Image Scanner क्या है और इसके प्रकार

क्या आपने कभी सुना है की ये इमेज स्कैनर क्या है? यदि आपके लिए यह शब्द नया है तब आपको जरुर ही यह Article पढना चाहिए. क्यूंकि article के ख़त्म होने तक आपको इसके basics के विषय में जानकारी जरुर मिल चुकी होगी. और यदि आप इसके विषय में जानते हैं तब शायद आपको कुछ और भी जानने को मिल सकता है जिसके विषय में आपको जानकारी नहीं है. वैसे Image Scanner का नाम सुनते ही हमारे दिमाग में Scanning machine का चित्र जरुर आता है, जैसे ही हम लोगों ने Films में देखा है जहाँ की Security points में Scanning Machines का इस्तमाल होता है body scan करने के लिए जिससे कोई भी metals को ये detect कर सकते हैं. वैसे ही Scanner का एक और type भी है जिसे की Image Scanner कहते हैं.

बहुत दिनों से users हमें इसके विषय में कोई article लिखने के लिए कह रहे थे इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Image Scanner क्या है के विषय में पूरी उपलब्ध जानकारी दे दी जाये. जिससे आप लोगों के सभी doubts clear हो जायेंगे. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की ये इमेज स्कैनर क्या होता है और इसके कितने प्रकार है हिंदी में.

इमेज स्कैनर क्या है (What is Image Scanner in Hindi)

Image Scanner Kya Hai Hindi

Image scanner एक ऐसा digital device होता है जिसका इस्तमाल images, pictures, printed text और objects को Scan करने के लिए किया जाता है और फिर उसे Digital Image में convert किया जाता है. Image scanners का इस्तमाल बहुत सारे variety के domestic और industrial applications जैसे की design, reverse engineering, orthotics, gaming और testing में किया जाता है.

Flatbed Scanner का इस्तमाल सबसे ज्यादा offices और घरों में किया जाता है, इसे Xerox machine के नाम से भी जाना जाता है. आजकल के modern image scanner descendant (वंशज) हैं पहले ज़माने के fax input devices और telegraphy equipment के. इन Image Scanner के इस्तमाल से हम Scanning के साथ साथ, photocopies निकालना इत्यादि भी कर सकते हैं.

इमेज स्कैनर का इतिहास

सबसे पहला scanner को Computer के साथ इस्तमाल करने के लिए develop किया गया था. यह एक drum scanner था. इसे सन 1957 में US National Bureau of Standards के team ने बनाया था. उस team का नेतृत्व कर रहे थे Russell A. Kirsch, जो की America की पहली internally programmable (stored-program) computer को बनाने में काम कर रहे थे, Standards Eastern Automatic Computer (SEAC) के साथ, जिससे वो enable कर सकें Kirsch’s group of experiment को जहाँ की algorithms का इस्तमाल कर launch किया जा सकता है image processing और pattern recognition जैसे कई नयी technology को.

स्कैनर के प्रकार

वैसे तो बहुत सारे types के scanners मेह्जुद हैं, लेकिन यहाँ हम कुछ important Scanner के बारे में जानेंगे.

1. Drum Scanners

ये Image को scan करते हैं photomultiplier tubes (PMT) के माध्यम से. यहाँ reflective originals को accumulate किया जाता है एक acrylic cylinder या drum के मदद से, ये rotate करते हैं जब object को pass किया जाता है scanning के लिए precision optics के सामने. ये optics फिर transmit करते हैं image information को PMT में. Color के लिए, a drum scanner इस्तमाल करता है तीन PMTs का जिससे वो read कर सकते हैं red, blue और green.

2. Flatbed Scanners

इसमें एक glass pane और एक moving optical array होता है charge-coupled device (CCD) scanning के लिए. Flatbeds में तीन arrays of sensors भी होते हैं red, green और blue filters के साथ. Images जिसे की scan किया जाये उन्हें place किया जाता है flat ही pane के ऊपर और एक dense cover का इस्तमाल किया जाता है ambient lights को दूर रखने के लिए. फिर sensor arrays और light source को move किया जाता है full image area को read करने के लिए. वहीँ transparent images, और special accessories का इस्तमाल किया जाता है उन्हें illuminate करने के लिए upper side से.

3. Film Scanners

Slide और negative film strips को रखा जाता है एक carrier में एक film scanner के भीतर. यहाँ carrier को move किया जाता है एक motor के मदद से जिसमें एक lens और एक CCD sensor का भी इस्तमाल किया जाता है.

4. Hand Scanners

Handheld devices को ऊपर से pull किया जाता है image surface के across जिससे large images को scan किया जा सकें.

5. 3D Scanners

ये scanners depend करते हैं reference markers के placements के ऊपर, जिनका इस्तमाल होता है element के position को space में align करने के लिए.

6. Desktop Digital Camera Scanners

यह एक all-in-one printer होता है एक desktop digital camera scanner के साथ. यहाँ scanner offer करता है high-speed image scanning जैसे features.

7. Smartphone Scanner

Apps को भी download किया जा सकता है कई smartphone devices में, जिससे उनको documents को scan करने के लिए इस्तमाल किया जाता है digital camera exposures के इस्तमाल से और इससे आखिर में आप उन scanned images का output ले सकते हैं JPEG और PDF formats में.

CT Scan क्या है

CT scan का Full Form होता है Computerized tomography. इसे CAT (computerized axial tomography) भी कहा जाता है. ये असल में एक X-ray procedure होता है जिसमें की किसी हिस्से की बहुत सारे X-ray images को succession में लिया जाता है. इन images से फिर एक cross sectional view दिखाई पड़ता है internal organs के. इसलिए जो चीज़ X-Ray में नहीं हो सकती है उसे CT Scan में किया जा सकता है वो भी आसानी से.

CT Scan का कहाँ इस्तमाल किया जाता है?

एक CT scan के इस्तमाल से body के पुरे internal structures को analyze किया जा सकता है. इनका मुख्य इस्तमाल traumatic injuries, जैसे की एक blood clot या एक skull fracture, tumours या फिर एक infection को detect करने के लिए किया जाता है. इसके माध्यम से शरीर के अन्धरुनी अंग जैसे की liver, gallbladder, pancreas, spleen, aorta, kidneys, uterus, और ovaries को देखा जा सकता है.

CT Scan की Price कितनी है?

CT Scan की price बहुत से parameters के ऊपर निर्भर करती है. चलिए उनके विषय में जानते हैं : –

1. Scan होने वाला जगह / body part
2. Contrast या Non-Contrast, आप कौन से प्रकार का करवाना चाहते हैं.
3. Slices (16/32/64 slices), आप कितनी slices में करना चाहते हैं.
4. उस radiologist का Experience कितना है.
5. Commercial aspects (जैसे की center का, affiliations इत्यादि) कैसे हैं.

वैसे एक regular basis में brain CT की कीमत approximately Rs 1300/- तक होती हैं और एक whole body scan या एक Angio CT की कीमत approximately Rs 18000/- तक हो सकती है.

जहाँ ज्यादातर private hospitals और diagnostic centres एक CT scan के लिए करीब Rs.3000 से 5000 charge करते हैं, वहीँ government-run facilities में इनकी कीमत कम होती है जो की करीब Rs. 500 से 1000 तक होती है. कुछ hospitals में तो ये बिलकुल ही मुफ्त होते हैं.

स्कैन कैसे करे

जब एक document को Scanner के भीतर रखा जाता है, तब image सबसे पहले scanned होता है और फिर उस scanned data को process करने के लिए उसे एक computer system में भेजा जाता है. Scanners read कर सकते हैं red-green-blue color को color array से और वहीँ colors की depth को measure किया जाता है उनके array characteristics के basis पर. Image resolution को measure किया जाता है pixels per inch में.

CT Scan कितनी बार किया जा सकता है?

अगर आप CT Scan की बात कर रहे हैं तब यह आपके Doctors के ऊपर निर्भर करता है की वो आपका scanning कितनी बार करना चाहते हैं.

Conclusion

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को इमेज स्कैनर क्या है (What is Image Scanner in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को स्कैनर के उपयोग के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा. यदि आपको मेरी यह लेख  इमेज स्कैनर क्या होता है हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.