वकील (Advocate) कैसे बने?

वकील कैसे बने? हर किसी का सपना होता है कि वह एक बड़ा आदमी बने और जीवन में अपना नाम कमाए! अपने जीवन में, कोई इंजीनियर बनना चाहता है, कोई डॉक्टर बनना चाहता है, तो कुछ लोग अच्छे वकील बनने का सपना देखते हैं! जिसके लिए वे पढ़ाई भी करते हैं, और मेहनत भी करते हैं. इस competition वाले दौर में, एक अच्छे वकील का पद मिलना काफी मुश्किल है!

बस वकील होना कोई बड़ी बात नहीं है, आपका सपना एक अच्छा वकील बनना होता है! हर साल, कई छात्र वकील बनने के लिए पढ़ाई करते हैं, जिनमें से केवल 20% छात्र ही सफलता प्राप्त कर पाते हैं.

आज इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं कि भारत में वकील कैसे बनें! इसके लिए आपको क्या पढ़ाई करना है, और कानून का अध्ययन करने के बाद आपके पास कौन कौन से करियर विकल्प हैं! यदि आप भी एक अच्छे वकील बनकर अपना नाम रौशन करना चाहते हैं तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें.

वकील (Lawyer) कौन होते हैं और उनके क्या कार्य है?

vakil kaise bane hindi

एक वकील एक ऐसा व्यक्ति है जिसका पेशा अपने Customers के लिए मुकदमेबाजी करना है. परंपरागत रूप से, इसकी भूमिका अपने ग्राहकों की रक्षा करना, उनके हितों का दावा करना और अदालत में उनका प्रतिनिधित्व करना है. वकील अपने ग्राहकों को सलाह प्रदान करते हैं और कानूनी मामलों के लिए आवश्यक दस्तावेजों का मसौदा तैयार करते हैं.

कानूनी पेशा सबसे महत्वपूर्ण आत्मनिर्भर व्यवसायों में से एक है. इस पेशे में आने से, आप असहाय लोगों के पक्ष में खड़े होने में सक्षम होंगे, और आपके पास समाज में सभी के सामने खुद को प्रस्तुत करने का अवसर होगा. आप इस कानूनी पेशे में आ सकते हैं और एक सफल कैरियर का निर्माण कर सकते हैं.

यदि आप वकील बनने के लिए कानून की पढ़ाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको graduation पास करने के बाद किसी भी सरकारी या Private विश्वविद्यालय में Faculty of Law में दाखिला लेना होगा. यहां आपको तीन साल का LLB Hons. पूरा करना होगा. आइए जानते हैं कि एलएलबी क्या होता है?

Lawyer और Advocate में क्या अंतर है ?

Lawyer कौन है?
लॉयर या Lawyer, वह होता है जिसके पास लॉ (law) की डिग्री होती है, जो कानून के क्षेत्र में प्रशिक्षित होता है और कानूनी मामलों पर सलाह और सहायता प्रदान करता है. आसान शब्दों में कहें तो एक बार आपने अपनी LLB course की पढाई पूर्ण कर दी तब आप एक lawyer बन जाते हैं. लेकिन अब तक आप एक advocate नहीं बने होते हैं.
Advocate कौन है?
एडवोकेट वह होता है जिसको कोर्ट में किसी अन्य व्यक्ति की तरफ से प्रतिपादन करने का अधिकार प्राप्त हो. यानि की एक advocate बनने के लिए, आपको खुदको enrol करना पड़ता है किसी State Bar Council में और साथ ही clear भी करना होता है All India Bar Examination (AIBE).

LLB क्या है?

LLB एक कानून संबंधी कोर्स है, इसका फुल फॉर्म होता है Legum Baccalaureus है. इसे Bachelor of Law भी कहा जाता है. आप इसे ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं. अगर आप कानून के बारे अधिक पढ़ना चाहते हैं और वकील बनाना चाहते हैं, तो LLB आपके लिए एक अच्छा विकल्प है!

LLB में कानून से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी विस्तार से दी जाती है. LLB की पढ़ाई करने के बाद आप या तो वकील बन सकते हैं या फिर आप जज भी बन सकते हैं.

LLB का Full Form क्या है?

LLB का Full Form होता है Legum Baccalaureus जो की एक Latin शब्द है. वहीँ लेकिन इसे आमतोर से Bachelor of Laws से संबोधित किया जाता है.

LLB कोर्स के लिए क्या योग्यता है?

LLB course आप या तो 12 वीं या तो स्नातक (Graduation) के बाद कर सकते हैं. LLB दो प्रकार के होते हैं, पहला BA LLB, और दूसरा LLB. यदि आप BA LLB करना चाहते हैं, तो आपको कम से कम 50% अंकों के साथ 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए. और अगर आप LLB करना चाहते हैं, तो आपको स्नातक(Graduation) में उत्तीर्ण होना चाहिए.

इसके लिए आप किसी भी Subject के Student हों यह मायने नहीं रखता. यह Course करने के लिए कोई आयु सीमा नहीं है लेकिन यदि आप BA LLB करते हैं, तो Genaral category के लोगों के लिए Age limit 20 वर्ष है. और SC/ST के लिए 22 साल. 2017 में, LLB करने की उम्र 32 वर्ष तक कर दी गई है.

आपको कुछ कॉलेज में LLB करने के लिए CLAT परीक्षा पास करनी होगी. जिसका फॉर्म ऑनलाइन भरा जाता है, और परीक्षा भी ऑनलाइन होती है.

सरकारी वकील कैसे बनते हैं

मैंने ऊपर आपको LLB के बारे में बताया. अब हम बात करते हैं की आख़िर वकील कैसे बनें. आपकी सुविधा के लिए मैंने इसे कुछ Simple steps के द्वारा समझाने की कोशिश करी है. तो फिर चलिए इसे समझते हैं :-

1. बारहवीं कक्षा पूरी करें

सबसे पहले वकील बनने के लिए, आपको बारहवीं कक्षा पास करनी होगी. आप अपनी 12 वीं किसी भी Stream के साथ कर सकते हैं लेकिन अगर आप Arts के student हैं तो आपको कानून की शिक्षा प्राप्त करने में आसानी होगी. इसके बाद आपको किसी law college में Admission लेना होगा.

2. Entrance Exam दें

Law college में Admission के लिए, आपको यहां इन्टरव्यू तथा प्रवेश परीक्षा देनी होगी, इस प्रवेश परीक्षा का नाम है CLAT. भारत में, CLAT परीक्षा पूरे भारतीय स्तर पर बहुत Popular है, आप CLAT परीक्षा देने के बाद किसी भी Law college में Admission ले सकते हैं.

3. क़ानूनी पढाई के बाद Internship करें

कानून का पढ़ाई पूरा करने के बाद आपको एक Internship करना होगा. किसी भी तरह की व्यावहारिक ज्ञान के लिए Internship करना आवश्यक होता है. उसी तरह, आपको इसमें भी Internship करने की आवश्यकता है.

Internship के दौरान आपको Court के बारे में कई बातें सिखाई जाती हैं. इसमें कोर्ट की सुनवाई कैसे होती है, Drafting कैसे होती है, दो वकील आपस में मुकदमा कैसे लड़ते हैं, ये सारी बातें आपको इस दौरान सिखाई जाती हैं.

4. State Bar Council में दाखिला करवाएं

Internship के बाद, आपको State Bar Council में Admission लेना होगा. इसके बाद, आपको Council of India की एक परीक्षा पास करनी होगी.

इसे पास करने के बाद ही आपको Court में Practice करने का Certificate दिया जाता है. अब आप भारत में किसी भी कोर्ट में अभ्यास कर सकते हैं.

वकील बनने की पढ़ाई

         Subjects                                 Topics
 

English

●     Comprehension passages

●     Grammar

●     Word meanings

●     Incorrect/correct sentences

●     Fill in the blanks with appropriate words

 

Mathematics

●     बीजगणित

●     लाभ और हानि

●     समय और कार्य

●     औसत

●     गति और दूरी

●     Permutation, Combination और venn diagram

●     Numerical

●     10 वीं कक्षा में शामिल कोई भी विषय

 

सामान्य ज्ञान और करंट अफेयर्स

 

●     Static general knowledge

●     Current affairs- national

●     Current affairs- international

 

 

Logical Reasoning

●     Logical और Analytical reasoning skills
 

Legal Aptitude

●     कानून का अध्ययन

●     Research Aptitude

●     Problems को Solve करने की योग्यता

●     Hypothesis situation पर आधारित प्रश्न

आप अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद और अपनी इंटर्नशिप पूरी करने के बाद वकील बन जाते हैं. और उसके बाद, आप किसी के न्यायालय(Court) में अभ्यास कर सकते हैं. इसके बाद आप सरकारी वकील(Government Advocate) बन सकते हैं, आप न्यायाधीश(जज) बन सकते हैं, या आप अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं, और आप Professor बन सकते हैं.

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख वकील कैसे बने जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को वकील के बारे में जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप निचे comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post वकील बनने की पढ़ाई पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here