आईएएस का फुल फॉर्म क्या है?

क्या आप जानते हैं कि IAS का Full Form क्या है? यह जानना महत्वपूर्ण है कि एक IAS क्या करता है और हमारे समाज में IAS की भूमिका क्या है? क्योंकि इस प्रकार के सवाल अक्सर प्रतियोगिता परीक्षा में पूछे जाते हैं. ऐसे में इसकी जानकारी रखना बहुत ही जरुरी होता है. यदि आपको आईएएस की फुल फॉर्म या IAS से संबंधित basic information पता नहीं है तो आपको इस पोस्ट में हम IAS के बारे में बताने वाले हैं.

वैसे IAS एक परीक्षा ही होता है लेकिन इसके बारे में जानना बहुत ही जरुरी होता है. ऐसे में मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को इस लेख के माध्यम से आईएएस संबंधित सभी प्रकार की जानकारी प्रदान की जाये, जिससे आगे चलकर आपके मन में IAS Full Form in Hindi को लेकर कोई भी शंका नहीं रहेगी. तो फिर चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की IAS क्या होता है और IAS का फुल फॉर्म क्या होता है.

आईएएस का पूरा नाम क्या है

ias ka full form kya hai hindi
आईएएस का फुल फॉर्म क्या है

IAS का Full Form, Indian Administration Services है. IAS अधिकारी को भारतीय समाज में शक्ति और प्रतिष्ठा का प्रतीक माना जाता है. भारत में सभी सरकारी मशीनरी की चाबी IAS अधिकारियों के हाथों में है. यह भी जानने योग्य है कि शहर के पुलिस अधीक्षक भी अधिकांश राज्यों में IAS (DM) के तहत काम करते हैं. IAS अधिकारी के पास असीमित शक्तियाँ होती हैं, जिसके कारण इस पद की जिम्मेदारियाँ और प्रतिष्ठा और अधिक बढ़ जाती है.

इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी के लिए सही व्यक्ति का चुनाव करना अपने आप में एक बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी है, इसलिए सिविल सेवा परीक्षा (CSE) को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि केवल प्रतिभाशाली उम्मीदवार ही इस परीक्षा को पास कर सकें.

सिविल सेवा परीक्षा में, 6 लाख उम्मीदवारों में से केवल 1000 चुने जाते हैं, और सामान्य graduate से लेकर डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक सभी इस परीक्षा में भाग लेते हैं. इसलिए, इस परीक्षा में selection बहुत कठिन है, इसलिए हमारे देश में सिविल सेवा परीक्षा(CSE) को सबसे कठिन परीक्षा माना जाता है.

IAS क्या होता है?

IAS परीक्षा भारत की प्रमुख परीक्षा है और सबसे कठिन भी. IAS समाज की सेवा करने के लिए सर्वश्रेष्ठ अखिल भारतीय सेवा है. हमारे देश के युवा जीवन में कम से कम एक बार IAS अधिकारी बनने की ख्वाहिश रखते ही हैं. UPSC, all India services और विभिन्न central civil service के लिए प्रत्येक वर्ष civil service examination (CSE) आयोजित करता है.

पहले से मौजूद आरक्षण श्रेणियों के अलावा, इस वर्ष union public service commission ने भारत सरकार द्वारा अनिवार्य Economically Weaker Section(EWS) उम्मीदवारों को आरक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से Economically Weaker Section(EWS) श्रेणी की एक नई श्रेणी जोड़ी. Economically Weaker Section(EWS) उम्मीदवारों के लिए पात्रता की शर्तों को नहीं बदला गया है और सामान्य उम्मीदवारों की पात्रता शर्तों के साथ गठबंधन किया गया है.

IAS को आधिकारिक तौर पर civil services examination (CSE) कहा जाता है, जो हर साल central recruiting agency, Union Public Service Commission (UPSC) द्वारा आयोजित की जाती है.

आईएएस का फुल फॉर्म हिंदी में – Full form of IAS in Hindi

IAS क Full Form हिंदी मैं होता है “भारतीय प्रशासनिक सेवा“.

II – भारतीय (Indian)
A – प्रशासनिक (Administrative)
S – सेवा (Service)

IAS परीक्षा में selection कैसे प्राप्त करें?

IAS एक सेवा नहीं है बल्कि एक बड़ी जिम्मेदारी है. IAS अधिकारी सभी हितधारकों के सभी प्रयासों को एक से अधिक स्तरों पर सही दिशा प्रदान करता है. वह जिले में एक नेता के रूप में काम करता है और सभी को अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करता है. यहाँ आप पढ़ सकते है, IAS की तैयारी कैसे करे.

शहर हो या जिला, चाहे वह राज्य सरकार हो या भारत सरकार, आईएएस अधिकारी हर विभाग के शीर्ष पर तैनात होते हैं. हर साल, यूपीएससी फरवरी के महीने में सिविल सेवा परीक्षा के लिए अधिसूचना जारी करता है, जिसमें IAS के साथ लगभग 24 केंद्रीय सिविल सेवा के विज्ञापन शामिल होते हैं.

भारत में, IAS – Indian Administrative Service, IPS – Indian Police Service and IFoS -Indian Forest Service को अखिल भारतीय सेवा(All India services) के रूप में अधिसूचित किया जाता है. शेष services, Central civil services में आती हैं.

सिविल सेवा परीक्षा के लिए हर साल लगभग 6 लाख उम्मीदवार फॉर्म भरते हैं लेकिन अंत में केवल 1000 उम्मीदवारों का चयन किया जाता है. इसका मतलब है कि उत्तीर्ण प्रतिशत बहुत कम है. इसके अलावा, यदि सीटों की संख्या कम हो जाती है, तो passing percent और कम हो जाएगा.

IAS परीक्षा की Eligibility Criteria

चलिये अब IAS परीक्षा की Eligibility Criteria के उपर नज़र दालते है.

Nationality

तिब्बत, नेपाल और भूटान के नागरिक, भारतीय नागरिकों के साथ, इस परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं, लेकिन IAS और IPS में भर्ती के लिए, उम्मीदवार को भारत का नागरिक होना चाहिए.

Educational Qualification

इस परीक्षा के लिए आवश्यक शैक्षणिक योग्यता किसी भी विषय में graduate है. graduation में न्यूनतम प्रतिशत की आवश्यकता नहीं है. केवल आवश्यक शर्त यह है कि graduation की डिग्री सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से होनी चाहिए. परीक्षा इतनी डिज़ाइन की गई है कि विभिन्न पृष्ठभूमि के व्यक्तियों को खेल के मैदान में रखा गया है. उन उम्मीदवारों को कोई फायदा नहीं है, जिनके डिग्री कोर्स में बेहतर अंक हैं, केवल सिविल सेवा परीक्षा के मामले मायने रखते हैं.

उम्मीदवार जो अपने graduation पाठ्यक्रम के last year में हैं, वे इस शर्त के साथ भी आवेदन कर सकते हैं कि वे verification के समय अपनी graduation की marks sheet को पुन: प्रस्तुत करेंगे.

Age Criteria

इस परीक्षा के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए. अलग-अलग श्रेणियों के लिए अलग-अलग अधिकतम आयु सीमा निर्धारित की गई है. सामान्य वर्ग के लिए 32 वर्ष, ओबीसी के लिए 35 वर्ष और एससी और एसटी के लिए 37 वर्ष निर्धारित किए गए हैं. विकलांग श्रेणी में और भी अधिक छूट है.

आयु की गणना अधिसूचना वर्ष की पहली अगस्त से की जाएगी.

जिन उम्मीदवारों का चयन IAS or IFS में हुआ है, वे पिछली किसी भी परीक्षा में शामिल हुए हैं और उस सेवा के सदस्य बने हुए हैं, फिर से सिविल सेवा परीक्षा फॉर्म नहीं भर सकते हैं.

आईएएस ऑफिसर को मिलने वाले पद कोन कोन से है ?

अब चलिये जनते हैन कि एक IAS Officer को कोन कोन से पद मिलते है.

– जिला कलेक्टर
– आयुक्त
– मुख्य सचिव
– सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के प्रमुख
– कैबिनेट सचिव
– चुनाव आयुक्त आदि

फॉर्म भरने से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

फॉर्म भरते समय, उम्मीदवार को सभी basic जानकारी जैसे नाम, पिता का नाम, माता का नाम आदि भरना होता है. सिविल सेवा परीक्षा के लिए centre भी चिह्नित किया जाना है. यह परीक्षा देश के 72 शहरों के विभिन्न केंद्रों पर एक साथ आयोजित की जाती है.

एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि उम्मीदवारों को फॉर्म भरते समय सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के लिए एक वैकल्पिक विषय भी चुनना होगा. अधिसूचना में, 26 वैकल्पिक विषयों में से एक का चयन किया जाना है और फॉर्म में चिह्नित किया जाना है. फॉर्म भरते समय, उम्मीदवारों को अपनी परीक्षा के माध्यम को भरने के लिए भी आवश्यक है. वे IAS प्रारंभिक परीक्षा में हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी में भी परीक्षा दे सकते हैं.

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख आईएएस का फुल फॉर्म क्या है जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को IAS Full Form in Hindi के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post आईएएस की फुल फॉर्म हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here