Flowchart क्या है और कैसे बनाएं?

क्या आपको पता है Flowchart क्या है और Flowchart Symbol कैसे Use करते हैं. अगर नहीं पता तो परेसान होने की आवस्यकता नहीं है. आज के इस लेख में हम इसके बारे में चर्चा करेंगे.

प्रत्येक दिन सुबह उठते ही हम काम पे लग जाते हैं. हर काम को प्रारंभ से लेके ख़तम होने तक कुछ Steps को Follow करते हैं. हर काम आपके लिए Problem है और Problem का हल काम करने से मिलता है. हल निकलने के लिए हम एक क्रम निश्तित करते हैं. एक उदाहरण से समझते हैं “आपको चाय बनानी है” तो इस कार्य को संपन करने के लिए कुछ क्रम का अनुसरण करने की आवस्यकता है. जैसे

  1. सबसे पहले एक बरतन में पानी डालके उसे गरम करें.
  2. पानी में चाय पति, चीनी और दूद डालें.
  3. चाय उबलने तक इंतजार करें.
  4. गैस को बंद करें और चाय को छान लें.
  5. चाय तयार है अब आप पि सकते हैं.

इससे आप जान ही गए होंगे की दैनिक जीवन के हम सारे कार्य को कुछ इस तरह से करते हैं. तो इन Steps प्रक्रिया को Computer की भाषा में Algorithm कहते हैं. इसका ज्यादातर इस्तमाल Software और Business Industries में होता है. जब algorithm बन जाता है, इसके बाद इन Steps को Flowchart के जरिए दिखाया जाता है. जिससे Programmer को Problem को समझने में आसानी होती है. अब बिना देरी किए जानते हैं Flowchart क्या होता है और कैसे इसको बनाया जाता है. यह भी जानेंगे की यह कैसे आपके काम को आसान बना ता है.

फ्लोचार्ट क्या है (What is Flowchart in Hindi)

Flowchart Kya Hai Hindi

आजकल हर किसी को programming के बारे मे थोड़ा बहुत जानकारी है. Programming के जरिए हम software बना सकते है और एक software हमारी जिंदगी के परेशानीयो को दूर करने मेमदद करता है. किंतु programming  लिखने में सभी को परेशानी होती है, इसलिए हम flowchart और Algorithm  का प्रयोग करते है. Flowchart के जरिए हम किसी भी program को चिन्हो (Symbols) द्वारा लोगो को दिखा सकते है, जिसे समझने मे आसानी होगी.

Flowchart, Program Industry द्वारा बनाया गया एक Tool है. एक Process या Problem को Solve करने में इस्तमाल किए गए Steps को Show करता है. Flowchart बनाने के लिए हमे कुछ चिन्हो का इस्तेमाल करना पड़ता है. जैसे Square, Rectangle, Dimond, Oval, Arrow.

सभी चिन्ह के अपने अलग अलग महत्व या मतलब हो ते है. हम अपने आप से किसी भी चिन्ह के मतलब को अपने अनुसार बदल नही सकते. सभी चिन्हो को एक arrow के साथ जोड़ा जाता है। इस arrow  द्वारा हमे पता चलता है कि flowchart कौन से दिशा मे अथवा कौनसे क्रम मे जा रहा है. अब हमें अलग चिन्हों का मतलब समझना और कहाँ इस्तमाल किया जाता है यह जान लेना चाहिए.

Flowchart मे प्रयोग किये गये कुछ चिन्ह है (Flowchart Symbols)

Flowchart एक Graphical चित्र है. जो की एक Process के Steps को दर्शाता है. इसीलिए आपको ये जान लेना अवश्यक है की इन चिन्हों के मतलब क्या हैं. और कहाँ इनको सही तरह से Use करें.

Start/End

Flowchart को शुरू करने के लिए एवं खत्म करने के लिए इस चिन्ह का प्रयोग किया जाता है. शुरुआत करने के लिए start और खत्म करने के लिए stop/end शब्द का प्रयोग किया जाता है.

Flow Lines (Arrow)

Flowchart किस दिशा में या फिर किस क्रम मे जा रहा है, यह जानने के लिए हम इस arrow का प्रयोग करते है. जब हम एक उदाहरण लेंगे तो आप आसानी से समझ जायेंगे.

Input/Output

Input और output के लिए हम इस चिन्ह का प्रयोग करते है. program का जो output  हो ता है वहां हम इस चिन्ह का प्रयोग करके दर्शा ते है. जैसे हमें दो नंबर का जोड़ निकलना है तो सबसे पहले हमें दोनो Number की Input लेने की आवस्यकता पड़ती है. इसके लिए Input Symbol  जोड़ने के बाद जोड़ दिखाने के लिए Output चिन्ह को इस्तमाल किया जाता है.

Process

जो हम input करते हैं, वही data को process लिए हम इस चिन्ह काप्रयोग करते है। इस चिन्ह का प्रयोग तब होता है जब कोई हिसाब करना हो मतलब जब कुछ Calculation करना हो तब. जैसे कोई नंबर का जोड़, घटा, गुण करना और बिभाजित करना तभी इस चिन्ह का इस्तमाल किया जाता है.

Decision (Dimond)

जब किसी condition को दिखाना होता है, तब हम इस चिन्ह का प्रयोग करते है. इसका उत्तर ‘सही ’और ‘गलत’ या फिर ‘0’ और ‘1’ के रूप मे आता है. जैसे कोई भी संख्या Positive है या Negetive है यह पता लगाने के लिए हमें दोनों Numbers Comparision करने की आवस्यकता है. EX- 4 > 0 (क्या 4 से बड़ा है ?) इसका जवाब “हाँ और ना” में से एक है. एसे में Dimond Symbol का इस्तमाल किया जाता है.

सभी चिन्हो का इस्तेमाल जानने के लिए हम एक उदाहरण लेंगे

Flowchart बनाने के नियम

Flowchart बनाने के लिए भी कुछ नियम होते है, जिन्हे प्रयोग कर के हम आसानी से flowchart बना सकते है एवं समझ ने मे भी हमे आसानी होगी. कुछ नियम हैं-

  1. Flowchart बनाते समय जितने भी चिन्ह का प्रयोग करते है, सभी चिन्हो को arrow के द्वारा जोड़ा जाता है जिस से हमे पता चलता है कि flowchart कौन से दिशा मे जा रहा है.
  2. सभी flowchart एक starting एवं ending point होता है.
  3. जब हम flowchart मे कुछ condition का प्रयोग करते है,  तो उसका 2 exit point होता है। ऊपर की ओर, नीचे की ओर या फिर side  की ओर होता है, जिसका 2 output होता है- पहला सही ओर दूसरा गलत.
  4. Subroutines के अपने खुद के Flowchart होते हैं.
  5. हर एक Flowchart का End Symbol हना चाहिए.

फायदे और नुकसान

जैसे हर सिक्के के दो पहलू होते है,ठिक उसी तरह flowchart  की भी दोपहलू होते है-एक अच्छाइ ओर दूसरी है बूराई।

Advantages

  • flowchart के जरि एसे हम programming को आसानी से समझ सकते है क्योंकि इसमे  चिन्ह का इस्तेमाल कर सकते है.
  • flowchart के मदद से हम error  को जल्दी से जान सकते है और उसे सुधार भी सकते  है.
  • flowchart के द्वारा हम किसी भी program  को अच्छे से रख सकते है ओर समझ सकते है.

Disadvantages

  • flowchart जब ज्यादा ही बड़ा हो जाएगा ओर उसे बना ने मे यदि एक से ज्यादा page  लग
  • जाए तो उसेस मझने मेमुस्किल होती है.
  • flowchart बनाने के लिए हमे चिन्हो का इस्तेमाल करना पड़ता है, जिसके कारण हमारा समय ज्यादा नुकसा न होता है.
  • हमे यदि flowchart मे कुछ बदलाव लाना हो तो हमे फिरसे पूरा flowchart बनाना पड़ता है, किसी भी flowchart के बीच मे हम बदलाव नही कर सकते.
  • कुछ complex program भी होते है, उस program का Flowchart में बनाने के लिए हमे बहुत सारे arrow का प्रयोग करना पड़ता है,  जिसे समझने मे हमे परेशानी होती है.

मेरी अंतिम राय इस लेख पे

हमारी हमेसा से यही कोसिस रही है की आपको पूरी जानकारी मिले. यह जानकारी काफी महत्वपूर्ण Programming के Field में. Mathematics और Computer Science में यह सवाल पूछा जाता है की एक Flowchart Draw करें तो सायद यह लेख आपके लिए मददगार हो. यह तो आप समझ गए होंगे फ्लोचार्ट क्या है (What is Flowchart in Hindi) और Flowchart Symbol कैसे इस्तमाल करें. कैसे बनाएं Flowchart

Flowchart बनाने से पहले आप Algorithm लिखने में और मेरी यह भी राय है की Flowchart एक बार Rough में Draw कर लें वरना जब Original Flowchart में बहुत सारी गलतियाँ होने की संभवाना है. Flowchart को जितना ज्यादा Practice करेंगे आप उतने ही ज्यादा कुशाल हो जाएंगे.

उमीद है ये लेख आपको पसंद आया होगा, कैसा लगा आप जरुर निचे comment कर के बताइए. अगर अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे. कोई और सुझाव देना चाहते हो तो जरुर दीजिये. हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें. चलो बनायें Digital India जय हिंद, जय भारत, धन्यबाद.

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.