Backlight Compensation क्या है?

हम में प्राय सभी की अपने Camera से या SmartPhone से Photos को खींचना आता है लेकिन हमें Camera में स्तिथ सभी functions का इस्तमाल नहीं करने आता है, जिसके चलते हम जितनी भी कोशिश कर लें लेकिन एक Photographer के जैसे Photo नहीं खिंच सकते हैं. ऐसे एक Feature है Backlight Compensation. आप में से शायद ही कोई ऐसा हो जिसे की ये पता हो की Backlight Compensation क्या है? ऐसा इसलिए क्यूंकि बहुत से Camera Manufacture अक्सर हम जैसे average consumers को अपने products बेचने के लिए products की descriptions में misleading features लिख देते हैं. इसका असर ये होता है की बहुत से भोले भाले customers उन products को खरीद लेते हैं. जिससे वो बाद में चाहते हुए भी उन features का इस्तमाल नहीं कर पाते हैं क्यूंकि वो उसमें होता ही नहीं है.

वहीँ ऐसे भी बहुत consumers होते हैं जिन्हें की camera के इस feature के बारे में जानकारी न होने के कारण वो इनका इस्तमाल नहीं कर पाते हैं. ऐसे ही Camera के कई और features भी हैं जैसे की Backlight Compensation (BLC), Highlight Compensation (HLC), Wide Dynamic Range (WDR) जो की camera के लिए बहुत ही जरुरी हैं क्यूंकि इनका सही इस्तमाल करने से आपको बहुत ही quality images में मिल सकती हैं. इसलिए मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Backlight Compensation के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे आपको भी इस camera feature के बारे में पता चल सके. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की आखिर ये Backlight Compensation क्या होता हैं हिंदी में.

BackLight Compensation क्या है

Backlight Compensation Kya Hai Hindi

Backlight compensation (BLC) की technology कई वर्षों से आ चुकी है, मतलब की ये नयी और advanced technology नहीं है. Image feature की बात आये तो Backlight Compensation की बात हम कैसे भूल सकते हैं. इसकी एक picture की बेहतर quality होने में बहुत ज्यादा उपयोगिता हैं. इस feature के होने से background के overpowering और bright lights को आसानी से compensate किया जा सकता है. चलिए उदाहरण से समझते हैं, अगर कोई आदमी या कोई वस्तु किसी window या खिड़की के सामने खड़ा हुआ है, या किसी outside door से चल के आ रहा है, या किसी एक bright area में खड़ा हुआ हो, तब ऐसे में उस व्यक्ति या वस्तु के पीछे बहुत सारा natural light होना आम सा बात है. BLC के पहले की बात करें तब उस समय camera बड़ी आसानी से इन natural lights से पहले अस्थिर हो जाता था क्यूंकि camera का ज्यादा focus उस natural light पे चला जाता था जिससे वो व्यक्ति या वस्तु बहुत ही dark प्रतीत होते थे. साथ में मुख्य objects का details भी बहुत loss हो जाता था, जिससे उनकी identity को पहचानना बहुत ही मुस्किल होता था.

वहीँ एक बार Backlight compensation की feature की खोज हो गयी तब ये problem करीब 90% तक कम हो गयी. क्यूंकि BLC में video को अलग अलग regions में split किया जाता है, और एक प्रत्येक region को एक अलग ही exposure apply किया जाता है. इसलिए होता यह है की Focus में रहे objects की high या low level की light सभी maintain हो जाती है जिससे आखिर की picture में natural bright light का ज्यादा असर दिखाई नहीं पड़ता है. इसमें मुख्य object के ऊपर सही focus पड़ता है. Light के सही रूप से distribution हो जाने के वजह से Picture ज्यादा dark नहीं होता है और final output सही आता है.

BackLight Compensation कैसे काम करता है?

Backlight Compensation एक ऐसा technical term होता है जो की Camera के उस mechanism को दर्शाता है जिससे की camera backlight को compensate करें और ऐसा करने के लिए उसे backlight को compensate करने के लिए Camera में automatic exposure control को enhance करना होता है.

उदाहरण के लिए आप इस scene के बारे में सोच सकते हैं. एक व्यक्ति चल का enter करता है एक dimly lit room में अपने साथ एक flashlight या torch लिए और वो उस flashlight का focus directly camera के ऊपर डालता है. Normally होता ये हैं की camera के लिए ये focus बहुत ही bright light source होता है (high illumination), इससे camera brighness को compensate करने के लिए उसके exposure को कम कर लेता है – चूँकि scene बहुत ही significantly brighter बन गया होता है. इससे होता यह है की Overall scene का brightness reduce हो जाता है जिससे picture के कुछ portion बहुत ही ज्यादा dark हो जाते हैं, ये वही portion होते हैं जिसमें हमें light होने के उम्मीद होती है.

लेकिन वहीँ Backlight compensation में ऐसा नहीं होता है और Camera इसमें small areas of high illumination को ignore करती है, जिससे scene का बड़ा हिस्सा bright रहता है और final outcome हमारा पूरा visible रहता हैं. इसमें जितनी भी ज्यादा bright light को camera के ऊपर focus किया जाये, तब भी area of interest की भी समान exposure होती हैं. इसलिए बिना backlight compensation के image जो की flashlight के surrounding में होता है (जैसे की कोई अनजान आदमी) उसे IP Camera के द्वारा सही रूप से identify नहीं किया जा सकता है. इसलिए Backlight Compensation के होने से ज्यादातर IP cameras automatically ही bright light को compensate कर लेते हैं.

Backlight Compensation के Features क्या है

  • Backlight Compensation की feature का सबसे ज्यादा इस्तमाल CCTV camera या IP Camera में ज्यादा इस्तमाल होता है. इससे वो रात में बड़े बढ़िया ढंग से intruders को identify कर सकते हैं, direct focus होने के वाबजूद.
  • BLC एक बहुत ही ideal technique होती है जिससे images को neutralize किया जा सकता है, background के overpowering और bright lights से.
  • BLC में digital signal processor (DSP) का इस्तमाल किया जाता है जिससे की Images की brightness को methodically optimize किया जा सके.
  • • BLC systematically images को अलग अलग हिस्सों में बाँट देता है, जिससे की Picture के अलग अलग हिस्सों में exposure divide हो जाता है और हमारा area of interest ज्यादा dark नहीं होता है.

Auto Backlight Compensation क्या होता है?

Camera में BLC के होने से ये आसानी से frame के पुरे area को scan कर average light level का पता कागा सकता है.

इसमें working point based होता है पुरे environment के general testing के ऊपर. अगर एक बहुत ही bright background होता है जिसमें की एक बहुत ही dim front image होती है, तब ऐसे में back backlight ensation automatically ही activated हो जाती है, और camera बड़ी आसानी से dark zone में light apply कर सकता है.

इस automatic backlight compensation के होने से एक normally dark और unspecific image को आसानी से एक clear और बेहतर visiblity वाले image में बदला जा सकता है.

Backlight compensation और Wide Dynamic Range में क्या अंतर है?

Backlight compensation adjust करता है Image के contrast levels को, लेकिन Wide Dynamic Range (WDR) में Image को expose किया जाता है different exposure times में.

WDR में इसलिए बहुत ज्यादा compensating differences होती है contrast/brightness में लेकिन backlight compensation केवल picture की brightness level को ही handle करता है.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Backlight Compensation क्या है? जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को Backlight Compensation in hindi के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. यदि आपको यह post Backlight Compensation क्या होता है in hindi पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here