Yahoo क्या है और और किसने बनाया है?

यदि आपसे कोई पूछे की ये Yahoo क्या है (What Is Yahoo in Hindi)? तब इसका आसान सा जवाब है की Yahoo एक search engine होता है, ठीक Google के ही तरह यह भी users के queries को पुरे internet में खोजकर उनके सामने search results में प्रदर्शित करता है. वैसे अगर आपको ये जानना है की Yahoo का इतिहास क्या है, yahoo account को verify कैसे करते है, ये काम कैसे करता है, तब शायद आपको यह article Yahoo क्या है पूरी तरह से पढ़ना होगा. क्यूंकि मुझे यकीन है की अगर आप इस article को ठीक ढंग से पूरा पढ़ लेंगे तब यह post ख़त्म होने तक आपके मन में उठ रहे सभी सवालों के जवाब आपको मिल जांएगे.

Yahoo के बारे में आप सबने सुन रखा होगा और आप याहू को अच्छे से जानते होंगे. आपमें से कुछ लोग आज भी याहू का इस्तेमाल करते होंगे. आपको बता दे की याहू एक Search Engine है, जिसमे आप Google की तरह कुछ भी सर्च कर सकते है. Google की तरह याहू भी एक लोकप्रिय Search Engine है.

लेकिन वो बात अलग है की आज Google ने Yahoo को बहुत बुरी तरह से पछाड़ दिया है. आज सबकी जुबान पे सिर्फ और सिर्फ Google का ही नाम है. लेकिन एक वक्त Yahoo भी सफलता के पायदान पर था. आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की याहू क्या है, इसका इतिहास क्या है और Yahoo के अकाउंट को कैसे वेरीफाई करते है?

याहू क्या है (What Is Yahoo in Hindi)

Yahoo Kya Hai Hindi

Yahoo का full form होता है “Yet Another Hierarchical Officious Oracle “.Yahoo एक Search Engine है जिस पर आप कुछ भी सर्च कर सकते है. याहू को 1995 में लांच किया गया था और आज Yahoo, Google और Bing के बाद सबसे ज्यादा search किया जाने वाला Search Engine है. Yahoo को आप Search Engine से ज्यादा एक directory मान सकते है, क्योंकि याहू सर्च के अलावा अपने यूजर्स को 40 से अधिक सेवाएं देता है.

याहू पर आप Calendar, News, Images, Finance, Gadget, Real State, Yahoo Mail, Music, Sports, Movies आदि सभी के बारे में जानकारी हासिल कर सकते है. Gmail की तरह याहू की भी एक मेल एर्विस है जिसे Yahoo Mail कहा जाता है. याहू अपनी Question-Answer सर्विस के लिए लोगों में काफी लोकप्रिय हुआ है.

Yahoo का इतिहास

Yahoo की शुरुआत 1994 में स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के दो स्टूडेंट जेरी यांग (Jerry Yang) और डेविड फिलो (David Filo) ने बनाया था और एक साल बाद यानी 1995 में इए याहू के नाम से लांच किया गया था. याहू ने सबसे पहले एक कमर्शियल Website लांच की जिसमे न्यूज़ के माध्यम से खबर और विज्ञापन चलते थे.

कुछ ही सालों में Internet सर्फिंग वाले लोगों के लिए याहू सबसे बेहतर ठिकाना था. लोग याहू पर ही सब कुछ सर्च किया करते थे. याहू कम्पनी का मुख्य ऑफिस कैलीफोर्निया में है. याहू का पूरा नाम “Yet Another Hierarchical Officious Oracle” है. पहले याहू का नाम “Jerry’S Guide To The World Wide Web” था.

Yahoo की मुर्खता बना उसके पतन का कारण

एक समय ऐसा था जब याहू ने Google को खरीदने के दो मौके गंवा दिए थे. जब Google ने याहू को उसे खरीदने का ऑफर दिया तब याहू ने दो बार Google के ऑफर को ठुकरा दिया और आज अंजाम आप देख ही सकते है याहू को आज कोई पूछता भी नहीं और Google के पीछे लोग पागल हुए जा रहे है.

याहू ने Google के ऑफर को यह कहकर ठुकरा दिया था की वे नहीं चाहते की याहू से लोग किसी और Search Engine पर जाए. उस समय Google सिर्फ एक Search Engine था जो कुछ ही सेकंड में यूजर को रिजल्ट दिखा देता था.

उस समय Yahoo को Google की 50 लाख डॉलर की रकम ज्यादा लगी थी और आज Google 522 अरब डॉलर से भी ज्यादा की कम्पनी है. याहू अपने यूजर तक सिमित रहना चाहता था और Google पुरे वर्ल्ड पर राज करना चाहता था और हुआ भी ऐसा ही आज Google को लोग सबसे लोकप्रिय Search Engine मानते है और कुछ भी सर्च करना हो Google पर ही सर्च करते है.

Facebook खरीदने का मौका भी गंवा दिया

2006 में Google की तरह Yahoo के पास फेसबुक खरीदने का भी मौका था. तब याहू ने फेसबुक के लिए एक अरब डॉलर की बोली लगाई थी, लेकिन अपने शेयरों में आई गिरावट के कारण उसने इसे घटाकर 85 करोड़ डॉलर कर दिया.
इस पर फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग ने दोबारा सोचा और डील से पीछे हट गये और आज फेसबुक का मार्किट 250 अरब डॉलर से ज्यादा का है. याहू ने यह दो सबसे बड़ी गलियाँ की जो बाद में उसी के पतन का कारण बनी.

Microsoft का ऑफर भी ठुकरा दिया

याहू चाहता तो 2008 में माइक्रोसॉफ्ट का ऑफर लेकर अपनी बुरी स्थिति टाल सकता था. Google की चुनोती से निपटने में लगा माइक्रोसॉफ्ट याहू के लिए 44 अरब डॉलर देने को तैयार था लेकिन याहू के बोर्ड को यह रकम काफी कम लगी और अब याहू सिर्फ 5 अरब डॉलर में वेराइजन की हो गयी.

क्या रहा है अब याहू के पास ?

कुल मिलाकर देखे तो याहू लगभग खत्म ही हो गया और उसका अस्तित्व अब इतिहास बन गया है. बस अब याहू जापान में 33.5 स्टेक और चीन की दिग्गज E-Commerce कम्पनी अलीबाबा में 15% की हिस्सेदारी रह जाएगी.
Yahoo के अकाउंट को वेरीफाई कैसे करें? How To Verify Yahoo Account

– सबसे पहले https://login.yahoo.com/ इस Website पर जाए.

– अब Don’T Have And Account Sign Up पर क्लिक करें.

– Sign Up पर क्लिक करने के बाद First Name, Last Name, Email Address, Password, Mobile Number, Date Of Birth आदि भरे और Continue पर क्लिक करें.

– अब एक बॉक्स में आपके Mobile Number होंगे जो की आपने Sign Up करते समय डाले थे और अब आप Texe Me An Account Key पर क्लिक करें.

– अब आपके Mobile पर एक टेक्स्ट मेसेज आएगा जिसे आप यहां डाले और Verify पर क्लिक करें.

– इस तरह आपका याहू अकाउंट वेरीफाई हो जायेगा.

Conclusion

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को याहू क्या है (What is Yahoo in Hindi)? के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को याहू कैसे काम करता है के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा. यदि आपको मेरी यह post Yahoo क्या होता है हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

15 COMMENTS

    • Kuldeep ji, aap jarur successful ho sakte hain bas aapko nirantar parisram karna hoga. Jo bhi doubts ho aap hame hamare FB group mein puch sakte hain. Keep reading Hindime.net and keep blogging.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.