Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है?

क्या आपको Black Hat SEO और White Hat SEO के बारे में पता है? यदि नहीं तो चिंता की कोई बात नहीं क्यूंकि आज हम इन्ही के बारे में जानेंगे. आज हर कोई जो Blogging field में है उन्हें इन दोनों terms Black Hat SEO और White Hat SEO के बारे में जरुर पता होगा. क्यूंकि जैसे की हम जानते हैं की SEO या Search Engine Optimization किसी भी blog के लिए कितना जरुरी है. SEO एक ऐसा process हैं जिसकी मदद से हम अपने blog या website पर दोनों volume और quality traffic बढ़ा सकते हैं. और ऐसे में सभी Bloggers जल्द से जल्द popular हो जाना चाहते हैं क्यूंकि उनमें patience की कमी होती है. इसलिए वो हमेशा ऐसे ही किसी tricks को ढूंडते रहते हैं जिसकी मदद से वो जल्द से जल्द अपने Blog की ranking बढ़ा सकें. ऐसे में उन्हें सबसे अच्छा विकल्प Black Hat ही नज़र आता है, क्यूंकि इसमें आपको results तुरंत मिलते हैं और आपको इंतजार करने की जरुरत नहीं. इसलिए Black Hat SEO नए bloggers को सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं.

ये तो हम जानते ही हैं की SEO करना किसी भी site के लिए कितना जरुरी है. और अगर आपके Blog का अच्छा SEO होगा तो आपके site का भी ranking बढेगा. क्यूंकि जितनी अच्छी आपकी Site की ranking होगी उतनी ही अच्छी site में traffic. और जैसे जैसे search engine जैसे की google की demand बढ़ी वैसे वैसे SEO की भी एक अच्छे Internet Marketing Strategy के हिसाब से demand बढ़ी.

और ये तो हम जानते हैं की Search Engines भी किसी algorithms पर based होकर काम करते हैं. और जितनी अच्छी आपको SEO की technique होगी उतनी ही अच्छी आपके Site की ranking भी रहेगी. इसलिए नए नए SEO techniques को इस्तमाल में लाया गया जिसमें थे Black Hat, White Hat और Grey Hat SEO. इनमें से जो सबसे ज्यादा popular हुई वो हैं Black Hat और White Hat. अगर में बात करूँ तो ये दोनों में मुख्य अंतर इनके specific SEO techniques में है, जिससे ये एक दुसरे से इतने अलग हैं. इसलिए आज मैंने ये सोचा की क्यूँ न आप लोगों की Black Hat SEO और White Hat SEO क्या होता है के बारे में कुछ जानकारी प्रदान करूँ जिससे की आपको भी इनके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो. तो फिर देरी किस बात की चलिए शुरू करते हैं और इनके बारे में जानते हैं.

Black Hat SEO vs White Hat SEO क्या है

Black Hat SEO vs White Hat Seo in Hindi

जैसे की मैंने पहले ही बताया है इन दोनों में मुख्य अंतर इनके अलग अलग SEO techniques में है. जहाँ Black Hat SEO की अगर हम बात करें तो इनमें जो techniques का इस्तमाल होता है उन्हें search engines के द्वारा approve नहीं किया जाता है क्यूंकि ये उनकी मेह्जुदा techniques Search Engines Guidelines को follow नहीं करते हैं. वैसे ही अगर में White Hat SEO की बात करूँ तो इसमें इस्तमाल में लाये गए techniques को Search Engines Guidelines follow करती है जिससे इनके इस्तमाल से आपको कोई तकलीफ नहीं होगी. वहीँ Black Hat SEO के इस्तमाल से आपके Site को ban भी कर दिया जा सकता है.

ऐसे मानना है की Black Hat SEO techniques और strategies से आप अपने Blog की ranking बहुत ऊँचा कर सकते हैं क्यूंकि ये Search Engines के rules को follow नहीं करती है. ये केवल Search Engines को ही importance देती है और न की human audience को. Black Hat SEO का इस्तमाल मुख्य रूप से वही करते हैं जिन्हें बहुत जल्दी results चाहिए और जो अपने website या blogs पर long-term investment नहीं करना चाहते. कुछ techniques जो की Black hat seo में इस्तमाल में लाया जाता है वो है keyword stuffing, link farming, hidden text और links इत्यादि. इनके इस्तमाल से आपका website Search Engines से de-indexed हो जा सकता है और आपके website को ban भी किया जा सकता है.

वहीँ White Hat SEO techniques केवल human audience को ही target करता है न की Search engines को. इन techiniques के इस्तमाल से आपको शीघ्र results नहीं मिल सकते लेकिन अगर आप एक लम्बे समय तक इनका इस्तमाल करें तो आपको बहुत ही अच्छा results देखने को मिलेंगे. कुछ techniques जो की White Hat SEO में इस्तमाल किया जाता है वो हैं keywords analysis, keyword research, LSI keywors, rewriting meta tags, link building इत्यादि. इनके इस्तमाल से आपको Search Engines से कोई खतरा नहीं होता इसलिए इनका इस्तमाल आप एक लम्बे समय तक कर सकते हैं.

कोन ज्यादा Effective है – White Hat vs Black Hat SEO

वैसे तो हम directly ये बता नहीं सकते की Black Hat SEO और White Hat SEO में कोन ज्यादा effective है. लेकिन अगर में कम समय की बात करूँ तो Black Hat SEO ज्यादा effective है. वहीँ अगर में थोड़े लम्बे समय की बात करूँ तो इसमें White Hat SEO ज्यादा effective हैं. ऐसा इसलिए क्यूंकि White Hat SEO मुख्य रूप से human audience को priority देता है वहीँ Black Hat SEO ज्यादा priority Search Engines को देता है. इसलिए इनके effectiveness में ये अंतर है.

Features and Techniques Used in Black hat SEO

Blackhat SEO में वो सारे techniques का इस्तमाल होता है जिसे की Search Engines से सहमति नहीं मिली है और इनका इस्तमाल करना मतलब आप इनके rules और regulation को न मानना. इनके techniques बहुत ही unethical होते हैं और अगर कभी भविष्य में पकडे गए तब आपको इसके लिए penalty भी देनी पड़ सकती है. Black hat SEO का इस्तमाल जल्द से जल्द success पाने के तरह है इसलिए इसका इस्तमाल हम लम्बे समय तक नहीं कर सकते. यहाँ निचे मैंने कुछ इनके features और techniques के बारे में discuss किया है जिसे पढ़कर आप इनके बारे में अच्छे से जान सकते हैं.

1. Spamdexing :- ये एक ऐसी practice है जिसमें user बार बार unrelated phrases का इस्तमाल करता है ताकि उसकी post जल्द से जल्द rank हो जाये. भले ही इस article में इस्तमाल में लाये गए phrases से viewers का कुछ फायेदा हो या न हो.

2. Keyword Stuffing :- इसमें User कुछ specific keywords को article के बहुत से जगहों में जानबुझकर इस्तमाल करता है. इसका सिर्फ एक ही मकसद है की कैसे उस article को रैंक किया जाये. इससे viewers को पढने में अच्छा नहीं लगता क्यूंकि बिना की कारण के ही इसमें specific keywords का बार बार इस्तमाल किया जाता है.

3. Invisible Text :- ऐसे practice जिसमें की कुछ keywords को white text में लिखकर white background में इसतरह से रख दिया जाता है की जैसे ये ज्यादा से ज्यादा Google Spiders को अपने और आकर्षित करे. ये text को invisible इसलिए कहा जाता है क्यूंकि ये normal viewers को दिखाई नहीं पड़ते बल्कि केवल ये Google Spiders या Search Engine Spiders को ही दिखाई पड़ते हैं.

4. Doorway Pages :- ये उन fake pages को कहा जाता है जिन्हें viewers नहीं देख सकते. इन्हें केवल Search Engine Spiders को ध्यान में रखकर बनाया गया होता है जिससे की आसानी से site की ranking बढाई जा सके और pages को जल्दी index किया जा सके.

5.Invisible iFrames :- ये कुछ ऐसे pages होते हैं जिन्हें केवल viewers ही देख सकते हैं और जिस कंपनी से hosting ली गयी है वी इसे नहीं देख सकते. जब भी कभी कोई user किसी ऐसे website पर आता है तब user को ये पता भी नहीं चलता पर बहुत से files automatically उसके computer के background में download हो रहे होते हैं.

6. Link Farming :- जैसे की अगर आप अपना घर किसी ऐसे जगह में बनाते हैं जहाँ के आस पास के लोग सही नहीं हैं तो जाहिर सी बात है की इससे आपके घर को भी उनकी मोजुदगी से जरुर असर पड़ेगा. बस ऐसे ही बात virtual world में भी होता है. Link Farms या FFA pages का एक ही मकसद है की कोई नयी Website या blog को बहुत सारे unrelated pages के साथ जोड़ना. इनसे आपको कोई traffic तो नहीं मिलती लेकिन ऐसे होने से आपका website जरुर ban हो जायेगा.

7. Meta Keywords :- Meta Keywords वो short list है ऐसे words की जिनका इस्तमाल केवल viewers को ये बताना है की ये article किस संधार्व में लिखी गयी है. लेकिन अब इन meta keywords का भी गलत इस्तमाल किया जा रहा है और जानबूझकर ऐसे keywords का इस्तमाल किया जा रहा है जिनका की main article से कोई सम्बन्ध भी नहीं है. ऐसा सिर्फ page की rank बढ़ाने के लिए किया जा रहा है.

Features and Techniques Used in White Hat SEO

जैसे की आप लोग अब तक समझ ही चुके होंगे की White hat Seo का मकसद Search Engines नहीं users को target करना है. सही जानकारी और articles लोगों तक पहुँचाना है. White hat SEO न केवल SEO की सारी guideline को follow करता है बल्कि ये ensure भी करता है की जो भी contents search engines के द्वारा indexed हुई हैं वो सारे articles को users भी पढ़ सकते हैं. इनका मकसद सही जानकारी लोगों तक पहुँचाना है cross linking, और link building के मदद से. यहाँ निचे मैंने कुछ इनके features और techniques के बारे में discuss किया है जिसे पढ़कर आप इनके बारे में अच्छे से जान सकते हैं.

1. Quality Content

जब भी कभी हम SEO के बारे में सुनते हैं एक phrase “Content is the King” के बारे में हम जरुर सुनते हैं. आप कितना भी अच्छा SEO कर लो अगर आपके article में ही दम नहीं है तो आप कभी भी अच्छा rank नहीं कर सकते. क्यूंकि SEO की मदद से केवल उसे searchable बनाया जा सकता है readable नहीं. उदहारण के स्वरुप अगर आपको एक अच्छी सी LED TV खरीदनी हैं तो आप जरुर internet में जानकारी के लिए search करेंगे. जिसके लिए आप type कर सकते हैं “best LED TV” इससे मन लीजिये की आपको दो ऐसे प्रमुख website मिला जिसमें की कुछ इसप्रकार से लिखा गया है.

Website 1 : इसमें केवल एक ही page उपलब्ध है और उसमें 3 paragraphs की text मेह्जुद है. और उसमें केवल कुछ companies के नाम mentioned हैं. और आखिर में कुछ phone numbers हैं.

Website 2 : इसमें लघभग 30 pages मेह्जुद हैं जहाँ के market में उपलब्ध सारे best LED TV के बारे में लिखा गया है इसके साथ उनकी techinal information भी दी गयी है. कुछ pages में तो उन्हें एकदूसरे से compare भी किया गया है.

अब बात उठता है की आप किसी website को देखना पसंद करेंगे. जाहिर सी बार है की दसरा वाला. ठीक वैसे ही अच्छे content की कदर सभी तरफ है. इसीलिए Content is the king कहा जाता है.

2. Structural (Semantic) Mark Up and Separate Content का इस्तमाल करना Presentation के लिए
हमेशा से Search engines की पहली पसंद Structural Content की रही है. सही Headlines के इस्तमाल से Search Engines को भी article को index करने में आसानी होती है और Users को भी पढने में आसानी होती है. Search Engines ऐसे Articles को ज्यादा preference देती हैं जो की अच्छे से formatted हो और जिसमें content अच्छे तरीके से Structured हो.

3. Titles and Meta Data
आपके pages में proper titles और meta data का इस्तमाल करना बहुत ही जरूरी है. जैसे की मैंने पहले Black hat SEO में Meta data का गलत इस्तमाल करने के बारे में कहा था. लेकिन यहाँ ध्यान देने वाली बात है की इनका सही इस्तमाल हमें अपने articles में करना चाहिए. और आप जब भी Titles और meta data का इस्तमाल करें तब ये ध्यान दें की ये आपके main article के content का सही representation होना चाहिए.

4. Keyword Research और Effective Keywords का इस्तमाल
कोई भी article लिखने से पहले keyword research को ज्यादा ध्यान देना चाहिए क्यूंकि ऐसे करने से हम अपने articles को और ज्यादा अच्छा rank कर सकते हैं. Keyword research का मतलब से नहीं की केवल single keyword का इस्तमाल करें बल्कि ऐसे multi words के combinations जिसे की users खोज रहे हैं और जिनमें की Competition कम हो और Search ज्यादा. ऐसे करने से हम ज्यादा से ज्याद traffic को अपने और आकर्षित कर सकते हैं.

इसके साथ keywords को कुछ इसतरह से इस्तमाल करना जिससे की लोगों को आपके articles आसानी से Search results में दिखाई दे. और इन keywords को आप निम्नलिखित स्थान में लिख सकते हैं. जैसे की

  • Title
  • Meta Description
  • Meta Keywords
  • Heading Elements
  • Text
  • Alt Tag
  • Title Tag
  • Links

5. Quality Inbound Links और link Building
Quality Backlinks का मतलब है की ऐसे Websites से link जो की ये बताएं की आपके Content में जो तथ्य दिया गया है वो authentic हैं. इसके प्रमाण में वो अपने Website में आपके Links को प्रदर्शित करेंगे. इससे आपके content का महत्व बढेगा. इसलिए अच्छे backlinks का बहुत ही ज्यादा महत्व है. और हो सके तो ऐसे websites से link लायें जो की आपके domain से सम्बंधित हो. जैसे की अगर आप technology के बारे में लिखते हैं तो आपको backlink technolgy related website से लाना होगा. इसके साथ आपको quality inbound links की भी जरुरत है जिससे आपके blog की Seach Engine में अच्छी ranking बनेगी.

Black hat vs White hat SEO के परिणाम

माना की Black hat SEO के इस्तमाल से आप अपने blog को बहुत ही जल्द अच्छे रैंक में पहुंचा सकते हो. लेकिन यदि आप पकडे गए तब आपके blog को अच्छा penalty भी पड़ सकता है ऐसे unethical practices के इस्तमाल के लिए. इसीलिए short term के लिए Black hat SEO अच्छा है लेकिन long term में इससे आपको हानि पहुँच सकती है. जब जब भी Google ने अपने नए algoritms का implementation किया है तब तब ये Black hat SEO करने वालों को बहुत नुकसान उठाना पड़ा है.

Panda
Panda Update Google का एक बहुत ही महत्वपूर्ण update था जिसमें केवल High-quality content को ही स्थान दिया गया. इससे बहुत सारे low quality contlow-qualityogs की ranking अचानक कम गयी.

Penguin
Google’s Penguin update केवल black hat SEO techniques का इस्तमाल करने वालों के लिए ही लाया गया था. जिनकी मदद से बहुत से लोग कई “link farms” बना दिए थे. इस update के बाद बहुत से website को penalized कर दिया गया. और Webmasters को bad backlinks हटा लेने की सलाह दी गयी.

Negative SEO
ये आप control नहीं कर सकते के कोन से website आपके Website को bad backlinks से जोड़ सकती है. क्यूंकि ऐसे कई किस्से सामने आये हैं जहाँ की Competitors link farms को पैसे देकर आपके Website को ऐसे Links farms के साथ जोड़ देते हैं और जिससे आपकी Website की ranking अचानक से कम हो जा सकती है. इसलिए बिच बिच में अपने Website की पूरी analysis करनी चाहिए की कहीं आपकी Website किसी दुसरे bad backlinks से जुड़ी तो नहीं है.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Black Hat SEO vs White Hat SEO क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी और मैं आशा करता हूँ आप लोगों को Black Hat और White Hat SEO Techniques के बारे में समझ आ गया होगा. मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख Black Hat SEO और White Hat SEO क्या होता है कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

आइये आप भी इस मुहीम में हमारा साथ दें और देश को बदलने में अपना योगदान दें.

Hindi Me Jankari

6 COMMENTS

  1. Wow awesome post admin boss.
    I’m glad to see ur informative post here it’s really helpful for me and I think I’m ur big fan bcoz u always come with such a helpful information, thanks for ur big support keep posting boss.

    Tc

    • Thanks Dev. अधिक जानकारी के लिए आप हमें हमारे Community में अपने सवाल पूछ सकते हैं https://ask.hindime.net/
      जहाँ आपको आपके सारे सवालों के जवाब बहुत ही जल्द मिल जाएगी.

  2. Dear Prabhanjan, this is not about your article its good .. but am empress about your social contribution, your view and purpose and contribution a gyaan in hindi. well few peoples we are, who though like you great man!!!.
    nice work keep it up also want to get in touch with you please share your number on whatsapp 8650508070

    Regards.
    Navneet Singh
    Founder/ CEO
    KHOJ IN INDIA

    • Thanks, Navneet, feeling happy with your words. As you said we at HinidiMe are doing the same work to teach Indian people in their own understandable language i.e Hindi. See due to Privacy policy I am very much sorry to provide you my number. However, you can contact me at “[email protected]” Also if you have any difficulty you can contact us in our community. अधिक जानकारी के लिए आप हमें हमारे Community में अपने सवाल पूछ सकते हैं https://ask.hindime.net/
      जहाँ आपको आपके सारे सवालों के जवाब बहुत ही जल्द मिल जाएगी. Thanks Again.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here