Web Push Notification क्या है और इसके फायदे

क्या आपको पता है की Web Push Notification क्या है? अगर आप किसी अच्छे website को खोलेंगे तो कुछ समय के बाद आपको एक notification देखने को मिलेगा जिसमें की ये लिखा होता है आप यदि इस website के नए articles के बारे में और अधिक जानना चाहें तो उस push notification को subscribe करना पड़ेगा. जी हाँ दोस्तों यही जो notification आपको देखने को मिलता है वही Web Push Notification होता है. जैसे जैसे technology में advancement हो रही है वैसे वैसे नए तरीके भी आ रहे हैं जिससे की ज्यादा से ज्यादा readers को आपके latest posts के बारे में बताया जा सके. इससे आपके readers को आपसे जुड़ने में मदद होती है. वहीँ आपकी traffic भी आपके पास दुबारा आ जाती है.

यदि आप Internet का इस्तमाल कुछ दिनों से कर रहे हैं तब तो आपको इस Web Push Notification के बारे में पहले से पता होगा. की कैसे यदि कोई नयी article को publish करता है तब यदि हम उस website या channel को अगर subscribe किये हुए होते हैं तब हमें उसकी notification आ जाती है. ये Notification में content के बारे में short में जानकारी होती है जिसे की आपके Desktop, Mobile, SmartPhone, Tab या कोई Electronic device में भेजा जाता है.

आपके जानकारी के लिए में आपको ये बता दूँ की यदि आपने कोई Cricket Website में register किया है तब आपको latest scores के बारे में जरुर notification आ रहे होंगे. इसलिए आज मैंने ये सोचा की क्यूँ न आप लोगों की Web Push Notification क्या होता है और इसके फायेदे क्या हैं के बारे में जानकारी दे दी जाये जिससे की आपको इसे समझने में आसानी होगी. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की आखिर ये Web Push Notification क्या है.

Push Notifications क्या है

Web Push Notification Kya Hai

Push Notifications वो messages होते हैं जो की किसी user के device में pop up करते हैं जब भी कोई नया message आता है. इन notifications को या तो locally trigger किया जाता है किसी open application की मदद से और या फिर उन्हें Server की मदद से push किया जाता है, यदि User अपने device का इस्तमाल न भी कर रहा हो तब भी उसे notification भेजा जा सकता है. इससे Users को समय में आपके updates मिल जाते हैं और इससे आपके भी visitors का re-engagement हो जाता है.

Push Notifications को assembled किया जाता है दो API का इस्तमाल कर, वो हैं Notification API और Push API. यहाँ Notification API की मदद से app system notification को display करता है. वहीँ Push API की मदद से के service worker को allow किया जाता है server से Push Messages को handle करने के लिए. इससे कोई फरक नहीं पड़ता की वो App active है या नहीं. Notification और Push API को Service Worker API के ऊपर बनाया गया है, जो की push messages को respond करते हैं background में और application को relay करते हैं.

History of Web Push Notifications

अगर में Web Push Notification की बात करूँ तो इसमें शुरुवात से अब तक ऐसे बहुत से बदलाव इसमें देखने को मिले हैं जिनके बारे में शायद आपको जानकारी न हो. इसलिए मैंने इन सभी की एक list तैयार की है जिससे की आपको इनके इतिहास के बारे में जानने में आसानी हो.

1. June 2009 में Apple ने सबसे पहली बार launch किया Apple Push Notification Service (APNs), the first push service.

2. April 2015 में Chrome ने introduce किया Service Workers जो की support करता है Web Push API with Chrome 422

3. December 2015 में Chrome ने introduce लिया Custom Notification Buttons with Chrome 48.

4. January 2016 में Firefox ने rolls out किया web push support with Firefox 44 Desktop के लिए

5. May 2016 में Microsoft Edge ने भी Release किया support Service Workers

6. August 2016 में Firefox ने extend किया web push API support for mobile with Firefox 48

7. February 2017 में Chrome ने introduce किया Rich Notifications with Chrome 56

8. April 2017 में introduce किया गया Native Chrome Desktop Push Notifications in Mac OS with Chrome 59

Push Notification Terms

यहाँ पर मैंने कुछ ऐसे terms के बारे में बताया है जिसका इस्तमाल हम Push Notification में अक्सर करते हैं. आपको समझने में आसानी हो इसलिए मैंने इनके बारे में कुछ जानकारी प्रदान की है.

  • Notification – एक message जिसे की display किया जाता है user को और जी की app’s के normal UI के बहार होता है (i.e., the browser)
  • Push Message – एक message जिसे की भेजा जाता है server से client तक
  • Push Notification – एक notification जिसे की create किया गया है in response to a push message
  • Notifications API – एक ऐसा interface जिसका इस्तमाल होता है display notifications को configure करने के लिए.
  • Push API – एक ऐसा interface जिसके मदद से app को subscribe किया जाता है push service और push message को receive करने के लिए service worker से
  • Web Push – एक informal term जिसे refer किया जाता है उस process और components को दर्शाने में जो की involve हुए होते हैं messages को भेजने में server से client तक web में.
  • Push Service – एक system जिसके इस्तमाल होता है push messages को routing करने के लिए server से client तक में. सभी browser अपने खुद के push service को चलाते हैं.
  • Web Push Protocol – ये यह describe करती है की कैसे एक application server or user agent interacts करती हैं एक push service के साथ.

Web Push Notifications vs App Push Notifications?

  • Native app notifications device के सारे features का भरपूर फायेदा उठाते हैं – जैसे की the camera, GPS, accelerometer, compass, contact list इत्यादि. वहीँ web app notifications इन सारी features का फायेदा नहीं उठा सकते.
  • Native app notifications mobile phones और tablets तक ही सीमित होते हैं. Web push notification’s की पहुँच mobile phones और tablets से भी ज्यादा desktop तक भी होती है.
  • Native app notifications support करती है rich media जैसे की – images, videos, gifs, audio, और दुसरे interactive elements. वहीँ Web push notifications केवल support करती हैं large images को.

Web Push Notification Message में क्या क्या होता है

इस Web push notifications messages में ऐसे बहुत से चीज़ें होती है जिनके बारे में मैंने निचे details में बताया है जिससे की आपको समझने में आसानी हो.
Title – सभी notification में एक eye catching title की जरुरत होती हैं. ऐसा होने से ज्यादा chances हैं की दुसरे दर्शक उस healines को click करें.

Description – एक description short message के तरह होता है जो की आपके title और offering दोनों को support करता है. इसमें आपको सारी information को squeeze कर देना पड़ता है एक छोटे message की format में जिससे की आप लोगों तक अपनी जानकारी पहुंचा सको. लेकिन यहाँ ध्यान देने वाली बात यह है की इस short cut के चक्कर में आपके मेसेज की effectivness कम नहीं होनी चाहिए.

Website URL – ये वही website URL होता है जिसे की आपने web push notifications पाने के लिए subscribe किया था.

Call to Action Buttons – इन buttons का इस्तमाल अलग अलग actions को trigger करने के लिए होता है. जैसे की किसी user को आपके मनचाहे landing page तक ले जाना, एक social message (Tweet) को भेजना, Play Store or the Dialer को trigger करना इत्यादि.

Icon – आजकल तो जिसे देखो वो अपने notification भेज रहा है, ऐसे में user को सही और महत्वपूर्ण notification के बारे में पता नहीं चल पता. इसलिए अगर आप अपने notification के साथ अपना logo भी attach कर सको तो इससे users को बहुत ही सुविधा होगी आपके notification को पहचानने में.

Banner Image – आपके text की importance बढ़ाने के लिए अच्छे images की बहुत जरुरत होती है. जैसे की अच्छी title और text का महत्व होता है वैसे ही अच्छे image की भी बहुत जरुरत है क्यूंकि एक अच्छे image से users को आपके notifications में click करने में आसानी होती है.

कैसे Web Push काम करता है

यहाँ हम ये जानेंगे की ये Web Push आखिर काम कैसे करता है. तो फिर चलिए इसके बारे में detail में जानते हैं.
सभी browser push notification को खुद ही manage करती हैं अपने खुद की system का इस्तमाल कर जिसे की “push service” भी कहा जाता है. जब user push के लिए permission grant करता है आपकी site में तब आप app को browser’s push service के लिए subscribe कर सकते हो. इससे एक special subscription object creates होता है जिसमें की push service की “endpoint URL” होती है, और ये सभी browser के लिए अलग अलग होती है और इसकी public key भी. जब आप कोई push messages इस URL को भेजते हैं जिसे की public key के साथ encrypt किया जाता है, और push service उसे सही client को भेजती है. एक typical subscription object कुछ इसप्रकार दिखता है :

{“endpoint”:”https://fcm.googleapis.com/fcm/send/dpH5lCsTSSM:APA91bHqjZxM0VImWWqDRN7U0a3AycjUf4O-byuxb_wJsKRaKvV_iKw56s16ekq6FUqoCF7k2nICUpd8fHPxVTgqLunFeVeB9lLCQZyohyAztTH8ZQL9WCxKpA6dvTG_TUIhQUFq_n”,
“keys”: {
“p256dh”:”BLQELIDm-6b9Bl07YrEuXJ4BL_YBVQ0dvt9NQGGJxIQidJWHPNa9YrouvcQ9d7_MqzvGS9Alz60SZNCG3qfpk=”,
“auth”:”4vQK-SvRAN5eo-8ASlrwA==”
}
}

यहाँ ये doubt आपको आ सकता है कैसे किसी push service को ये पता चलता है की कोन से client को message भेजा जाये? यहाँ में आपको बता दूँ की endpoint URL में एक unique identifier होता है. और इसी identifier का इस्तमाल होता है message को route करने के लिए और जो की सही device में उसे भेजता है जब उसे Browser में process किया जाता है तब ये पता चल जाता है की कोन सी service worker उस request को handle करेगी.

ये identifier opaque होता है. As a developer, आप इसमें से कोई भी personal data निकाल नहीं सकते. और ये ज्यादा stable भी नहीं होता है, इसलिए इसे users को track करने के लिए इस्तमाल नहीं किया जा सकता.

Push Notifications को हम केवल HTTPS में ही इस्तमाल कर सकते हैं क्यूंकि ये push notifications service worker के साथ pair हुए होते हैं. इससे हमें ये पता चलता है की ये communication channel जो की server और push service के भीतर होता है, और जो push service से user के बिच होता है वो एकदम secure होता है.

लेकिन यहाँ सोचने वाली बात है की केवल HTTPS से यह तय नहीं हो जाता की आपकी push service पूरी तरह से secure है. हमें ये भी ध्यान देना पड़ेगा की जो भी data को server से client तक भेजा जाता है उसे बिच में directly या फिर indirectly कोई third party छेड़ छाड़ तो नहीं कर रहा है. इसका आपको ख़ास ध्यान रखना पड़ेगा. इसके साथ आपको आपने server में message payload को encrypt भी करना चाहिए, जिससे की आपकी data और भी secure हो जाएगी.

पुरे process जिसमें की sending और receiving push message से, उसके बाद push notification को display करने तक की पूरी process को यहाँ मैंने shortcut में समझाया है.

On the client:
1. Push service को subscribe करना
2. Subscription object को server तक भेजना

On the server:
1. वो data को generate करना जिसे की आप चाहते हैं की आप userको भेजें
2. user public key की मदद से data को encrypt करना
3. Data को endpoint URL तक भेजना जिसमें की payload of encrypted data मेह्जुद हो.
यहाँ message को user’s device तक route किया जाता है. इससे browser wake-up हो जाता है, और जो की correct service worker को ढूंड लेता है और invokes करता है “push” event को.

On the client:
1. जो भी message data होता है उसे receive करती है (अगर कुछ हो तो) in the “push” event
2. इसके बाद कुछ custom logic push event में perform करती है
3. और finally notification को show करती है
इसके साथ ही server push से user notification तक का सफ़र यहीं ख़तम होता है.

Best Practices अच्छे PushNotification के लिए

यहाँ जो ध्यान देने वाली बात है की हमें कुछ ऐसे चीज़ों के बारे में सोचना है जिसके बारे में शायद हम इतना ज्यादा महत्व नहीं देते. क्यूंकि Notification बहुत ही जरुरी चीज़ है इसीकारण इसे इतना हलके में हम नहीं ले सकते. तो चलिए फिर जानते हैं की हमें किन जरुरी चीज़ों में ज्यादा ध्यान देना चाहिए.

Timely – सबसे जरुरी जो बात वो यह है की हमें notification को सही समय में display करना चाहिए. इसका मतलब है की हमें सही time-sensitive events में इसका इस्तमाल करना चाहिए, especially जब ये synchronous events किसी लोग से तालुक रखते हो.
उदहारण के तोर पर हमें calendar events को मार्क कर लेना चाहिए. जिससे की सही दिवस या अवसर में हम अपने timely notification के जरिये अपने audience का attention अपनी और खिंच सकते हैं.

Precise – दूसरा जो बहुत जरुरी बात है वो ये की आपके notification में इतनी information होनी चाहिए की जिससे की user को इतनी जानकारी मिल जाये की उसे web page तक जाने की जरुरत ही नहीं पड़ेगी.
मुख्य रूप से आपको कुछ ऐसा करना चाहिए :

  • Message को short रखें
  • Title और content को specific रखना चाहिए
  • सभी important information को top और left में रखन चाहिए
  • सबसे महत्वपूर्ण desired action को ज्यादा महत्व देना
    ऐसा इसलिए क्यूंकि बहुत की कम ऐसे लोग होते हैं जो की अच्छे से आपकी notification को पढ़ें, majority लोग बस कुछ seconds ही उसे देखते हैं. इसलिए जितना simple content, catchy headline, और आकर्षक image होगी उतनी ज्यादा chances है की वो आपके notification पर click करें.

Relevant – तीसरा महत्वपूर्ण बात है की आपकी notification user के लिए कुछ relevant जरुर होना चाहिए. क्यूंकि यदि user को आपके notification में कोई दिलचस्पी न हुई तो वो उसे कभी भी click नहीं करेगा. इसके साथ आप उसमें अच्छे और relevant content का ही इस्तमाल करें क्यूंकि ऐसा नहीं करने से वो और कभी भी आपके notification को click नहीं करेगा.

मैंने ऐसे बहुत से website देखें है जिनकी notifications तो बेहतरीन होती है लेकिन उसमें बेहतरीन content नहीं होती यानि की headline कुछ और content कुछ ओर. इससे users को लगता है की आपने उनके साथ cheating की है और वो आपके notification service को unsubscribe कर लेते हैं. जिससे आपके एक valuable user से हाथ धोना पड़ता है.

Add Call To Action Buttons –इसके इस्तमाल से आप user को कुछ action करने के लिए उकसाते हैं जिससे की आपको immediate response भी मिल सकता है. उदहारण के “Buy now”, “Know more” or “Share on Twitter” जैसे शब्दों का इस्तमाल करना.

Location-based targeting – यदि आप किसी user को उसके location के हिसाब से चीज़ें offer करें तो मुमकिन है की वो आपके offer को आसानी से स्वीकार लें. उदहारण के तोर पे किसी specific दुकानों की discount offer यदि आपकी shopping की website है, यदि आपकी ticketing की website है तब आप flight tickets, या train tickets में discount दे सकते हैं जिससे की लोग आपके यहाँ बहुत मात्रा में आयेंगे.

Time Zone Based Delivery of Push Notifications – Internet सभी जगह में मेह्जुद है वैसे ही लोग भी. यहाँ एक चीज़ आप बिलकुल भी ignore नहीं कर सकते की अलग अलग time zones के हिसाब से लोग Internet का इस्तमाल कर सकते हैं. जैसे की अगर India में सुबह हुई है तो America में रात हुई होगी. तो अगर आप किसी American को रात में notification भेजेंगे तो ये उसके किस काम का क्यूंकि उस वक़्त वह सो रहा होगा. इसलिए हमें किसी भी particular time zone में उनके working hours में ही notification भेजना चाहिए. इससे हमारे लिए बहुत फायेदा है.

आप किसी भी तरीके का इस्तमाल करें लेकिन एक बात हमेशा ध्यान रखें की कभी भी कोई notification advertising वाले न भेजें. इससे आपके ऊपर लोगों का विस्वास कम हो जाता है.

कैसे Best Principles की मदद से Notifications को design करें

यहाँ मैंने आपको कुछ बहुत ही ख़ास Interaction pattern के बारे में बताया है जब आप अपने users को बड़ी चालाकी से Notification subscribe करने के लिए पूछ सकते हैं.

  • जब user अपने communication settings को configure कर रहा हो तब आप push notifications के लिए offer कर सकते हैं.
  • जब भी user कोई महत्वपूर्ण काम ख़त्म कर दिया हो और जिसे सही समय में पहुँचने की उसे उम्मीद हो ताकि वो सही समय में relevant update प्राप्त कर सके. उदहारण के तोर पे यदि user ने कोई product खरीद लिया है आपके website से और उसे उस item के delivery के बारे में updates चाहिए तब आप उन्हें push notifications के लिए offer कर सकते हैं.
  • जब आपके website को user दुबारा आता है क्यूंकि वो आपके service से बहुत खुस हुआ तब आप push notifications के लिए offer कर सकते हैं ताकि उसे ये लगे की आप अपने valuable customer का विशेस ध्यान रखते हैं.

Web Push Notifications के Advantages क्या हैं :

  • आपको दुसरे mobile app की जरुरत ही नहीं है mobile push notifications के लिए : Chrome push notifications exactly वैसे ही काम करती है जैसे की native mobile push notification. इसलिए आपको इस feature के लिए एक दुसरे app की जरुरत नहीं है.
  • Wider reach across browsers: इसे बहुत से browsers जैसे की Safari, Chrome and Firefox support करते हैं और जिनकी combined market share है about 61-77%. और इतना ज्यादा reach का होना बहुत ही अच्छी जानकारी है web push notifications के लिये.
  • इससे आप दुसरे users को भी access कर सकते हैं जो की website में मेह्जुद नहीं है: आप web push notifications की मदद से दुसरे users तक भी पहुँच सकते हो जो की आपके website में मेह्जुद न हों.
  • इसके मदद से आप अपने users के साथ re-engage हो सकते हैं बिना उनके contact details के: Web push notifications में किसी भी users की email or other contact details की जरुरत नहीं पड़ती. यदि एक बार भी किसी user ने आपके इस service को subscribe कर लिया तो आपके सारे notification automatically उसके पास पहुँचते रहेंगे, बिना की emai address के.
  • यहाँ Higher opt-ins पाए जाते हैं emails की तुलना में : क्यूंकि यहाँ users को अपने email id देने की जरुरत नहीं है इसलिए कोई भी नया user बड़ी आराम से Web notification service के लिए opt कर लेता है.
  • Lower unsubscribe/ opt-out rates: Studies से पाया गया है की Email Subscription की तुलना में Web notification की subscription में unsubscribe करने का rate बहुत ही कम है.
  • Prompt (जल्द) and assured content delivery का होना : आप जिस moment में click करते हैं on “send notification now”,तभी ही आपको सारी notification मिलना चालू हो जाती है. वहीँ email notification में ईमेल न आने के बहुत से कारण है, या फिर आपके emails spam folder में चले जाते हैं. ये सभी तकलीफें web notification में नहीं होती.
  • Higher conversion rates: Studies से ये बात सामने आई है की web push notifications के इस्तमाल से 30 times से भी ज्यादा higher conversion rate आई है अगर हम email notification से तुलना करें तब.
  • Greater mindshare of users: Notifications भेजना ऐसे users को जो की आपके Website में regularly न भी आते हों तो ऐसे में हमें उनके mindshare को capture करने में मदद मिलती है. जिसका benefit हमें बाद में मिलते हैं.
  • Tech savvy user base: क्यूंकि Internet का इस्तमाल अधिकतर Technolgy जानने वाले करते हैं इसलिए Web push notification की मदद से हमारे पास ज्यादा tech savvy user की अच्छी और बड़ी base होगी.

Limitations of Web Push Notification :

  • No HTTP support – Web Push Notifications केवल ऐसे websites में काम करती है जो की HTTPS protocol को पालन करते हो. यानि की ऐसे website जिनमें की HTTPS enabled हों.
  • Not supported on iOS yet – इन्हें अभी तक iOS support नहीं किया है इसलिए ऐसे website जहाँ की large iOS traffic base है उनके लिए ये घाटे का सौदा है.
  • No rich media – ये app push notifications के तरह सभी media जैसे की images, videos, gifs, audio, and other interactive elements को सभी rich media को support नहीं करता है.
  • Chrome Desktop में notification tray मेह्जुद नहीं होता है
  • अगर आपकी browser नहीं चल रही है तब ये notifications आपके desktop पर deliver नहीं होगा.

Web push वाकई एक बहुत ही बेहतरीन marketing platform है Webmasters के लिए. पर आपको ये याद रखना बहुत जरुरी है की great power के साथ great responsibility भी आती है. आपके पास एक बहुत बड़ा user database के होने से आपको उसका सही इस्तमाल करना चाहिए न की उसका गलत इस्तमाल Spam advertisement के लिए. ऐसे करना से भले ही आपको कुछ समय के लिए profit भी हो लेकिन अगर हम long run की बात करें तो इससे आपको बहुत नुकशान हो सकता है. और जैसे आपके users आपके अच्छे content के कारण आप जुड़े हुए होते हैं वैसे जी आपके spammy content के कारण आपसे दूर भी जाने लगेंगे. ये Platform अभी अपने बाल अवस्था में मेह्जुद है इसलिए मेरी मानें तो अभी इसका अच्छे से इस्तमाल करें.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Web Push Notification क्या है और इसके फायेदे क्या हैं के बारे में पूरी जानकारी दी और मैं आशा करता हूँ आप लोगों को Web Push Notification के बारे में समझ आ गया होगा. मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख Web Push Notification क्या है और इसके फायेदे क्या हैं कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

आइये आप भी इस मुहीम में हमारा साथ दें और देश को बदलने में अपना योगदान दें.

8 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.