Microsoft Windows क्या है और इसका इतिहास

क्या आपको माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ क्या है (MS Windows in Hindi) के बारे में कोई जानकारी है. आप में बहुत से लोगों ने पहले से ही Windows OS का इस्तमाल किया होगा, या फिर कोई Windows की mobile का इस्तमाल किया होगा. लेकिन आप में बहुतों को इसके बारे में पूरी जानकारी शायद नहीं होगी. ऐसा इसलिए क्यूंकि इससे पहले internet में भी हिंदी में Windows के बारे में कभी किसी ने अच्छी तरीके से नहीं लिखा है. इसलिए आज मैंने ये सोचा की क्यूँ न आप लोगों को विंडोज क्या है के बारे में पूरी जानकरी दे दी जाये.

ऐसा भी हो सकता है की आप में से ज्यादातर लोगों ने Microsoft के Windows Operating System के बारे में पहले जरूर सुना हो. पर आप में से बहुत कम ही लोग जानते होंगे की एक ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) क्या होता है और यह किस तरह से काम करता है. आज की हमारी पोस्ट से आप भी जानेंगे की विंडोज के कार्य क्या है. इससे पहले की हम Windows OS पर आये, उससे पहले हमें operating system को समझना होगा. तो चलिए आज जानते है की आखिर ये Windows Operating System क्या है हिंदी में.

विंडोज़ क्या है (What is Windows in Hindi)

Microsoft Windows Kya Hai Hindi

Microsoft Windows की अगर में बात करूँ तो ये एक Graphical interface Operating system है जिसे की Microsoft Corporation नमक एक प्रसिद्ध IT Company ने develop किया था. Microsoft Windows एक बहुत ही friendly, popular and सबसे ज्यादा इस्तमाल में आने वाला Operating System है. ये अपने बेहतरीन Graphical Display and दूसरे features की वजह से लोगो के बिच बहुत ज्यादा मसूर है. Microsoft Windows Graphical OS के release होने से पहले, users MS-DOS OS के command line पर काम किया करते थे.

Microsoft हमेशा से ये चाहता था की वो अपने product का नाम एक word में और आसान रखे जो की Microsoft के GUI interface को सही से define करता हो, इसलिए करनवास ही Microsoft ने “Windows” word choose किया क्योकि GUI (Graphics User Interface) मे multiple Windows अलग अलग task and program को run करने के लिए इस्तमाल में आती है. ख़ास इसलिए ही Microsoft ने अपने company के name के साथ Windows के शब्द को add करके अपने product को नया नाम दिया जो की था “Microsoft Windows”. कुछ इस तरह से ही Microsoft Windows का जन्म हुआ.

Operating System क्या है?

ऑपरेटिंग सिस्टम एक कंप्यूटर का सिस्टम होता है जो की User और Computer के बीच में एक माध्यम का काम करता है. कंप्यूटर एक मशीन है इसलिए वह हमारी दी गयी कमांड को समझ नहीं सकता. तो ऐसे में operating system का काम होता है की हमारे द्वारा दिए गए निर्देश को computer को समझाना. Operating system की सहायता से ही कंप्यूटर हमारे दिए गए निर्देशों को समझ कर पूरा कर पाता है. आसान शब्दों में कहें तो बिना operating system के कंप्यूटर का कोई वजूद नहीं रहेगा.

Operating system की दूसरी परिभाषा यह भी हो सकती है की इसके द्वारा ही हार्डवेयर साधनो (resources) को व्यवस्थित किया जाता है. Operating system कंप्यूटर के हर एक प्रोग्राम का डेटा अपने पास रखता है. जिसकी सहायता से operating system ही ये निर्णय लेता है की कौन सा प्रोग्राम कौन से resource को कितनी देर के लिए इस्तेमाल करेगा.

विंडोज के प्रकार

Operating सिस्टम कई प्रकार के होते है और अलग अलग तरीको से विभाजित किये जा सकते है पर इनमे से मुख्य प्रकार केवल दो ही होते है. तो जानते है विंडोज के विभिन्न प्रकार के बारे में.

1) Single User OS : सिंगल यूजर OS में एक समय पर केवल एक व्यक्ति ही कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकता है.

2) Multiple user OS : मल्टीप्ल यूजर OS पर एक वक़्त पर एक या एक से अधिक लोग साथ काम कर सकते है. multiple user operating systems का इस्तेमाल बड़ी बड़ी कंपनियो आदि में किया जाता है जहाँ पर लोगों को समांजस्य में काम करना पड़ता है.

जैसा की अब आप ऑपरेटिंग सिस्टम को अच्छी तरह से समझ चुके है अब हम आते है Windows operating system पर. Windows operating system क्या है. और ये क्यों दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम से इतना ज्यादा मशहूर है.

विंडोज की विशेषता

Windows या फिर Microsoft Windows, यह Microsoft का एक Product है. Windows ऑपरेटिंग सिस्टम की शुरुआत सन् 1985 में हुयी. इसकी शुरुआत के बाद से इसने ऊंचाइयों के तमाम आयामों को छुआ है. शुरुआत से अब तक Windows OS में काफी बदलाव आ चुके है. शुरुआत से अब तक इसके बहुत सारे versions आ चुके है. कंपनी ने हर बार नए version में पिछले वाले से अच्छे features शामिल करने की कोशिश की है. और अपने ग्राहकों को कुछ नया देना चाहा है.

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ कंप्यूटर यूज़र्स के द्वारा बहुत ज्यादा उपयोग में लाया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है, यह आमतौर पर आपको आपके कॉलेज, स्कूल या घर के कंप्यूटरों में मिल जायेगा.

Microsoft विंडोज Graphical Interface ऑपरेटिंग system है इसका मतलब यह सूचना को दर्शाने के लिए Graphics या Icons आदि का इस्तेमाल करता है. इससे इसको चलाना बहुत आसान हो जाता है. हर वर्ग, आयु का व्यक्ति इसे बड़ी आसानी से समझ सकता है और चला सकता है.

विंडोज के आने से पहले MS-DOS मे हर task को करने के लिए कुछ निर्देश याद रखने पड़ते थे लेकिन विंडोज के आगमन के बाद से ये सब बदल गया. इसके आने के बाद आपको सिर्फ mouse को navigate करते हुए cursor के सहारे स्क्रीन पर दिख रहे icons जैसे menus, tabs, dialog boxes या कोई और दुसरे option के उपयोग करने के लिए उस पर माउस के सहारे क्लिक करना होता है. इसके साथ आप कोई भी task आसानी से कर सकते है.

पहला version 1985 में आने के बाद से Windows के अब तक कुल 26 versions आ चुके है. Windows operating system का आखिरी version जो की Windows 10 था वो 29 July 2015 को आया था.

Microsoft Windows के सबसे लोकप्रिय versions में Windows vista, Windows 98, विंडोज XP, Windows 2000, Windows 8 और Windows 10 शामिल है. वेसे तो माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज प्रोडक्ट का हर version बेहद ही सफल रहा पर ये वाले संस्करण कुछ ज्यादा ही लोकप्रिय हुए और लोगों ले घरों के साथ साथ लोगों के दिलों में भी जगह बनाने में कामयाब रहे.

विंडोज का इतिहास

Microsoft Windows इतनी ज्यादा effective Operating Systems बनाती थी की, यदि हम 80s की बात करें Windows को छोड़कर उस समय computer की आप सोच भी नहीं सकते हैं. शुरुवात से Microsoft ने अपने Operating System को दो हिस्सों में बाँट दिया था. पहला MS DOS Family और वहीँ दूसरा था Windows NT. Windows ने भी एक नए operating system से दुनिया की सबसे popular operating system बन गयी. तो चलिए Windows Operating System की पूरी history के विषय में जानते हैं.

Windows 1.0

ये first version था, Windows 1.0, जिसे की released किया गया था सन November 1985 में Microsoft के founder Bill Gates के द्वारा. ये वो पहला Microsoft का true attempt एक graphical user interface बनाने का 16-bit में.
इसमें बहुत ही basic functionality थी, जैसे की gadgets (calendar, calculator, MS Paint और एक primitive word processor).
ये चल रहा था MS-DOS के ऊपर, जो की relied था एक command-line input के ऊपर.
साथ ही ये heavily relied था mouse के इस्तमाल जैसे एक computer input device के हिसाब से.

Windows 2.0

इसे Released किया गया था सन 1987 में, वैसे ये ज्यादा बेहतर नहीं था पहले के मुकाबले. Windows 2 की जो सबसे बड़ी innovation थी वो ये की windows आसानी से एक दुसरे के ऊपर overlap हो सकती थी, और इसमें windows को minimize या maximize की ability प्रदान की गयी, “iconizing” या “zooming” के स्थान पर.

ये support करता था Video Graphics Array (VGA) display system को, जो की allow करता है 16 colors का इस्तमाल करने के लिए 640×480 की resolution में. Windows 2.0 ने support किया 286 processor को, लेकिन ज़माने के साथ तालमेल बनाने के लिए Microsoft ने release किया एक provisional version Windows 2.0 का जिसे की कहा गया Windows/386 2.03 जो की नए 386 processor को support करता था.

बहुत से applications को introduced किया गया जैसे की Excel, Word, CorelDraw और PageMaker users के इस्तमाल के लिए.

Windows 2 में control panel की शुरुवात की हाई, जहाँ की बहुत से system settings और configuration options को collect किया गया एक ही स्थान में.

Windows 3.0

Windows 3.0 को released किया गया सन 1990 में और ये इतना ज्यादा successful था की इसे 2001 तक भी discontinue नहीं किया गया. इसमें GUI को भी update किया गया सभी नए icons के साथ और ये वो पहला Windows बना जिसे की एक hard drive की जरुरत होती हैं.

इसमें Virtual memory, improved graphics, और multitasking की ability के होने से इसने Windows 3.0 की selling को 10 million copies तक कर दिया.

इस version की popularity का मुख्य कारण था Windows Software Development Kit (SDK), जो की developers को बहुत ही बढ़िया platform प्रदान करता था Windows में applications write करने के लिए.

Windows 3.0 ने support किया virtual device drivers (VxDs) को, जिसने की minimized कर दिया hardware dependencies को, इसमें बस एक virtual device (another software layer) को add कर devices और OS के बीच.
इसमें popular game जो की है Solitaire भी पहली बार launch किया गया.

Windows 3.1

Windows 3.1, को release किया गया सन 1992 में, इसमें सभी necessary fixes और improved font functionality को भी शामिल किया गया, TrueType fonts में, जो की Windows को एक viable publishing platform बना दिया वो भी पहली बार.

Windows 3.1 में 1MB RAM की जरुरत होती है उसे run करने के लिए और इसने सबसे पहली बार support किया MS-DOS programs को control करने के लिए बस एक mouse की मदद से वो भी सबसे पहली बार.

Windows 3.1 वो पहला Windows था जिसे की distribute किया गया एक CD-ROM में, वैसे एक बार इसे hard drive में install कर लेने से ये केवल 10 से 15MB की space ही occupy करता था.

ये multimedia functionality को भी support करता था, जिसमें external musical instruments और MIDI devices को connect करने के लिए support प्रदान करता था.

Windows 3.1 ने applications को close करने की ability को शामिल किया गया वो भी केवल press कर Ctrl+Alt+Del, जिससे सभी hung applications को terminate किया जा सकता है running programs में.
इसमें Minesweeper की पहली appearance दिखाई पड़ी.

Windows 95

इसने Windows की पूरी काया ही पलट कर रख दी. Windows 95 सबसे पहले arrive हुई August 1995 में, इसमें पहला Start button और Start menu को शामिल किया गया, साथ में taskbar और ये पूरी तरह से focused था multitasking के ऊपर.

Windows 95 में introduced किया गया एक 32-bit environment और इसे design किया गया compatibility को increase करने के लिए; इसमें “plug and play” concept – एक peripheral को connect करना भी शामिल था. इसमें operating system खुद ही appropriate drivers को find कर सकती थी और उन्हें work करने में help कर सकती थी.

Win95 वो पहला MS Operating System था जिसने की long filenames को support किया. वहीँ दुसरे इसके predecessors के तरह, इसमें DOS को पहले install करने की कोई भी जरुरत नहीं थी.

Windows 4.0

Windows 3.0 के बाद ही Windows 4.0 को release किया गया सन 1996 में, इसमें कुछ minor improvements किये गए और इसे एक major Windows release भी माना नहीं गया.

Microsoft Windows 98

Windows 98 वो पहला release था जिसे की design किया गया था specifically consumers के लिए साथ में ये support भी प्रदान किया DVDs को read करने के लिए और USB devices को पढने के लिए. USB support को बहुत ही ज्यादा improve किया गया Windows 98 में जिससे इसका ज्यादा इस्तमाल किया गया. साथ में USB hubs और USB mice को भी बहुत ज्यादा उपयोग में लाया गया.

Windows 98 में introduce किया गया back and forward navigation buttons, Windows Explorer में address bar, और Windows Driver Model computer components और accessories के लिए – एक driver जो की सभी Windows के future versions को support कर सकें. .

Microsoft Windows ME

इसे Release किया गया सन September 14, 2000 में. ये Windows Millennium Edition (ME) वो last OS था जिसे की MS-DOS kernel में build किया गया था. इसमें digital media के लिए support प्रदान किया गया, Image Acquisition को भी add किया गया images को download करने के लिए digital cameras से.

IE 5.5, Windows Media Player 7 और Windows Movie Maker ने भी अपना पहला appearance किया इस version से.

Windows ME में system restore feature को add किया गया था, जिसे किसी भी deleted system files को restore किया जा सकता था.

दूसरा important feature था system file protection, जो की prevent करता था important OS files को change होने से.

Windows 2000

Windows 2000 पूरी तरह से based था Microsoft के business-orientated system Windows NT के ऊपर और बाद में ये Windows XP का basis भी बन गया.

इसमें बहुत से devices को एक साथ plug and play किया जा सकता था, साथ में ये प्राय बहुत से operating system के साथ compatible भी था. इसमें defragmenter और device manager को भी शामिल किये गए थे.
Microsoft की automatic updating ने एक बहुत ही important role play किया Windows 2000 में और ये वो पहला Windows बना जो की hibernation को support करता था.

Windows XP

Windows XP सबसे ज्यादा Popular था Microsoft operating system की जिसे की released किया गया था 2001 में. इसे सबसे ज्यादा user-friendly Os के हिसाब से काफी recognization भी मिली. Windows XP offered plenty of ease and functionality for laptop and desktop users. Windows XP की last update April 2014 तक ही थी उसके बाद Microsoft ने Windows XP की update बिलकुल ही बंद कर दी.

Start menu और taskbar को नया visual overhaul प्रदान किया गया, साथ में familiar green Start button लाया गया, blue taskbar और vista wallpaper, साथ में various shadow और visual effects भी प्रदान किये गए. ClearType, जिसे की design किया गया text को आसानी से LCD Screen में पढने के लिए, built-in CD burning, autoplay करना CDs से और दुसरे media से इत्यादि.

Windows XP की एक बहुत ही बड़ी problem थी उसकी security क्यूंकि इसमें firewall तो built in होता है लेकिन ये by default turned off होता है. इससे ज्यादातर hacker और criminals ने इस flaws का बहुत इस्तमाल किया. Windows XP अब तक की सबसे best selling Operating System थी Microsoft.

Windows Vista

Windows Vista को released क्या गया 2006 में, इसमें ज्यादा strong security system होती है. इसमें BitLocker Drive Encryption होती है data protection के लिए, Media Player में enhancement किया गया, home entertainment, photographs customization, videos editing और better display design भी upgrade किया गया.

इस version केवल three years ही रह पाया, क्यूंकि इस version में काफी bugs थे और साथ में ये ज्यादा user-friendly नहीं हैं. PC gamers को भी काफी boost मिला क्यूंकि Microsoft’s DirectX 10 technology को इसमें add किया गया.

Windows Media Player 11 और IE 7 ने debut किया, साथ में Windows Defender जो की एक anti-spyware programme भी शामिल किया गया था.

Vista में speech recognition, Windows DVD Maker और Photo Gallery को भी include किया गया, साथ में ये वो पहला Windows बना जिसे की DVD में distribute किया गया.

Microsoft Windows 7

Windows 7 को release किया गया October 2009 में, ये ज्यादा faster था, ज्यादा stable और बहुत ही आसान इस्तमाल करने में. ये वो operating system बन गया ज्यदातर users और business के लिए जिसको उन्होंने बड़ी खुशी होकर अपनाया Windows XP को upgrade कर, क्यूंकि Windows Vista entirely ही ज्यादा popular नहीं बना.

इसमें बहुत से तरीकों से नए features को add किया गया — जैसे की Snap, Peek, और Shake.
Windows Touch ने users को enable किया fingers का इस्तमाल करने के लिए browsing, flipping photos, और files/folders को open करने के लिए. आप इसमें music, videos, और photos को stream कर सकते हैं अपने PC से stereo या TV पर.

Handwriting recognition की भी शुरुवात Windows से हुआ, साथ ही इसमें automatic window resizing भी होता है.

Windows 8

इसे Release किया गया October 2012 में, Windows 8 एक बहुत ही popular Microsoft की version थी, जिसमें Start button और Start menu को काफी बदल दिया गया. इससे ज्यादा touch-friendly Start screen प्रस्तुत किया जा सकता है.

Windows 8 बहुत ही ज्यादा faster होती है previous versions Windows की तुलना में और ये faster USB 3.0 devices को support करती है.

Windows Store, जो की offer करता है universal Windows apps वो अब full-screen mode में भी introduced कर दिया गया.

अब नए tiled interface में programme icons और live tiles दिखने लगे हैं, इसने replace कर दिया lists of programmes और icons को.

इसमें बहुत से नए technologies भी शामिल हुई जैसे की near-field communications, Universal Serial Bus 3.0 (USB 3.0), low-power ARM architecture, cloud computing और UEFI firmware. साथ ही इसमें बहुत सी security features जैसे की malware filtering, spam detection, built-in antivirus capabilities इत्यादि शामिल किये गए थे.

Windows 10

इसे Announced किया गया 30 September 2014 में. Windows 10 बहुत ही latest version हैं Windows का और इसमें company ने वो सभी features को install किया है जिन्हें की उन्होंने पहले के version में कर नहीं पाए थे. साथ ही बहुत से नए features को भी लगातार implement किया जा रहा है, जिससे users को सभी latest updates मिल पा रही है.

Windows 10 ने इसमें Start menu को ला लिया है जो की इसे एक balance look प्रदान कर रहा है साथ में एक traditional desktop computer users को भी ये बहुत पसदं आने वाला है.

इस्म्सें बहुत से interesting features को include किया है जैसे की आप keyboard mode, mouse mode, tablet mode में switch कर सकते हैं.

इसे सभी Windows platforms को across multiple devices unify करने के लिए तैयार किया गया है, जिसमें Windows Phone और tablets, साथ में universal apps जिसे की Windows Store से download किया जा सकता है और जो की सभी Windows devices में आसानी से compatible होते हैं और run भी हो सकते हैं.

Windows की इस version में Microsoft Edge को भी नए ढंग से प्रस्तुत किया गया है. कोई भी qualified device चाहे वो tablets, PCs, smartphones या Xbox consoles हो, आप उन्हें upgrade कर सकते हैं Windows 10 में, साथ में जिन devices में windows की pirated copies का इस्तमाल हुआ है उन्हें भी आप upgrade कर सकते हैं.

Advantages of Microsoft Windows in Hindi

1.) Easy to use :– माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ने अपने सिस्टम में बहुत परिवर्तन किए हैं इसमें ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करना आसान है. हालांकि इसका उपयोग करना इतना आसान नहीं है पर यह दुसरे OS के मुक़ाबले काफी ज्यादा आसान है. और किसी भी वर्ग या उम्र के लोग इसे आसानी से इस्तेमाल कर सकते है.

2.) Software : विंडोज में आपको ज्यादा सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करने को मिलते है. इसकी लोकप्रियता के कारण इसको इस्तेमाल करने वाले लोग ज्यादा है. और उनकी वजह से ही उतने ही ज्यादा सॉफ्टवेयर बनाने वाले है. इसमें आपको बहुत सारे सॉफ्टवेयर मिल सकते है.

3.) Compatibility : विंडोज अपने पुराने संस्करणों पर इस्तेमाल किये जाने वाले प्रोग्राम को अपने नए संस्करणों पर भी सपोर्ट करता है. जो इसको compatible बनाता है.

Disadvantages of Windows

1) Price : Microsoft Windows की कीमत दुसरे OS जैसे की Linux आदि के मुक़ाबले काफी ज्यादा होती है.

2) Securiry : विंडोज में सिक्यूरिटी शुरू से ही चर्चा का विषय रही है. माइक्रोसॉफ्ट की सिक्यूरिटी दुसरे OS के मुक़ाबले काफी कमजोर रही है. ऐसा माना जाता रहा है की Windows के प्रोडक्ट्स कभी भी सिक्यूरिटी के लिए नहीं बनाये जाते है. Linux आदि के मुक़ाबले Windows के hack होने का प्रतिशत ज्यादा रहता है. security विंडोज OS के लिए हमेशा से ही एक मुसीबत का विषय रहा है.

3) Reliability : Windows को समय समय पर reboot करना पड़ता है अगर ऐसा न किया जाए तो सिस्टम hang हो कर काम करना बंद कर देगा.

यहाँ हमने Windows OS के कुछ फायदे और नुक्सान के बारे में बात की हमने.

Windows Phone

विंडोज फ़ोन या फिर WP, मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम का एक सीरीज है जो की Microsoft द्वारा मोबाइल फ़ोन के लिए बनाया गया था. विंडोज फ़ोन का इंटरफ़ेस metro डिज़ाइन language से लिया गया था. ये पहली बार 2010 में Windows phone 7 के आथ लांच किया गया था. Windows Phone 8.1 इसका हाल ही में रिलीज़ किया गया और आखिरी OS है.

विंडोज फ़ोन 2015 में विंडोज 10 मोबाइल से बदल दिया गया था. इसमें एप्लीकेशन के लिए नया environment दिया गया.

8 अक्टूबर 2017 को माइक्रोसॉफ्ट ने निर्णय लिया की विंडोज 10 का काम बंद कर दिया जायेगा. क्योंकि बाजार में व लोगों में विंडोज फ़ोन को लेकर काफी काम आकर्षण था और रुझान भी कम होने की वजह से माइक्रोसॉफ्ट को ये निर्णय लेना पड़ा.

Frequently Asked Questions (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

Q – Laptop में windows 10 की trial version कितने दिन चलता है?
A – Laptop में windows 10 की trial version officially 90 दिनों की होती हैं.

Q – मुझे अपने लैपटॉप से विंडोज 10 को हटाकर विंडोज 7 चालू करवाना है क्या करें?
A – यदि आप अपने windows 7 को upgrade कर windows 10 करवाना चाहते हैं तब इसके लिए आपको windows upgrade installer का इस्तमाल करना होगा, उसके बाद आप upgrade का option choose करें, इससे आपका windows 10 में upgrade हो जायेगा.

Q – Windows 10 में background में चल रहे वर्तमान programme के icon कोन रखता है?
A – Windows 10 के background में चल रहे programme के icon को Microsoft की designer team set करती हैं.

Q – Windows 10 का backup लेने के लिए कितने GB का pendrive लें?
A – Windows 10 का backup लेने के लिए कम से कम 3 से 6 GB का space चाहिए इसलिए pendrive का storage कम से कम 8GB का होना सही होगा.

Q – Windows 7 के साथ विंडोज 10 का उपयोग कैसे करे?
A – यदि आप Windows 7 और Windows 10 का एक साथ उपयोग करना चाहते हैं तब आपको dual booting का इस्तमाल करना होगा. लेकिन एक windows एक ही समय में.

Q – Dell laptop Window 10 कितने का है?
A – Dell Laptop window 10 की कीमत Rs.28,000 से Rs.32,000 तक होती है. मेरी मानें तो online से ही खरीदारी करें Amazon या Flipkart जैसे websites से, इसमें आपको अच्छी discount मिल सकती हैं.

Q – Window 10 में tv tuner card support करता है तो बताये, please?
A – हाँ Windows 10 में TV Tuner card support करता है. बस इसके लिए आपको कुछ setting में changes करना होती है.

Q – विंडोज 10 लैपटॉप पर ओपन नहीं हो रही है ओपन करने पर लाइन झिलमिला रही है अब क्या करें?
A – यदि आपकी windows 10 की screen open नहीं हो रही और खुलने पर भी झिलमिल हो रही है तब इसका कारण हो सकता है display driver की compatibility issues का होना. इसके लिए आपको display drivers को update करना होगा.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख विंडोज़ क्या है (What is Windows in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को विंडोज के प्रकार के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. यदि आपको यह post Microsoft Windows क्या होता है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

23 COMMENTS

    • Jaise bahar ke diniya ko dekhne ke liye khidki ki jarurat hoti hai thik waise hi virtual world ko dekhne ke liye aapko ek khidki ki jarurat hoti hain jise ki english mein windows kehte hain. Aur ise officially Microsoft Windows kaha jata hai.

  1. SIR AAPKE BLOG SE HAMEIN BAHUT KUCH SEEKHNE KO MILTA HAI AUR AAPKE LIKHNE KA STYLE BAHUT ACHA LAGTA HAI LOVE FROM KANPUR INDIA

    • Thanks Sujata जी. मुझे खुसी हुई की आपको ये article Microsoft Windows क्या है और इसका इतिहास पसंद आई.

    • Hello Aryan ji, koi bhi doubt ho aap अधिक जानकारी के लिए आप हमें हमारे Community में अपने सवाल पूछ सकते हैं https://ask.hindime.net/
      जहाँ आपको आपके सारे सवालों के जवाब बहुत ही जल्द मिल जाएगी.

      • sir ye chiz yani link add aapke website par hai , aap iska jawab dekar bad me bhi bata sakte waha jao, phir waha sawal karu , ye sawal aapke site se releted tha to aapke dena chahiye commutiy general sawal ke liye hai, aapne reply kiya but sahi sawalo se nahi ye tarika sahi nahi hai philhal aap yahi batao

      • Ye sawal Windows se related nahi hai isliye yahan hum iska jawab nahi de sakte. Posts mein kewal Post related question puchne par jawab milega. Agar aap koi dusra sawal puchna chahte to hamre community mein sawal puch sakte hain. https://ask.hindime.net/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.