Quantum Computer क्या है, कैसे काम करता है, अनुप्रयोग और प्राइस हिंदी में

Photo of author
Updated:

आज के समय में यदि आपको ये नहीं पता की Quantum Computer क्या है, कैसे काम करता है तब शायद आप बहुत रह चुके हैं। क्यूँकि Quantum Computer एक तेज़ी से उभरती हुई तकनीक है और आज के समय में कंप्युटर का इस्तेमाल हर क्षेत्र में किया जा रहा है।

ये तो आप जानते ही हैं की Digital computers के इस्तमाल से हम आज के समय में information को काफ़ी सहजता से process कर पा रहे हैं। लेकिन quantum computers के आने से computing की दुनिया में एक नयी लहर सी आ चुकी है।

Quantum computers कंप्यूटिंग के लिए एक पूरी तरह से नए दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करते हैं। और हालांकि वे आज के कंप्यूटरों की जगह नहीं लेंगे, quantum physics के सिद्धांतों का उपयोग करके, वे बहुत जटिल statistical problems को हल करने में सक्षम होंगे जो आज के कंप्यूटर नहीं कर सकते।

तो चलिए जानते हैं की आख़िर क्वाण्टम कम्प्यूटर कंप्यूटर क्या है और कैसे काम करता है

क्वांटम कंप्यूटर क्या है – What is Quantum Computer in Hindi

क्वांटम कंप्यूटर एक ऐसी device है जो की information को process करने के लिए quantum mechanics के principles का इस्तमाल करती हैं। क्वांटम कंप्यूटर क्वांटम यांत्रिकी के सिद्धांतों पर आधारित एक उपकरण है।

Quantum Computer Kya Hai Hindi

यह चूँकि Parallel Processing Computation करता है इसलिए ये कठिन-से-कठिन कार्यों को भी कुछ ही मिनटों में सफलतापूर्वक कर सकता है जिसके बारे में आज के कंप्यूटर सोच भी नही सकते हैं।

Quantum computer आज के समय में इस्तमाल होने वाले classical computer से काफ़ी ज़्यादा अलग होते हैं क्यूँकि ये qubits का इस्तमाल करते हैंम जो की bits से काफ़ी अलग होती है।

क्वांटम कंप्यूटर कैसे काम करता है?

चलिए जानते हैं की क्वांटम कंप्यूटर कैसे काम करता है? Classical computer में information को binary digits या bits में store और process किया जाता है। एक bit या तो 0 या 1 का value रख सकता है।

लेकिन quantum computer में information को quantum bits या qubits में store और process किया जाता है। एक qubit 0 और 1 दोनो ही values को एक साथ रख सकता है, इसको superposition कहते हैं।

Quantum Computer Work Hindi

इसके अलावा, दो या दो से ज़्यादा qubits एक दूसरे से जुड़ सकते हैं, इसको entanglement कहते हैं। इसका मतलब ये है की एक qubit का state दूसरे qubit पर निर्भर कर सकता है। Quantum computer qubits की मदद से जटिल और बड़ी समस्याओं को जल्दी और कुशलता से हल किया जा सकता है।

Qubits की superposition और entanglement की properties से Quantum computer को parallel computation करने की शक्ति मिलती है, जो classical कंप्यूटर के लिए मुश्किल होती है।

क्वांटम कंप्यूटर quantum algorithms का उपयोग करता है, जो mathematical operations होते हैं जो qubits पर परफॉर्म करते हैं। Quantum algorithms में quantum gates का उपयोग होता है, जो qubits के states को मैनिपुलेट करते हैं।

क्वांटम कंप्यूटर के जनक

David Deutsch को क्वांटम कंप्यूटर का जनक समझा जाता है। उन्होंने ही quantum Turing machine का concept दिया था, जो की एक universal quantum computer का model भी था।

उन्होंने ही बताया कि आने वाले समय में quantum computer classical computer से ज़्यादा powerful होगा, क्यूँकि वो दोनों deterministic और probabilistic problems को solve कर सकता है।

David Deutsch, Father of Quantum Computer

इससे पहले भी Quantum computer की अवधारणा को पहली बार 1980 में भौतिक विज्ञानी Paul Benioff ने पेश किया था। उन्होंने बताया कि एक classical Turing machine को quantum mechanical टर्म्स में मॉडल किया जा सकता है।

उनके बाद, 1982 में भौतिक विज्ञानी Richard Feynman ने क्वांटम कंप्यूटर की ज़रूरत और क्षमता को समझाया था। उन्होंने कहा था कि क्वांटम घटना का अनुकरण करने के लिए क्वांटम कंप्यूटर की आवश्यकता होगी, क्योंकि classical कंप्यूटर इसमे विफल हो जाएगा।

क्वांटम कंप्यूटिंग के अनुप्रयोग

Quantum computing का बहुत सारे fields और industries में अनुप्रयोग हो सकता है, जैसे की…

1# Cryptography

क्वांटम कंप्यूटिंग से encryption और decryption के तरीकों में सुधार किया जा सकता है, data security और गोपनीयता के लिए यह जरूरी है। Quantum Cryptography का उपयोग करके सुरक्षित संचार और कुंजी वितरण किया जा सकता है।

2# Artificial Intelligence

Quantum Computing से Machine Learning और Deep Learning के algorithms को बढ़ाया जा सकता है, जो artificial intelligence के लिए जरूरी है। Quantum Machine Learning का उपयोग करके data analysis, pattern recognition, optimization और वर्गीकरण किया जा सकता है।

3# Chemistry

क्वांटम कंप्यूटिंग से molecular और रासायनिक प्रणालियों को मॉडल और अनुकरण किया जा सकता है, जो रसायन शास्त्र के लिए जरूरी है। Quantum chemistry का उपयोग करके दवा की खोज, material design, catalysis और reaction kinetics किया जा सकता है।

4# Physics

क्वांटम कंप्यूटिंग से भौतिक घटनाओं का अध्ययन और समझ किया जा सकता है, जो physics के लिए जरूरी है। क्वांटम भौतिकी का उपयोग करके quantum mechanics, quantum field theory, quantum gravity और ब्रह्मांड विज्ञान किया जा सकता है।

क्वांटम कंप्यूटर के लाभ

चलिए क्वांटम कंप्यूटर के लाभ के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। वैसे Quantum computer के बहुत सारे लाभ हैं, हम यहाँ पर कुछ प्रमुख के बारे में जानेंगे।

1# Speed

Quantum computer एक classical कंप्यूटर से ज्यादा तेज़ होता है, क्योंकि वह parallel computation कर सकता है। इसका मतलब ये है कि वो एक साथ बहुत सारे कार्यों को अंजाम दे सकता है, जो classical computer के लिए मुश्किल होता है।

2# Efficiency

क्वांटम कंप्यूटर classical computer से ज्यादा कुशल होता है, क्योंकि वह संसाधनों का उपयोग करता है। इसका मतलब ये है कि वो कम memory, power और space कंज्यूम करता है, जो classical computer के लिए ज्यादा होता है।

3# Accuracy

क्वांटम कंप्यूटर classical कंप्यूटर से ज्यादा accurate होता है, क्योंकि वह त्रुटि सुधार (error correction) कर सकता है। इसका मतलब ये है कि वो अपने qubits के states को monitor और सही कर सकता है, जो classical कंप्यूटर के लिए मुश्किल होता है।

क्वांटम कंप्यूटर प्राइस

Quantum computer का price या क़ीमत बहुत ही ज़्यादा होता है, क्यूँकि यह एक बहुत ही ज़्यादा advanced और complex technology है। Quantum computer बनाने और चलाने के लिए बहुत सारे components और conditions की ज़रूरत होती है।

क्वांटम कंप्यूटर प्राइस की बात करें तब एक market analysis के अनुसार एक commercial quantum computer की क़ीमत लगभग $10 million (₹831,200,000) से $15 million (₹1,246,800,000) के भीतर होती है, वो भी निर्भर करती है उसके capabilities और scale के ऊपर।

क्वांटम कंप्यूटर का मूल्य अनुमान लगाना बहुत मुश्किल है, क्योंकि ये एक विकसित और गतिशील तकनीक है। Quantum computer की कीमत उसके विनिर्देशों, विशेषताओं और प्रदर्शन पर निर्भर करती है। क्वांटम कंप्यूटर की कीमत सीमा कुछ लाख से लेकर कुछ करोड़ तक हो सकती है।

Quantum Computer vs Supercomputer

Quantum computer और Supercomputer दोनों ही powerful computers हैं, लेकिन उनमें कुछ अंतर भी हैं :

Quantum ComputerSupercomputer
DefinitionQuantum computer एक ऐसा computer है जो quantum mechanics के principles का इस्तमाल कर के information को process करता है। Supercomputer एक ऐसा computer है जो classical mechanics के principles का इस्तमाल कर के information को process करता है।
TechnologyQuantum computer qubits का इस्तमाल करता है, जो superposition और entanglement की properties रखते हैं। Supercomputer bits का इस्तमाल करता है, जो 0 या 1 की values रखते हैं।
ComputationQuantum computer parallel computation कर सकता है, जिसका मतलब यह है की वो एक साथ में बहुत सारे tasks को execute कर सकता है। Supercomputer serial computation कर सकता है, जिसका मतलब है की ये एक एक कर के tasks को execute करता है।
SpeedQuantum computer, supercomputer की तुलना में काफ़ी ज़्यादा तेज होता है, क्यूँकि वो qubits की मदद से से complex और बड़ी problems को जल्दी solve कर सकता है। Supercomputer, quantum computer से कम तेज होते हैं, क्यूँकि वो bits की मदद से simple और छोटे problems को ही solve कर सकता है।
EfficiencyQuantum computer, supercomputer से ज़्यादा efficient होते हैं, क्यूँकि वो कम resources का इस्तमाल करते हैं।Supercomputer, quantum computer से कम efficient होते हैं, क्यूँकि वो ज़्यादा resources का इस्तमाल करते हैं।
AccuracyQuantum computer, supercomputer से ज़्यादा accurate होता है, क्यूँकि वो error correction कर सकता है। Supercomputer, quantum computer से कम accurate होता है, क्यूँकि वो error prone होता है, और खुद error correction नहीं कर सकता है।

दुनिया का पहला क्वांटम कंप्यूटर कौन सा है?

दुनिया का पहला क्वांटम कंप्यूटर IBM Q Experience है। यह एक cloud-based platform है जो लोगों को क्वांटम कंप्यूटिंग को explore और experiment करने की सुविधा देता है। IBM Q Experience 2016 मईं में लॉन्च किया गया था।

क्वांटम कंप्यूटर किसने बनाया है?

क्वांटम कंप्यूटर को बनाने में कई scientists, engineers, researchers और companies ने अपना योगदान दिया है। 

Quantum Computing में Qubits क्या हैं?

Qubit, Quantum Computing की एक यूनिट है।

आज आपने क्या जाना?

उम्मीद है कि आपको क्वांटम कंप्यूटर क्या है ज़रूर से पसंद आयी होगी। Quantum Computer एक बहुत ही advanced और powerful technology है, जो की information को process करने के लिए quantum mechanics के principles का इस्तमाल करती है।

Quantum computer supercomputer की तुलना में भी ज़्यादा तेज होती है, ज़्यादा efficient और accurate होती है क्यूँकि ये parallel computation कर सकता है। Quantum computer एक future-oriented technology है, जो human civilization को बहुत सारे challenges और opportunities प्रदान करेगा। ऐसी ही जानकारी के लिए आपको हमारे blog को subscribe करना होगा। और यदि कोई doubt हो तब हमें comment में पुछ सकते हैं।

Leave a Comment

Comments (2)

  1. काफ़ी अच्छी जानकारी प्रदान करी है अपने ऐसे ही पोस्ट लिखते रहे ताकि हमें ज्ञान का प्रकाश सदा मिलता रहे|

    Reply