तहसीलदार (Tehsildar) कैसे बने?

तहसीलदार कैसे बना जाता है? क्या आप Graduate हैं और अपने लिए कोई अच्छी नौकरी की तलाश कर रहे हैं. आज इस पोस्ट में हम आपके लिए Graduation final करने के बाद एक बहुत ही अच्छी सरकारी नौकरी के बारे में बताएंगे. वैसे तो ग्रेजुएशन फाइनल करने के बाद बहुत से सरकारी नौकरियां की Vacancies आती रहती है लेकिन आज हम जिस नौकरी के बारे में बताने जा रहे हैं वह उन सभी में एक बेहतर विकल्प है.

उस नौकरी का नाम है तहसीलदार. यदि आप ग्रेजुएट पास हैं तो आप भी पा सकते हैं नायब तहसीलदार की नौकरी. आज इस पोस्ट में आप जानेंगे तहसीलदार कैसे बनें, तहसीलदार बनने के लिए क्या क्या Eligibility Criteria है. तहसीलदार का क्या कार्य है. तथा तहसीलदार की नौकरी करने के लिए कुछ जरूरी टिप्स. तो चलिए सबसे पहले जान लेते हैं कि तहसीलदार का काम क्या है?

तहसीलदार का क्या काम होता है?

tehsildar kaise bane hindi

तहसीलदार किसी तहसील का प्रभारी अधिकारी होता है. तहसीलदार का कार्य होता है Revenue collect करना, अपने sub coordinator को Guide करना, Revenue records maintain करना, Sub Divisional officers को Report देना, तथा अन्य अधिकारियों के साथ बैठक करना आदि. यदि आप भी किसी तहसील का प्रभारी अधिकारी या तहसीलदार बनना चाहते हैं तो आपको Graduation पास होना आवश्यक है.

नायब तहसीलदार की पोस्ट के Administrative post है जो State Government के Revenue department के अन्तर्गत तहसील लेवल पर होती है. इस नौकरी के लिए समय समय पर नई नई Notification जारी की जाती है. आप इसकी जानकारी दैनिक समाचार, Newspaper, Web Portal या Mobile Application से ले सकते हैं.

तहसीलदार बनने के लिए योग्यता

नायब या डिप्टी तहसीलदार बनने के लिए आपको Graduate होना जरूरी है. साथ ही यह भी जरूरी है कि जिस क्षेत्र के लिए आप नायब या डिप्टी तहसीलदार बनना चाहते हैं उस क्षेत्र की Local language में आपको अच्छी पकड़ होनी चाहिए.

तहसीलदार बनने के लिए आवश्यक आयु सीमा

वैसे तो अलग-अलग राज्यों के लिए तहसीलदार होने के लिए अलग-अलग आयु सीमा निर्धारित की जाती है लेकिन सामान्यतः तहसीलदार बनने के लिए आवश्यक आयु सीमा 21 से 42 वर्ष के बीच होना चाहिए. वहीं Reserve Category के Candidate के लिए सरकार के नियमानुसार 5 साल का Relaxation भी दिया जाता है.

नायब तहसीलदार का सिलेक्शन कैसे होता है?

नायब तहसीलदार के पोस्ट पर कैंडिडेट का Selection, State civil service exam के माध्यम से होता है. State civil service exam तीन Phases में होता है.

1. Preliminary Exam

तहसीलदार बननें के लिए परीक्षा के पहले चरण के अंतर्गत Preliminary Exam पास करना होती है, इस Exam को पास करने के बाद Candidate को Mains Exam में सम्मिलित किया जाता है.

2. Mains Exam

तहसीलदार बनने के लिए Mains Exam भी Preliminary Exam के जैसे ही लिया जाता है लेकिन यह परीक्षा Preliminary Exam से कठिन होता है. इसमें थोड़े कठिन सवाल पूछे जाते हैं. इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको सही मार्गदर्शन तथा कठिन परिश्रम करने की आवश्यकता होती है.

3. Interview

Mains Exam पास करने के बाद Candidate का Interview लिया जाता है. इस परीक्षा में Candidate के योग्यता का आकलन किया जाता है और यह देखा जाता है कि Candidate पूछे गए प्रश्न का उत्तर संतोषजनक दे पाता है या नहीं. इन तीनों Phases को पास कर लेने के बाद Candidate को State Government के Revenue department में किसी तहसील या तालुका में नियुक्त कर दिया जाता है.

नायब तहसीलदार की पगार

नायब तहसीलदार को 9400 रुपए से लेकर 34800 रुपए सैलरी के साथ 4600 रुपए Grade Pay के अनुरूप सैलरी दी जाती है. इसके अलावा सरकार के तरफ से इन्हें अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं. वहीं अलग अलग राज्यों में निर्धारित सैलरी और लागू वेतनमान के अनुसार उन्हें Salary दिया जाता है.

तहसीलदार बनने के लिए क्या करे

यहां हम तहसीलदार बनने के लिए कुछ जरूरी टिप्स बता रहे हैं. जो कि आपको तहसीलदार बनने में सहायता करेंगे.

1. पहले लक्ष्य स्थिर करें

यह तो आप भी जानते हैं कि किसी चीज को हासिल करने के लिए लक्ष्य निर्धारित करना बहुत आवश्यक है. आपका लक्ष्य एकदम सटीक होना चाहिए. ऐसा न हो आप तहसीलदार बनना चाहते हों और आपका लक्ष्य कुछ और हो. आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु दिल लगाकर मेहनत करें.

2. तहसीलदार की परीक्षा के लिए तैयारी करें

यदि आपने तहसीलदार बनने के लिए लक्ष्य बना लिया तो अब जरूरी है तहसीलदार बनने के लिए होने वाले परीक्षाओं को पास करना. इसके लिए आप अपने समय के अनुसार पढ़ाई करने के लिए सही Time Table निर्धारित करें. यदि आप प्रतिदिन निश्चित रूप से प्रत्येक विषय की तैयारी करेंगे तो जल्द ही Exam का Syllabus पूरा हो जाएगा.

इसके बाद पढ़े गए चीजों को Revise करने की आदत डालें. हो सकता है शुरुआत के कुछ दिनों में आपको Time Table के अनुसार पढ़ना थोड़ा कठिन लगे लेकिन फिर भी अपनी योजना में परिवर्तन न करें. धीरे धीरे आपकी यह परेशानी दूर हो जाएगी.

3. परीक्षा की जरुरत को समझें

परीक्षा पास करने के लिए आपको यह पता होना चाहिए कि परीक्षा में कैसे प्रश्न आते हैं. आपको तहसीलदार के परीक्षा का Pattern समझना बहुत जरूरी है. इसके लिए आप पिछले वर्षों के Question हल कर सकते हैं या Set Practice कर सकते हैं. इससे आपको एग्जाम पैटर्न अच्छे से समझ आ जायेगा.

4. सभी जरुरी विषयों पर ध्यान दें

नायब तहसीलदार की परीक्षा में बहुत से प्रश्न General knowledge, Current Affairs आदि से सम्बंधित पूछे जाते है, इसलिए आपको प्रतिदिन Newspaper, News, Magazines पढ़ना आवश्यक है. इससे आप देश विदेश में हो रहे विभिन्न प्रकार के घटनाओं तथा समाचारों से अवगत भी रहेंगे.

5. Latest Technology का उपयोग करें

आज हर किसी के पास Smartphone है तथा हर लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं. आप इन्टरनेट की सहायता से प्रतिदिन की Current Affairs, तथा वर्तमान में घटित होनें वाली घटनाओं के बारें में जान सकते है, जो परीक्षा के लिए बहुत आवश्यक है.

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख तहसीलदार कैसे बने जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को तहसीलदार बनने के लिए क्या करे के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप निचे comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post तहसीलदार बनने के लिए योग्यता पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here