न्यूनतम डिपॉज़िट में बाइनरी ऑप्शन

आज कई ब्रोकर (Binomo और अन्य) बाइनरी ऑप्शन ट्रेडिंग की सुविधा देते हैं. ट्रेडिंग शुरू करने के लिए आपको एक अकाउंट खोलना होता है. ब्रोकर खुद ही न्यूनतम डिपॉज़िट की राशि निर्धारित करते हैं.

यदि ब्रोकर का प्लैटफ़ार्म अच्छा है और उसका न्यूनतम डिपॉज़िट केवल $10 (रु 750/-) है, तो वहाँ ट्रेडिंग क्यों न की जाए? यह जरूर है कि कम डिपॉज़िट वाले ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म ट्रेडरों को बहुत आकर्षित करते हैं.

Binomo जैसे न्यूनतम डिपॉज़िट वाले बाइनरी ऑप्शन सच्चाई में बदल गए

न्यूनतम डिपॉज़िट में बाइनरी ऑप्शन

जब लोगों ने 2008 में बाइनरी ऑप्शन में ट्रेडिंग शुरू की थी तब न्यूनतम डिपॉज़िट के साथ ट्रेडिंग की तो कोई कल्पना भी नहीं करता था. उन दिनों में ट्रेडिंग शुरू करने के लिए आपको कम से कम 500 डॉलर लगाने पड़ते थे. लेकिन जैसे-जैसे ज़्यादा लोग बाइनरी ऑप्शन में ट्रेडिंग करने की सोचने लगे तो न्यूनतम डिपॉज़िट घटा कर 250 डॉलर कर दिया गया. यह राशि यूरोप और अमेरिका के लोगों के लिए कुछ नहीं थी लेकिन हमारे देश में बहुत कम ही ऐसे लोग थे जो ट्रेडिंग कर पाते थे. आज बाइनरी ऑप्शन दुनिया भर में लोकप्रिय हो गए हैं और न्यूनतम डिपॉज़िट और भी कम हो गया है.

न्यूनतम डिपॉज़िट वाले ऑप्शन उपयोगी और लोकप्रिय हैं. कई पेशेवर ब्रोकरों ने 2015 से अपने प्लैटफ़ार्म में न्यूनतम डिपॉज़िट की सुविधा डाल दी है. आज ऐसे ब्रोकर भी हैं जो अपने ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म पर $10 के न्यूनतम डिपॉज़िट से भी ट्रेडिंग करने की सुविधा देते हैं.

न्यूनतम डिपॉज़िट के फायदे

यदि आप शुरुआत कर रहे हैं और ट्रेडिंग करना सीखना चाहते हैं तो आपके लिए न्यूनतम डिपॉज़िट वाले ब्रोकर उपयुक्त होते हैं. आपको ज़्यादा रिस्क भी नहीं होती और आप पैसा भी कमाते हैं.

असली पैसों से सीखने से आप ज़्यादा एकाग्रता से सीखते हैं और आपको बाइनरी ऑप्शन के सिद्धान्त सीखने मिलने लगते हैं. यह ध्यान दें कि न्यूनतम डिपॉज़िट सूट केवल नौसीखियों के लिए बल्कि अनुभवी ट्रेडरों के लिए भी उपलब्ध होता है: वे यहाँ बिना ज़्यादा रिस्क लिए अपनी रणनीतियों को टेस्ट कर सकते हैं.

Binomo न्यूनतम डिपॉज़िट में ट्रेडिंग की सुविधा देने वाला पहला ब्रोकर था.

ब्रोकर Binomo में भी न्यूनतम डिपॉज़िट $10 है. आप ट्रेडिंग शुरू करना शुरू कर सकते हैं और केवल $1 से भी डील शुरू कर सकते हैं. यह ऑफर बहुत बढ़िया है और इसमें आपको बिना बड़ी रिस्क के मुनाफा कमाने का मौका मिलता है.

न्यूनतम डिपॉज़िट वाले और भी कई प्लैटफ़ार्म हैं लेकिन अच्छे ब्रोकर का चुनाव करते समय सिर्फ यही एकमात्र कसौटी नहीं होती.

ब्रोकर Binomo के कई फायदे हैं (न्यूनतम डिपॉज़िट के अलावा) जिससे इनका ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म सुरक्षित और उपयोग में आसान बनता है.

Binomo का इंटरफेस बहुत ही व्यावहारिक है, इसका ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म सुविधाजनक है जिसमें कोई रुकावटें नहीं आतीं और इनके पास कई फंक्शन वाले ट्रेडिंग उपकरण हैं.

पेशेवर ट्रेडर कहते हैं कि उनके लिए पैसे निकालने में लगने वाला समय बहुत महत्वपूर्ण चीज होती है. यदि कोई ब्रोकर सिर्फ दो दिन में ही पैसा वापस निकालने दे तो यह बहुत अच्छा होता है. Binomo के पास कई तरह के पेमेंट सिस्टम हैं जिससे पैसे बहुत कम समय में निकाले जा सकते हैं. इन सिस्टम में शामिल हैं : WebMoney, Neteller, Skrill, VISA, MasterCard

यदि आप Binomo में ट्रेडिंग करते हैं तो आपका पैसा सुरक्षित रहता है

किसी भी ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म में सुविधा और उपयोगिता बहुत महत्वपूर्ण होते हैं. ऐसे कई कम गुणवत्ता वाले ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म हैं जो ओवरलोड रहते हैं और जिनमें पर्याप्त ट्रेडिंग उपकरण नहीं होते. Binomo समझता है कि सफल ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म की क्वालिटी पर निर्भर करती है और इसलिए इसका ट्रेडिंग प्लैटफ़ार्म ग्राहकों को न्यूनतम डिपॉज़िट में भी बहुत ही सुविधाजनक ट्रेडिंग उपलब्ध कराता है.

ब्रोकर Binomo अपने ग्राहकों को डेमो-अकाउंट का पूरा लाभ उठाने का मौका देता है. आप न्यूनतम डिपॉज़िट वाले ब्रोकरों से ट्रेडिंग करना जरूर सीख सकते हैं लेकिन Binomo डेमो-अकाउंट भी देता है जहां ट्रेडर फ्री में सीखते हैं. डेमो अकाउंट में ट्रेडर प्रैक्टिस कर सकते हैं, बाइनरी ऑप्शन ट्रेडिंग स्कीमों के बारे में जान सकते हैं, रणनीतियाँ देख सकते हैं और ट्रेडिंग उपकरणों के बारे में जान सकते हैं.

यह समझना महत्वपूर्ण है कि डेमो अकाउंट में दिखने वाले नतीजे असली अकाउंट में मिलने वाले नतीजों से थोड़े अलग हो सकते हैं. इसका राज़ है इंसान की मनोवैज्ञानिक सोच में: जब हमें कुछ खोने का डर नहीं होता और हम तनावग्रस्त नहीं होते, तब हमारे लिए निर्णय लेना आसान होता है. डेमो अकाउंट में ट्रेडिंग करते समय सभी आत्म-विश्वास से ट्रेडिंग करते हैं लेकिन असली पैसों से ट्रेडिंग के बारे में ऐसा नहीं कहा जा सकता.

अनुभवी ट्रेडर सलाह देते हैं कि किसी असली और साथ ही डेमो अकाउंट में रणनीतियाँ आजमा कर देखनी चाहिए.

बाइनरी ऑप्शन विकसित हो रहे हैं और दुनिया भर में लोकप्रिय होते जा रहे हैं. ब्रोकरों ने इनकी लोकप्रियता बढ़ाने के लिए काफी काम किया है, खासकर Binomo जैसे ब्रोकरों ने, जो न्यूनतम डिपॉज़िट में भी ट्रेडिंग करने का मौका देते हैं.

10 COMMENTS

  1. sir aapne bahut he achhcha post likha hai yah mere liye bahut he kaam ki post hai is tarah ke knowledge hamare sath share karne ke liye aapka bahut bahut dhaynawad

  2. बहुत ही अछि जानकारी शेयर की है आपने
    इसके इसके लिये आपका धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.