Hotspot क्या है और कैसे काम करता है?

शायद आप जानते होंगे की हॉटस्पॉट क्या है? क्यूंकि ये feature अभी प्राय सभी smartphones में उपलब्ध होते हैं. अगर कभी आपको किसी जरुरी email का reply देना होता है या कभी internet को surf करना होता है public places में तब हमें एक internet connection की बहुत जरुरत होती है. चूँकि internet को ऐसे सभी जगहों में पहुँचाना संभव नहीं होता है. ऐसे में Wi-Fi hotspot की बहुत जरुरत होती है. ये internet connection न केवल highly convenient होती है, बल्कि इसके साथ इससे आपको smartphone के data का भी इस्तमाल नहीं करना पड़ता है. इसलिए ये hotspots सभी public infrastructure का एक मुख्य हिस्सा बन चूका है और साथ में internet connection का एक नया experience.

आज करोड़ों लोग हरदिन public hotspots का इस्तमाल करते हैं अपने internet की जरुरत को पूर्ण करने के लिए. एक survey के अनुसार, पुरे दुनिया भर में करीब 2 lakhs से भी ज्यादा hotspots मेह्जुद हैं, इसका मतलब है की प्रत्येक 20 लोगों में एक hotspot मेह्जुद है. ऐसा इसलिए शायद क्यूंकि हमारे modern digital lifestyle के वजह से, हमें हमेशा internet के साथ जुदा हुआ होना पड़ता है जिसके चलते हमें internet की काफी जरुरत पड़ जाती है. ऐसे में public Wi-Fi access points इस hotspot के global network को काफी बढ़ाने लगी है जिससे लोगों के सभी जरुरत को पूर्ण किया जा सके. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को हॉटस्पॉट क्या है इन हिंदी और कैसे काम करता है के विषय में जानकारी दे दी जाये जिससे आपको इस विषय में और कहीं पढने की जरुरत ही नहीं. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की हॉटस्पॉट क्या होता है हिंदी में.

हॉटस्पॉट क्या है (What is Hotspot in Hindi)

Hotspot Kya Hai Hindi

एक Hotspot एक ऐसा specific location होता है जो की Internet access प्रदान करता है wireless local area network (WLAN) के माध्यम से. ये term generally synonymous (समानार्थक) होता है एक Wi-Fi connection के साथ. एक network जो की hotspot करता है उसमें primarily दो चीज़ रहते हैं जो की हैं modem और wireless router.

Radio frequency (RF) waves जिसे की wireless network के माध्यम से send किया जाता है वो सभी अलग अलग directions में extend होता है उसके centralized location से. ये signals जैसे जैसे आगे travel करती है वो weak बनते जाते है, ये central location से दुरता होने के कारण हो सकता है या कोई interference के होने से भी हो सकता है.

हॉटस्पॉट कैसे काम करता है

ये Wi-Fi hotspot भी ठीक Wi-Fi के जैसे ही काम करता है, जिसे की आप घर में इस्तमाल करते हैं. एक wireless access point दुसरे computers और Wi-Fi devices के साथ communicate करने के लिए radio signals का इस्तमाल करते हैं. ये Wi-Fi access point internet के साथ connected होते हैं जो की अक्सर router के साथ जुड़ा हुआ होता है या एक server जो की regulate करता है की कोन Wi-Fi को access कर सकता है. कैसे signals को send और receive किया जाता है, इसे standardized करने के लिए 80211 standards का इस्तमाल किया जाता है, जिसे की Institute of Electrical and Electronics Engineers (IEEE) के द्वारा develop किया जाता है.

हॉटस्पॉट के प्रकार

Hotspot के मुख्य रूप से दो प्रकार होते हैं : –

1.  Free Wi-Fi Hotspots

इस प्रकार के Wi-Fi router में password requirement को हटा दिया जाता है, इससे ये सभी users को समान network से connect होने में मदद करता है जिससे वो internet को आसानी से access कर सके.

2.  Commercial Hotspots

इस प्रकार के access points wireless coverage तो प्रदान करते ही है लेकिन एक fee के साथ. जब एक user किसी एक commercial hotspot से connect होता है Internet के लिए, तब user को usually redirect किया जाता है एक screen पर जिसमें login information या payment details माँगा जाता है इस service को इस्तमाल करने के लिए.

Hotspots करोड़ों Internet users को सहज internet प्रदान करती है, लेकिन उसमें कुछ security issues भी होते हैं. उदाहरण के लिए, free public hotspots अक्सर target होते है hackers और identity thieves के. ये attackers rogue या fake hotspots बनाते हैं को की एक legitimate hotspot के तरह ही दिखता है. अगर users अनजाने में ऐसे Access points के साथ connect हो जाते हैं तब वो आपके सभी sensitive data को चुरा सकते हैं.

हॉटस्पॉट और मोबाइल हॉटस्पॉट क्या है

Hotspot से कैसे connect करें या उसके security issues को जानने से पहले चलिए उनके विषय में कुछ जानते हैं. जहाँ कुछ लोग ये terms “hotspot” और “mobile hotspot” को interchangeably इस्तमाल करते हैं, लेकिन असल में उनकी distinct meanings होती हैं.

हॉटस्पॉट

यह एक hotspot ऐसा physical location होता है जहाँ की लोग बड़े ही आसानी से internet को access कर सकते हैं, इसके लिए वो Wi-Fi, via एक wireless local area network (WLAN) जो की एक router से connected होता है किसी Internet service provider के साथ. ज्यादातर लोग ऐसे locations को “Wi-Fi hotspots” या “Wi-Fi connections.” कहते हैं. आसान भाषा में कहूँ तो hotspots ऐसे physical places होते हैं जहाँ की users wirelessly अपने mobile devices जैसे की smartphones, tablets को Internet के साथ connect कर सकते हैं और उसका इस्तमाल कर सकते हैं.

एक hotspot कहीं भी स्तिथ हो सकता है चाहे वो कोई private location या एक public location पर भी हो सकता है. जहाँ public hotspot free होते हैं वहीँ private hotspot में पैसों का भुक्तान करना होता है.

मोबाइल हॉटस्पॉट

वहीँ एक mobile hotspot (जिसे की एक portable hotspot भी कहा जाता है) एक ऐसा hotspot होता है जो की केवल mobile specific ही होता है. जहाँ एक “regular” Wi-Fi hotspot किसी एक physical location पर ही उपलब्ध होता है, वहीँ आप एक mobile hotspot को कहीं पर भी create कर सकते हैं अपने smartphone के data connection को इस्तमाल कर आप अपने laptop को Internet के साथ connect कर सकते हैं. इस process को “tethering” कहा जाता है.

Hotspot में इस्तमाल होने वाले Terms

अगर आपको Wi-Fi hotspots के technicality को ठीक से समझना है तब आपको इसमें इस्तमाल होने वाले सभी terms को ठीक से समझना होगा. चलिए ऐसे ही कुछ terms को समझते हैं.

Access Point (wireless access point)

एक wireless access point (WAP) एक प्रकार का networking device होता है जो की एक Wi-Fi compliant device को allow करता है connect करने के लिए एक wired network के साथ. ये WAP को हम physically connect कर सकते हैं एक router के साथ या इसे router के साथ integrate भी किया जा सकता है. एक WAP, hotspot नहीं होता है, बल्कि एक physical location होता है जहाँ की Wi-Fi access to a WLAN available होता है.

Wi-Fi

Wi-Fi एक ऐसी technology होती है जो की आपके smartphone या computer को allow करती है Internet को access करने के लिए एक wireless connection के माध्यम से. ये radio signals का इस्तमाल करती है data को send और receive करने के लिए enabled device और WAP के बिच.

SSID

SSID का Full Form होता है Service set identifier (और इसे commonly SSID भी कहा जाता है), यह एक unique name होता है एक wireless network का. लेकिन इसके लिए आपको उस wireless network का नाम पता होना चाहिए जिसके साथ आप connect करना चाहते हो. आप अपने computer या smartphone के मदद से available wireless networks को search कर सकते हैं. अक्सर लोग अपने wireless network का नाम रखते हैं जैसे की Ram Network, Shakti Traders इत्यादि. इससे आसनी से अलग अलग network को पहचाना जा सकता है.

Wi-Fi Hotspot कैसे Connect करे

आप तो जान ही गए होंगे के WIFi हॉटस्पॉट क्या होता है. और शायद आप में से ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जो की अपने smartphone या laptop को internet के साथ connect करने के लिए Wi-Fi hotspots का इस्तमाल करते हैं. चाहे आप अपने office में हों, घर में हो या किसी public locations में हों आप इन hotspot का इस्तमाल जरुर करते हैं.

Wireless hotspot के साथ connect होना एक बहुत ही simple process होता है. चलिए इस process को समझते हैं. यदि आपको आपके mobile में internet connection चाहिए और आपके पास डाटा नहीं है तब आप hotspot का इस्तमाल कर सकते हैं. इसके लिए बस आपको अपने smartphone में wifi option को click करना होगा. इससे आपको सभी नजदीकी hotspot आपके screen में दिखाई पड़ जायेंगे, इससे आप उन्हें आसानीसे select कर सकते हैं. अगर वो private hotspot होगा तब आपको कोई password enter करने के लिए पूछेगा. Enter करते ही वो hotspot active हो जायेगा और आप उसका इस्तमाल कर सकते हैं.

अपने Smartphone को एक Mobile Hotspot के तरह कैसे इस्तमाल करे?

अगर आप किसी ऐसे location पर हैं जहाँ की कोई wifi hotspot मेह्जुद नहीं है और आपको internet की बहुत ज्यादा जरुरत है तब आप ओने mobile को भी hotspot के तरह इस्तमाल कर सकते हैं. इस process को tethering कहा जाता है. इसके माध्यम से आप अपने phone के डाटा को share कर अपने laptop या computer में internet का इस्तमाल कर सकते हैं.

वहीँ इसके steps smartphones और operating system के ऊपर निर्भर करता है. लेकिन आप चाहें तो इसके विषय में device के user manual से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. Security के नज़रिए से आप Wi-Fi password का इस्तमाल कर सकते हैं जिससे की कोई भी दूसरा व्यक्ति आपके hotspot का इस्तमाल आपके बिना इजाजत के नहीं कर सकता. आगे हम जानेंगे की कैसे हम अपने mobiles का इस्तमाल hotspot के हिसाब से कर सकते हैं अलग अलग Os में.

Android Phone में Wi-Fi Hotspot Feature को Turn on कैसे करे?

Smartphones और tablets में जिसमें Android 2.2 या कोई upgraded android version का इस्तमाल होता है, उसमें built-in Wi-Fi data sharing feature का इस्तमाल होता है. साथ में आप phone के data connection को करीब 5 other devices के साथ एक साथ wirelessly share कर सकते हैं. Wi-Fi hotspot की precise location setting थोड़ी बहुत differ करती है किसी particular phone और OS version के हिसाब से. लेकिन generally, अगर आपको Wi-Fi hotspot feature को enable करना है, तब आपको Settings > Wireless & Networks > Portable Wi-Fi Hotspot ( इसे कहीं कहीं “Tethering और Mobile HotSpot” भी कहा जाता है). उसके ऊपर Tap करना होता है, फिर check या slide करना होता है mobile hotspot feature को on करने के लिए.

ऐसा करने के बाद आप hotspot का default network name दिखाई पड़ेगा और आपको एक password भी set करना होगा network के लिए. इसके बाद कोई दुसरे device को connect करने के लिए आपको उस नए बनाये गए wireless network के साथ उन्हें connect करना होगा.

iPhone में Personal Hotspot Feature को turn on कैसे करें?

iPhone में, mobile hotspot feature को “personal hotspot” कहा जाता है. आपके wireless carrier के हिसाब से आप इसमें करीब 5 devices तक connect कर सकते हैं और अपने iPhone के data को share कर सकते हैं.

इसे turn on करने के लिए,

आपको पहले Settings > General > Network > Personal Hotspot > Wi-fi Hotspot और फिर आप अपना password भी set कर सकते हैं जो की at least eight characters का होना चाहिए. इसके बाद आपको बस अपना Personal hotspot की switch को on करना होता है.

Windows Phone में Internet Sharing को चालू (Turn On) कैसे करे?

Windows Phone में, mobile hotspot feature को simply, “Internet Sharing” कहा जाता है.
यदि आप Windows Phone में अपने cellular data को sharing करना चाहते हैं Wi-Fi के माध्यम से, तब इसके लिए आपको, Start Screen से flick left कर App list में जाना होगा , उसके बाद आपको Settings > Internet Sharing में जाना होगा और फिर उसे switch on करना होगा.

Internet sharing screen में, आप चाहें तो network name बदल सकते हैं, उसकी security को set कर सकते हैं WPA2 में, और अपने password को भी set कर सकते हैं.

Mobile Hotspots के Benefits क्या हैं ?

Mobile hotspots उन सभी के लिए बहुत जरुरी होता है जो की अक्सर travelling करते हैं और जिन्हें अपने devices के लिए हमेशा internet connection चाहिए. इसके साथ mobile hotspots के माध्यम से Web surfers अपने काम faster speed में कर सकते हैं उनके regular connection की तुलना में.

अगर आप कहीं और कभी भी internet connection प्राप्त कर सकते हैं अपने devices के लिए तब इससे बड़ी advantage और क्या हो सकती है. आप mobile hotspot के माध्यम से बहुत से devices को एक साथ connect कर सकते वो भी बड़ी सहजता से. इससे users को अपने devices के लिए एक dedicated connection प्राप्त होता है जो की उनके लिए एक बड़ी advantage है. इसके अलावा आपको security की भी tension नहीं होती है जिससे हम safe होकर internet का इस्तमाल कर सकते हैं.

तो चलिए hotspot के कुछ benefits के बारे में जानते हैं.

  • इसके इस्तमाल से हम अपने phone के सभी phone data plan का ख़त्म होने से बच सकते हैं.
  • ये हमारे phone के battery life के लिए भी सही है.
  • इससे हम Reliably tethering कर सकते हैं multiple devices के साथ.
  • हम longer periods of time के लिए काम कर सकते हैं बिना connection को drop किये.
  • Hotspot का इस्तमाल हम फ़ोन में बात करते वक़्त भी कर सकते हैं, जिससे internet में कोई obstruction नहीं होती है.

सही mobile hotspot के चुनाव के लिए आपको थोडा बहुत research तो करना ही होगा लेकिन इससे आपको सबसे बेहतर hostspot network प्राप्त हो सकता है.

FAQ (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

1Password लगा हो तो internet और hotspot unlock कैसे करे?

आप यह password को bypass कर सकते हैं. वैसे यह करना सही नहीं है. लेकिन केवल educational purpose के लिए में निचे कुछ tips देने वाला हूँ.
इसके लिए आपको अपने android phone का root access होना जरुरी है. अगर नहीं हो तब आप इसे root भी करवा सकते हैं. एक बार आपने root कर लिए फिर आप एक application WPA WPS Tester को install करना होगा और available wifi को scan करना होगा. लेकिन free version में आप केवल वही wifi को access कर सकते हैं जो की green show करेगा.

2क्या hisab 4g hotspot Indian sim को support करता है?

अधिकतर phones को indian SIM support करते हैं. इसके लिए आपको फ़ोन के box में ये देखना होगा की क्या वो indian sim को support करता है या नहीं भी.

3Hotspot error को कैसे दूर करें?

इसके लिए आप \system को wipe कर सकते हैं और ROM को reflash कर सकते हैं. इसके लिए आप कुछ समय ले सकते हैं जो की कम ही समय लगेगा वो भी कुछ minutes.
एक दूसरा तरीका भी है की आप अपने mobile data को turn on करना होगा, Hotspot को start करने से पहले.

Conclusion

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को हॉटस्पॉट क्या है (What is Hotspot in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को हॉटस्पॉट कैसे कनेक्ट करे के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा. यदि आपको मेरी यह post हॉटस्पॉट क्या होता है इन हिंदी अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

10 COMMENTS

  1. हाॅटस्पाॅट और राउटर में क्या अंतर है सर मैं फौज में में बार्डर पर तैनात रहता हूं वहां नेटवर्क कम रहता है मुझे सुझाव दें कि मैं उसे आसानी से कैरी कर सकूं ? जय हिंद

    • Rajesh ji, dono ka antar artiles mein dekh sakte hain hamare blog par, border par aise hi signal kam rehte hain isliye wahan par hotspot koi kaam ka nahi hai. Aapko satellite phones ka istamal karna hota hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here