डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें? जैसा कि हम जानते हैं कि हमारे देश में अभी भी कई छात्र ऐसे है, जिनकी आर्थिक स्थिति इतनी खराब है कि वे 12वी के बाद पढ़ना तो चाहते है लेकिन फिर भी उन्हें अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ने की नौबत आ जाती है। दरअसल, ऐसे छात्रों को सही सलाह और जानकारी देने वाला कोई नहीं है इसलिए उन्हें ऐसे फैसले लेने पड़ते हैं।

लेकिन अब आपको पढ़ाई छोड़ने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि अब आप डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं। 

देखा जाए तो बहुत सारे छात्र ऐसे है, जिन्हें डिस्टेंस लर्निंग क्या है इसके बारे में जानकारी नहीं है। यदि आप भी ऐसे छात्रों में से एक है, तो आपके लिए हमारा यह पोस्ट काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। क्योंकि आज के लेख में मैं आप सभी को डिस्टेंस लर्निंग क्या है और कैसे करें इससे जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाला हूं। इसलिए आपको हमारे आज के लेख गैप के बाद ग्रेजुएशन कैसे पूरा करें को पूरा पढ़ना है। 

डिस्टेंस लर्निंग क्या है? 

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें इससे जुड़ी जानकारी साझा करने से पूर्व डिस्टेंस लर्निंग क्या है इसके बारे समझ लेते हैं। यदि हम डिस्टेंस लर्निंग के बारे में बात करें, तो इससे आप घर बैठे ग्रेजुएशन कर सकते हैं। अच्छी बात तो यह है कि यहां से ग्रेजुएशन करने के लिए आपको रेगुलर कॉलेज जाने की आवश्यकता भी नहीं होती है। देखा जाए तो कई छात्र रेगुलर कॉलेज जाने की वजह से ही अपनी पढ़ाई छोड़ते है। 

distance learning se graduation kaise kare

यदि आप भी इन छात्रों में शामिल है और अगर आप बिना रेगुलर कॉलेज किए ग्रेजुएशन करना चाहते हैं, तो आपके लिए डिस्टेंस लर्निंग एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। डिस्टेंस लर्निंग से पढ़ाई करने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि यहां पर आपको केवल Examination में ही जाना होगा। डिस्टेंस लर्निंग के तहत सभी छात्र ऑनलाइन के माध्यम से घर बैठे शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। 

इससे छात्रों को Collage के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। आप डिस्टेंस लर्निंग से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं। देखा जाए तो हमारे देश में ऐसे कई सारे कॉलेज है जो आपको ऐसे साधन प्रदान करते है। तो अगर आप भी डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको इससे जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होना जरूरी है। 

डिस्टेंस लर्निंग के लाभ 

क्या आप भी डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के बारे में सोच रहे हैं, यदि हां तो उसके लिए आपको सबसे पहले इसके लाभ के बारे में जान लेना जरूरी होता है। जो कि इस प्रकार है…

  • डिस्टेंस लर्निंग का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसके अंतर्गत छात्रों को रेगुलर कॉलेज जाने की आवश्यकता नहीं होगी। 
  • इसके साथ ही डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने का लाभ यह भी है कि आप ऑनलाइन घर बैठे पढ़ाई कर सकते हैं। 
  • डिस्टेंस लर्निंग के अंतर्गत ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के वाले स्टूडेंट्स कही भी नौकरी कर पाएंगे। 
  • जिस छात्र के आर्थिक स्थिति खराब है और वे जॉब के साथ ही साथ ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करना चाहते हैं, तो डिस्टेंस लर्निंग एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। 
  • डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने में फीस भी काफी कम देना पड़ता है।

डिस्टेंस लर्निंग से कैसे करें ग्रेजुएशन पूरी 

आपने हमारे डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करे के अभी तक के पोस्ट में डिस्टेंस लर्निंग क्या है और डिस्टेंस लर्निंग के फायदे क्या क्या है इसके बारे में तो जान ही चुके होंगे। लेकिन अब चलिए जान लेते है डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए आखिर करना क्या होता है। तो सबसे पहले तो आपको डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए अपने नजदीकी कॉलेजों में जाकर यह पता करना होगा कि किस कॉलेज में डिस्टेंस एजुकेशन या डिस्टेंस लर्निंग की सुविधा दी जाती है। 

जब आप यह पता कर लें तब आपको उस कॉलेज में जाकर एडमिशन करवाने की जरूरत होगी। इस प्रकार एडमिशन लेकर आप रेगुलर कॉलेज जैसी झंझट से मुक्त हो जाएंगे। फिर तो हम जानते ही है कि आज के समय में हर कोई इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं। आप भी इंटरनेट के उपयोग से घर बैठे ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर सकते हैं। 

डिस्टेंस लर्निंग क्यों और किन्हें करना चाहिए? 

अब कई स्टूडेंट्स यह जानना चाहते हैं कि डिस्टेंस लर्निंग क्यों और किन्हें करना चाहिए। तो इसका सबसे सरल सा जवाब है कि जो स्टूडेंट्स रेगुलर कॉलेज किसी कारण वश नहीं कर सकते है, उन स्टूडेंट्स को डिस्टेंस लर्निंग करना चाहिए। क्योंकि इसमें आपको रेगुलर कॉलेज जाने की जरूरत नहीं पड़ती है।

दरअसल, हमारे देश में अधिकांश छात्र 12वी के बाद अपनी पढ़ाई इसलिए छोड़ते है क्योंकि उन्हे घर की आर्थिक स्थिति के लिए जॉब करना पड़ता है और वे रेगुलर कॉलेज नहीं कर सकते हैं। ऐसे में डिस्टेंस लर्निंग की सुविधा ऐसे छात्रों को जॉब और पढ़ाई दोनों करने में मददगार साबित होता है। 

डिस्टेंस लर्निंग के अंतर्गत कौन-कौन से कोर्स किया जा सकता है? 

क्या आप भी जानना चाहते हैं कि डिस्टेंस लर्निंग से कौन-कौन से कोर्स किया जा सकता है, तो आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि इसके अंतर्गत आप BA, BSC, M.Com, B.Com की डिग्री हासिल किया जा सकता है। इसके साथ ही आप चाहें तो इसके अंतर्गत Arts तथा Social Science से भी शिक्षा प्राप्त किया जा सकता है। 

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटी कौन से है? 

क्या आप भी ऐसे बेहतरीन यूनिवर्सिटी के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते हैं, जहां से ग्रेजुएशन की पढ़ाई की जा सकें, यदि हां तो उसके लिए आपको हमारे आगे के लेख को ध्यान पूर्वक पढ़ने की आवश्यकता होगी। क्योंकि आगे के लेख में आपको बेस्ट यूनिवर्सिटी के बारे में जानकारी दी गई है, जहां से आप डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं। 

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी
सिंबायोसिस सेंटर फॉर डिस्टेंस लर्निंगस्कूल ऑफ ओपन लर्निंग 
महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी मध्य प्रदेश भोज ओपन यूनिवर्सिटी
नेताजी सुभाष ओपन यूनिवर्सिटीडॉ भीम राव अंबेडकर ओपन यूनिवर्सिटी 
कर्नाटक स्टेट ओपन यूनिवर्सिटी तमिलनाडु ओपन यूनिवर्सिटी 

क्या डिस्टेंस लर्निंग के अंतर्गत BA किया जा सकता है?

जी हां डिस्टेंस लर्निंग के अंतर्गत कोई भी छात्र छात्राओं BA की शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

भारत में डिस्टेंस लर्निंग की शुरुआत कब की गई थी? 

दरअसल, साल 1956 से 1960 तक के बीच में भारत में डिस्टेंस एजुकेशन या डिस्टेंस लर्निंग की शुरुआत की गई थी।

क्या डिस्टेंस एजुकेशन या डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है? 

जी हां डिस्टेंस एजुकेशन या डिस्टेंस लर्निंग से ऑनलाइन आवेदन काफी आसानी से किया जा सकता है। 

क्या डिस्टेंस लर्निंग के अंतर्गत B Ed किया जा सकता है?

यदि आप भी टीचिंग में करियर बनाना चाहते हैं, तो ऐसे में आप डॉ भीम राव अम्बेडकर ओपन यूनिवर्सिटी में अप्लाई कर सकते हैं। 

आपने क्या सीखा?

उम्मीद है कि आपको हमारा डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें का यह पोस्ट पसंद आया होगा। आज के लेख में मैं आप सभी को डिस्टेंस लर्निंग क्या है और इसके फायदे के साथ इसे क्यों करना चाहिए इससे जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान किया है।

इसके साथ ही अगर आपको हमारा आज का यह डिस्टेंस लर्निंग के इस पोस्ट को पढ़कर कोई भी सवाल पूछना हो, तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं।

पिछला लेखKiki Challenge क्या है और क्यों लोग इसके पीछे पागल है?
अगला लेखSSD क्या है और कैसे काम करता है?
चन्दन इस हिंदी ब्लॉग के Founder हैं. वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है. अगर आपको ब्लॉगिंग या Internet जुड़ी कुछ जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है. हमारा यह मकसद है के इस ब्लॉग पे आपको अछे से अछे जानकारी मिले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here