Barcode क्या है और कैसे काम करता है?

Barcode क्या है और ये काम कैसे काम करता है ये बात शायद आपने कभी न कभी जरुर सोचा होगा. जब कभी भी अगर आप किसी Mall या कोई दुकान गए होंगे और अगर कोई सामान ख़रीदा होगा तो आपके के नज़र में कुछ काली काली सीधी lines जरुर आया होगा. आपके मन में ये सवाल जरुर आया होगा की आकिर ये अजीब से दिखने वाली lines आकिर है क्या. आपने ये भी देखा होगा की जब वो दुकान के लोग जो सामान भारती करते है वो कुछ machine से उन lines के ऊपर कुछ समय रखते हैं और फिर आकिर में हमें अपना bill मिल जाता है. अब बात आती है की वो lines क्या है और उनका क्या काम है.

आपकी इन्ही शंकाओं को दूर करने के लिए आज मैंने सोचा क्यूँ न आपको इन्ही lines जिसे Barcode भी कहते हैं के बारे में पूरी जानकारी दे दी जाये. ताकि आपको ये समझ में आ जाये की आकिर ये Barcode क्या है और ये काम कैसे करते है. जब भी हम कोई चीज़ खरीदते हैं तो अनजाने में ही सही लेकिन हमारा सामना इन Barcode से जरुर होता है. तो फिर देरी किस बात की चलिए जानते हैं की Barcode क्या होता है और ये काम कैसे काम करता है.

Barcode क्या है (What is Barcode in Hindi)

Barcode Kya Hai

अगर हम Barcode की actual definition की बात करें तो हम ये कह सकते हैं की ये एक Machine Readable code है जो की number और lines के format में रहता है, ये lines मुख्यत parallel रहते हैं और ये किसी भी Product के पीछे तरफ print किया हुआ होता है. लेकिन सचाई में इससे भी ज्यादा है Barcode Systems किसी भी Business में काफी मददगार साबित होते हैं. इनकी मदद से बड़े company अपने products को Track कर सकते हैं. उनके Prices और Stocks Level के बारे में आसानी से पता कर सकते हैं. इसका इस्तमाल company अपने Computer Centralized System में कर अपने productivity और efficiency को बढ़ा सकते हैं.

जिस lines को देखकर हम इतने परेसान हो जाते हैं वो और कुछ नहीं बल्कि numbers और data को दर्शाते हैं. जिन्हें किसी Barcode Scanner से आसानी से पढ़ा जा सकता है और उस data को Computer में बड़ी आराम से डाला जा सकता है. इससे दोनों समय और शारीरिक परिश्रम की बचत होती है. और इसमें गलती होने की भी chances बहुत कम होती है.

जब पहले Barcodes market में आया तब ये केवल 1 – Dimensional design ही था जिसमे केवल Black lines ही थी और जिसे बड़ी आसानी से Barcode Scanner की मदद से पढ़ा जा सकता है. लेकिन समय के साथ साथ इनकी pattern में भी काफी बदलाव आ चुके हैं. आजकल ये बहुत से shape और size में उपलब्ध है और जिसे हमारे Mobile Phone से भी पढ़ा जा सकता है .

Barcode का इतिहास (History of Barcode in Hindi)

आपको समझ में आ गया होगा के Barcode क्या है, तो चलिए आगे बढ़ते है. Barcode का इतिहास काफी लम्बा और बड़ा रोचक है. ये आज से 70 साल पहले आविस्कर हो चूका है. जैसे जैसे Technology बदल रही है वैसे वैसे इसमें भी काफी बदलाव देखने को मिल रहे हैं. हमारे वेज्ञानिक ज्यादा से ज्यादा information देने की सोच रहे है इस Machine readeable code में. अगर इसके पीछे की कहानी के बारे में हम बात करें तो आपको ये जन के बड़ा आश्चर्य होगा की इसका आविस्कर 1949 में किसी समुद्र तट के निकट हुआ था. जब Joseph Woodland जो की एक Mechanical Engineer थे Drexel University में सबसे पहले कुछ parallel lines को बनाया जो की Morse Code से काफी मिलता झूलता था. उनके एक दोस्त Bernard Silver ने उन्हें एक सवाल का हल ढूंडने को कहा था. और Woodland इसी बारे में सोच रहे थे .

Silver ने कहीं ये सुना था की किसी दुकान के मालिक ने Drexel University के डीन को एक ऐसे System design करने को कहा था जिससे की Grocery Checkout automatically को सके. इसी समस्या का हल ढूंडते ढूंडते उन दोनों ने सबसे पहले Barcode का आविष्कार किया था. जिससे उनके नाम में एक Patent सन 1952 बन गया था. उन्होंने उनके Method का नाम “Classifying Appratus and Method“ रखा था.

धीरे धीरे इस नयी technology को लोगों ने खूब पसंद किया. जिससे प्रेरित होकर कई company ने Barcode Technology के ऊपर काम किया. कई इसे इस्तमाल करने में कामियाब भी नहीं हो सके. लेकिन सबसे बड़ी उपलब्धि तब मिली जब सन 1966 में National Association of Food Chains (NAFC) ने इस technology का इस्तमाल automated checkout system में किया. मध्य 1970 में NAFC ने U.S Supermarket Ad Hoc Committee establish किया Uniform Grocery Product Code के ऊपर. जिन्होंने barcode को और ज्यादा develop किया और 11 digit कोड को standardized किया किसी product को identify करने के लिए. आकिर वो दिन आ ही गे जब दुनिया में सबसे पहली बार 26th June 1974 में पहला barcode स्कैन किया गया Troy, Ohio में.और समय के साथ साथ Barcode की Technology में काफी बदलाव आये और नयी नयी features भी add कर दिए गए जिससे ये और ज्यादा बेहतर और आसान हो गया इस्तमाल करने के लिए.

Types Of Barcode in Hindi

अगर हम Barcode की विभिन्न प्रकार की बात करें हो ये मुख्यत दो प्रकार के है 1D और 2D. इनमे से जो सबसे ज्यादा recognizable है वो है UPC (Universal Product Code) जो की 1D Barcode है. ये UPC के दो भाग हैं पहला Barcode है और दूसरा 12 digit UPC number. पहला 6 digit number है Manufacturer’s Idendification number. Next five digit उसके item number को represent करता है. और अंतिम का digit है check digit को की scanner को ये बताता है की scanning ठीक तरीके से हुई या नहीं.

Linear या 1D barcode सिर्फ text information ही store करता है. लेकिन यदि हम 2D barcode की बात करें तो ये text information के साथ साथ और कई information जैसे price, quantity, web address या image. एक linear Barcode Scanner 2D barcode को पढ़ नहीं सकता, इसके लिए आपको image scanner की जरुरत पड़ेगी. हमारे इस्तमाल में आ रहे device जैसे Mobile Phone जिसमे की Camera उपलब्ध इससे हम ये 2D barcode को पढ़ सकते हैं.

अभी 2D barcode काफी develop कर गया है. आजकल ये और भी ज्यादा information store कर रहे हैं. और जैसे जैसे SmartPhone Users बढ़ रहे हैं तो इनका इस्तमाल भी काफी ज्यादा हो रहा है.

Barcode कैसे काम करता है

Barcode kaise kaam karta hai

Barcode symbology और Scanner के combination को इस्तमाल कर काम करता है. सबसे पहले किसी भी Barcode को पढने के लिए Scanner का इस्तमाल होता है जो की उन Barcode के symbols को समझ उन्हें Useful Information में बदल देता है. ये Information में मुख्यत किसी item के Origin, Price, type और location के बारे में Information होता है. जब ये Scanner data read करता है तब वो automatically उन information को save कर देता है System में. इस system का इस्तमाल कर बड़े बड़े company को बहुत फ़ायदा हुआ है. उनकी हरेक चीज़ों को ट्रैक किया जा सकता है और जिसकी मदद् से उन चीज़ों को अच्छी तरह से manage किया जा सकता है.

Barcode का इस्तमाल Industry में कैसे होता है

अब तक हम ये समझ ही चुके हैं की Barcode का इस्तमाल हम कई जगह कर सकते है तो चलिए जानते हैं की इनका इस्तमाल Industry में किस प्रकार से होता है.

  • Inventory को track करने के लिए. एक इन्वेंटरी में कई products होते है और ये किसी एक के पक्ष में संभव नहीं है की वो सभी चीज़ों का हिसाब रख सके, लेकिन barcode की मदद से हम उन चीज़ों का सठिक होसब रख सकते हैं.
  • Company के asset को ट्रैक कर सकते हैं. किसी भी business में चाहे वो कितना भी बड़ा हो या छोटा हो सभी के asset (चीज़ें) fixed रहती है. और अगर हम उन asset में barcode के टैग attach कर लें तो हमें उनको track करने में आसानी होगी. उसके साथ साथ हमारी accountability भी बढ़ेगी.
  • हम Return mail में भी इसका इस्तमाल कर सकते है. हमें बस Barcode add करने है return mail registration post card में और अगर वो match कर जाता है तब हम उसे आसानी से track कर सकते हैं इसके साथ साथ customers को भी ज्यादा नंबर याद रखने की जरुरत नहीं.
  • अगर कोइ company कोई event host कर रही है तब बस हमको RSVP card में Barcode add करने की जरुरत है इससे कोन उस event में participate किया या नहीं वो पता चल जायेगा.
  • अगर हम barcode को invoices में add करें तब customer account को बड़ी आसानी से locate किया जा सकता है इससे incorrect customer account में payment apply होने की issue कम हो जाती है.

Uses of Barcode

जैसे की हमने अभी तक पाया की Barcode का इस्तमाल हम कई जगह करता है तो मैंने सोचा की क्यूँ न इसकी एक लिस्ट तैयार कर दी जाये ताकि इससे समझने में काफी आसानी होगी : –

  • Consumer Retail Goods में इसका इस्तमाल होता है.
  • Manufacturing Process Tracking (MPT) में जहाँ की हलकी और भारी equipments और vehicle को assemble किया जाता है.
  • Movement of Products supply chain में.
  • Access Control सभी चीज़ों की जैसे Building, events, concerts, train, ships , planes etc जहाँ की आने जाने में Barcode का भरपूर इस्तमाल होता है.
  • Coupons, Gift Cards, Driving Licence, Package Tracking में इनका भरपूर इस्तमाल होता है .
  • Postal ऑफिस में Speed Post को ट्रैक करने में.
  • Medicine Manufacturing में anti-counterfeiting और expiring system को रोकने के लिए.
  • Asset Tracking System में जैसे की किसी school, colleges, hospitals में जहाँ Check in /Check out की व्यवस्था हो.
  • इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड storage और retrieval में.
  • Lifecycle identification में किसी assembly lines में जहाँ की critical parts को assemble किया जाता हो.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Barcode क्या है (What is Barcode in Hindi) और ये काम कैसे काम करता है के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को Barcode क्या होता है (Barcode Definition in Hindi) और ये काम कैसे काम करता है इसके बारे में समझ आ गया होगा. मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख Barcode क्या है और ये काम कैसे काम करता है कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

आइये आप भी इस मुहीम में हमारा साथ दें और देश को बदलने में अपना योगदान दें.

20 COMMENTS

  1. बहोत ही सटीक जानकारी दी है आपने बारकोड के बारे मे
    मुझे बहोत सहायता मिली इसके बारे मे जानकार धन्यबाद

  2. मेरी किराना दुकान है जिसमें मै बार कोड़ीइंग इस्तमाल करना चाहता हूं मेरी दुकान कई ब्रांड एवम् अनब्रांडेड समान है कृपया जानकारी दे।

  3. Hello, sir
    Meri ek micro industry h jo ki incense sticks ka manufacture krti h, mujhe apni product ko market me sale krne ke liye barcode ki aavsykta h,
    Please meri help kijye
    Thanks Sir

  4. Hello sir.I would like to know that how a big medical store can be run smoothly by adding barcode system and what will be actual cost.please give your valuable opinion

  5. जी बहुत बढिए जानकारी दी अपने बारकोड के बारे में पर में यहाँ पर जानना चाहूँगा बार कोड कैसे बनाते है मतलब हम अपने किसी स्टॉक के लिए बार कोड बनाये तो कैसे बनाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.