Computer Hardware क्या है और कितने प्रकार के हैं?

क्या आपको पता है के Computer Hardware क्या है (What is Hardware in Hindi)? अगर आप इन्ही सवालों को ढूंडते हुए आए हैं तो आप बिलकुल सही जगह पे हैं. आपको पता ही होगा Computer में मुख्य रूप से दो Parts होते हैं एक तो Software और दूसरा Hardware. Software जिनको Computer Program भी कहते हैं. सॉफ्टवेर जिनको आप हर रोज अपने mobile और computer में use करते हैं. Software के EX- VLC, Chrome, Internet Explorer, MS-WORD, MS-POWERPOINT, Photoshop, pdf reader और Operating System (Android, Windows, MAC, UNIX).

क्या कभी आप सोचे हैं, ये सारे “Software बिना Hardware के कुछ भी नहीं हैं”. एक बार सोचो बिना Keyboard के आप MS-WORD में कैसे लिखोगे. बिना Mouse के Photoshop में Edit भी नहीं कर सकते. pdf book को कहीं hard disk में Store ही नहीं करगे तो Adobe Reader से पढोगे कैसे. तो सायद मेरी बातें आपको थोड़ी बहुत समझ आ रही हैं. Keyboard, Mouse, hard disk, Monitor, Motherboard, CPU, UPS, Speaker ये सभी एक एक Hardware हैं.

बीना Hardware के तो हम कभी Computer की छबी के बारे में भी सोच ही नहीं सकते. चलिए अब विस्तार से जानते हैं के कंप्यूटर हार्डवेयर क्या होता है.

कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है (What is Computer Hardware in Hindi)

Computer Hardware Kya hai Hindi

Hardware को HW या H/W भी बोलते हैं. HW Computer का वो हिसा है जिसे हम देख भी सकते हैं और छु भी सकते हैं. अगर हम पुरे सठिक तरीके से वर्णन केरे तो यह Computer का Physical Component है, और इस Component में circuit board, ICs, और दुसरे electronics होते हैं. इसक पूरा सठिक उदहारण है, जो आप अभी Screen पे जो मेरा लेख पढ़ रहे हैं, वो screen Computer, Tablet, Mobile में से किसीकी भी हो सकती है. एक कंप्यूटर में जितने भी Input, Output, Processing और Storage devices है वो सभी एक एक HW हैं.

किसी भी हार्डवेयर के बिना, आपका कंप्यूटर मौजूद नहीं है, और इसके बिना नाही आप कोई सॉफ़्टवेयर का उपयोग कर सकते है. अगर SW Computer की आत्मा है तो फिर आपका शारीर Computer का Hardware है. परंतु हकीकत में Hardware से कुछ भी कार्य करवाने के लिए हम Software का उपयोग करते हैं. आगर आपको Computer में गाना सुनना है, तो एसा नहीं की आप Computer को बोलोगे और गाना Play हो जाएगा. इसके लिए Windows Media Player या VLC (ये दोनों सॉफ्टवेर हैं) में जब गाना Paly करोगे तभी वो Speaker पे वो गाना PLAY होगा. मतलब hw को sw के माध्यम से नियंत्रण किया जाता है.

Types of Hardware in Hindi

दो प्रकार के system आप देखे होंगे 1. Laptop 2. Desktop. Laptop के सारे physical components जुड़े हुए रहते हैं. मगर desktop के components अलग अलग आते हैं. लेकिन hw लगभग दोनों में एक जैसे होते हैं. चलिए इन Hardware के प्रकार और Examples के बारे में जानते हैं.

Keyboard

यह एक Input device है. इस Hardware के बिना तो कंप्यूटर में कुछ डाटा ENTER भी नहीं कर सकते हैं. इसी के मदद से हम Computer के सारे लिखने वाले कार्य कर सकते हैं. आप जो अभी पढ़ रहे हैं वो भी इसी के Keyboard से लिखा गया है. इस electronics Devices देख भी सकते हैं और छु भी सकते हैं. सबसे ज्यादा इस्तमाल किए जाने वाले devices में से यह एक है. इसके अंदर भी दूसरे Hw component होते हैं. इस device USB Port में लगाया जाता है.

Mouse

इसे pointing device और Cursor Moving Device के नाम से भी जाना जाता है. एक Mouse में 2 या 3 button हो सकते हैं. जेसे की दायां , बायां , और मध्य button (Left key, Right key, Middle key Roller). ये सभी एक एक HW हैं. Mouse को Flat Surface पे या Mouse Pad पे रखा जाता है. Cursor को Control करने के लिए इसका इस्तमाल किया जाता है.

Scanner

यह एक कंप्यूटर का बहारी HW है. Scanner का प्रयोग करके लिखित कागजात और तस्वीरों को digital चित्र में परिवर्तित कर memory में सुरक्षित रखा जा सकता है. Scanner के जरिये documents को भी scan कर कंप्यूटर में स्टोर किया जा सकता है. इसे Extenal H/W कहते हैं.

Monitor

यह एक electronic device है जो की कुछ Computer में output दिखाने के लिए किया जाता है. यह बिलकुल एक T.V के तरह दीखता है. एक बड़ा और बढ़िया display resolution हमे अछि तस्वीर दिखाता है. ये Hardware LAPTOP में छोटा साइज़ का होता है और Desktop में थोडा बड़ा होता है.

CRT Monitor :- ये भारी और बड़े होते हैं और बहुत deskspace और electricity इस्तमाल करते हैं. यह सबसे पुरानी इस्तमाल किये जाने वाली technology है. यह cathode ray tube technologyआधारित है जोकी television के लिए बनाए गए थे.मगर ये monitor आज कल नहीं चलते.

LCD Monitor :- एक तरीके का flat panel display है. ये CRT के मुकाबले नयी तकनीक है. ये monitors कम desk space इसतमाल करते हैं. यह कम वजन के होते हैं. यह monitors कम electricity इस्तमाल करते हैं. एक अरसे से यही monitors का इस्तमाल किया जा रहा है laptops और notebook computers पे, ये touchscreens का भी काम करते हैं tablet computers, mobile phones पे.

Speaker

यह भी External Hardware हैं. इसके इस्तमाल से हम ध्वनि सुन सकते हैं. यह ध्वनि के रूप मे output देता है. आज कल ये system में inbuilt रहता है.

Printer

External HW. Printer एक output device है जो computer से प्राप्त जानकारी को कागज पर छापता है कागज पर output की यह प्रतिलिपि hard copyकहलाती है computer से जानकारी का output बहुत तेजी से मिलता है और printer इतनी तेजी से कार्य नहीं कर पाता. इसलिये यह आवश्यकता महसूस की गयी कि जानकारियों को printerमें ही store किया जा सके इसलिये printerमें भी एक memory होती है जहाँ से यह परिणामों को धीरे-धीरे print करता है.

Motherboard

यह hw, कंप्यूटर का मुख्य भाग है. इसे देखने के लिए आपको Computer को खोलने की आवश्यकता है. यह एक Board है जिसको PCB (Printed Circuit Board) कहते हैं. यह board Computer के अलग अलग Components को पकडके रखता है. और वो सारे Components हैं CPU, RAM, Hard Disk, smps port, Graphics card.

CPU (Microprocessor)

CPU जीसका पूरा नाम है Central Processing Unit. ये खुद एक Hardware नहीं है इसके अंदर कई सारे छोटे बड़े Hardware हैं. इसे कंप्यूटर का मस्तिस्क भी कहते हैं. ये Computer को Control करता है. जैसे हमारा दिमाग हमें जो बोलता है वही हम करते हैं. मुख्य रूप से इसके 3 Components हैं ALU, CU और MU. ALU जिसे Arithmatic और Logical Unit कहते हैं. CU Control Unit और MU Memory Unit. ALU arithmetic calculation जैसे Addition, Subtraction, Multiplication और Division. LU Comparison Operation Perform करता है. जैसे Less than, greater than, equal to और Not equal to. MU में Primary और Secondary Memory होते हैं.

RAM

RAM का पूरा नाम है Random Access Memory. इसको Direct Access Memory भी बोला जाता है, यह Memory ज्यादा तौर पर Computer में Secondary Memory की तुलना में कम Size की होती है. जैसे आपके Mobile में यह 1GB, 2GB, 3GB, 4GB तक होती है. यह Electromagnetic Disk है. यह hw Rectangle shape में होती है.

Expansion cards

Graphics Cards- यह HW कार्ड जैसे दीखता है, इसे MOTHERBOARD में Insert किया जाता है. Graphics card का इस्तमाल monitor पे Image Rendering/ Produce करने के लिए किया जाता है. Data को कुछ इस तरह Convert करता है और Signals Generate करता है जिसे आपका Monitor आसानी से समझ जाता है. जितना बहतर Graphics Card होगा उतनी अछि Image Produce होती है. Gamer’s और Video Editor प्रिय लोगों के लिए Graphics Card होना जरुरी है. यह Motherboard में लगाया जाता है. इसका आकार एक चिप जैसे होता है.
Sound card-इसका दूसरा नाम है audio output device, sound board, or audio card. Sound card एक expansion card और IC है. धवनी निकालने में मदद करता है. जिसको हम speakers और headphones के द्वारा सुन सकते हैं.

SMPS

SMPS hardware का पूरा नाम है Switch Mode Power Supply. ये एक Electronic Circuit है. अगर Desktop के लिए अगर अलग से खरीदो गे तो आपको वो कुछ Square शेप का डबा मिलेगा वही SMPS है. ये Device Computer के अलग अलग हिस्सों को Power देता है जैसे की RAM, Motherboard, Fan को को power supply देता है. वैसे तो Motherboard से अलग अलग हिसों तक बिजली ज्याती है.

Hard disk drive (HDD)

HDD यह एक Data Storage Hardware Device है. Computer या Laptop के अंदर रहता है. जितने files या data या फिर कंप्यूटर प्रोग्राम इसके अंदर Store होता है. OS भी इस HDD में स्टोर होता है. इस memory को C drive के नाम से भी जाना जाता है. partition के बाद C, D, E Drive भी बनाई जाती हैं. hard drive, hard disk, fixed drive, fixed disk, and fixed disOptical drives से डाटा retrieve करके और डाटा को optical discs like CDs, DVDs, and BDs (Blue-ray discs), में Store करता है. इनकी Storage capacity बहुत ही ज्यादा होती है.

DVD DRIVE

DVD Drive हर Desktop और Laptop के CPU में INSTALL किया जाता है . जिनको Optical Drive भी कहते हैं. dvd drive के कुछ दुसरे नाम भी हैं Disc drive, Odd, CD Drive, DVD Drive. इनका इस्तमाल digital data को Store करने के लिए किया जाता है. DVD, CD में जो DATA मोजूद है उसे Computer में Play करने के लिए इसका इस्तमाल किया जाता है.

Relationship between Hardware and Software in Hindi

  • Hardware और Software अपसा में एक दुसरे पे निर्भर रहते है. सठिक Output देने के लिए दोनों (sw और hw) एक जुट होक कार्य करते हैं.
  • HW के बिना Support के sw को use करना impossible है और इस तरह sw बिना Hw का इस्तमाल करना नामुमकिन है.
  • hw को set of Program के बिना इस्तमाल करना ना के बराबर है
  • Computer में कोई भी कार्य करने के लिए सबसे पहले सॉफ्टवेर को हार्डवेयर में लोड करवाना अति आवस्यक होता है.
  • Hardware को एक ही बार खरीद ने की आवश्यकता है.
  • Software को बनाने में और maintenance करने में काफी खर्चा आता है.
  • एक ही hw से अलग अलग तरह के job को करने के लिए, कई अलग software को Install किया जाता है. (एक मॉनिटर H/W पे Movie, word, Paint, editing जैसे कई Task कर सकते हैं लेकिन हमें अलग अलग S/W को Install करने की आवश्यकता है)
  • H/w और User के बिच में sw Interface का काम करता है.

तो कहने का एक ही तत्वार्य था दोनों एक दुसरे के बिना कुछ भी नहीं है. एक computer में hw की जितनी जरुरत होती है उतनी ही S/W की भी होती है.

Hardware का भाबिस्यत

जब पहला कंप्यूटर बनाया गया था उसके सारे Components अलग अलग कमरों में थे और cables के द्वारा उन्हें जोड़ा जाता था. इसके बाद जो कंप्यूटर बने उनका आकार और छोटा किया गया, इसी वजह से HW का SIZE भी छोटे हो गया. VLSI (Very Large Scale Integration) और LSI (Large Scale Integration) Technology की मदद से इन Hardwares को ओर छोटा कर दिया गया. अब technology के कारण Computer का Size एक घडी के बराबर हो गया है. ULSI, Nano technology, microprocessor की मदद से अब ओर छोटे से छोटे size के HW बनाए जा रहे हैं.

मेरी अंतिम राय इस लेख पे

हमेसा से मेरी कोसिस रहती है की आपको सही और सठिक और पूर्ण Inforamtion आपको मिले. आप आज सायद ये सब सीखे Computer Hardware क्या है (What is Hardware in Hindi). सच कहूँ तो हम Hardware से घिरे हुए हैं. क्यूंकि इन्होने हमारी जिंदगी आसान और सरल बनादी है. कभी आप ने एसा सोचा है आपका मोबाइल और Computer कैसा होगा ? इसका जवाब है वो होगा ही नहीं तो सोचोगे. हम कंप्यूटर को छु के महसूस कर सकते है लेकिन सॉफ्टवेर को कभी नहीं.

दिन प्रति दिन sw ज्यादा memory लेने लगे हैं और HW का SIZE छोटा हो रहा है. आपसे यही उमीद है सायद ये लेख आपको पसंद आया होगा, कैसा लगा आप जरुर निचे बताइए. अगर अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे. कोई सुझाव या सलाह देना चाहते हो तो जरुर दीजिये जो हमारे लिए काफी उपयोगी होगा जी. हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें आपको हनारी जानकरी आपको सबसे पहले मिले. मस्त रहें और खुस रहें. चलो बनायें Digital India जय हिंद, जय भारत, धन्यबाद.

Hindi Me Jankari

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here