India में Chinese Products को Ban करने से उसका क्या असर होगा?

Boycott Chinese products in India: आपने हर जगह अखबार में या टीवी पर ये खबर तो सुना होगा की भारत देश का सबसे बड़ा दुश्मन Pakistan का साथ China पूरी तरह से दे रही है जैसे हथियार और गोलाबारूद का सामान पाकिस्तान को दे कर आतंक को बढ़ावा दे रही है और इसलिए social networking site जैसे Facebook और WhatsApp पर हमें बहुत से ऐसे messages आ रहे हैं की हमें Chinese products का इस्तेमाल करना बंद कर देना चाहिये ताकि china को बहुत नुकसान हो और वो इस नुकसान की भरपाई करने के लिए पाकिस्तान का साथ देना छोड़ दे. इस बात पर हम सब कहीं न कहीं से सेहमत हैं पर अगर इस बात के तेह तक जाकर देखें और सोचें तो क्या आपको लगता है की हमारे china के products का इस्तेमाल ना करने से china को फर्क पड़ेगा? मेरे ख्याल से तो बिलकुल भी “नहीं” है. कैसे? इस विषय के बारे में आज हम चर्चा करेंगे की India में Chinese products को ban करने से उसका क्या असर होगा?

India और China के बिच Imports और Exports से जुडी कुछ बातें

Boycott Chinese Products in India
सबसे पहले तो मै आपको ये बता दूँ की India china से कितने प्रतिशत सामान खरीदती है और कितनी बेचती है. China, India का सबसे बड़ा trading पार्टनर है. अगर हम बात करें साल 2015 से लेकर 2016 तक की financial year को लेकर तो India ने china से 60 billion dollar का सामान import किया है जो की china का पूरी दुनिया में total imports का लगभग सिर्फ 15 प्रतिशत का हिस्सा है. और अगर exports की बात करें तो China से India को करीबन 10 billion dollar का सामान export किया गया है जो की India का total export में सिर्फ 3.6 प्रतिशत का हिस्सा है. अगर इन आंकड़ों पे हम नज़र डालकर देखें और Chinese के products को India में ban करने के बारे में सोचें तो china को इस नुकसान से कोई ज्यादा फर्क पड़ने वाला नहीं है.

बल्कि इसका उल्टा ही असर हमारे भारत पर होगा, कैसे? अगर हम china के products का इस्तेमाल करना बंद कर दें तो china भी हमसे products लेना बंद कर देगा जिसके वजह से हमारा भी नुक्सान होगा. हमारे china के products को ban करने से उसे कोई फर्क नहीं पड़ेगा और वो अपना व्यापर किसी और देश के साथ करना शुरू कर देगा. ऐसा भारत भी कर सकता हैं लेकिन जो china से सामान सस्ते दामों में हमें मिल जाया करते हैं दुसरे देशों से सायद हमे उतनी ही रक़म में मिलना मुश्किल है. तो ऐसे में भारत कौन से दुसरे देश के साथ व्यापर करेगा जहाँ से उसे उतने ही दामो में समान मिल सकता है जितने में China हमें देता है.

इस सवाल का जवाब मिलना मुश्किल है. ऐसे में हम सब सोचते हैं की हम इंडियन products का इस्तेमाल करेंगे लेकिन ये तो हम सब ही जानते हैं की India के market में वो क्षमता नहीं है जो हम सब की जरूरतों को पूरा कर सके. अगर ऐसा होता तो हम दुसरे देशों के साथ imports कम और exports ज्यादा मात्रा में कर रहे होते. इसलिए china का products ban कर देने से हमें हमारे समस्याओं का हल नहीं मिलेगा.

China का Products Ban करने से इसका असर भारत में क्या होगा?

Is it really possible to boycott Chinese product in India? आप सब जानते हैं की दिवाली का शुभ समय आ रहा है और ऐसे में Facebook और WhatsApp पर ऐसे messages आ रहे हैं की boycott Chinese products. China से जुडी कोई भी products को ना खरीदें जैसे Chinese लाइट्स, पटाखें इन सबका इस्तेमाल ना करें उनसे दुरी बनाये रखें, इसके अलावा अगर हम electronics चीजों की बात करें तो Chinese smartphones को ना खरीदें. ये सब करने को कहा जा रहा है जिससे की हमारा देश का कुछ हो और हमरे देश से अब एक भी पैसा china के पास न जाये इसके बदले हम Indian products का इस्तेमाल करें. ये बात तो बिलकुल सही है हम सब ये चाहते हैं की हमारे देश का भला हो, लेकिन इन सबके बिच एक बहुत बड़ा सवाल उठता है जिसके ऊपर हमे ज्यादा ध्यान देने की जरुरत है जो अकसर हम नहीं देते.

वो सवाल क्या है? अगर हम आज से बल्कि अभी से China के products को boycott कर दें तो क्या होगा? हम जिस Chinese products को बंद करने की बात कर रहे हैं वो हमे कहाँ से मिलता है? आपने आस पास के दुकानों से ही ना, अब हम उन products को खरीदने china तो नहीं जाते. मान लीजिये एक दुकानदार है जो दिवाली के लिए बहुत बड़ी रक़म का Chinese का सामान खरीद लिया है और उसे बेचना भी शुरू कर दिया है. अब अगर हम Chinese product खरीदना बंद कर देते हैं तो इसमें नुकसान किसका होगा china का या India का? क्यूंकि उस दुकान में बैठने वाला तो भारतीय है और गरीब है जो अपने परिवार का पेट भरने के लिए व्यापार करता है. नुकसान सिर्फ उस दुकानदार का होगा china का नहीं, china तो उस सामान को कबका बेच चूका है.

क्या करना सही होगा?

हम अपनी जीवन शैली को देखें तो हमारे घर में एक सुई से लेकर बड़ी मशीनों तक जैसे TV, Fridge, computer, smartphone सभी चीजें Chinese brand की होती है. इन सभी चीजों का Indian brand तो है ही नहीं अगर है भी तो भी उसके अन्दर में लगा हुआ कुछ सामान china से लाया जाता है बस उसमे brand India का लग जाता है, इसका मतलब ये नहीं है की वो पूरी तरह से India का ही brand है. तो हम सबको इस बात को अपनाना होगा की हम आज Chinese के products पर निर्भर रहते हैं और इसीलिए अभी से उनके products का इस्तेमाल नहीं करने से हमे कोई फायेदा नहीं होगा. इस चीज से निजात पाने के लिए हमे खुद को विकास की और ले जाना होगा और अपने आपको हर field में उनसे बेहतर बनाना होगा जिसके लिए हमें china से किसी भी तरह के products की जरुरत आगे जाकर ना पड़े, तभी जाकर हम उनके सामान का इस्तेमाल करना बंद कर सकते हैं और अपने देश को तरक्की की और ले जा सकेंगे.

इस विषय में मेरी राय यही थी और आशा करती हूँ की आपको समझ में आ गया होगा की India में Chinese products को ban करने से उसका क्या असर होगा. इस विषय में आपकी क्या सोच है या आपकी क्या राय है हमारे साथ जरुर share करें.

33 COMMENTS

  1. Khatoon ji mai aap se bas yahi kahaa chahataa hoo ki China ke maal ko bechnaa hai yaa nahi ye dukaandaar ki marji hai paise usake lage hai. Bhaartya log bahoot dildaar hote hai desh ke liye apanaa saraa maal jalaa sakte hai. Uske badale me bhaartiyaa maal bechnaa suru kar bheer se apnaa sampatti banaa lenge soche sirf muslim kyoki yahi log hai jo chinies maal ki sabse jyaadaa bikri karte hai. Aapke sughaav ki awasyktaa nahi hai ye her Bhartiyaa ko pataa hai.

  2. इस चुतिया लेख के लिए तुम्हे झांट भर बधाई चीन से कितना पैसा मिला है इस लेख को लिखने के लिए

  3. aap jaise log, jo ye itni baate btayi hai k chian se product ban ho jaaye to kya hoga, apni economy ko agar world level pe acha karna hai to hame china ke products ko ban karna hi hoga, aane wale time main iska kitna fayda india ko milega, aapen socha hai jo itna kuch china se purchase ke fayde bta diye…….. very bad for you

  4. लेकिन सर जो प्रोडक्ट हमारे भारत में उपलब्ध है कम से कम उस प्रोडक्ट को तो चीन से ना खरीदे , अपने भारतीय कंपनी के प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें , और उसे एक ग्लोबल ब्रांड बना दें । ऐसा करने से अन्य भारतीय कंपनियों को भी उत्साह मिलेगा और धीरे धीरे एक समय ऐसा आएगा जब हमारा देश लगभग सारी जरूरत कि चीज़े भारत की बनाई हुईं कंपनी की इस्तेमाल कर रहा होगा, और इसकी शुरुआत हमें आज से ही और अभी से ही करनी होगी।

  5. हमारे घर में सब पतंजलि का आता है जो कि स्वदेशी है।

    और भी प्रोडक्ट है इंडिया के उन्हें खरीदे।
    अगर सस्ते महंगे को देखे तो अगर स्वदेशी समान 10 रुपए महंगा है तो वो दस रुपए हमारे देश हित में जाएंगे।

    आपके पास दो रास्ते है।
    १. सस्ती चीज लेकर दूसरो का फायदा करो।
    २. थोड़ा महंगी चीज लेकर देश हित में लगाओ

    जय हिन्द

  6. हमे चायना से अने वला डू ब्लिके ट समान तो नाही खरीदना पडेगा उस्से अचा तो हम हमरा स्वदेशी समान खरेदी कर कर हामारा देश का incame aur बडाये

  7. Thoda economical knowledge le lijiye pehle uske baad article publish kariyega…filhal aapki jankari k liye
    Agar hum kisi product ko kharidne se mass level pr mana karte hain toh dukandar agli bar wahi dukandar us product ko rakhne se pehle sochega…aur is tarah dheere-dheere un products ka use khtm ho jaega…

  8. Hamare PM ne yojna to nikali hai bas ab hame khud Ko kuch karna hoga,jaise ke small skill industries develop kare aur product Ko market me laye hum dusro k ghar Jane se pahele kud ka ghar dekhe,jab hum apni zarurat puri karenge to fir khud b khud export level pe aa jayenge,aise karne ke bahut se fayde hai jaise k Apne Desh me rojgar badegi,Apne Desh ka paisa Apne Desh me he rahega,dusre Desh k log Apne Desh me paise invest karenge,aur ye to pura world Janta hai India me log jugad bahut acha karte hai bas yahi to hai jugad Ko final touch de k finish product banana hai.hum khud responsible hai jo sab ne mil k thana to sab possible hai

  9. I agree with you Chandan sir,China Ka products ho ya koi app,usko use Karne na Karne Ka koi topic hi ni Hona Chahiye,agar ITNA hi India ke bare me sochte hai sab to other countries ki Tarah hi production ko increase Karna Chahiye,na ki aise Soch SE ,import or export bhi Kuch hota hai, aisa to hai ni ki China ne free me sab de rakha hai,uska payment hota hai,or government ki permission Hoti hai,China Ka 1% hi kyo aisa development Karo ke uska 80% effect to pade hi…..MATLAB Kuch bhi…..

  10. Agar hm dukandaar se Chinese saaman nhi lenge to dukandaar Chinese saaman apni dukaan m rakhega hi nhi aur na khredega kisses Chinese product s ka import km hoga vaise bhi jyadatar Chinese products plastic k hotel h air bht kamzor hote h so we all should make effort to ban Chinese products and I think that this site is being owned by a China supporter

  11. Sir / Madam aap logo ki ghatiya soch hai ki eisa karne se india ka nuksaan hoga, india ek great country hai,
    or rahi baat saste product ki, jab bazar me 2 product ho to saste kee or log aakrshit hote hai lekin saste product ghatiya or kam chalau bhi hote hai. or uper aapne bataya ki mere chinese saman kharidanae se 1% ki baat to aap ek chain banaye 3*3*3*3 (yani aap 3 log chinese saman ka bahiskar kare or agale 3 bhi ese hi 100 bar tak ka circle banaye fir dekhana

      • Are ab jake khude product banana chalu karenge to kuch sal me indian product market me rahenge
        nahi to yahi sochte hue hum mar jayenge ki india me kuch hai hi nhi use karne ke liye
        Support Indian product
        and support Make in india
        Innovate something

  12. China हमारे देश को कमजोर समझता है और धमकी भी देता आ रहा है अगर मेरे चाइनीज़ समान नही खरीदने china को 1% भी नुकसान होता है तो मैं china का सामान कभी नहीं खरीदूंगा।
    भारत माता की जय

  13. hmm! pr itna to kr sakte hein ki maximum indian products ka hi use kare.waise apko ye bhi batana chahiye tha ki hme aisa kya karna chahiye jisse china pr hmari nirbharta km ho.
    hakikat btane ke liye dhanyawad.

  14. Lekin ham Chinese app jaise ki UC news,UC browser,vidmate,9apps etc ko uninstall karke Indian apps jaise omigo,ace browser,apus browser,Indian browser etc apps ko install Kare Jo ki in Sabhi ki tarah hi chalte hai tab thoda bahut fayda to India ko Hoga hi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here