म्यूचुअल फंड सही है या गलत लॉन्ग टर्म इनवेस्टमेंट के लिए

आजकल दूसरे निवेशो की तुलना में म्यूचुअल फंड को बहुत अधिक पसंद किया जा रहा है क्योकि इसके द्वारा निवेशक मुनाफा प्राप्त कर रहे हैं। आपके मन में भी यह सब देखकर कई बार प्रश्न उठता होगा कि क्या म्यूचुअल फंड सही है

आज के आर्टिकल में हम आपको म्यूचुअल फंड सही है या गलत इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे ताकि आपको म्यूच्यूअल फंड के बारे में उचित जानकारी प्राप्त हो सके और आप समझदारी से म्यूच्यूअल फंड का चुनाव कर पाए।

म्यूचुअल फंड सही है या गलत

म्यूच्यूअल फंड के बारे मे हम सभी कुछ न कुछ बाते सुनते रहते है जिससे हमे लगता है कि शायद म्यूच्यूअल फंड शेयर बाज़ार की तरह ही है जिसमे हमेशा नुक्सान का डर बना रहता है, आज हम आपको क्या म्यूच्यूअल फंड सही है के बारे मे बताते है।

mutual fund sahi hai ya galat

बचत करने की आदत

म्यूच्यूअल फंड के द्वारा आपके भीतर बचत और निवेश की आदत विकसित होती है। इससे निवेशक हर महीने एक निश्चित रकम अपने रोजमर्रा के खर्च से अलग निकाल कर रखता है। आप म्यूचुअल फंड में 500, 1000 या 2000 जैसी छोटी रकम से निवेश करना शुरू कर सकते है। इससे निवेशक की जेब पर ज्यादा भार भी नहीं पड़ता है और वह लंबे समय तक निवेश कर पाते है।

भविष्य में आर्थिक संकट से बचाव

यदि आप भविष्य में होने वाले किसी भी तरह के आर्थिक संकट से खुद को बचाना चाहते है तो उसके लिए जरूरी है आप एक लक्ष्य तय करें और प्लानिंग से निवेश करना शुरू करें। ऐसे में धीरे-धीरे और मजबूती के साथ अपने लक्ष्य को पाने का एक तरीका म्यूच्यूअल फंड है। यदि आप भविष्य में होने वाले खर्चों जैसे शादी, बच्चों की पढ़ाई, घर खरीदना, कार खरीदना आदि चाहते है तो म्यूच्यूअल फंड के द्वारा समय पर पैसा प्राप्त कर सकते है।

ब्याज पर ब्याज मिलता है

म्यूचुअल फंड सही है क्योंकि इसमें आपको निवेश के पैसों पर जो ब्याज मिलता है उस ब्याज पर भी भविष्य में ब्याज प्राप्त होता है। अगर आप म्यूचुअल फंड की SIP स्कीम में निवेश करते है तो इसके जरिए आप अच्छा रिटर्न हासिल कर पाते है। वहीं जब आप लंबे समय के लिए निवेश करते है तो उस पर आपको कंपाउंडिंग इंटरेस्ट का लाभ मिलता है। 

टैक्स में बचत

म्यूचुअल फंड में ऐसी बहुत सारी स्कीम निवेशकों को दी जाती है जिसमें निवेश करने पर उन्हें टैक्स में बचत मिलती है। अगर आपके बैंक में पैसा है और आप उस पर टैक्स नहीं भरना चाहते है तो आपको उस पैसे को म्यूचुअल फंड में निवेश कर देना चाहिए।

आपके पैसे लेकर कोई नहीं भागेगा

चूंकि म्यूचुअल फंड कंपनियों को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) और एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) जैसी  एजेंसियों द्वारा चलाया  जाता है, इसलिए कोई भी फंड हाउस निवेशक के पैसे लेकर फरार नहीं हो सकता है।

म्यूचुअल फंड हाउस चलाने का लाइसेंस ठीक उसी तरह से दिया जाता है जैसे बैंकों को बैंकिंग लाइसेंस मिलता है, इसलिए म्यूचुअल फंड मे निवेश सही है।

अधिक मुनाफा

म्यूचुअल फंड में निवेश का उद्देश्य दूसरे निवेश विकल्पों की तुलना में अधिक रिटर्न अर्जित करना है। यह रिटर्न अधिक व्यापक बाजार, एक्सपोजर और म्यूचुअल फंड के फंड मेनेजर का परिणाम हैं।

म्यूचुअल फंड के  शॉर्ट टर्म के साथ-साथ लॉन्ग टर्म निवेश पर इस तरह से टैक्स लगाया जाता है, जो आपके रिटर्न को प्रभावित नहीं करता है। यह फंड लंबी अवधि के निवेश के रूप में समझ में आते हैं क्योंकि आप जितने लंबे समय तक निवेश करेंगे, आपको उतना ही अधिक रिटर्न मिलेगा।

जोखिम से बचना

म्यूचुअल फंड निवेश के साथ आने वाले जोखिम को आपके निवेश में विविधता लाकर और वित्तीय लक्ष्यों का ख्याल रख कर उसे सहनशीलता के साथ फंड मेनेजर द्वारा निवेश करके प्रबंधित किया जाता है और जमा की गयी राशि को अलग अलग कंपनी के stock मे लगाया जाता है।

ऋण पर निर्भर होने की आवश्यकता नहीं है

मान लीजिए कि निवेशक दस वर्षों से म्यूचुअल फंड में निवेश कर रहा है और उसे महत्वपूर्ण पूंजीगत लाभ प्राप्त हो रहा है। लेकिन अब निवेशक अपने बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए विदेश भेजना चाहते है। शिक्षा ऋण के साथ निवेशक कुछ मामलों में बैंक को उच्च ब्याज दर 12% का भुगतान करेगा। यह होम लोन पर मिलने वाले ब्याज से ज्यादा है। 

लेकिन क्या होगा अगर निवेशक को लोन का विकल्प नहीं चुनना पड़े। उन्हें बस इतना करना होगा कि वह जिस म्यूचुअल फंड में निवेश कर रहे हैं, उससे पैसा निकाल लें और अपने बच्चों की शिक्षा के लिए पर लगा कर लोन से बच जाये।

क्या म्यूचुअल फंड में आपका पैसा सुरक्षित है?

बिल्कुल हाँ। जब कोई म्यूचुअल फंड कंपनी किसी अन्य म्यूचुअल फंड कंपनी का अधिग्रहण करती है तो वह सभी योजनाओं को अपने हाथ में ले लेती है। यदि वह किसी भी अधिग्रहीत योजना को बंद करना चाहते है तो वह मौजूदा NAV पर निवेशकों को पैसा वापस कर देते है।

छोटी रकम से निवेश की सुविधा

म्यूचुअल फंड सही है क्योंकि इसमें वह निवेशक भी निवेश कर सकते हैं जिनके पास एक बड़ी राशि निवेश के लिए नहीं होती है। म्यूचुअल फंड में SIP की सुविधा दी गई है जिसमें आप 500 रुपए से लेकर अपनी इच्छा अनुसार कितनी भी राशि निवेश कर  सकते है।

म्यूच्यूअल फंड मे कम रिस्क

अगर निवेशक म्यूचुअल फंड में निवेश करता है तो रिस्क कुछ कम होता है। वहीं आप अपना पूरा पैसा कि‍सी एक कंपनी में निवेश कर देते है और कि‍सी वजह से वह कंपनी डूब जाती है तो उसके साथ सारा पैसा भी डूब जाएगा।

निवेशकों को म्यूचुअल फंड का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि यहां आपके पैसे को अलग-अलग कंपनि‍यों में निवेश किया जाता है और आपके पैसे को अलग-अलग स्‍टॉक और बॉन्‍ड्स में फंड मैनेजर लगाते है। 

इससे निवेशकों को यह फायदा मिलता है कि अगर कि‍सी एक कंपनी में आपके द्वारा लगाया गया पैसा डूब जाता है तो म्यूच्यूअल फंड की दूसरी स्कीम्स के द्वारा जो लाभ मिलता है वह उसे कवर कर देता है। 

SIP का मतलब क्या होता है?

SIP का मतलब होता है Systematic Investment Plan। इस को हिंदी में कहते हैं व्यवस्थित निवेश योजना इसमें आप सप्ताहिक, मासिक, छमाही में निवेश कर सकते हैं। ये अपने आप ही निवेश होने लगता है।

म्यूचुअल फंड में निवेश SIP में या One Time Only के हिसाब से करना चाहिए?

ये आपके ऊपर निर्भर करता है की आपके पास फंड कितने हैं, यदि ज़्यादा हों तब आप One Time Only में निवेश कर सकते हैं वहीं कम हो तब SIP में कर सकते हैं।

आज आपने क्या सिखा?

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख म्यूचुअल फंड सही है या गलत जरुर पसंद आई होगी. इसे पढ़ने के बाद आप आसानी से क्या म्यूचुअल फंड में निवेश करना सही माना जा सकता है की ज़रूरी जानकारी समझ गए होंगे। मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को म्यूचुअल फंड की पूरी जानकारी के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post लेख क्या म्यूचुअल फंड में आपका पैसा सुरक्षित है पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.


Previous articleJio Phone Next कैसे बुक करें?
Next articleSooryavanshi Full Movie Download WorldFree4U and Telegram Leaked to Watch Online
चन्दन इस हिंदी ब्लॉग के Founder हैं. वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है. अगर आपको ब्लॉगिंग या Internet जुड़ी कुछ जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है. हमारा यह मकसद है के इस ब्लॉग पे आपको अछे से अछे जानकारी मिले.

2 COMMENTS

  1. Dear Sir
    My name is Manish, I read a lot of your articles, I want to put an article on your blog, how much money do you take for a blog, please tell us
    Thank you very much for your time and let me know if you are interested!

    Thanks!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here