Algorithm क्या है और आसानी से कैसे लिखें?

शायद आपको पता नहीं होगा ऍल्गोरिथम क्या है (What is Algorithm in Hindi) और आपको अगर यह नहीं पता तो आपको Algorithm कैसे लिखें यह भी नहीं पता होगा. लेकिन आज मैं आपको, आपके दोनों सवालों के जवाब के साथ साथ कुछ और जानकारी देने की कोसिस करूँगा जो की Algorithm सम्बन्धी होगा। जिससे आपके सारे सवालों के जवाब मिल जाएँ वो भी हिंदी में.

Computer से कुछ कार्य कराने के लिए, Computer Program लिखे जाते हैं। अब Computer Program में हम बहुत सारे Steps लिखते हैं। जिन Steps को Computer Execute करता है और कार्य को ख़तम करता है। शब्द, Algorithm का मतलब उन ‘Series of Steps‘ से है, जो किसी विशेष गणना (Computation) या कार्य (task) को पुरा करने या निष्पादित (execute) करने के लिये जिम्मेदार होते है।

जब आप Computer को कुछ कार्य बताते हैं तब आप यह भी सोचते ही होंगे की कैसे Computer इन कार्य को करता है। इसके लिए हम इस्तमाल करते हैं Computer Algorithm. तो चलिए बिस्तर से जानते हैं के ऍल्गोरिथम क्या होता है.

ऍल्गोरिथम क्या है (Algorithm in Hindi)

Algorithm (Al-go-rith-um) यह एक तरीक़ा है (Step by Step Process) या फिर यह एक Formula है। जो की एक Problem को Solve करता है। यह एक ऐसा Procedure है जिसमे सीमित नियम होते हैं, जिनको Instruction भी कहा जाता है.

Algorithm Kya Hai Hindi

जिन नियमों को एक के बाद एक लिखा जाता है और हर एक नियम(Steps) कुछ ना कुछ Operation को दर्शाते है. इन नियमों के जरिए Problem का Solution निकलते हैं.

Algorithm की परिभाषा

दुसरे सब्दों में कहें तो Algorithm किसी भी समस्या या Problem का समाधान निकलने की Step by Step प्रक्रिया है। अब और थोडा सरल भाषा में समझते हैं Algorithm में कुछ Steps होते हैं, जिनमे हर एक Step एक Operation को दर्शाता है।

एक Step शुरूवात करता है और आखिर में एक Step रहता है जो ख़तम करता है और इन दोनों Steps के बिच में और बहुत सारे Steps होते हैं जो अलग अलग कार्य करते हैं।

जैसे चावल बनाना यह आपकी Problem है. इस काम को ख़तम करने के लिए चलिए कुछ Steps लिखते हैं. पहले चावल को धोना होगा फिर, पानी गरम करो और पानी गरम करने के उसमे चावल डालना है और चावल के उबलने का इंतजार करना होगा।

10-15 मिनट में चावल बन के तयार. अब यहाँ  हर एक steps कुछ न कुछ Operation को Perform करते हैं. जैसे चावल धोना मतालब इसमें कचे चावल में पानी डालके धोया जाता है. ऐसे ही हर Steps में अलग अलग Operations होते हैं. देखिए यहाँ हम Problem को छोटे छोटे Steps में divide कर दिए यही तो है जिसको आपको सझना था.

Programming में Algorithm का इस्तमाल बहुत है। तो चलिए विस्तार से जानते हैं कैसे और कहाँ इनका इस्तमाल होता है।

एल्गोरिथ्म के फाउंडर कौन है?

इसका एक लंबा इतिहास (History) है, परंतु वास्तविक शब्द “Algorithm” का परिचय पहली बार 9 वीं शताब्दी में हुआ। उस समय के फारसी गणितज्ञ, Abu Abdullah Muhammad ibn Musa Al-Khwarizmi को इसका फाउंडर माना जाता है। इन्हें बीजगणित के जनक (The Father of Algebra) के रूप में भी जाना जाता है।

Algorithm का उपयोग / महत्व

Algorithm का इस्तमाल तो हर जगह है जैसे आप पने हर दिन की समस्याओं का जवाब भी आप इस Step by Step Process के जरिए निकाल सकते हो. Technically हम बोले तो ज्यदा इस्तमाल IT Industry, Business Model, Programming में किया जाता है.

Characteristics Of Algorithm in hindi

आपको पता ही है यह Algorithm एक Step by Step Procedure है. जो ये स्पस्ट करता है की Steps किस क्रम में Execute होंगे जिसे हमें Desired (आकांक्षा जनक) Output मिल सके. Algorithm को दो कारक के जरिए analyze  किया जाता है. जैसे Time और Space.

Time यह बताता है की Algorithm लिखने के लिए कितना समय लगेगा और Space से यह पता चलता है की कितने कम समय में हम लिख सकते हैं. अब इसके Characteristics  के बारे में बात करते हैं.

Unambiguous

जो भी अल्गोरिदम आप लिखें वह स्पष्ट और सठिक होना अति अवश्यक है. हर एक step या Line का कुछ Meaning होना चाहिए.

Finiteness

हर एक Algorithm कुछ सिमित Steps के अंदर ख़तम होना चाहिए. और हर step Finite यानि सिमित बार Repaet होना चाहिए. steps का Exection भी सिमित समय के लिए होना चाहिए. हर एक Step का कुछ कुछ न कुछ Meaning होना चाहिए.

Input

हर Algorithm में O या फिर O से ज्यादा सठिक steps होने चाहिए.

Output

जैसे हर Algorithm का Input Step होते हैं वैसे ही Algorithm का Output Step भी होना चाहिए. Output भी वही आना चाहिए जिसके लिए हम लिखे हैं.

Effectiveness

Time और Space से  Effectiveness का अंदाजा लगाया जाता है. अगर algorithm कम time और Space में लिखा जाता है. या फिर कम समय में Execute होता है और  कम Space में Run होता इसे ही Effectiveness कहते हैं.

Data structure के मुताबिक यह सब Important Categories होनी चाहिए.

  • Search-item को DATA Structure में Search आसानी से सर्च कर सकें.
  • Sort-एक लिस्ट को Order कर सके या Sorting कर सकें.
  • Insert– data Structure में algorithm को Insert कर सकें.
  • Update– AlGORITHM के जरिए Item को update करने की ख्यामता हो.
  • Delete– Algorithm से जो item data structure में है उसे Delete कर ने में असुविधा न हो.

Algorithm की Complexity

दो factors को ध्यान में रख के Algorithm की Complexity को Classify किया गया है. एक Time Complexity और दूसरा Space Complexity.

Time Complextiy:

Program को Run होने में जितना टाइम लगता है.

Space Complexity:

computer के अंदर Program को Execute होने के लिए जितना Space चाहिए उसे Space Complexity कहते हैं.

एल्गोरिथ्म के प्रकार – Types of Algorithm

हालांकि इसके कई सारे प्रकार है, परन्तु जो सबसे बुनियादी प्रकार है उन्हें नीचे बताया गया है।

  1. Simple Recursive Algorithms
  2. Backtracking
  3. Divide and Conquer
  4. Dynamic Programming Algorithm
  5. Greedy Algorithms
  6. Branch and bound Method
  7. Brute Force Algorithms
  8. Randomized Algorithms

Algorithm कैसे लिखें

इसको लिखना बड़ा ही आसान है आपको कुछ ज्यादा सिखने की आवस्यकता ही नहीं. आपको को पता होगा सुरुवात में एक उदहारण लिए थे जहाँ एक ex- था चाय कैसे बनानाते हैं.

उसी तरह आपको लिखना है Step by Step. Algorithm की जादा जरुरत Programming में होती है. आप Direct भी लिख सकते हो या आप कुछ rules का इस्तमाल करके भी लिख सकते  सकते हैं.

Rules जैसे Start, Input, Output, Read, Variable, Display, Stop. निचे दिए गए Example को एक बार देख लें जिसे आपको समझने में आसानी होगी.

Example: 1

Q1. दो Number को को enter करें और दोनों Numbers का Sum निकालें?

हर algorithm में सुरुवात में Start और अंत में Stop/End लिखें जैसे निचे लिखा गया है।

इसके बाद देखें की कितने Variables की जरुरत है या क्या Input करना है. जैसे निचे दो numbers को Sum करने के लिए 3 Variables चाहिए. Num1 पहले number के लिए Num2 दुसरे Number के लिए और sum variable Num1+num2 को Store करने के लिए. तो आपको इन variables के बारे में सोचें और लिखना सुरु करें।

अब कुछ steps ऐसे होंगे जहाँ हमें Arithmetic Operation जैसे +, -, ×, ÷ करने होंगे और कुछ Logical Operation जैसे Comparision Operation, True False, जीनका Output O (false) और 1 (True) होता है. Arithmetic तो आपको पता ही है (+, -, ×, ÷ ) और Logical का एक Example जैसे आपको जानना है. “Largest Number among 2 Number” तो यहाँ आप दोनों Numbers को Compare करोगे. इन Symbols का इस्तमाल कर के “>, <, >=, <=, !=”.

अब आखिर में जो Result आता है उसको आप Display लिख के Display कर सकते हैं और अंत Step में Stop या End लिख दें. अब इस उदाहरण को धयान से समझें.

Step 1: Start  //स्टेप स्टार्ट हुआ

Step 2: Declare variables num1, num2 and sum.   //num1, Num2, Sum वेरिएबल बनाएं जहाँ कोई भी संख्या स्टोर होगी

Step 3: Read values num1 and num2.     //जब keyboard से Number enter होगा तो यहाँ read होगा

Step 4: Add num1 and num2 and assign the result to sum.
Sum=num1+num2  //दो numbers का जोड़, Sum में Store होगा

Step 5: Display sum    //sum को Display करें

Step 6: Stop //समाप्त

अब कुछ और उदहारण देख के समझने की कोसिस करें.

Example: 2

Step 1. Start
Step 2. Read the number n
Step 3. [Initialize] i=1, fact=1
Step 4. Repeat step 4 through 6 until i=n
Step 5. fact=fact*i
Step 6. i=i+1
Step 7. Print fact
Step 8. Stop

आज आपने क्या सीखा

हमेसा से मेरी कोशिश रहती है की आपको सही और सठिक और पूर्ण Inforamtion आपको मिले. आशा करता हूँ आपको समझ आ गया होगा के ऍल्गोरिथम क्या है (Algorithm in Hindi).

शायद अगली  बार जब आप लिखो गे तो याद रखना इन कुछ बातों को- आप को Program में कितने Variable चाहिए और Compute क्या करना है. कोन कोन से Operation करने हैं. जिसे लिखने में आसानी होगी. कोसिस करने वालों की कभी हार नहीं होती.

आपसे यही उमीद है ये लेख पसंद आया होगा, कैसा लगा आप जरुर निचे बताइए. अगर अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे. कोई सुझाव या सलाह देना चाहते हो तो जरुर दीजिये जो हमारे लिए काफी उपयोगी हो.

पिछला लेखकंप्यूटर पर निबंध
अगला लेख5G क्या है और ये इंडिया मे कब आएगा?
I am an avid reader and writer. I love writing on different topics. I love poetry and have a keen interest in penning down some poems.

44 COMMENTS

  1. Hello sir am sajid and am Hsc passed but me aage padhai nhi kr saka lekin abhi me software engineering ki padhai krna chahta hun to plz aap mujhe Bta skte hy kaha se start krun kya subject lene honge mujhe plz reply fast sir thank you for algorithm in Hindi explain

  2. Hello Sir,
    Really nice info sir.
    me already pyle pdhke bhul chuka tha
    bt ye pdhne ke bad or jada smj aaa gya..o rn kbi bhulunga………………….
    thanks a lot Sir

  3. मुझे तो एल्गोरिथम के बारे में पता ही नही था क्या होता है साझा करने के लिए धन्यवाद

    • Thanks Madhu ji, sunkar bahut achha laga. Ye sab aap hi logon ka pyaar hai jo ki hame jyade se jyada likne ke liye prerit karta hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here