Fastag क्या है और कैसे इस्तमाल करे?

गाड़ी जिनमें FASTag नहीं लगा होगा उन्हें दुगना शुल्क देना होगा जब वो किसी FASTag-only lane से यातायात करेंगे तब, FasTag लगाना सभी यानों के लिए अनिवार्य है.

FASTag क्या है? क्या आपको Roads में travel करना पसदं है? यदि हाँ तब शायद आपको ये जानना बहुत ही जरुरी है की FasTag क्या होते हैं? ऐसा इसलिए क्यूंकि यदि आपने इसके बारे में जानते हैं तब तो ठीक है लेकिन यदि नहीं तब आपको Toll Plaza में दुगना fees भी भरना पड़ सकता है. जी हाँ आपने बिकुल सही पढ़ा. ऐसा इसलिए क्यूंकि सरकार द्वारा Toll Fees में दुगना कीमत वसूल किया जा रहा है अगर किसी गाड़ी के owner ने अपने गाड़ी पर Fastags का इस्तमाल नहीं किया है.

ऐसे में हम लोगों ने समझा की आप सभी को फास्टैग बैंक्स लिस्ट के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करूँ जिससे की आपको कभी दुगना toll fees देने के नोबत ही नहीं आएगी. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की सरकार ने इस FASTags का इस्तमाल toll gates में यातायात को सुविधाजनक बनाने के लिए किया है. अब आपको अपने पास Cash रखने की कोई जरुरत नहीं होगी क्यूंकि यदि आप FASTags का इस्तमाल करेंगे तब आसानी से आपके account से पैसे अपने आप ही कट जायेंगे.

FASTag का इस्तमाल आप प्राय सभी toll plazas में कर सकते हैं जो की National Electronic Toll Collection (NETC) programme के तहत आती है.वहीँ यहाँ इस article में आपको FasTags क्या है, इसे आप कैसे खरीदें और कहाँ से खरीदें से जुडी सभी जानकारी यहाँ पर आपको पढने को मिलेंगी. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं फास्टैग क्या होता है.

अनुक्रम दिखाएँ

फास्टैग क्या होता है – What is FASTag in Hindi

Fastag Kya Hai Hindi
फास्टैग क्या है

FASTag एक बहुत ही सरल, आसानी से इस्तमाल किया जाने वाला एक reloadable tag होता है जो की enable करता है automatic deduction of toll charges. वहीँ ये आपको allow करता है Toll Plaza से pass होने के लिए वो भी बिना किसी भी प्रकार के Cash Transaction के लिए रुकने के.

FASTag को link किया गया होता है एक prepaid account के साथ, जहाँ से जरुरी toll amount अपने आप ही कट जाते हैं. इस Tag में Radio-frequency Identification (RFID) technology का इस्तमाल किया जाता है जिसे की गाड़ी के windscreen पर चिपकाया जाता है एक बार tag account active हो जाये तब.

FASTag पूरी तरह से एक perfect solution है hassle-free trip के लिए वो भी national highways में. FASTag अभी के समय में operational है वो भी करीब 180 toll plazas पर वो भी national और state highways पर. वहीँ समय के सतह साथ और भी काफी सारे toll plazas को इस FASTag program में धीरे धीरे शामिल किया जा रहा है.

FASTag की Validity कितनी होती है?

वैसे तो FASTag की unlimited validity होती है. वही समान FASTag को तब तक इस्तमाल किया जा सकता है जब तक की उस tag को Tag Reader से read किया जा सके और वहीँ उसके साथ छेड़ छाड़ अगर नहीं किया गया हो तब. अगर किसी कारणवस FASTag में कुछ कट फट जाये तब इसकी reading quality धीरे धीर कम हो जाती है, ऐसे में आपको आपके Issuing Bank से संपर्क करना चाहिए एक नए tag के लिए.

कहीं कहीं सुनने में आया है की FasTag की Validity 5 वर्षों की होती है जिसे बाद में बढाया जा सकता है.

फास्टैग की जानकारी हिंदी में

FASTag एक ऐसा device होता है जिसमें की Radio Frequency Identification (RFID) technology का इस्तमाल किया गया होता है toll payments को directly करने के लिए वो भी उससे Linked prepaid या savings account से और इसे गाडी की windscreen पर लगाया गया होता है scanning के लिए जब वो किसी Toll Plaza से होकर गुजरता है. इससे Drivers या गाड़ी के owner को Cash Transaction के लिए रुकना नहीं पड़ता है.

FASTag की validity करीब 5 वर्षों के लिए होती है, वहीँ आपको इसे जरुरत के हिसाब से recharge/top up भी कराना होता है.

NHAI के अनुसार जो सबसे बड़े advantages आपको इसे इस्तमाल करने से प्राप्त होते हैं वो ये की आपको Toll Transactions के लिए Cash ले जाने की कोई भी जरुरत नहीं होती है, वहीँ इससे time-saving भी होती ही, वहीँ आपकी समय की बर्बादी भी नहीं होती है.

जैसे की अगर कोई user एक toll plaza को cross करता है, तब toll amount अपने आप ही deduct हो जाता है automatically. बस user को एक SMS alert मिलता है registered mobile number पर. वहीँ इसके साथ toll transactions, low balance और किसी भी प्रकार का updates भी प्राप्त होता है उन्हें.

फास्टैग रिचार्ज ऑनलाइन कैसे होता है?

FASTags को आसानी से Online recharge किया जा सकता है वो भी Credit Card / Debit Card /NEFT/ RTGS या Net Banking के माध्यम से. वहीँ इसमें आप minimum Rs.100 से लेकर maximum Rs. 1 Lakh रुपयों तक का recharge करवा सकते हैं.

क्या FASTags Transferable होते हैं?

जी नहीं FASTags को Transfer नहीं किया जा सकता है. ये Tags non-transferable होते हैं, ऐसे में एक FASTag को केवल एक ही गाड़ी में इस्तमाल किया जा सकता है, एक से ज्यादा में नहीं इस्तमाल किया जा सकता है.

NHAI ने कितने Mobile Apps को launch किया है FasTags के उपलाभ्धता के लिए?

National Highways Authority of India (NHAI) ने दो mobile Apps को launch किया है FASTags की उपलब्धता के लिए –, वो हैं MyFASTag और FASTag इसका मूल्य उद्देश्य FASTags की availability कराना Electronic Toll Collection के लिए.

Electronic Toll Collection (ETC) क्या है?

ETC का Full Form होता है Electronic Toll Collection. यह एक Electronic payment की व्यवस्ता होती है highway tolls की जिसमें की किसी भी प्रकार की इंसानी छेड़ छाड़ नहीं होती है. ETC systems इस्तमाल करती है vehicle-to-roadside communication technologies जिससे की वो एक electronic monetary transaction perform करती है एक vehicle और एक toll collection agency के बीच.

ETC क्यूँ महत्वपूर्ण होता है?

इस वर्ष December 1 से, सरकार ने ये compulsory कर दिया है सभी cars, jeeps, vans , buses, trucks और off-road vehicles (commercial और private) यानों के लिए, जो की Pass करते हैं toll booths के माध्यम से national highways पर की वो toll pay करें वो भी FASTag के माध्यम से.

ये FASTag-enabled payment अभी के समय में करीब 450 toll plazas पर उपलब्ध हैं national और state highways पर. एक पूरी list की FAStag-enabled toll plazas की बारे में जानकारी उपलब्ध है National Payments Corporation of India के website — npci.org.in/netc पर. वहीँ भविस्य में ज्यादा toll plazas को इस List में add किया जायेगा. वहीँ एक cash-back scheme वो भी 2.5 percent की उपलब्ध है until March 31, 2020 तक FASTag payments पर वो भी national highways पर eligible customers के लिए.

FASTag काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है सरकार के लिए कुछ तरीके से. इसमें जैसे की ये promote करता है digital payments और ये आसान बना देता है vehicles owners के लिए और toll booths के लिए Toll Fees के वसूली के लिए. इसमें storage का खर्चा और toll tax वसूली में लागत काफी कम जाती है. इससे समय की काफी बचत होती है और फालतू का traffic से छुटकारा मिलता है.

आपको क्यूँ इस FasTags के बारे में चिंता करने की आवश्यकता है?

अगर आपकी एक या उससे ज्यादा four-wheelers है, तब ऐसे में आपको भी अपने गाड़ी के लिए FASTag जल्द ले लेना चहिये. December 1 2019 से, National Highways के प्राय सभी lanes fee plazas पर, उन्हें FASTag lanes की पहचान मिल जाएगी. कोई भी गाड़ी जो की इस FASTag lane पर जाएगी वो भी बिना किसी tag के तब ऐसे में उन्हें करीब दुगना applicable fee भरना होगा वो भी Vehicle के category के हिसाब से.

FASTags को issue किया जाता है 23 certified banks के द्वारा जिनमें कुछ छोटे finance banks, payments banks और co-operative banks भी शामिल हैं. Banks की list NPCI website पर उपलब्ध है. FAStags को आप toll plazas, petrol pumps, RTOs, या online Amazon से भी खरीद सकते हैं. वहीँ आप चाहें तो download कर सकते हैं MyFASTag app (जो की available है Android और iPhone platform में) और इसे आप चाहें तो खरीद सकते हैं banks या online shopping sites से.

वहीँ इनकी Charges थोड़ी vary करती है एक seller से दुसरे में. वें एक बार आप यदि आप इसे खरीद लेते हैं तब उए निर्भर करता है की आपने इसे कहाँ से ख़रीदा है वहीँ इसे आप directly bank account के साथ link कर सकते हैं या फिर आप एक pre-paid wallet का भी इस्तमाल कर सकते हैं उसे recharge करने के लिए समय समय पर. एक FASTag account पर आपके सभी transactions के details की जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

FASTags आप कैसे खरीद सकते हैं?

अब चूँकि FasTag का इस्तमाल अनिवार्य हो गया है. ऐसे में एक customer चाहे तो कोई भी Point of Sale (POS) locations से वो भी toll plazas/ issuer agency पर जाकर अपने लिए एक FASTag account create कर सकता है. वहीँ toll plazas के अलावा भी, FASTags available होते हैं banks में जहाँ की authorities से NHAI के साथ signed up कर लिया हो. वहीँ एक traveller के लिए वो आसानी से नीचे बताई गयी किसी भी एक Specific Bank से संपर्क कर सकता है.

अभी के समय में, बहुत से private और public sector banks ने NHAI के साथ partnership की है. जिनमें शामिल हैं HDFC Bank, ICICI Bank, Syndicate Bank, Axis Bank, IDFC Bank और State Bank of India प्रमुख हैं. वहीँ payments banks में, Paytm offer करती है FASTag अपने ग्राहकों को.

वहीँ एक user अपने automobile companies को पूछ सकती है इसे अपने vehicle में install करने के लिए. चलिए अब details में जानते हैं की आप किन तरीकों से FASTags प्राप्त कर सकते हैं.

1. Online sale से FASTags की – FASTag को Online ख़रीदा जा सकता है Issuer Banks websites / NHAI website / IHMCL website से और ये आपके घर तक courier से पहुँच जाता है.

2. Mobile app – MyFASTag एक consumer App होता है जिसे की download किया जाता है Android के लिए. एक consumer चाहे तो FasTags इस app के जरिये खरीद और recharge भी करवा सकता है. can purchase or recharge FASTags on this App.

3. Point of Sale (POS) locations:- आप चाहें तो आपके निकटवर्ती Point of Sale (POS) locations पर जाकर भी ये FasTag खरीद सकते हैं. ये Toll Plazas और banks के sales office में उपलब्ध होता है.

FASTag को आप करीब 28,500 Point-of-Sale locations से खरीद सकते हैं जो की बहुत से Banks और IHMCL/NHAI के द्वारा setup की गयी है, जिनमें शामिल हैं NH fee plazas, RTOs, Common Service Centers, transport hubs, bank branches, selected petrol pumps, इत्यादि.

वहीँ retail segment (car/jeep/van) FASTag को आप online Amazon से खरीद सकते हैं और साथ में Banks की websites पर जाकर भी खरीद सकते हैं जैसे की SBI, ICICI bank, Axis bank, Paytm Payment Banks, HDFC bank, IDFC First bank के sites पर जाकर.

इसके अलावा आप Issuing Bank Customer Care numbers से ये identify करवा सकती है की आपके समीप का POS location कौन सा है, जिससे आपको ये tag प्राप्त करने में आसानी होगी.

यदि फास्टैग लगते समय खराब हो जाये तो क्या डुप्लीकेट इशू हो सकता है?

यदि Fastag लगाते समय वो ख़राब हो जाये तब आप duplicate issue जरुर से कर सकते हैं. इसके लिए लेकिन आपको फिर से सभी documents के xerox copy भी दुबारा से submit करना होता है.

फास्टैग का कैसे पता करे कि किसका है?

फास्टैग जैसे ही Toll Plaza से होकर गुजरता है तब उसमें स्तिथ Tag Reader अपने आप ही scan कर आपके Fastag को read कर लेते हैं. ऐसे में आपको ये जरुरत ही नहीं की आप manually उसे scan करें या toll fees प्रदान करें.

एसबीआई फास्टैग एजेंट का क्या काम होता है?

एसबीआई फास्टैग एजेंट का काम होता है की वो आपके गाड़ी के लिए नयी FasTag का प्रावधान करें. वहीँ यदि आपने पहले से ही FasTag लगाया हुआ है तब यदि उसमें यदि कुछ परेशानी हो तब वो इसे ठीक करने का काम भी करता है.

FASTags Apply करने के लिए किन किन Documents की जरूरत होती है?

एक customer को FASTag की application के साथ साथ नीचे बताई गयी सभी documents के एक एक copy भी जमा करनी होती है Point of Sale (POS) locations पर जाकर. चलिए उन documents के बारे में जानते हैं.

1. गाड़ी की Registration Certificate (RC)

2. Passport size photograph, गाड़ी के owner की

3. KYC documents, यहाँ बताई गयी किसी भी चीज़ की — जैसे की Driving license, PAN Card, Passport, Voter ID Card या Aadhar Card.

Customer को इन सभी documents की original copies को भी साथ लेना होता है इसकी xerox copies के साथ.

FASTag के Charges कितने होते हैं?

FASTag को issue की जाती है Issuing Banks के द्वारा. वहीँ banks इसके लिए Maximum charge कर सकती है Rs. 200/ – प्रत्येक tag के लिए. वहीँ लेकिन actual tag issuing charges को Issuing Bank तय करती है और ये एक bank से दूसरा bank अलग होता है.

फास्टैग को शीशे पर लगाए कहाँ?

फास्टैग को शीशे के भीतरी ओर से लगाया जाता है वो भी गाड़ी के सामने और फास्टैग के पीछे पहले से ही आठा होता है जो की झट से चिपक जाता है शीशे पर आपके गाडी के.

FASTag इस्तमाल करने के फायदे क्या होते है?

चलिए जानते हैं की FASTags इस्तमाल करने के benefits क्या होते हैं.

1. Payment करने में आसानी – आपको अब toll transactions करने के लिए cash अपने पास रखने की कोई भी जरूरत नहीं होती है, इससे आपका समय भी कफी बचता है.

2. गाड़ी को toll plaza में रुकने की जरुरत ही नहीं होती है जिससे इंधन की बचत होती है और साथ में traffic भी नहीं बढ़ता है.

3. Online Recharge कर सकते हैं – FASTag को आप आसानी से Online recharge भी कर सकते हैं अपने Credit Card / Debit Card / NEFT/ RTGS या Net banking के माध्यम से.

4. SMS alerts से आपको अपने सभी toll transactions, low balance इत्यादि के बारे में जानकारी मिल जाती है.

5. ये सभी ग्राहकों को Online Portal प्रदान करती है.

6. इस FASTags की Validity करीब 5 वर्षों की होती है.

7. Incentive प्राप्त होता है : यहाँ पर आप चाहें तो एक cashback भी प्राप्त कर सकते हैं. ये incentive समय समय पर बदलते रहते हैं.

8. दुसरे benefits जो की आपको मिलते हैं :

(a) पर्यावरण को benefit मिलती है :

  • इससे air pollution में गिरावट होती है,
  • Papers क इस्तमाल पूरा ख़त्म हो जाता है.

(b) इससे Social benefit भी होते हैं :

  • Toll payment की hassles काफी कम जाती है ,
  • बेहतर रूप से highway management को manage किया जा सकता है

(c) Economic benefit भी मिलते हैं :

  • Toll plaza की management में सुविधा होती है,
  • Central Monitoring के होने से इस tolling के प्रक्रिया में बढ़िया ढंग से चलाया जा सकता है.

फास्टैग एक्टिवेट कैसे करे?

फास्टैग एक्टिवेट करने के लिए आपको सरकार द्वारा प्रस्तुत दो andorid apps का इस्तमाल कर सकते हैं जिनके विषय में मैंने इस article पर जानकारी प्रदान करी है. वहीँ आप चाहें तो अपने banks से भी इस विषय में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

Fast Tag को अपने गाड़ी के Windshield पर कैसे लगाया जाता है?

एक बार आपको अपना FasTag मिल जाता है तब आपको इसे अपने गाड़ी के Windshield की Center Top पर धीरे से लगाया जाता है. जी हाँ आपको भीतर से अपने गाड़ी के Center Top वाली जगह में Windshield की, वहीँ इसे लगाया जाता है.

इस FasTag में एक Self Adhesive tape होता है जिसे की निकाला जाता है और वहीँ इसकी चिपचिपी क्ष्येत्र को windshield पर चिपकाया जाता है.

याद रही की आपको कोई additional tape या adhesive इस्तमाल करने की जरुरत नहीं होती है अन्यथा ये आपके FASTag को नुख्शान पंहुचा सकता है.

FASTag की Deadline कब तक तय की गयी है?

अभी के समय में प्रत्येक Toll Plaza में RFID Scanner लगाया गया है और वहीँ इनकी deadline को बढाकर 15th December 2019 तय किया गया है. जहाँ ये पहले 1st December 2019 को तय किया गया था. FASTag का इस्तमाल प्रत्येक Toll Plaza में अनिवार्य कर दिया गया है. वहीँ किसी यान में FASTag sticker नहीं लगाया गया है तब उन्हें इसके लिए दुगना Scheduled Toll rates देना होगा वो भी Cash में.

Q. क्या होगा Toll Fee में अगर return करो 24 घंटों के भीतर ही क्यूंकि ये अक्सर कम लागत के होते हैं?

जब आप पहली बार Toll को cross कर रहे हैं तब आपको One Way Toll Charges अदा करने होते हैं. लेकिन अगर आप वापस आयें वो भी 24 घंटों के भीतर ही तब ऐसे में system automatically ही हिसाब या calculate कर लेगी आपके Return journey charges की कीमत को और वहीँ ये toll fees को उसके हिसाब से adjust भी कर लेगी. जान कर रखें की ये जरुर कम ही होगी पहले वाले charges के मुकाबले. वहीँ ये पैसे आपके account से अपने आप ही debit भी हो जाएगी.

Q. क्या होगा अगर किसी कारणवस Toll Gate में कुछ Technical Problem दिखाई पड़ जाये तब उसके RFID Scanning Device में?

ऐसे में आपके account से किसी भी प्रकार की Charges नहीं कटेंगी और वहीँ आपको Cash में कुछ देना भी नहीं पड़ेगा.

Q. क्या FASTag RFID Secure है?

जी बिलकुल, FASTag पूरी तरह से Secure होती है. वहीँ payment को debit किया जाता है केवल approved RFID Scanner के से जो की NETC (National Electronic Toll Collection) के द्वारा प्रदान की जाती है.

Q. क्या होगा अगर किसी की गाड़ी को बिक्री कर दिया जाये जिसमें की Fastag लगा हुआ हो?

यदि किसी कारणवस गाड़ी को बिक्री कर दिया जाये तब ऐसे में Balance को transfer कर दिया जाता है नए FASTag में वो भी नए Owner की.

Q. क्या होगा अगर FASTag unusable या Windshield टूट हो जाये इस्तमाल करने के लिए?

ऐसे होने पर आपको नए FASTag के लिए नए रूप से apply करना होगा और आपको साथ में Issuance fees भी pay करना पड़ेगा. इसके अलावा पुराने Fastag का पुराना Balance भी tranfer हो जायेगा आपके नए FASTag पर.

Q. अगर ज्यादा Fees Deduct कर ली गयी FASTag से तब क्या करना होगा उसे वापस पाने के लिए?

वैसे तो इस प्रकार का गलती होना मुमकिन नहीं है, और यदि कभी हो भी गया तो आपको Bank Customer Care से संपर्क करना होगा वो भी पूरी Details के साथ.

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख फास्टैग क्या है (What is FASTag in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को फास्टैग एक्टिवेट कैसे करे के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post फास्टैग क्या होता है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here