SMPS क्या है और कैसे काम करता है?

क्या आप जानते है के SMPS क्या है (What is SMPS in Hindi)? हर कोई आज की दुनिया में computer का इस्तेमाल करता है, चाहे वो Desktop करे या फिर Laptop लेकिन उसके अंदर भी अलग अलग parts रहते है तो उन parts को बिजली चहिये लेकिन ये बिजली हम अपने घर में इस्तेमाल करते उससे काफी कम होती है, जैसे बात की जाये TV, FRIDGE, IRON, OVEN वगेरा ये सब Direct 220V-240V तक इस्तेमाल करते है लेकिन  अगर यही Voltage हम computer के parts को Direct दे देंगे तो सब कुछ जल जायेगा, तो वैसे Computer को कितना बिजली चाहिए मैं आज आपको बताऊंगा की Computer के अंदर Voltage कैसे कण्ट्रोल होता है और कोन करता है, तो चलिए जानते है के SMPS क्या होता है.

SMPS क्या है (What is SMPS in Hindi)

smps kya haiSMPS का पूरा नाम है Switch Mode Power Supply. ये एक Electronic Circuit है अगर Desktop के लिए अगर अलग से खरीदो गे तो आपको वो कुछ Square शेप का डबा मिलेगा वही SMPS है, ये Device Computer के अलग अलग हिस्सों को Power देता है जैसे की RAM, Motherboard, Fan को. वैसे MotherBoard से अलग अलग हिसों तक बिजली ज्याती है.

अब हम इसके काम के बारे में थोडा जानते हैं, तो ये सबसे पहले जब Main Power Supply मतलब घर के Board से  computer को देते है तब वो सबसे पहले AC (Alternative CURRENT)  के Form में रहता है उसके बाद जब ये AC computer के SMPS के पास ज्याता है तो ये SMPS इसको DC में Convert कर देता है इसके लिए वो Capacitor और DIODE के का इस्तेमाल करता है ये Regulator की मदद से Switch को कभी ON और कभी OFF करता है मतलब Switch Mode change करता है, कभी DC को AC में CONVERT करता है और कभी AC को DC में इसलिए इसका नाम भी  Switch Mode Power Supply कहा ज्याता है. अब जान ही गए Switch Mode Power Supply क्या होता है.

SMPS कैसे काम करता है

What is SMPS in Hindiतो सबसे पहले मैं Cable से जो current computer के पास आता है तो वो पहले SMPS के अंदर जो छोटे device है उनसे होते हुए ज्याता है, तो सबसे पहले AC filter के पास जाता है वहां पे AC filter करने की प्रक्रिया में Nutral और Phase के बिच में NTC, Fuse, line Filter, PF Capacitor का इस्तेमाल होता है, इसके Output को Rectifier और Filter को दिया ज्याता  है, जो की इसको AC से DC में Convert करता है  जो Rectifier था और जो filter था वो दो capacitor की मदद से Smooth DC में Convert करता है, इस प्रक्रिया का Output Pure DC होता है और इसको switching transistor को दिया ज्याता था यहाँ पे हम दो NPN transistor का इस्तेमाल करते है जो की switching Cycle की मदद से फिर एक AC Output देता है, इसको हम देते है एक और एक प्रक्रिया करने के लिए जिसका नाम था SM transformer तो ये थी SMPS की PRIMARY CIRCUIT की बात, इसके बाद ये और एक बार Rectifier और Filter को दिया ज्याता है जो की फिर से इसको इस AC Supply को और एक बार Smooth DC में Convert करता है (एक बात याद रखना की घर में transformer के पास से जो current आता है वो है AC और Battery में जो current आता है वो DC होता है) ये क्रिया के बाद जो Output निकला वो तिन Form में होता है एक 12VOLT, 5 VOLT, 3 VOLT. ये तो SMPS की primary और Secondary circuit है.

लेकिन primary circuit के Rectifier और Filter एक  Output Starter transfermer के साथ Connect होता और ये Starter के साथ Connect होता जिसको और एक Amlifier IC के साथ Connect किया ज्याता है और इसके तिन Output WIRE होते हैं, amplifier IC SMPS का एक एसा  area है जहाँ पे पूरा management का काम होता है. Amlifier IC से तिनMajor Cable निकल ते हैं एक है green जो की Power on केबल है दूसरा Violet colour में आता है जो की +5 volt का Stand by current देता है, और तीसरा जो है वो Gray color में आता है, जिसको Power Bood cable बोला ज्याता है.

इन तीनो Output Cable को MotherBoard को दिए ज्याते हैं. Switching Transister और amplifier IC को एक Driver के साथ Connect रहता है और इसको amplifier IC के जरिये Control किया ज्याता है. secondary Switching Circuit से एक sensing wire आता है जो की Amplifier IC को बताता है की Load बढ़ रहा है, तो उसी वक्त DRIVER जो की SWITCHING Transiter on –off प्रक्रिया को बढ़ा देता है, और जिसे एक Constant speed में Voltage मिलता रहता है. जो की +12volt, +5volt और +3volt होता है और इसी प्रक्रिया को switching Mode Power Supply बोला ज्याता है. जब green cable का Power on होता है तब 12v, 5v, और 3v SMPS से MotherBoard को मिलता है. कुछ इस तरह SMPS काम करता है.

Direct Current और Alternative Current क्या है

वैसे current का मतलब Flow Of Charge है. ये दो तरह के होते है

1. Direct Current
2. Alternative Current

Alternative Current में charge का Flow  दोनों दिशाओं में होता है, यहाँ positive से negetive और negetive से positive दोनों दिशाओं में होता है, पर अगर हम Direct Current की बात करें तो ये बस इसका flow एक दिसा में होता है वो है negetive से positive तक. इसका एक अच्छा उदहारण है आप जो अपने TV और घडी में जो Battery इस्तेमाल होते हैं वहां पे बैटरी से DC current निकल ती है. थोडा और अच्छे से समझ ते हैं तुम्हारे घर में जो बिजली आती है वो Alternative Current का उदहारण है और रिमोट में जो battery होती है वो Direct Current अगर हमारे computer को DC Current चाहिए इसलिए Alternative Current को DC में Convert करने के लिए जो device का इस्तेमाल होता है वही आपका SMPS है.

SMPS के प्रकार (Types SMPS in Hindi)

1. DC से DC Converter
2. Forward Converter
3. Flyback Converter
4. Self-Oscillating Flyback Converter

1. DC से DC Converter

ये एक SMPS Converter का Type है जिसमे आपको बस, SMPS के पास जो CURRENT आती है वो AC होती है उसको DC में Convert करने से पहले, जो Current DC Converter से पास होता है वो पहले Step Down Transformer का primary Side से गुजर ता है, ये step down transfermer SMPS का ही एक हिस्सा है जो की 50 Hz का होता है, ये Voltage rectified और filter होक transfermer के Secondary हिस्से में ज्याता है, अब ये Output Voltage Power से बहार निकल कर अलग अलग हिस्सों में जा पोहंचाया ज्याता है. इस का Output को और एक बार वापस Switch के पास भेजा ज्याता है. Voltage को Control करने के लिए.

2. Forward Converter

ये भी एक Converter है जो की choke के जरिये Current को लेके ज्याता है चाहे Transistor अपना काम करता हो या नहीं. जब Transistor पूरा बंद हो ज्याता है तब ये काम Diode करता है. तो इसी वजह से Load के अंदर Energy ज्याता है वो दोनों off और on के वक्त होता है, लेकिन choke Energy को रखता है, ON Period के वक्त और कुछ Energy को वो Output Load के पास भेजता है.

3. Flyback Converter

इस Flyback Converter में, जब Switch on रहता है तब inductor का Magnetic Field Energy Store करता है. जब Switch on स्तिथि में होता है तो उर्जा निर्गम Voltage circuit में खाली होती है. Duty Cycle Output voltage को निर्धारित करता है. यही इसका काम है.

4. Self-Oscillating Flyback Converter

ये सबसे आसन और Basic Converter है जो की Flyback के उपर काम करता है. Conduction के वक्त  switching transistor, transfer से primary रूप से रैखिक रूप से एक Slope के हिसाब से बढ़ता है जो की Vin/Lp.होता है.

SMPS के प्रकार इस्तेमाल के हिसाब से

Power Supply के प्रकार उसके आकार और इस्तेमाल के उपर निर्भर करता है. उसके प्रकार है AT SMPS, ATx SMPS, Baby SMPS. लेकिन ज्यदातर AT और ATx ज्यादा इस्तेमाल होता है.

यहाँ पे AT SMPS का पूरा नाम है Advance Technology SMPS, और ATx SMPS का पूरा नाम है Advance Technology Extended SMPS.

SMPS के Connectors

1. 20+4 Pin ATX
ये एक MotherBoard Connector है, ये connector MotherBoard +12 Volt का charge देता है. ये Connector AT SMPS 20 और ATX SMPS 24 Pin इस्तेमाल करता है. 24 पिन का connector और 24 पिन Motherboard का इस्तेमाल होता है.

2. CPU4+4 पिन Connector
ये Connector CPU के लिए चाहिए जो 4 पिन का इस्तेमाल करता है जो सब 12v के होता हैं और एक connector है जिसका नाम है, SATA Power Connector.

3. SATA Power Connector
Computer में तो Hard Disk और DVD ROM होते हैं इनको ये Power Connector Power देता है. ये तो कुछ जानकारी थी SMPS के Power Connector के बारे में. ये 4 पिन Connector होता है.

भविष्य में SMPS कैसे होंगे

आगे चल के और भी खास SMPS होंगे जो की अच्छे से Voltage को Convert कर सके और असनि से हो सके.निचे दिए गए  इन कुछ बातों पे आगे जाके गोर फरमाया जाये गा

  • ज्याता Output दे सके
  • ज्यादा Voltage ले सके और कम Voltage Output कर सके
  • Power की ख्यामता को बढाया जा सके
  • Switching mode और तेजी से काम कर सके

मेरी अंतिम निर्णय

तो दोस्तों आज की जानकारी आपको काफी अछि लगी होगी, उमीद करता हूँ आपको ये जानकारी आपके काम अये और अगर आप hardware Repair करते हो तो आपको और भी फायदे मंद है, वैसे आप इस काबिल तो बनी ही गए हो की SMPS क्या है (What is SMPS in Hindi) इस सवाल का जवाब तो दे सकते हो, इसके साथ हमारे computer में SMPS का काफी बड़ा योगदान है, अप ये भी जान गए की ये Device कैसे काम करता है, Switch Mode Power Supply Technology की मदद से इससे और छोटा बनाया जा रहा है जिससे और छोटे छोटे device में इसको को लगाया जा सके, अगर अभी भी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे और हमरे Blog को जरुर Subscribe करें जय हिंद धन्यबाद.

45 COMMENTS

  1. Smps jaise electronic ka bahut hi chota vhota aisa chapter h jiske bare m hme saari jankari dhoondne m nahi mil rhi h kahi so please help us because next month alp cbt2 examanition jo ki qualifying exam h .

  2. Sir please ek aur aisa post banayen jisme ek hi pc me do ya do se adhik windos/kali linux install karne ka tareeka ho aur jab hum chaahen ja windos chala sake.

  3. Harwan Singh जी
    Pulse Width Modulation.एक Modulation Process या तकनीक है. जिसका प्रयोग संचार के लिए communication प्रणालियों में किया जाता है. ताकि किसी Pulse की चौड़ाई या किसी अन्य संकेत की अवधि में संकेत के आयाम को encode किया जा सके, आमतौर पर transmission के लिए यह Carrier Signal है.

  4. Sir hamen Marpho MSO 1300 E (Finger Print Machine) apne pc (Windows 7 32bit) me install karna hai vo kaise hoga kya iskeliye koi driver ko download karna padega? Agar karna padega to Sir Plz uska Link Reply me de dena aur work kaise karega wo bhi bata dena

    • इसके लिए आपको Driver तो चाहिए ये तो ठीक है, आपको सायद इस link से download file मिल जाए https://www.morpho.com/en/biometric-terminals/desktop-devices/fingerprint-devices/morphosmart-1300-series. कैसे install करोगे इसकी जानकारी भी मिल जाएगी. उमीद है ये जानकारी आपको पसंद आई होगी.

      • thanks Sir bataane ke liye our kabhi koi paresaani hogi to mai comment jaroor karoonga kyounki aap ki site par hamaare sabhi question ka answer mil jaata hai our koi site pe jaldi milta hi nahi hai.

        • सुक्रिया भाई, आपके सवाल भी हमारे लिए ख़ास हैं. फिर भी हम आपसे राय लेना चाहते हैं और कुछ देना चाहते हो तो जरुर दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here