life.
  • आपका मन दिन भर चिंता से मुक्त रहेगा और इसी वजह से बाकि काम पुरे ध्यान से करोगे.
  • हमेसा खुस और सांत रह सको गे.
  • Study और पढाई करनके के तरीके को Improve कर सकते हो.
  • Time management करने के तरीके अपने आप, आप के अंदर Develop होंगे.
  • समय की अहमियत को समझ पाओगे और जिमेदार इंसान बनोगे.
  • Relationship को अच्छे से Manage कर सको गे.

आप दिन भर किस वक्त क्या क्या करते हो उसकी एक List बनाइये

आपको time table बनाने के फायेदे के बारे में तो आपको पता ही चल गया. मगर आपको और एक चीज को ध्यान में रख के ही आपको टाइम टेबल बनाना होगा. आप पढाई के साथ साथ और क्या क्या करते हो. जैसे आप घर के काम कोनसे करते हो, किस वक्त Tuition या coaching जाते हो. खेल कूद और दोस्तों के साथ कब समय बिताते हो. फ़ोन पे किसके साथ कितना वक्त बात करते हो. सभी काम जो आप हर रोज करते हो उन सभी को ध्यान में रखते हुए आपको एक list बनानी चाहिए.

इस्से आप time table अच्छे से बना पाओगे. आपको इसका knowledge हो जाये गा की कब आप को free वक्त मिलता है और कब Busy रहते हो. आप चाहो तो दोस्तों के Birthday और Festival के नाम भी list में डाल सकते हो. time को अच्छे से इस्तेमाल कर सकते हो. आगे इस लेख के अंत तक आप जान ही जाओगे की Time table कैसे set करे.
कोन कोन से Subject

आपके Course में आते हैं उनका भी एक List बनाये

अब बारी अति है की आप के Course में कोनसे subject हैं. उनकी भी एक list बनालो. अगर आप पढाई करते करते कोई Competitive exam की तैयारी भी अगर कर रहे हो तो आपको extra time देके manage करना पड़ेगा. एक paper में आप subjects की list बना लीजिये.

School, College Life और सोने को छोड़ के आपके पास और कितना वक्त है

College life और School life में classes और sleeping ये बोहत जरुरी है. Time table वैसे तो सोने का समय और class के बाद जो वक्त बचता है उसी समय को लेके टाइम टेबल बनाया जाता है. class ख़तम होने के बाद आपके पास कफी समय बचाता आपके दुसरे काम करने के लिए. अब आपको एक paper में आपके पास हाथ में कितना समय है उसको लिखें इसके हिसाब से ही time table बनाइये.

अब जैसे कोई Student college से 2.00 pm को आता है. तो 2.00 pm से रात के सोने से पहले तक जितना वक्त बचता है उसी time को लेके आपको टाइम टेबल बनाना है.

आपको हर एक Subject और Activities के लिए Time निकालना है

ये टाइम टेबल का जरुरी part है. इसमें आपको जो आपके पास बचा हुआ समय है उसको इस्तेमाल करके आपको हर एक subject को कितना घंटा देना है वो decide करना है. किस समय आपको homework करना है. कितना बजे कोनसा subject पढना है. ये time Allocation बोहत सोच समझ के बनाना है. इसके लिए निचे कुछ tips हैं. उनको follow करे.

  • कुछ subject में आप जादा कमजोर भी हो सकते हैं. जिनको आपको जादा समय देना होगा.
  • अब syllabus को देखें, तो कुछ subject का syllabus जादा होते हैं. उनको जादा समय दें.
  • किस में आप strong हैं और किसमे आप weak हो ये भी ध्यान दें.
  • आप को जिस subject में कमजोर हो उसको आप वो समय दीजिये जब आप relax हों और जादा concentrate कर सकें.
  • आसान Subject को सोने से पहले या आखिर time देने से भी चलेगा. क्यूंकि अगर आप उन subject को जो difficult हैं उनको रात में पढोगे तो Interest की कमी से आप सो भी सकते है.
  • आपको खेल कूद या exercise के लिए समय निकल के टाइम टेबल में लिखें. खेल कूद से आपका दिमाग active और refresh होता है.
  • जादा Complex न बनाये.
  • Time table के निचे Motivational Quote जरुर लिखें और colorful बनाये.
  • हर एक subject को लगातार पढने की कोसिस ना करे. ये थी कुछ जानकारी पढाई के लिए Time कैसे Manage की जाती है.

Time Table को एक Paper पे लिखें

एक paper में कुछ rows और दो Column बनाये. पहले वाले Column में Subjects और Activities के नाम लिखें और दुसरे column में कितने से कितना बजे तक उस subject को पढना है वो लिखें. अब आपका Time table तयार है.

Time Table कहाँ लगायें

अभी तक आप जान ही गए होंगे टाइम टेबल कैसे बनाये. अब आपको इसको एसे जगह पे लगाना है जैसे की ये आपको आपके आँखों के सामने नजर आता रहे. study टेबल के सामने. Mirror के बगल में. जहाँ आप पढाई करते हो सामने दिवार पे. आपको अगर नजर ही नहीं आयेगा तो आप time table को Follow कैसे करोगे.

Time Table को Follow करते वक्त क्या करे और क्या ना करे

जब भी आप टाइम टेबल को follow कर रहें हो, तो इन कुछ बातों पे गोर फरमाइए. College Time table कैसे बनाये जान ही गए हिंदी में. जैसे की आप की Consistency रहे. इनको अगर नहीं करोगे तो फिर से वही पहले जैसी बात हो जाये गी. तो एक एक करके सुरु करते है.

पढ़ते पढ़ते बिच में Break लें

आपको पता ही होगा की आप अगर एक ही काम लगातार करते रहते हो तो आपको Bore लगता है. या फिर सर भारी लगने लगता है. वैसे ही हमारा brain भी एक ही काम ख़ास कर पढाई करते वो थक जाता है. इसलिए आपको हर 45 से 50 मिनट में 5 से 10 मिनट का break लें. जिस्से आप का दिमाग Refresh हो जाये गा.

अब सवाल आता है की break में क्या किया जाये. एक गाना सुनलो बिना feelings वाला. या फिर कमरे के अंदर थोडा घूम लो. लेकिन Internet या fb whatsapp मत खोलना वरना आपका time table धरा धरा का रह जायेगा. बिच बिच में पानी भी पीते रही ये. meditation कर सकते हो 10 मिनट के लिए.

1. Subject बदलते रहिये

आप एक ही subject को बार बार मत पढ़ें. Difficult फिर easy फिर Difficult फिर easy. वरना आप लगातार time table follow नहीं कर पाओगे.

2. अपने आप को शाबासी दीजिये

हर दिन के अंत में अगर आप पुरे टाइम टेबल के मुताबिक पढाई किये तो, अपने आप को शाबासी दें. थोड़ी देर के लिए नाचलो और घर में किसी को बताओ की मै TT follow कर रहा हूँ. आप जिसदिन नहीं नाचोगे या घर में नहीं बताओगे तो समझ जाना आप failure की और जा रहे हो. आप के घर वाले भी आपसे पूछ सकते हैं क्या तुम आज पढाई नहीं किये.

3. एसी जगह पे पढाई करे जहाँ से आप हिल ना सको

इसका मतलब यह है की आप पढाई का स्थान एसा चयन करे जहाँ असा पास शोर न हो. आप को कोई बार बार बुलाके disturb ना करे. time कैसे बनाये जो आप पढ़ रहे हो वो बेकार हो जाये गा. पढाई के लिए time Schedule बनाना बेकार हो जाये गा.

4. Mobile को आस पास ना रखें

आजकल के जामने के Students का सबसे बड़ा दुसमन है Mobile, Game, Social site और Internet. इसको जो students बचके रहा वो बोहत आगे जायेगा. बस काम के लिए या पढाई के बारे में Search करने के लिए इस्तेमाल करे. आप चाहो तो Play Store से टाइम टेबल बनाने के aaps download कर सकते हो. ये थी कुछ जानकारी कैसे बनाये Study Time table.

मेरी अंतिम राय इस लेख पे

तो दोस्तों आज की जानकारी काफी महत्वा पूर्ण है. जिसमे School और College के Students Study Time table कैसे बनाये की बहुत अछि जानकारी हिंदी में थी. अगर आप Student हो और आगे बड़े होके कुछ करना चाहते हो तो आपकी जिंदगी में Time management का ज्ञान होना बोहत ही जरुरी है. थोडा वक्त लगेगा और थोडा दर्द होगा लेकिन आप कर लोगे मेरी यही उमीद है. समय बोहत ही कीमती है, समय ही सब कुछ है. time management for students in हिंदी.

उमीद है ये लेख पसंद आया होगा, कैसा लगा आप जरुर निचे comment कर के बताइए. अगर अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे. और कोई सुझाव देना चाहते हो तो जरुर दीजिये जिस्से हम आपके लिए कुछ नया कर सके. हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करे. चलो बनाये Digital India जय हिंद, जय भारत, धन्यबाद.

Hindi Me Jankari

17 COMMENTS

    • सुक्रिया गुप्ता जी. उमीद है आपको आपके पीछले वाले सवाल का जवाब मिल गया होगा. हम आपकी मदद करने के लिए हरवक़्त तयार हैं.

    • सुक्रिया कवीताजी , आपके मन और कोई सवाल है तो जरुर पुछे. हम पुरे भारत को और अच्छी जानकारी Hindi में देने की कोसिस कर रहे हैं. आपका सहयोग हमारे लिए जरुरी है.

    • Thanks Neha, आपको अगर ये जानकारी अच्छी लगी तो अपने मित्रों में इसे Share करना ना भूलें. हर STUDENT के लिए Time table काफी माईने रखता है. अच्छे result के लिए .

  1. Nice sir but kisi ne v aaj tak k nai btayea k ek din m jyada se jyada kitne subjects read krne chaiye. ..ho skta hai ais ans ke mujhe he jrurt pdi ho abi tak…so logo k comments se pta lgta hai k logo ko kya kya problem a skti hAi so thx Sir and give me a my ans

    • Hello Narinder ji, kitne subjects ki jo aapki doubt hai, uske wisay mein ye batana chahunga ki wo aapke sikhne ke capacity par depend karta hai. kuch log din ke 4 se 5 subject bhi padh lete hain aur samajh bhi jate hain, wahin kuch 1 or 2 subject mein bhi ludak jate hain. isliye kitne subject ke badle aapne kitna retain kiya ye jyada jaruri hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here