Web Designing क्या है और कैसे सीखें?

Web Designing kya hai? अभी के Internet युग में यदि आपकी एक online पहचान नहीं है तब आपको शायद कोई भी न जानें. ऐसे में आपकी एक Website के होने से यह आपके लिए एक online identity का काम करता है. एक individual के हिसाब से आप अपनी ही एक brand बना सकते हैं और उसे एक website या blog के माध्यम से promote कर सकते हैं. एक business owner होने के नाते, आपके पास एक modern website होना सच में बहुत ही critical हो जाता है अगर आप अपने प्रतिद्वंद्वियों से आगे रहना चाहते हैं तब. या भीड़ से अलग रहना चाहें तब.

ये तो सच है की market में बहुत से professional web designers उपलब्ध है जिन्हें आप अपने काम के लिए hire कर सकते हैं अपने web design के जरूरतों को पूर्ण करने के लिए. लेकिन ऐसा करने के लिए आपको पैसों का भुक्तान करना पड़ सकता है. वहीँ अगर में कहूँ किसी को hire करने के बजाय आप भी Web Design सीख सकते हैं तो आपको कैसा लगेगा. क्यूंकि ये एक बहुत ही अच्छा option है web designing सीखने के लिए लेकिन उससे पहले आपको ये जानना होगा की ये Web Designing क्या होता है? इसके लिए किन चीज़ों में knowledge होना आवश्यक होता है इत्यादि. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को वेब डिज़ाइन कोर्स क्या है के विषय में पूर्ण जानकरी प्रदान करूँ जिससे आपको इसे समझने में और सिखाने में आसानी हो. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की ये Web Designing के बारे में.

वेब डिजाइन क्या है (What is Web Design in Hindi)

Web Designing kya hai Hindi

Web designing एक process होता है Website create करने के लिए. इसमें बहुत से चीज़ें शामिल हैं जैसे की webpage layout, content production, और graphic design. अक्सर लोग ये दोनों terms web design और web development को interchangeably इस्तमाल करते हैं, वहीँ असल में web design technically एक subset होता है इसके broader category web development का.

Websites को create किया जाता है एक markup language के इस्तमाल से जिसे की HTML कहते हैं. वहीँ Web designers webpages कोई build करते हैं HTML tags के इस्तमाल से जो की प्रत्येक page का content और metadata define करता है. वहीँ webpage का layout और element का appearance सभी चीज़ों को typically define किया जाता है CSS (cascading style sheets) के इस्तमाल से. इसलिए हम कह सकते हैं की ज्यादातर websites को HTML और CSS के combination से बनाया जाता है, जो की define करता है की कैसे each page browser में appear करें.

कुछ web designers pages को hand code करना पसंद करते हैं (जिसमें वो type करते हैं HTML और CSS में scratch से), वहीँ दुसरे एक “WYSIWYG” editor जैसे की Adobe Dreamweaver का इस्तमाल करते हैं. इस प्रकार का editor एक visual interface प्रदान करती है webpage layout को design करते वक़्त और ये software automatically generate करती है corresponding HTML और CSS code को.

दूसरा बहुत ही popular तरीका है websites design करने के लिए, जिसे की content management system कहते हैं, जैसे की WordPress या Joomla. ये services different website templates प्रदान करती हैं, जिसे की आप एक starting point के हिसाब से देख सकते हैं एक नए website के लिए. Webmasters फिर उसमें अपने content add करते हैं और साथ में layout को customize भी करते हैं एक web-based interface की मदद से. अक्सर professional blogger इस तरीके का इस्तमाल अपने blog के लिए करते हैं.

जहाँ HTML और CSS का इस्तमाल website के design या look के लिए होता है, या साथ में feel के लिए भी होता है, लेकिन वहीँ images को separately create किया जाता है. इसलिए graphic design भी web design के साथ overlap करता है, चूँकि graphic designers अक्सर images create करते हैं Web में इस्तमाल करने के लिए. इसलिए कुछ graphics programs जैसे की Adobe Photoshop में एक option होता है “Save for Web…” जो की एक आसान तरीका प्रदान करता है image को export करने के लिए. साथ में वो भी fully optimized format में web publishing के लिए.

Web design के लिए क्या क्या सीखना पड़ता है?

Web Designing के लिए आपके पास कोई qualifications रहने की जरुरत ही नहीं है, कोई भी व्यक्ति जिसके पास थोडा बहुत skill हो और काम करने में रूचि हो वो एक Web designer बन सकता है. तो चलिए आपको इसके लिए क्या क्या सीखना पड़ता है उसके विषय में थोडा जानकारी प्राप्त करें.

  • Visual design
  • UX (user experience)
  • SEO (Search engine optimization), marketing और social media
  • Coding software की समझ जैसे की HTML और CSS
  • Design software की समझ जैसे की Photoshop और Illustrator

यदि आपको ऊपर बाताई गयी चीज़ों की थोड़ी बहुत भी समझ होती है तब आप आसानी से Web Designing सीख सकते हैं.

वेब डिज़ाइन कोर्स क्या है

Web Designing Course basically deal करता है Websites के creation और maintenance के साथ. वो सभी web pages जिसे की आप Google, Yahoo और Firefox में देखते हैं वो basically designed और maintained किये जाते हैं Web-Designers के द्वारा. इस course में mainly focus किया जाता है जरुरत के core area के ऊपर जो की Websites के creations के लिए सबसे ज्यादा जरुरी है जैसे की HTML, JAVA, और CSS.

Students को जो की इन Website Designing की course लेते हैं उन्हें course के ख़त्म होने तक बहुत कुछ सीखने को मिल जाता है जैसे की, कैसे Website को create किया जाता है, कैसे उन्हें maintain किया जाता है और साथ में उनमें जरुरत के हिसाब से animations और effects भरे जाते हैं. इस course को सीखने की कोई उम्र नहीं होती है, इसे कोई भी सीख सकता है जिन्हें की Computers और वेबसाइट में लगाव हो, में तो कहूँगा की इसे बच्चे भी आसानी से एक hobby बनाकर सीख सकते हैं.

इस Courses को सीखने के लिए आप कोई भी बढ़िया सा Private institutes या coaching join कर सकते हैं जो की Web-Designing Course प्रदान करते हों. ये courses को आप चाहें तो Online भी सीख सकते हैं. इस courses के अलग अलग level होते हैं जैसे की beginner, Expert इत्यादि, जिसके कारण इनकी durations में फरक आती है. Students इस course में HTML, Adobe Photoshop, CSS2, Web-Hosting और SEO जैसे बहुत से जरुरी चीज़ें सीखते हैं.

Web Designing Course के फायदे

अब आप सोच रहे होंगे की अगर ये course इतना ज्यादा आसान होता है तब क्यूँ इसे सीखने की जरुरत है. मगर एक बात समझ लीजिये की ये आसान उन लोगों के लिए है जिन्हें की इसमें रूचि होती है अन्यथा ये आपके लिए कठिन भी हो सकता है. और इसके साथ चलिए Web Designing Courses सीखने के फायेदे के विषय में भी जानेंगे.

1. आप Marketing करने में पैसे बचा सकते है

जैसे की हम सभी जानते हैं की अभी के समय में सभी की एक website चाहिए. अब तो website एक online identity सा बन गया है. यदि आपको website बनाना नहीं आता है तब इसके लिए आपको एक web design professional को hire करना पड़ सकता है, जिसके लिए आपको बहुत खर्च करना पड़ सकता है. वहीँ इसके साथ उसे maintain करने या कभी update करने में बहुत खर्च करना पड़ा सकता है. ऐसे में अगर यदि आपको इसकी knowledge ही तब आप खुद ही ये कर सकते हैं जिससे आपके पैसे बच सकते हैं.

2. एक Marketable Skill सीख सकते है

एक सच ये भी है की web designers चाहें तो बहुत अच्छा पैसा कमा सकते हैं. चाहे आप एक नया career ही शुरू कर रहे हों, या कोई नया business या freelancing करके, सभी और से आप अच्छा खासा कमा सकते हैं. ये न केवल आपके काम में आपकी मदद करता है बल्कि ये कई लोगों के लिए एक profession भी बन सकता है अगर वो इसे professionally करना चाहें तब.

3. अपने Creative Side को enjoy कर सकते है

Web design का मतलब ही है की बढ़िया से बढ़िया creative design create करें. ये आपको एक मौका देती है जिससे आप अपने computer से ही बहुत ही सुन्दर और functional designs बना सकते हैं. अगर आप अपने creative side को और निखारना चाहते हैं और साथ में उससे पैसे भी कमाना चाहते हैं तब Web Designing से बेहतर और कोई विकल्प नहीं है.

इसलिए आज के समय में अगर आपके पास website designing की skill है तब आप कहीं न कहीं से जरुर कमा सकते हैं, इसमें कोई भी संका नहीं है.

Web Designer की Job Description

एक web designer का मुख्य काम होता है web pages और associated apps को create, code और develop करना होता है. ये काम वो या तो किसी व्यक्ति के लिए, या Companies के लिए करते हैं. वो अक्सर अपने clients के साथ काम करते हैं जिसमें वो उन्हें Website और Application के सन्धर्व में technical और graphical aspects की जानकारी प्रदान करते हैं. कुछ web designers तो website बनाने का project ख़त्म हो जाने के बाद भी अपने clients (customers) को support प्रदान करते रहते हैं.

जैसे जैसे ज्यादा से ज्यादा websites को mobile touchscreen accessibility की जरुरत होती है, इसलिए ऐसे web designers की जरुरत होती है जो की ऐसे code लिख सकें जो simultaneously compatible भी हो ऐसे platform के साथ. इसलिए इस job में web designers को अपने skill को frequently update करना होता है.

Web designers को Internet technology से thoroughly familiar होना पड़ता है और उनके पास बढ़िया computer programming के साथ coding skills की knowledge होनी चाहिए. उन्हें ये समझना चाहिए की कैसे networks function करता है और उनकी attention भी detail में होनी चाहिए. Website में bugs या errors का आना एक आम बात होता है और ये एक frequent task होता है, इसलिए एक web designer के पास problem solving skill जरुर से होना चाहिए, जिससे वो समय समय पर उत्पन्न हो रहे problems को solve कर सके. इसके अलावा उनके पास time management skills भी होनी चाहिए इससे वो अपने projects को deadlines से पहले submit कर सकें. बेहतर customer relations skills और patience रखने से ये आपके साथ आपके clients के लिए भी beneficial होता है.

इन सभी के साथ अच्छा verbal और written communication आपको अपने profession में आगे बढ़ने में जरुर से मददगार साबित होगा. Web designers को एक या उससे ज्यादा computer coding languages पता होना चाहिए, और साथ में कुछ graphic design skills भी पता होना चाहिए. इससे आप बेहतर projects समय आने पर पा सकते हैं और उसके लिए अपना portfolio भी तैयार कर सकते हैं.

Web Designer के Tasks क्या होते है

अगर आपको ये नहीं पता की Web Designer के Tasks क्या होता हैं, तब आपको नीचे बताये गए जानकारी को जरुर पढ़ना चाहिए इससे आप को उनके tasks के विषय में मालूम पड़ जायेगा.

  • उसका काम होता है Conceptualize करना, create करना, develop, design और produce करना web promotions, इसके लिए उन्हें graphics design software का इस्तमाल करना पड़ता है.
  • उन्हें प्रत्येक assigned promotion project के लिए एक creative look तैयार करना पड़ता है, साथ में दिए गए चीज़ों से उसकी layout को भी बनाना पड़ता है.
  • इसके साथ हमेशा ये ensure करना होता है की creative elements inline हों brand requirements के अनुसार.

इसमें हमें ये समझ में आता है की Web Designers का काम Creative होता है, और अगर आपको ऐसे creative कामों में रूचि है तब आपको जरुर से ये proofession अपने लिए चुन लेना चाहिए क्यूंकि ऐसा करने से आपको वो और काम जैसे नहीं लगेगा बल्कि एक hobby के समान लगेगा.

Web Designer की Salary

भारत में Web Designer के Salary उसके experience और Skill के ऊपर निर्भर करती है. Salary किसी Web Designer को अपने years of experience के ऊपर निर्भर करता है. जहाँ Freshers Web Designer को Rs.15,000/- से Rs.20,000/- मासिक मिलते हैं वहीँ एक Experienced Web Designer को मासिक Rs. 30,000 से Rs.40,000/- के आस पास मिलते हैं.

Web Designing के Course करने के बाद क्या Job options है

वैसे अक्सर कई students ये जानना चाहते हैं की Web Designing के कोई course करने के बाद उनके पास job करने के लिए क्या options मेह्जुद हैं. चलिए उन्ही jobs के बारे में जानते हैं : –

  • Applications developer
  • Games developer
  • Multimedia programmer
  • Multimedia specialist
  • SEO specialist
  • UX analyst
  • UX designer
  • Web content manager
  • Web designer
  • Web developer

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख वेब डिजाइन क्या है (What is Web Design in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को Web Designing kya hai के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. यदि आपको यह post वेब डिज़ाइन कोर्स क्या है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

19 COMMENTS

  1. uper ka draft mene pura pada bahut acha laga, apse is nivedan hai ki ye course karne ke baad coustomer se marketing ke tarike v deal kese kare v charges kis prakar se is sab contant ke chalte kis trarh coustmer ko hum apna kam best dene ka work offer kar sakte hai…

    please guide me..

  2. Kya web designing ke liye koi degree Honaa zaruri hai waise Maine 12th pass ki hai aur MERI age 26 years hai aur Mai web designing sikhna Chahta hu agar Mai yeh Sikh letaa Hu too mujhe it company me job mil Sakti hai

    • ji ranjan ji aapki talent honi chahiye jisse aap job pa sakte hain. waise meri manen to kuch chota mota projects kar lein jisse aap unhe dikha saken ki aapne kya kiya hua hai. job pane mein aasani hogi.

  3. i read this blog was very helpful for me this is such a very nice information about web development & web design, I also read this type of information on wscube tech website.

  4. बहुत अच्छी जानकारी सर
    क्या आप बता सकते है कि आपके blog पर कौनसा author box का उपयोग किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here