ट्री टोपोलॉजी किसे कहते हैं?

Tree Topology एक प्रकार की Network Topology है, जिसमें सभी Nodes आपस में इस तरह से जुड़े रहते है की यह एक तरह के पेड़ की तरह दिखाई देता है। ट्री टोपोलॉजी Star Topology और Bus Topology का एक संयोजन है। 

Tree Topology को कंप्यूटर को Corporate Network में या डेटाबेस में जानकारी को उचित रूप में रखने के लिए उपयोग किया जाता है। यह Bus Topology और ट्री टोपोलॉजी का विस्तार है जिसे विस्तारित स्टार टोपोलॉजी के रूप में भी हम जान सकते है।

ट्री टोपोलॉजी की परिभाषा

ट्री टोपोलॉजी एक विशेष प्रकार का structure होता है जिसमें की बहुत से elements एक साथ जुड़े हुए होते हैं, लेकिन हाँ ये दिखने में एक पेड़ के टहनियों के तरह प्रतीत होते हैं।

tree topology kya hai hindi

सभी टोपोलॉजी में Tree Network Topology सबसे सरल होती है। आमतौर पर Tree Topology इस्तेमाल की जाने वाले नेटवर्क टोपोलॉजी नहीं है।  लेकिन अभी भी कुछ परिस्थितियों में इसका पालन किया जाता है जिसमें नेटवर्क पर दों Nodes के बीच एक ही Route होता है।

इस टोपोलॉजी में पदानुक्रम (Hierarchy) में 3 विशिष्ट स्तर भी होते है। मुख्य रूप से Tree Topologies को Troubleshooting के लिए उनकी मापनीयता और समस्या निवारण के तौर पर महत्व दिया जाता है।

Tree Topology में Hub सेंट्रल बस से कनेक्ट रहते है।  हर एक Node एक Point से Point तक जुड़ा रहता है यानि की प्रत्येक Node एक Concentrator (सांद्रक) या एक Hub से जुड़ा होता है। Tree Network के विस्तार के लिए एक और हब और केबल Attach करना होता है।

ट्री टोपोलॉजी के उदाहरण

ट्री टोपोलॉजी को कुछ उदहारण से भी समझा जा सकता है।

  • छोटे आकार के कंप्यूटर नेटवर्क से मध्यम आकार के कंप्यूटर नेटवर्क
  • बी पेड़ (B-trees)
  • केबल टीवी नेटवर्क

कंप्यूटर नेटवर्क में ट्री टोपोलॉजी

Computer Network में ट्री टोपोलॉजी को Star Bus Topology के रूप में जाना जाता है। आगे आपको एक Tree Topology का Example Network Diagram (उदाहरण नेटवर्क आरेख) बताया गया है। जिसमें 2 Star Network के Central Node एक दूसरे से कनेक्ट रहते है।

दो स्टार टोपोलॉजी नेटवर्क के बीच में जो मुख्य केबल होती है।  उसके विफल होने पर नेटवर्क एक दूसरे के साथ Communicate नहीं कर पाते है। अब भी Same स्टार टोपोलॉजी पर कंप्यूटर Communicate करने में सक्षम है।  

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में ट्री टोपोलॉजी

Tree Topologies कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में विभिन्न तरह के Data को Structure कर सकती है जिसमें कंप्यूटर प्रोग्राम भी आता है।  

जैसे यह Lisp में लिखा गया एक Computer Program होता है।   

(+ 1 2 (If (> P 10) 3 4))

इस प्रोग्राम में बताया गया है की “अगर P 10 से बड़ा है तो 1, 2, और 3 संख्या को जोड़ना होगा या फिर 1, 2, और 4 को जोड़ना होगा”। 

इसके अंतर्गत Tree Topology Structure मौजूद है। अगर हम इसे एक ग्राफ के रूप में समझे तो यह नीचे दिखाए गए पेड़ की तरह दिखता है। 

यह स्पष्ट रूप में समझाता है की सभी ऑपरेशन और डेटा किस तरह से कनेक्ट है।  

इस तरह के Structure में Programs का एक खास रूप में उपयोग होता है। इसे एक उदाहरण से समझते है- Genetic Programming Techniques (आनुवंशिक प्रोग्रामिंग तकनीकें) पेड़ों के रूप में जो मौजूद Program Structure है, उनके मध्य शाखाओं का आदान-प्रदान करने के बाद नए Computer Programs विकसित कर सकती हैं।

ट्री टोपोलॉजी के लाभ (Advantages)

यहाँ आपको ट्री टोपोलॉजी के लाभ बताये जा रहे है। 

  • इस टोपोलॉजी में एक पदानुक्रमित और साथ ही Node की Central Data को Arrange किया जाता है।
  • इसमें गलती को ढूँढना और रखरखाव करना आसान है।
  • Tree Topology बस और स्टार टोपोलॉजी का सयोंजन है।
  • यह बहुत ही लचीली टोपोलॉजी है और बेहतर मापनीयता भी इसमें होती है
  • Leaf Nodes पदानुक्रमित श्रृंखला में एक से ज्यादा Nodes को जोड़ा जा सकता है।
  • एक के क्षतिग्रस्त होने पर अन्य नेटवर्क प्रभावित नहीं होते हैं।
  • इसे विभिन्न तरह के Hardware और Software विक्रेताओं द्वारा Support किया गया है।
  • इसमें अलग-अलग Segments के लिए Point-to-Point वायरिंग होती है।
  • Tree Topology हब/स्विच के द्वारा जुड़ी हुई है साथ ही इसमें बस और स्टार टोपोलॉजी की अपेक्षा बेहतर सुरक्षा है।
  • इसको Manage और Maintain करना बहुत ही सरल है।

ट्री टोपोलॉजी के हानि (Disadvantages)

ट्री टोपोलॉजी के नुकसान क्या है यह हम आगे जानेंगे।  

  • इसमें एक खंड (Segment) की लंबाई सीमित होती है और जो Segment Limit उपयोग की जाती है उसके प्रकार पर निर्भर करती है।
  • अगर Hub फेल होता है तो पर पूरा नेटवर्क फेल हो जाता है।
  • इसमें बड़ी Cabling की आवश्यकता होती है।
  • Nodes ज्यादा संख्या में होने की वजह से Tree Topology का Network Performance धीमा होता है।
  • Tree Network को Configure करना बहुत ही कठिन है।
  • ट्री टोपोलॉजी Main Bus Cable पर निर्भर होती है Main Bus Cable में समस्या आने पर पूरा नेटवर्क विफल हो जाता है।
  • अगर First Level के कंप्यूटर में कोई त्रुटि है तो Next Level के कंप्यूटर भी समस्या से घिर जाते है।

Binary Tree में ट्री टोपोलॉजी 

Binary Tree भी एक तरह की Tree Topology है।  जिसमें प्रत्येक Node में अधिकतम दो Children Nodes होते है।  Child Nodes को “Left Child” और “Right Child” के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।  बड़ी मात्रा में डेटा Sorting और Searching के लिए इस तरह के Data Structure उपयोग किये जाते है।  

B-trees के बारे में 

B-tree बाइनरी ट्री का एक प्रकार है।  1971 में Rudolf Bayer और Ed Mccreight ने Boeing Labs में इसका आविष्कार किया था। 

B-trees स्व-संतुलन यानि की Self-balancing होते है।  जिसका मतलब यह है की शाखाओं की ऊंचाई Manage की जाती है जिससे की वह अपने हिसाब से बड़े ना हो। 

हर एक Node में एक Key Value होती है जो की Children Nodes की Value को इंगित करता है। बड़ी Data Files को Handle करने और मेमोरी या डिस्क पर डेटा लिखने के लिए उनकी डिज़ाइन अनुकूलित है।

वे डेटाबेस सिस्टम जैसे – Postgresql, Mysql, Redis और फाइल सिस्टम Hfs+, Ntfs, और Ext 4 में उपयोग किए जाते हैं।

ट्री टोपोलॉजी किसे कहते है ?

Tree Topology एक Network Topology है। जिसमें सभी Nodes इस तरह से जुड़े रहते है की यह एक पेड़ की तरह दिखाई देता है।

यह टोपोलॉजी किसके संयोजन से बनती है ?

ट्री टोपोलॉजी Star Topology और Bus Topology के संयोजन से बनती है।

Computer Programming में ट्री टोपोलॉजी क्या है ?

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में Tree Topologies विभिन्न तरह के Data को  Structure कर सकती है। जिसमें कंप्यूटर प्रोग्राम भी आता है।

आज आप ने क्या सिखा?

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को ट्री टोपोलॉजी क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी। और में आशा करता हूँ आप लोगों को ट्री टोपोलॉजी के बारे में समझ आ गया होगा.

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा.

आपको यह लेख ट्री टोपोलॉजी के लाभ कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Previous articleSquid Game Web Series Download Leaked on TamilRockers to Watch Online
Next articleम्यूचुअल फंड की जानकारी
नमस्कार दोस्तों, मैं Prabhanjan, HindiMe(हिन्दीमे) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We HindiMe Team Support DIGITAL INDIA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here