Bounce Rate क्या है और इसे कैसे कम करे?

क्या आपको पता है Bounce Rate क्या है (What is bounce rate in SEO) और इसे कम कैसे करे, अगर नहीं तब आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं इसके बारे में हम आज चर्चा करेंगे. यदि आपका अपना blog या website है तब तो आपको Bounce Rate के बारे में थोडा बहुत जानकारी जरुर होगी. यदि आप हमेशा alexa में  अपने blog का Global rank, India rank, page per visitors check करते हों तब तो आप इसके साथ Bounce Rate को भी जरुर देखते होंगे. लेकिन एक blogger को तब बुरा लगता है जब आपके site का bounce rate average से ज्यादा होता है. इससे उसके blog की authority और rank अपने आप ही गिरने लगता है.

क्यूंकि किसी भी Site का Bounce rate ज्यादा होना मतलब वो site users के लिए अच्छी नहीं है और यदि आपका site भी इसी category में आता है तब तो ये आपके लिए एक बहुत ही बुरी खबर है आपके website के लिए. अगर आपका blog या फिर website नई है तो bounce Rate ज्यादा होना आम बात है. लेकिन अगर पुराना है तब ओ Bounce Rate ज्यादा होने में कही ना कहीं आपकी ही गलती होती है. लेकिन परेशान होने की कोई बात नहीं क्यूंकि आज का ये मेरा लेख पढने के बाद आपके site का bounce Rate जरुर कम हो जायेगा. मेरा कहने का तात्पर्य यह है की आज हम इसके विषय में कुछ ऐसी जानकारी प्राप्त करेंगे जिससे आपको इसे और भी बेहतर रूप से समझने में आसानी होगी, साथ ही आपको पूरा article जरुर पढना चाहिए क्यूंकि अंतिम में आज मैं आप लोगों को कुछ ऐसे tips देने वाला हूँ जो की आगे चलकर आपकी site में बहुत काम आने वाले हैं. तो सुभ काम में देरी किस बात की चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की ये Bounce Rate क्या होता है.

Bounce Rate क्या है (What is Bounce Rate in SEO)

Bounce Rate Kya Hai

अगर आप अपनी blog या site के Search Performance को बढ़ाने की पूरी कोशिश कर रहे हो और हो नहीं रहा है तो इसके पीछे छुपा हुआ राज है सबसे पहले Bounce Rate को कम करे. लेकिन इसमें कुछ गलतियाँ आपकी है आपके Plan में कुछ गड़बड़ी है. क्या गड़बड़ी है इसके बारे हम आगे बात करेंगे. तो क्या है ये Bounce Rate, जब एक visitor आपके website में आता है और एक page मतलब entrance page को Visit करता है और वो उसके बाद वापस चला जाता है, तो इसिसको Bounce बोला जाता है. लेकिन Bounce Rate का मतलब है ये उन visitors का percentage है जो की आपके page पे आते हैं और कोई दुसरे page पे click किये बिना ही वापस चले जाते हैं.

इसका ये मतलब है की visitors आये और तुरंत वापस चले गए बिना किसी दुसरे page को खोलके या आपके article को बिना पढ़े ही. लेकिन अगर ऐसा हो रहा है तो इससे ये साबित हो रहा की आपकी site के Post इतने Interesting नहीं है या फिर आप इसमें ज्यादा value नहीं दाल रहे हैं. इसके अलावा ये भी हो सकता है की इसकी design भी कुछ ख़ास नहीं है, heading भी attractive नहीं है. अगर Bounce Rate ज्यादा होगा तो आपको समझ जाना चाहिए की आपके site के visitors कम हो रहे है और अगर visitor कम हुए तो rank में कमी आएगी और finally income भी कम होगा. तो एक उदाहरण लेके आपको अच्छे से Bounce Rate क्या है समझाता हूँ.

अगर एक website या फिर एक blog है, जिसका Bounce Rate अगर 45% हैं. इसका मतलब उस website में 45% visitor ऐसे हैं जो की एक page खोलते है और तुरंत ही वापस चले जाते हैं. शायद उनके पढने लायक उन्हें कुछ न मिला हो. इसके होने के कई कारण हो सकते हैं जिनके विषय में हम आगे जानेंगे. तो चलिए अब जानते हैं bounce Rate कितने होने से ज्यादा अच्छा होता है site लिए.

Bounce Rate कितना होना चाहिए

अब तक तो आपको थोडा बहुत idea तो हो ही गया होगा के Bounce Rate क्या है. इसमें आप को बताऊंगा की एक website का Bounce Rate कितना होना अच्छा है, कितना होने से चलेगा और कोनसा आपके site के लिए बेकार है. इसे ठीक रूप से समझने के लिए मैंने इसे चार हिस्सों में बाँट दिया है.

  1. 1% से 10%
  2. 10% से 40%
  3. 40% से 70%
  4.  70% से ज्यादा 

1% से 10% के अंदर कोई blog का bounce Rate है तो वो दुनिया के कामियाब websites के list में आती है. उसके बाद अगर 10% से 40% तक आती है तो भी बढ़िया है. वहीँ तीसरे में जो की है 40% से 70%, इसमें आम तोर पर ज्यादातर website शामिल होते हैं. जो की उतनी अच्छी नहीं है लेकिन काम चलने लायक है. यदि हम सभी Websites की बात करें तब कुल 75% से 80% website इसी CATEGORY में आती है. और आख़िरकार जिन websites की bounce rate 70% से ज्यादा होती है, वो बिलकुल भी ठीक नहीं है और उन्हें अपने website के ऊपर बहुत काम करना है. अब जानते है किन किन गलतियों से bounce Rate ज्यादा हो ज्याता है.

यदि आप सोच रहे हैं की क्या सभी प्रकार के websites के bounce rate समान होते हैं तब इसका जवाब नहीं है. अलग-अलग तरह की websites के लिए bounce rate अलग अलग होते हैं. यहाँ निचे में मैंने उनके कुछ आंकड़ों के विषय में जानकरी प्रदान करी है जो की कुछ इस प्रकार हैं:

  •  Content वाली websites – 40-60%
  •  Lead generate करने वाली websites – 30-50%
  •  Blogs – 70-98%
  •  Retail कारोबार (business) करने वाली sites – 20-40%
  •  कोई services provide करने वाली websites – 10-30%
  •  Landing Pages – 70-90%

किन गलतिओं से Website या Blog की Bounce Rate ज्यादा होता है

यही कुछ गलतियाँ एक Blogger आम तोर पर करता है, जिसपे आपको जरुर ध्यान देना चाहिए.

  1. Website का Loading time ज्यादा होना.
  2. Single Page Site का होना.
  3. ख़राब quality के contents का होना.
  4. Internal link visitor को पसंद आना चाहिए.
  5. Traffic के लिए गलत keywords पर rank करना.
  6. Quality और user को पसंद आने वाले Content नहीं होना की वजह से.
  7. आप की website का design बेकार होना.
  8. Formating का गड़बडाना.
  9. आपके Content के Heading खास होना जरुरी है.

Bounce Rate को कम कैसे करें?

तो अब हम आपको बताएँगे की किन किन तरीकों से आप Bounce Rate को कम करें.

1. Site Design और Look अच्छा होना चाहिए

देखिये दोस्तों आपको जो चीज़ दिखने में अच्छी लगे तब उसकी और आप attract हो ही जाते हैं. वैसे ही अगर आपकी website और blog दिखने में अछि लगे तो visitors आपकी website की और अपने आप आएंगे और उनको Content पढने में भी अच्छा लगेगा. जब भी आप अपने blog को design कर रहे हों तो आपको Color Combination का knowledge होना बोहत ही जरुरी है. आपको अपने visitors को समझना होगा की कोनसा Color site में अच्छा लगेगा.

Font Color और Text Size का चयन सही से करे, जैसे अगर आप पूरा text का font लाल कर देंगे तो पढने वाले को चस्मा लग जाये गा और text size भी सही रखे जिसे visitor को पढने में कोई परेशानी झेलनी ना पड़े. क्यूंकि एक कहावत है ग्राहक भगवान होता है और भगवान को दुःख करना मतलब अपने पेट में लात मरना. अगर अपनी site में भर भर के animation दे दिए हो तो वो भी कुछ खास नहीं लगता. Site का design simple और Readers friendly बनायें.

2. Page Load Time पे ध्यान दें

अगर आपके site का page load time ज्यादा है. इसका मतलब ये हुआ, आते हुए visitors को blog तक पहुँचने  से पहले माना कर देना. अगर आप blogger हो तो इसके उपर जरुर गोर फरमाइए और SEO के लिए भी बहुत जरुरी है.  अगर आपके site का page लोड time

  • 1 second से कम मतलब- Perfect है.
  • 1 second से 3 Second मत्लत- Above average है
  • 3 second से 7 second मतलब-  Average
  • 7 से ज्यादा मतलब- Very poor

आपको अगर visitors को खुश करना है तो Perfect या फिर Above Average रखें. Page में limited image और कम size का image इस्तेमाल करे इससे page लोड time कम होगा.

3. Content Quality वाला लिखे

अगर आपके site में Quality वाले Content हैं तो आपके site को Brand बनाने में काफी मददगार होगी और Brand मतलब आप समझते ही होंगे. अगर आप site के Branded और valuable Content पे ज्यादा ध्यान देंगे तो आपको थोडा वक्त लगेगा लेकिन आपके goal तक आप जल्दी पहुँच जाओगे. आपका Content अगर Quality वाला नहीं होगा तो visitor अपने आप वापस चले जाएंगे आपके site से, क्यूंकि ऐसे बहुत से websites हैं जो की आप website की तुलना में बेहतर content प्रदान कर रहे होंगे. जैसे अगर आप Content लिख रहे हैं और वहां पर सही information नहीं दे रहे हैं, जो मन में आए वही लिख रहे हैं. इससे आपका Site का rank कम हो जाएगा इसलिए जो सही है वही लिखे.

अगर आप गलत information दे रहे हैं अपनी Site में तो User मतलब Visitor उसके हिसाब से गलत Decision लेगा जो कि गलत Result लेकर आएगा. यह बात जरूर याद रखें. Content का size 500 से 1000 Word रखें और Simple भाषा का इस्तेमाल करें जिस्से Visitor को जल्दी से समझ में आये आप क्या लिखे हो और site के उपर भोरोसा बढेगा. दोस्तों अगर आप Quality Content देंगे थोड़ा वक्त लगेगा लेकिन Visitor अच्छे आएंगे और आपके site का Bounce rate भी थोड़ा कम हो जाएगा.

4. Visitors Friendly Heading डालें

बाहर से कुछ और अंदर से कुछ ऐसा होना किसी को भी बुरा लगेगा. अक्सर bloggers ये गलती करते हैं और clickbait headings का इस्तमाल करते हैं जो की बिलकुल भी सही नहीं है. तो यही बात हम Blog के साथ Link करें तो बात यह है, अगर आप अपना Heading अच्छा दिए हो अपने हिसाब से लेकिन वह Visitor को समझ में नहीं आ रहा है . और जो Heading दिए हो उस प्रकार अंदर कुछ और Topic के बारे में लिखा गया है. इससे Visitors का भरोसा कम हो जाएगा आपके Site के ऊपर से. मेरा बोलने का मतलब यह था कि आपके Post का Heading समझ में आने वाला होना चाहिए. जैसे एक उदाहरण दे रहा हूँ.

अगर एक Visitor आपके Site पर आया और वह एक Article को अच्छे से पढ़ा और उसके बाद उसने दूसरे Article के Heading को पढ़ने के बाद, वह वापस चला गया. तो इससे क्या होगा आपको पता ही होगा आपके Site का Bounce Rate ज्यादा हो जाएगा. आपका Content जितना हो सके Updated रखें. जिस्से कि सही information मिले और Visitor आपके साइड में बने रहें। अच्छे Content की वजह से Google में rank भी बहुत जल्दी हो जाएगा.

5. Content Formating पर Focus करें

सीधी सीधी बात है जितना भी अच्छे से लिख लो अगर इधर का उधर और उधर का इधर लिखोगे मतलब आपके Page का या फिर आपके Post का Formating थोड़ा ढंग से नहीं करोगे तो Visitor को कैसे अच्छा लगेगा. जब Post को edit करते हो तब जो tag डालना रहता है उन पर थोड़ा जोर डालें. और Paragraph formating पर थोड़ा Focus करें. ज्यादा लंबा चौड़ा Paragraph मत लिखें जिस्से Visitor अगर पढ़े तो उसको पढ़ने में Boring ना हो. जिस word को bold करना है उसे bold करे, जिस्से visitors का Focus बढेगा. साथ ही Formatted Contents पढने में सभी को अच्छा लगता है.

6. Internal Link पे Focus डालें

अगर आपके में Post के बिच बिच में अगर आप सही internal link नहीं दोलोगे तो bounce Rate बढ़ जायेगा. ऐसा इसलिए क्यूंकि अक्सर कुछ समय में readers आपके contents को पढ़ लेंगे और उसके बाद उसे बंद कर चले जायेंगे. और अगर आप related internal link डालें तब उन्हें उस content को भी पढने की इच्छा होगी. जैसे की Internal link आपके Post के Related डालें और कुछ ऐसे internal link भी दे जिसको visitor पढना जरुरी समझे. ये आपके उपर निर्भर करता है आप के site में कैसे Content है और कोनसा internal link डालना सही रहेगा. ये tips भी bounce Rate को कम करने में मददगार साबित होगा.

7. Internal Link दुसरे Page में खुलना चाहिए.

अगर आपके Internal link अपने site में डाल रहे हो तो इसमें जरुर Focus करें. जब भी visitor आपके Post के internal link पे click करे तो नए page में खुलना चाहिए. जिससे visitor जिस article पढ़ रहा था वो भी एक tab में open रहे और दूसरा और एक tab में खुल जाये. ये भी bounce Rate को कम करता है.

8. Mobile Friendly Blog

जैसे की हम सभी जानते हैं की आजकल Mobile users सबसे ज्यादा हैं. इसलिए हमें अपने Blog को mobile friendly बनाने में ज्यादा ध्यान देना चाहिए. आपका Blog जितना ज्यादा Mobile friendly होगा उतना ही ज्यादा आपके visitors को आपका blog पसंद आयेगा. 50% visitors मेरे हिसाब से Mobile user होते हैं. तो आपके site का template mobile friendly वाला इस्तेमाल करें.

मेरी अंतिम निर्णय

तो दोस्तों आज की जानकारी काफी महत्वपूर्ण थी. अगर आप Blogging की दुनिया में कुछ नया करना चाहते हो और तरक्की करना चाहते हो तो मुझे उम्मीद है की यह लेख आपके लिए सही मददगार हुई होगी. अब तक को आप समझ ही गए होंगे की Bounce Rate क्या है (What is bounce rate in SEO) और Bounce Rate कैसे कम करे. मैंने उपर जितने भी तरीके प्रदान किये हैं उनको ध्यान में रखते हुए Blogging को आगे लेके जाएँ. घबराने की बात नहीं अगर अभी भी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे. और कोई सुझाव देना चाहते हो तो दीजिये जिससे हम कुछ नया कर सके. हमरे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हो तो जरुर Subscribe करें. चलो बनायें Digital India जय हिंद, जय भारत, धन्यबाद.

47 COMMENTS

  1. dear sir,
    this artical is very unique because its very help me in bloging but i have one query,
    how much average time in website page

  2. badhiya post Hai or apne mast likhi hai , ek baat batau apke likhne ka tarika achcha hai , good luck keep blogging with usagar
    aapka post read kiya bahut hi usefull jankari mili.
    aap kab se blog likh rhe he btaye?

  3. अति उत्तम जानकारी , मैं काफी समय से ऐसे जानकारी प्राप्त करना चाहता था| ऐसी जानकारी का प्रयोग कर अब मै काफी ज्यादा लोगो तक पहुंच सकूंगा |

    भवदीय
    विजय

    • Hello Umeda ji, Yadi aap sach mein Blogging ko lekar serious hain tab aapko wordpress mein hi blogging karni chahiye kyunki ye professional bloggers istamal karte hain. Aur ismein rank karna bhi aasan hai agar aap thik dhang se karen tab. Baki aapki mehnat aur patience ki jarurat hai successful hone ke liye.

  4. इसका मतलब यह है की Bonus Rate को जितना कम हो सके उतना कम करना चाहिए

  5. Thank you sir, Bahut hi acchi jaankari di hae aapne. Meri website ka bhi bounce rate bahot jyaada hae aur ab mujhe ispe bahot work karna padega.

  6. Sir ji aapne Bade Sunder tarike se once rate ke baare me bataya hai aapka article vacuum machine kaam Aane Wala Hai aaj main bones rate ke baare mein Pehli Baar jana hai wo bhi aapke wajah se Dhanyavad sir

    • धन्यबाद मंजू जी.
      अगर आपके कंटेंट ला जवाब होने और पढने में interesting होंगे तो bounce rate कम हो जायेगा.

  7. blogger ke liye bounce rate bahut mayne rakhte hai isse yah pata chalta hai ki log apke blog me kitna intrest hai. nice post…………

  8. Bahut achhi jankari sir,

    Kya 10% se km bounce rate hone ka mtlb website ka behtr hona hai hai

    Or website sahi kaam kr rhi hai.

  9. Aapki sari articles bahot hi acchi tarike se samjhai jaati hae. Aise hi acchi article likhte rahiye aur hum sab ke doubts bhi clear karte rahiye.

    Thank you for sharing this article.

    • Thanks Ankush ji aapke achhe comment ke liye, yadi aapko achha laga ho to is article ko aap bhi share kar sakte hain jisse jyada logon ko sikhne mein madad milegi aur ismein aapka bhi naam badhega.

    • Welcome Abhay ji, hum hamesha hamare readers ko valueable information dene ka sochte hain jisse unhe kisi dusre article ko padhne ki jaruarat hi nahi hai. Baki sab aap logon ki padhne ki ichha hai jo ki hame jyada likhne ke liye utsahit karti hai. Achha laga ho to share jarur karen.

  10. Sir …
    Mere Website Ka Bounce Rate 1.02% Hai …
    To Ye Kaisa Hai … Achha Hai Ya Bekar. Mujhe Bounce Rate Ke Bare Me Jankari Nahi Hai. Mera Website Ka Naam

    Hai ….Please Mere Msg Ka Reply Dijye.

  11. Bhut hi upyagi jankari .
    Kya ap mujhe hindi guest post paid hire krne wali blog ka nam batayenge me guest post likhna chahta hu

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.