हाइब्रिड टोपोलॉजी किसे कहते हैं?

Hybrid Topology दो या दो से ज्यादा नेटवर्क टोपोलॉजी से मिलकर बनती है। जिनमें – Bus Topology, Mesh Topology, Ring Topology, Star Topology शामिल होती है। जैसे की अगर Star या Ring Topology को मिलाकर एक बड़ा नेटवर्क बनाया जाये तो यह हाइब्रिड टोपोलॉजी कही जाएगी। 

Hybrid Topology उपयोगकर्ताओं, स्कूल या व्यवसाय की आवश्यकता के आधार पर उपयोग की जाती है। इसमें वांछित नेटवर्क प्रदर्शन, कंप्यूटरों की संख्या, उनका स्थान सभी Factors होते है।

हाइब्रिड टोपोलॉजी की परिभाषा

हाइब्रिड टोपोलॉजी दो टोपोलॉजी का संयोजन होती है। इसके Physical Implementation (भौतिक कार्यान्वयन) के लिए विभिन्न तरह की तकनीक जरुरी होती है इसकी संरचना बहुत ही जटिल होती है।

hybrid topology kya hai hindi
हाइब्रिड टोपोलॉजी का चित्र

कंप्यूटर नेटवर्क में विभिन्नता को पूरा करने के लिए हाइब्रिड टोपोलॉजी महत्वपूर्ण होती है। इस टोपोलॉजी के अंतर्गत सारे नेटवर्क सेक्शन में प्रत्येक Network Topology का कॉन्फिगरेशन रहता है।

हाइब्रिड नेटवर्क का उपयोग 

कुछ ऐसे कारण है जो कोई संगठन हाइब्रिड टोपोलॉजी को चुनने का निर्णय लेते है। 

जिसमें नेटवर्क के विकास में लचीलापन हो और आसानी, वहां इसकी आवश्यकता होती है। 

नेटवर्क का विकास तब होता है जब मौजूदा नेटवर्क में ज्यादा नेटवर्क नोड्स जोड़े जाए और हाइब्रिड टोपोलॉजी से नेटवर्क में नए नोड्स को जोड़ना बहुत ही सरल है क्योंकि इससे बुनियादी नेटवर्क स्तरों (Basic Network Levels) के साथ ही मुख्य नेटवर्क में बदलाव करना भी आसान है। 

हाइब्रिड टोपोलॉजी नेटवर्क का उपयोग क्यों करते है?

Hybrid Topology के अनुप्रयोग (Applications) और उदाहरण तेज गति से बढ़ रहे है। इस टोपोलॉजी में एक Super-power Set के साथ ही लचीला विकल्प होता है जिसे की Smart Option के रूप में स्पष्ट किया गया है। जिसकी वजह से इसे घर या ऑफिस में उपयोग किया जाता है। 

छोटे उद्योगों के लिए इस टोपोलॉजी का इस्तेमाल करने के साथ ही उनके Subunits के लिए एक Compact दिया गया होता है। इसमें हम चुन सकते है की Hub या Switch की तरह Backbone Network क्या होगा और Network Segments को भी चुन सकते है जो इसके Topological Configuration की वजह से अलग होते है।

Network Segment के लिए Hybrid Network में पूरा Computer Networking System मुख्य बैकबोन पर आश्रित है। जो की Network Segments से कनेक्ट रहता है। हाइब्रिड नेटवर्क के Setup करने में किसी जटिल संरचना का होना जरुरी नहीं है जिससे समय की और श्रम की बचत होती है। 

Normal Basic Topologies (सामान्य बुनियादी टोपोलॉजी) Setup और नेटवर्किंग टूटने पर बहुत नुकसान उठाना पड़ जाता है। जिसे हाइब्रिड नेटवर्क द्वारा हल कर सकते है। Network Programmers द्वारा हाइब्रिड टोपोलॉजी को इसलिए विकसित किया जाता है की प्रत्येक टोपोलॉजी की ताकत और कमजोरी को कम किया जा सके। 

हाइब्रिड टोपोलॉजी के उदाहरण 

हाइब्रिड टोपोलॉजी विभिन्न स्थानों में प्रयोग की जाती है। 

  • ऑफिस में    
  • स्कूलों में 
  • बैंकों में
  • व्यापार में  
  • अनुसंधान संगठन(Research Organizations)  
  • बहुराष्ट्रीय कार्यालय(Multinational Offices) 
  • विश्वविद्यालय परिसरों में 
  • स्वचालित उद्योग (Automated Industry)

हाइब्रिड नेटवर्क टोपोलॉजी के प्रकार 

यहाँ हाइब्रिड टोपोलॉजी के प्रकारों के बारे में चर्चा की गई है। 

1. Star-ring Hybrid Topology Star Topology के Structure को स्टार टोपोलॉजी और रिंग टोपोलॉजी दोनों के उपयोग से बनाया जाता है। Wired Connection के उपयोग से प्रत्येक स्टार टोपोलॉजी को रिंग टोपोलॉजी से जोड़ा जाता है। 

एक Connecting Node के द्वारा डेटा स्टार टोपोलॉजी से मूल रिंग टोपोलॉजी में पहुँचता है। डाटा का प्रवाह Unidirectional Or Bidirectional (द्विदिश) विधी से होता है। 

डेटा प्रवाह की द्विदिश विधि यह निश्चित करती है  मूल रिंग टोपोलॉजी का एक नोड अगर विफल हो जाता है तो इसका डेटा प्रवाह के पूरे नेटवर्क पर कोई असर नहीं होगा।

2. Star-bus Hybrid Topology – Star-bus Hybrid Topology दो टोपोलॉजी स्टार टोपोलॉजी और बस टोपोलॉजी से मिलकर बनती है। Bus Topology दो या दो से ज्यादा स्टार टोपोलॉजी को Wire Connection के दवारा एक दूसरे से जोड़ता है। मूल बस टोपोलॉजी एक रीढ़ की हड्डी की संरचना (Backbone Structure) प्रदान करती है जो की Wired Connection के रूप में होता है।

3. Hierarchical Network Topology – Hierarchical Network Topology को ट्री टोपोलॉजी भी कहते है। यह एक पदानुक्रमित पेड़ के रूप में डिज़ाइन किया गया है। इसके न्यूनतम स्तर जैसे दो से अधिकतम स्तर व अधिकतम और शीर्ष-स्तर को रूट या पैरेंट नोड कहते है। 

Hierarchical Network Topology (पदानुक्रमित नेटवर्क टोपोलॉजी) के अगले स्तर में चाइल्ड नोड को शामिल किया गया है। यह चाइल्ड नोड को स्तर तीन के रूप में लौटाता है।  

हाइब्रिड टोपोलॉजी के लाभ (Advantages)

इस टोपोलॉजी के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के लाभों को जोड़ा जाता है। 

  • यह टोपोलॉजी बहुत ही लचीली है।
  • यह Traffic को बड़ी मात्रा में Handle करता है।
  • जरुरत पड़ने पर इसमें संशोधन किया जा सकता है।
  • Hybrid Topology के Scalable (मापनीय) होने की वजह से नेटवर्क के आकार को बढ़ा भी सकते है।
  • त्रुटि का पता लगाना और और समस्या निवारण करना बहुत ही आसान है।
  • इस टोपोलॉजी में विभिन्न Networks के बीच डाटा का Transfer आसानी से किया जा सकता है।
  • बड़े नेटवर्क को बनाने में इसका उपयोग किया जाता है।
  • Hybrid Network बहुत ही विश्वसनीय है।

हाइब्रिड टोपोलॉजी के हानि (Disadvantages)

हाइब्रिड टोपोलॉजी से होने वाले नुकसानों के बारे में नीचे बताया गया है। 

  • यह नेटवर्क महंगा नेटवर्क है।
  • Installation की प्रक्रिया कठिन है।
  • प्रत्येक टोपोलॉजी के संयोजन से जो Hub जुड़े  होते है वो बहुत महंगे होते हैं।
  • Network की Backbone (रीढ़ की हड्डी) क्षतिग्रस्त होने से नेटवर्क के प्रदर्शन पर प्रभाव पड़ता है।
  • हाइब्रिड नेटवर्क की Designing की प्रक्रिया बहुत ही कठिन है।
  • Hybrid Network को दूसरी टोपोलॉजी से जोड़ने के लिए हार्डवेयर में बदलाव करना होता है।

हाइब्रिड नेटवर्क Wired Vs. Wireless

Wired Network में तेज गति होती है जैसे Fast Ethernet Cable 100mbps की स्पीड में डाटा को भेज सकते है, जबकि अधिकांश Wi-fi Network 54mpbs तक ही डाटा भेज सकते है। 

तो यदि आप Lan Gaming Party सेटअप करना चाहते है या ऑफिस के लिए बड़ी फाइलों को शेयर करना चाहते है तो अच्छी स्पीड के लिए Wired Connection एक बेहतरीन विकल्प है। 

Wireless Network की बात करे तो गतिशीलता और लचीलापन इसके मुख्य लाभों में से एक है। ऑफिस में अगर आप कहीं पर भी है तो Internet Access कर सकते है। Network Access करने के लिए डिवाइस को व्यापक रूप में चुनने के लिए उपयोग कर सकते हैं जैसे की Wi-fi-enabled Handhelds और Pdas.  

Wired और Wireless Network दोनों को संगठन के आकार और जटिलता के आधार पर Set Up करना समान रूप से आसान (या कठिन) है। 

हाइब्रिड टोपोलॉजी की परिभाषा क्या है ?

Hybrid Topology दो या दो से ज्यादा नेटवर्क टोपोलॉजी का संयोजन है यानि की यह दो टोपोलॉजी से मिलकर बनी होती है

हाइब्रिड नेटवर्क टोपोलॉजी कहाँ उपयोग की जाती है ?

ऑफिस में, स्कूलों में, बैंकों में, व्यापार में और भी कई जगह इस टोपोलॉजी का उपयोग किया जाता है।

हाइब्रिड टोपोलॉजी कितने प्रकार की होती है?

मुख्य रूप से यह 3 प्रकार की होती है Star-ring Hybrid Topology, Star-bus Hybrid Topology, Hierarchical Network Topology.

आज आप ने क्या सिखा

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को हाइब्रिड टोपोलॉजी क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी। और में आशा करता हूँ आप लोगों को हाइब्रिड टोपोलॉजी इन हिंदी  के बारे में समझ आ गया होगा.

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा.

आपको यह लेख हाइब्रिड टोपोलॉजी का उपयोग कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Previous articleKangana Ranaut’s Thalaivi Movie Download Leaked on TamilRockers to Watch Online
Next articleगूगल के बारे में रोचक तथ्य जानकर आप रह जाएंगे हैरान
नमस्कार दोस्तों, मैं Prabhanjan, HindiMe(हिन्दीमे) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We HindiMe Team Support DIGITAL INDIA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here