iPhone का मालिक कौन है?

Apple inc एक ऐसा नाम है जिसके बारे में दुनिया का हर व्यक्ति जानता है. अगर आप खाने वाले एप्पल के बारे में सोच रहे हैं तो आप रुक जाइए. हम यहां खाने वाले एप्पल के बारे में नहीं बल्कि iPhone के ब्रैंड “Apple” के बारे में बात कर रहे हैं.

Apple एक ऐसी कंपनी है जिसके प्रोडक्ट दुनियाभर में इस्तेमाल किए जाते हैं. इतना ही नहीं यह कंपनी दुनिया के टॉप कंपनी के लिस्ट में दूसरे नंबर पर आता है. मोबाइल हो या फिर लैपटॉप या फिर मैकबुक इस ब्रैंड के प्रोडक्ट दुनियाभर में लोकप्रिय है.

दुनिया में शायद ही कोई ऐसा देश होगा जहां एप्पल ब्रैंड के प्रोडक्ट्स यूज नहीं किए जाते होंगे. लोकप्रिय होने के साथ-साथ इस ब्रैंड के प्रोडक्ट काफी महंगे भी होते हैं. टेक्नोलॉजी की बात करें तो टेक्नोलॉजी के मामले में भी यह कंपनी दुनिया के बेस्ट कंपनियों में गिनी जाती है.

iphone ka malik kaun hai

ऐसे में अगर आप इस ब्रैंड के बारे में और जानकारी पाना चाहते हैं तो आपको हमारा यह पोस्ट जरूर पढ़ना चाहिए आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं कि आईफोन कैसी कंपनी है? आईफोन का मालिक कौन है? आईफोन कंपनी को किसने बनाया? आईफोन किस देश की कंपनी है? इस तरह के सभी सवालों का जवाब आपको इस पोस्ट में मिलेगा. यहाँ आप T-Series का मालिक कौन है पढ़ सकते है.

iPhone क्या है?

आईफोन, एप्पल कंपनी के द्वारा बनाया गया एक स्मार्ट फोन है जो computer, iPod, digital camera और cellular phone को टच स्क्रीन इंटर फ़ेस के साथ एक ही डिवाइस में जोड़ता है. आईफोन, IOS ऑपरेटिंग सिस्टम को मैनेज व रन करता है.

यह तो हो गई आईफोन की बात चलिए अब जानते हैं कि एप्पल क्या है?

Apple Inc. क्या है?

एप्पल एक बहुत बड़ी टेक्निकल कंपनी है जो android व IOS application, MacBook, Laptop, Computer और Windows phone जैसे गैजेट्स बनाते हैं इस कंपनी के द्वारा बनाएँगे प्रोडक्ट की बात ही अलग होती हैं एप्पल कंपनी अधिकतर अपने प्रोडक्ट की क्वालिटी के लिए ही दुनिया भर में जानी जाती हैं.

एप्पल कंपनी की टेक्निकल स्किल्स दूसरे कंपनी के मामले में बहुत ही उम्दा हैं. ये कंपनी अपने technical skills का उपयोग करके operating system management को कंट्रोल करता हैं.

Iphone की कंपनी “Apple” की स्थापना कब और किसके द्वारा हुई?

स्टीव जॉब्स, स्टीव वोज्निएक और रोनाल्ड वेन ने मिलकर सन् 1 अप्रैल 1976 में Apple कंपनी की स्थापना की थी स्टीव जॉब्स ने Apple कंपनी की स्थापना में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था जिसके कारण वे इस कंपनी के मुख्य अधिकारी थे.

यह स्टीव जॉब्स ही थे जिन्होंने सर्वप्रथम Apple कंपनी की नीव रखी उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से एप्पल प्रोडक्ट्स को बुलंदियों तक पहुंचा दिया. स्टीव जॉब्स प्रोडक्ट की quantity से ज्यादा प्रोडक्ट की quantity में विश्वास रखते थे.

इसीलिए स्टीव जॉब्स ने एप्पल प्रोडक्ट्स के quantity पर फोकस ना करके इसके quality पर फोकस किया. चाहे मैकबुक बनाना हो या फिर यूएसबी व आइपॉड के स्टैंडर्ड को मेंटेन करना हो इन सभी चीजों को डेवलप करने के पीछे स्टीव जॉब्स का ही हाथ हैं.

जिसके कारण आज एप्पल कंपनी के प्रोडक्ट्स अपने क्वालिटी के लिए दुनिया में मशहूर हैं और यही वो कारण हैं जिसके वजह से एप्पल दूसरे कंपनी के प्रोडक्ट्स की तुलना में ज्यादा महँगा होता हैं.

लेकिन दुर्भाग्य की बात तो यह है कि आज स्टीव जॉब्स हमारे बीच इस दुनिया में नहीं हैं पैन्क्रीऐटिक केंसर के कारण 5 अक्टूबर 2011 में इनकी मृत्यु हो गई थी.

आईफोन कंपनी का मालिक कौन है?

वैसे तो Apple के मालिक स्टीव जॉब्स है लेकिन इनकी मृत्यु के पश्चात टीम कुक के ऊपर कंपनी का पूरा कार्यभार आ गया.

वर्तमान समय की बात करें तो टिम कुक एप्पल कंपनी के CEO के पोजीशन पर काम तो कर रहे हैं साथ ही वे इस कंपनी के मालिक भी हैं क्योंकि US securities and exchange commission (ASC) के आधार पर बात करें तो टिम Apple के सबसे बड़े shareholders में से एक हैं.

Apple कंपनी की शुरूआत कैसे हुई?

Apple कंपनी की शुरुआत साल 1976 में हुआ था. Android, IOS, MacBook, Laptop, Computer और Windows बनाने से पहले इस कंपनी ने टेक्नोलॉजी से रिलेटेड बहुत से प्रोडक्ट को लॉन्च किया था जिसकी जानकारी बहुत ही कम लोगों को हैं.

1990 के दौर में इस कंपनी ने भारी नुकसानो का सामना किया उस समय एप्पल कंपनी ने बहुत से बेकार प्रोडक्ट पर एक्सपेरिमेंट किया एप्पल क्विकटेक डिजिटल कैमरा, एप्पल पावरसीडी पोर्टेबल सीडी ऑडियो प्लेयर, एप्पल डिज़ाइन पावरड स्पीकर, एप्पल बानडई पिप्पिन वीडियो गेम कंसोल, इवर्ल्ड ऑनलाइन सेवा और एप्पल इंटरएक्टिव टेलीविजन जैसे प्रोजैक्ट पर एक्सपेरिमेंट करके इन्होंने केवल अपना समय ही बर्बाद किया हैं.

हार का सामना करने के बाद भी स्टीव जॉब्स रुके नहीं, 2007 में स्टीव जॉब्स ने अपना पहला कदम स्मार्टफोन के क्षेत्र में रखा ये वो समय था जब मार्केट में पहले से ही बहुत से स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी मौजूद थी. लेकिन Apple ने अपने iphone को पेश करके दूसरे सभी स्मार्ट फोन को पीछे छोड़ दिया था

और आज वो समय हैं जब Apple केवल मोबाइल के दुनिया में ही नहीं बल्कि दूसरे प्रोडक्ट्स जैसे लैपटॉप, मैकबुक, आइपॉड के मामले में भी सबसे आगे हैं आज Apple के iphone लोगों के दिलो में राज कर रहे हैं.

एप्पल कंपनी किस देश की है?

एप्पल अमेरिका देश की कंपनी हैं. Apple कंपनी की नीव स्टीव जॉब्स ने रखी थी और स्टीव जॉब्स अमेरिका के रहने वाले हैं साथ ही उन्होंने इस कंपनी की शुरुआत अमेरिका में ही किया था इसलिए ये माना जा सकता हैं कि एप्पल अमेरिका देश की कंपनी हैं लेकिन इस कंपनी का हेड क्वार्टर क्यूपर्टिनो, कैलिफ़ोर्निया में हैं.

आज आपने क्या सीखा

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आपको हमारा यह काम अच्छा लगा होगा इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको आईफोन का मालिक कौन है के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी.

अगर आप को यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में भी शेयर कीजिए इस तरह के बेहतरीन पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग से जुड़े रहिए.

इस पोस्ट से जुड़ा अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं धन्यवाद.

Previous articleYuvarathnaa Full Movie Download Available on Tamilrockers and Other
Next articleJaanu Full Movie Download Available on Tamilrockers and Other
नमस्कार दोस्तों, मैं Prabhanjan, HindiMe(हिन्दीमे) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We HindiMe Team Support DIGITAL INDIA

5 COMMENTS

  1. “एनडीटीवी का मालिक कौन है”

    Aapne Jo Ye Interlink Kiya Hain Isme Jab click karte hain tab Internet Ka Artical Khul Jata Hain

  2. “यह स्टीव जॉब्स ही थे जिन्होंने सर्वप्रथम Apple कंपनी की नीव रखी उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से एप्पल प्रोडक्ट्स को बुलंदियों तक पहुंचा दिया. स्टीव जॉब्स प्रोडक्ट की quantity से ज्यादा प्रोडक्ट की quantity में विश्वास रखते थे.”

    Isme Aapne 2 Baar Quantity Likh Diya Hain, Quality Nahi Likha Hai

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here