डोरस्टेप बैंकिंग क्या है?

क्या आपने सुना है ये Doorstep Banking क्या है? यदि नहीं तब आज के इस आर्टिकल में आपको इस विषय में पूरी जानकारी मिलेगी। जिन लोगों के पास समय नहीं होता या फिर वो कहीं बाहर नहीं जा पाते हैं उनके लिए doorstep बैंकिंग का महत्व ज्यादा है.

DoorStep Banking एक ऐसी ही initiative है जिसकी शुरुवात PSB Alliance द्वारा की गयी थी जिसके माध्यम से वो ज्यादातर customers को Banking transaction services प्रदान कर पाएं उनके घर तक जाकर। इस doorstep बैंकिंग सर्विस को की जाती है Door Step Banking(DSB) agents के द्वारा जो की लोगों के घर तक जाकर उन्हें बैंकिंग सर्विस प्रदान करते हैं.

doorstep banking kya hai

अभी के समय में DoorStep Banking सर्विस केवल देश के 100 major Centers में ही प्रदान किया जा रहा है जिसमें वो अलग अलग financial और non financial services प्रदान कर रहे हैं. तो चलिए फिर जानते हैं की आखिर क्या है ये Doorstep बैंकिंग और इसका क्या महत्व है.

डोर स्टेप बैंकिंग क्या है – What is Doorstep Banking in Hindi

Doorstep Banking का मतलब है की आप घर बैठे ही बैंकिंग की सभी सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं. इसमें Customers आसानी से basic banking services जैसे की cheque drop/ collection और cash deposits/ withdrawals, इत्यादि का लाभ अपने घर से कर सकते हैं. मतलब की उन्हें कहीं जाने की जरूरत नहीं होती।

यहाँ तक की आप एक fresh fixed deposit भी खुलवा सकते हैं, Doorstep Banking Services या DBS का इस्तेमाल कर. यह services जो की प्रदान किया जाता है DBS के तहत ये vary करता है एक बैंक से दूसरे में.

डोर स्टेप बैंकिंग सेवा कैसे प्राप्त करे?

Doorstep Banking की services प्राप्त करने के लिए, customers को एक request डालना होता है phone या or mobile banking facility के द्वारा जो की banks द्वारा प्रदान की जाती है.

फिर bank आपकी उस request को access करती है और फिर उनके personnel (लोगों) को भेजती है ग्राहक की registered communication address पर.

जहाँ कुछ banks जैसे की Axis Bank उनकी ये services को सभी customers को प्रदान करती है, वहीँ ऐसे बहुत से हैं जो की DBS की सर्विस केवल senior citizens (aged 70 और उससे ज्यादा) और विकलांग या किसी medically certified chronic illness या disability से पीड़ित लोगों को ही प्रदान करती है.

तो इससे मालूम पड़ता है की DBS की सर्विस प्रत्येक बैंक के लिए अलग अलग है.

डोरस्टेप बैंकिंग का महत्व

Doorstep Banking का महत्व बहुत ही ज्यादा है उन लोगों के लिए जो की अपने घर से निकल नहीं सकते है जैसे की बूढ़े बुजुर्ग या कोई विकलांग इंसान। ऐसे में उन्हें भी बैंकिंग की सर्विस चाहिए होती है. ऐसे में Doorstep Banking से उन्हें घर बैठे ही सभी सर्विस मिल जाती है.

जब DBS की सर्विस private banks में सफल हुई, तब हमारे Finance Minister ने घोषणा की एक alliance (जो की एक हिस्सा है EASE Banking Reforms) बनायी जाये, जिसमें की करीब 12 public sector banks हिस्सा लेंगे DBS initiative की शुरुवात करने के लिए.

इन PSBs के customers अब ये सर्विस ले सकते हैं universal touchpoints के माध्यम से जैसे की call centre, web portal या mobile app. ये services प्रदान की जाती है doorstep banking agents के द्वारा।

डोरस्टेप बैंकिंग क्यूँ जरुरी है?

बहुत से लोगों को बैंक तक जाने में दिक्कत आती है, जिसमें उन्हें दूसरों के ऊपर निर्भर होना होता है. उदाहरण के लिए, forms भरने के लिए, जैसे की Form 15G/H और life certificate एक pensioner की.

लेकिन अब DBS की मदद से, ये सभी कार्य घरबैठे ही हो जाते हैं, वहीँ कुछ बैंक तो आपको mobile ATM भी भेज देते हैं आपके request करने पर, जो की DBS initiatives के अंतर्गत शामिल हैं.

क्या डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस फ्री है?

जी नहीं, Doorstep Banking सर्विस फ्री नहीं है. इसमें प्रत्येक DBS request के लिए आपको कुछ बैंक charges भरने होते हैं जो की करीब ₹60-200 (plus taxes) के बीच होता है. वहीँ अगर services offer की गयी हों उनके alliance के द्वारा, तब PSBs के लिए आपको ₹75 (plus taxes) का भुकतान करना पड़ता है per financial/ non-financial service.

क्या डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस हर दिन प्रदान की जाती है?

जी नहीं आपको Doorstep Banking सर्विस सभी वर्किंग days में मिलेगी जब बैंक खुली हो. वहीँ आपको एक रिक्वेस्ट करने के बाद १ से २ दिन लग जाते हैं आपकी रिक्वेस्ट को प्रोसेस करने के लिए.

आप आपने क्या सीखा

Doorstep banking सच में एक फायदेमंद चीज़ है नॉन tech-savvy customers, seniors और differently-abled लोगों के लिए. क्योंकि उन्हें औरों के ऊपर निर्भर होना पड़ता है अपने कार्यों को करने के लिए. तो उम्मीद है की आपको डोरस्टेप बैंकिंग क्या है (What is Doorstep Banking in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी।

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा.

यदि आपको मेरी यह लेख डोर स्टेप बैंकिंग सेवा अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here