Ritesh Agarwal – India’s Youngest CEO की Success Story

Ritesh Agarwal Biography & Success Story in Hindi. Business करना सबके बस की बात नहीं होती. बिज़नेस करने के लिए बिज़नेस माइंड होना बहुत जरुरी होता है. कड़ी मेहनत, सच्ची लगन और पूरी निष्ठा के साथ किया हुआ बिज़नेस ही सफल होता है. और बिज़नस में सफलता पाने के लिए एक आम इंसान को मार्केटिंग का एक्सपीरियंस चाहिए, हर तरह की समस्या का हल निकालने का काबिलियत होना चाहिए, और ये सब चीजों को पूरा करने के लिए इंसान की आधि ज़िन्दगी गुजर जाती है तब जा कर वो एक सफल बिज़नेस मेन बनता है. लेकिन इसी सोच को झुठा साबित कर हिंदुस्तान के OYO Rooms के Founder और CEO Ritesh Agarwal ने 21 saal की उम्र में ही बिज़नेस में बड़ी सफलता प्राप्त की है.जानिए कैसे??? आइये आज इस लेख में रितेश अग्रवाल के कामयाब बिज़नेस मेंन होने के पीछे की असली कहानी के बारे में जानते हैं.
Ritesh Agarwal Success Story in Hindi
Ritesh Agarwal का जन्म 16 November 1993, Bissam Cuttack Odisha में हुआ था. वो एक मध्य-वर्गीय मारवारी परिवार से थे. उनके परिवार में माता,पिता और तिन भाई बेहेंन हैं.बिज़नेस करने की काबिलियत तो उनके रोम-रोम में बस्ता होगा. उनके पिताजी Infrastructure Corporation के साथ मिल कर काम करते हैं और उनकी माँ एक हाउस वाइफ है. रितेश ने अपनी पढाई Sacred Heart School से पूरा किया जो Rayagada Odisha में स्तिथ है. अपनी इंटरमीडिएट की पढाई पूरी करने के बाद रितेश ने आगे की पढाई पूरी करने के लिए Delhi के Indian School Of Business and Finance में दाखिला लिया. हालांकि अपनी बिज़नेस को शुरू करने के लिए उन्होंने अपनी आगे की पढाई पूरी नहीं की और कॉलेज आधे में ही छोड़ दिया. रितेश छोटी उम्र से ही Bill Gates, Steve Jobs और Mark zuckerburg से बहुत प्रेरित थे. आज के समय में रितेश एक Indian entrepreneur हैं जिन्होंने अपना बिज़नेस career 17 साल की उम्र में शुरू किया जो की बहुत ही कम लोग छोटी सी उम्र में कर पाते हैं.

कैसे हुआ OYO Rooms का जन्म

Ritesh को नई नई जगह घुमने का बहुत शौक था. उन्हें घुमने का मौका बहुत मिला और वो दुनिया में बहुत सी जगह घुमे हैं. और रितेश को ट्रावेल करते करते ठहरने की व्यवस्था करने से जुड़े बहुत सारे मसलों का सामना करना पड़ता था. जैसे कभी उन्हें बहुत सारे पैसे देकर भी बेकार सी जगह रहने को मिलती थी और कभी कम पैसो में ही बहुत अच्छी जगह भी मिल जाया करती थी. ऐसे ही बहुत सरे अनुभवों ने रितेश को प्ररित किया और उन्होंने ये तय किया की वो अपना एक ऑनलाइन rooms booking कम्युनिटी शुरू करेंगे जिससे की customers को अच्छी सुबिधा के साथ रहने को जगह मिले.18 वर्ष की आयु में रितेश ने Oravel Stays Pvt. Ltd. शुरू किया. Oravel एक ऐसा start-up platform है जो हर जगह में मौजूद hotels का लिस्ट बनाता है और उनकी booking लोगों के budget में कर उन्हे आधि मूल्य में दिलाता है. पर कुछ दिन बाद रितेश को ये एहसास हुआ सिर्फ rooms को आधी मूल्य में लोगों को दिला तो देते हैं पर उन customer की सुख सुबिधा को नज़रंदाज़ कर उन्हें पूरा नहीं कर पाते हैं. इसलिए साल 2013 में रितेश ने Oravel Stays का नाम बदल कर OYO Rooms रख दिया जिसमे कम कीमत में आरामदायक rooms के साथ ही customer को हर तरह की सुख सुबिधा का ख्याल रखा जाता है और ब्रेकफास्ट भी दिया जाता है वो भी मुफ्त में.

Ritesh Agarwal का नाम Forbes List “30 under 30” in consumer tech sector में आया है. उनको बहूत सारे awards भी मिले हैं जैसे “Top 50 entrepreneurs in 2013 by TATA First Dot Powered by NEN Awards”, “8 Hottest Teenage start up founders in the World by Business Insider”, “TiE-Lumis Entrepreneurial Excellence Award in 2014”, “ Business World Young Entrepreneur Award in 2015”.

Ritesh Agarwal को अपने business को शुरू करने के लिए बहुत सारे मुश्किलों का सामना करना पडा था. बिज़नेस शुरू करना कोई बच्चों का खेल तो नहीं, बहुत सारी चीजों को ध्यान में रख कर बिज़नेस को शुरू करना पड़ता है. शुरुआत में रितेश को परेशानियाँ झेलनी पड़ी फिर भी अपने दिल की ख्वाहिशों को पूरा करना था इसलिए वो बिना रुके आगे बढ़ते गए. बिज़नेस शुरू करने के लिया सबसे जरुरी होता है पैसा. जैसे की पहले ही मैंने ये स्पष्ट किया था की रितेश एक मध्य-वर्गीय परिवार से थे तो पैसे की समस्या तो सबसे बड़ी थी और वो भी एक स्टूडेंट के लिए तो बहुत ही मुश्किल है पैसों का जुगाड़ करना.

उन्होंने Rs 60,000 का जुगाड़ कर 2011 में Oravel की शुरुवात Gurgaon में 1 hotel से की. उनके इस कंपनी को आर्थिक सहायता की जरुरत थी तभी उनको 20 under 20 Thiel Fellowship के बारे में पता चला जो दो साल के लिए 2013 में शुरू हुआ था जिसे Paypal के founder Peter Thiel ने शुरू किया था. इस fellowship के जरिये 20 वर्ष से कम उम्र के 20 इंटरप्रेन्योर को चुना जाता है और उन्हें $1,00,000 की राशी दिया जाता है. इस fellowship के बारे में जानकर रितेश बहुत खुश हुए और उन्होंने इसके लिए आवेदन किया. Fellowship में रितेश को चुन लिया गया. और रितेश Thiel Fellowship की सूचि में शामिल होने वाले भारत के पहले व्यक्ति थे. इस धन राशी की मदद से रितेश ने अपने OYO Rooms को बहुत ही उची मक़ाम पर पंहुचा दिया.

उसके बाद रितेश को बहुत सारी Venture कंपनी ने धन राशी दे कर उन्हें आर्थिक स्तिथि के लिया सहायता की. सबसे पहले Venture Nursery ने फण्ड दे कर सहायता की, फिर Lightspeed Ventures, Sequoia और भी बहुत Ventures ने मदद की. july 2015 में OYO Rooms को SoftBank ने $100 million धन राशी दी. OYO Rooms की शुरुआत Gurgaon से करने के बाद ये कंपनी पुरे India में 4,000 hotels 160 cities में launch कीया और ये संख्या बढती जा रही है. हाल ही में ये company Malaysia में launch हुआ है. OYO Rooms के साथ कोई भी hotels partnership कर सकते हैं, partnership करने के लिए hotel के owner को OYO के webpage में जाकर आवेदन करना होता है उसके OYO टीम उस hotel से संपर्क करते हैं और उन्हें कुछ चीजों को बदलने और shares के बारे में समझाते हैं और agreement के बारे में बताते हैं.

रितेश अग्रवाल ने एक OYO Rooms App भी बनाया है जो Android और Windows फ़ोन के लिए है. इस App के जरिये लोग अपनी पसंद और बजट का hotel और rooms बुक कर सकते हैं. OYO Rooms का नाम आज India का सबसे बड़ा बजट वाला branded hotel chain के नाम से मशहुर हो गया है और ये सब रितेश अग्रवाल के कड़ी मेहनत का नतीजा है. 21 वर्ष की आयु में India का टॉप बिज़नेस मेन बनना अपने आप में एक मिस्साल की बात है जो करोड़ो लोगों को रितेश से सिखने की प्रेरणा देगा.

loading...

45 COMMENTS

  1. भीड़ हमेशा उस रास्ते पर चलती है जो रास्ता आसान लगता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं की भीड़ हमेशा सही रास्ते पर चलती है| अपने रास्ते खुद चुनिए क्योंकि आपको आपसे बेहतर और कोई नहीं जानता|

  2. सफलता उन लोगो का खुद इंतजार करती हैं जो उसे पाने के लिये संघर्ष करते हैं।

  3. mere pas b ek best plan h..SAYAD MAI INDIA ME PAHLA HU JO YESA PLAN MERE MIND ME AAYA…..aur muje bharosa h a plan 100% sucessful hoga bt mere pas start krne k liye paise nahi h

  4. I’m proud of Ritesh Agrawal it’s a very very exlent turn which you taken in life & I bless you.
    I found que in mind, media viral his cover story instead of viral his steps his problems, his activity that he faces during start up even how to start app devloping this questions ans solve many problems of upcoming younger enturprinuer in India.
    Thanks for recent government too for motivating youth towards d business.

  5. I also have an idea about business but I had so many problems, how to start it I have an partner also those who have a knowledge about app developing..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here