सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है?

सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है? चाहे आप एक SmartPhone की बात कर लें या Computer Desktop की, सभी Electronic Devices में जिनमें Operating System का इस्तमाल हुआ है और जो की Internet के साथ जुड़ा हुआ होता है, उन सबमें Software Update या Application Update का notification जरुर से आता है. यह Notification बहुतों को irritate भी करता है और कई तो इसे ignore ही कर देते हैं. लेकिन मेरी मानें तो ऐसा करना बिलकुल भी सही नहीं है. Companies के द्वारा भेजी गयी ये सभी Updates आपके Phones और Hardwares के लिए बहुत ही जरुरी होते हैं. जैसे हमें समय समय पर नए कपड़ों की जरुरत होती है ठीक ऐसे ही किसी भी Application या Operating System को सुचारू रूप से चले के लिए Software Update की जरुरत होती है.

वैसे एक Software Update में ऐसे बहुत से चीज़ें होती है जिन्हें आपको पहले समझने की जरुरत हैं. बहुत से Users को Software Update करने पर क्या होता है उसकी थोड़ी भी जानकरी नहीं है. ऐसे में यदि Users को Software Update करने से क्या होता है के विषय में पूर्ण जानकारी हो जाये तो वो कभी भी Update Notifications को ignore नहीं करेंगे. और ये उनके devies के Security और durability के लिए बाद में बहुत अच्छा सिद्ध होगा. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Software Update और उससे होने वाले benefits के विषय में जानकारी प्रदान करूँ. इससे आपको Updates को Install करें पर हो रहे advantages की वास्तविकता का आभास होगा. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और सॉफ्टवेयर अपडेट करने की विधि हिंदी में जानने की कोशिश करते हैं.

अपडेट क्या होता है

Software Update को Update भी कहा जाता है. ये Update का मतलब होता है ऐसे छोटे छोटे codes जिन्हें developers के द्वारा लिखा जाता है. ये codes को आप fixes भी समझ सकते हैं. किसी भी software को develop करने पर उसे test करने की जरुरत होती है, ऐसे में बहुत से tests के बाद भी कुछ bugs (errors) software में रह जाती है. ऐसे में अगर उन bugs को ठीक नहीं किया गया तब user को उस software के इस्तमाल में परेशानी हो सकती है.

इसलिए Developers ऐसे छोटे छोटे या बड़े fixes तैयार करते हैं और उन्हें Software के मुख्य server में update किया जाता है और उन updates को पाने के लिए users को भी उन्हें download कर install करना होता है. ऐसा करने पर Users या Software Developers के द्वारा पाई गयी errors और bugs को fix किया जाता है.

सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है

software update karne se kya hota hai

Software Update करने से Users को सभी latest updates अपने devices में प्राप्त होते हैं. इसके अलावा भी और बहुत से चीज़ें भी होते हैं जिनके विषय में हम आगे जानेंगे.

1.  Devices में स्तिथ सभी एप्लीकेशन Error ठीक हो जाता है

अक्सर Andorid Devices में Application Error या bugs होते हैं जो की Application को ठीक तरीके से run करने में तकलीफ पैदा करते हैं. लेकिन एक सॉफ्टवेयर अपडेट से ये सभी चीज़ें ठीक हो जाती है. इन्ही प्रकार के bugs को fix करने के लिए समय समय पर Software Update की काफी जरुरत होती है.

2 .  नए Features Add हो जाते हैं

यदि कोई company कुछ नए features अपने Application में या Operating System में लाती हैं तब Software को update करने से हमें भी वो नए features हमारे devices में प्राप्त हो जाते हैं.

3. जितनी भी खामियां चाहे वो Bugs हो या Errors सब Fix हो जाते हैं

नए software या एप्लिकेशन में अक्सर आपको errors या bugs देखने को मिल सकते हैं. वहीँ developers उस bugs को फिक्स करने के लिए नए updates के माध्यम से fix भेजते हैं. इससे अगर user software update कर लेते हैं तब उनके सभी bugs fix हो जाते हैं.

4 . फोन या एप्लीकेशन की उपयोगिता काफी बढ़ जाती है

अक्सर नए udpates के साथ नए features को देखा गया है, ऐसे में नए updates से Phone या application की उपयोगिता काफी बढ़ जाती है. वो ज्यादा user friendly बन जाते हैं. बहुत बार तो User Interface भी काफी आकर्षक और उपयोगी बन जाता है.

5 .  Software की Security बेहतर हो जाती है

अक्सर hackers और crakers ऐसे malicious software बनाते हैं जो की users की online security पर काफी बड़ा सवाल बनाते हैं. ये Softwares इतने ज्यादा खतरनाक होते हैं की users को ये पता भी नहीं चलता की कब वो आपके सभी data को चुराकर ले जाएँ, ऐसे में साॅफ्टवेयर अपडेट करने से आपका Phones या कोई दूसरा devices एकदम से ऐसे softwares से secure हो जाता है. क्यूंकि developers ऐसे सभी loopholes को बंद कर देते हैं जिनका इस्तमाल कर hackers आपके software को हानि पहुंचा सके,

6 .  Operating System या एप्लीकेशन की Speed काफी बढ़ जाती है

सॉफ्टवेयर अपडेट करने से आपका मेह्जुदा Operating System और Application की operating speed काफी बढ़ जाती है. पहले जो भी lag हुआ करते होंगे वो सभी fix हो जाते हैं. इससे User Experience काफी बाद जाता है.

7 .  Operating System ज्यादा compatible बनता है

Devices में Hardware और Softwares का तालमेल होना बहुत ही जरुरी होती है. यदि hardware के साथ software compatible नहीं हुआ तब Users को तकलीफ आ सकती है. जैसे जैसे Hardwares में upgradation आ रही है वैसे में अगर उसके साथ Software में भी बदलाव नहीं किया गया तब Operating System में compaibility error दिखा सकता है. इसलिए इस परेशानी को दूर करने के लिए software को update जरुर करना चाहिए.

Software को नियमित अपडेट करना क्यों जरुरी होता है

जब भी कोई Development Company कोई Software बनाती हैं तब अक्सर उन Softwares में कुछ bugs, errors जैसे बहुत से चीज़ रह जाती हैं. वैसे तो वो बहुत से testing पहले से ही करते हैं लेकिन फिर भी 100% error free तब भी नहीं होता है. ऐसे में जब उस softwares का इस्तमाल Users करते हैं तब उन्हें उस softwares के उन कमियों के विषय में पता चलती है और वो अपना feedback या प्रतिक्रिया developers के साथ share करते हैं.

ऐसा करने से developers को software में स्तिथ bugs और loopholes के विषय में जानकरी मिलती है और वो उनमें जरुरी सुधार लाते हैं नए update के हिसाब से. जिन्हें users को अपने software को update कर वो प्राप्त होता है. इसलिए अपने software को नियमित update करना बहुत ही जरुरी हो जाता है.

किसी सॉफ्टवेयर को कैसे अपडेट करे

आखिर सॉफ्टवेयर अपडेट करने के लिए क्या करना पड़ेगा? वैसे Software को आप दो तरीके से update कर सकते हैं, जो की हैं Online Update और दूसरा है Offline Update.

जहाँ Online Update में आपको device को Internet के साथ connect करना पड़ता है, और ये प्रायतः automatic update होता है. बस आपको Update का notification मिलते ही Update के button पर click करना होता है और कभी कभी तो वो automatically ही update हो जाता है.

वहीँ Offline Update में आपको Device के लिए Update Official Site से download करना होता है. इसे Update करने के लिए आपको Internet की जरुरत भी नहीं होती है. इसमें अक्सर आपको प्रिंटर, कैमरा या स्कैपनर साॅफ्टवेयर या मदरबोर्ड के ड्राइवर को ज्यादातर update करने होते हैं. देखा जाये तो इसे आप Manual Update भी कह सकते हैं.

सॉफ्टवेयर अपडेट करने का तरीका

अपने Mobile या System का Update करने से पहले आपको कुछ चीज़ों का ख़ास ध्यान रखना चाहिए इससे आपको Software Update करने में आसानी होगी.

Battery की Charge Check कर लें

User को हमेशा ये check करना चहिये की उनके devices की charge 75% से ज्यादा हैं या नहीं. क्यूंकि यदि इतनी charge नहीं है तब बाद में आपको दिक्कत आ सकती है. इसलिए Battery का 75 % से ज्यादा charge होनी चाहिए.

Internet Mode क्या है : – Wifi या Mobile Data

Update करने के लिए हमें Internet की जरुरत होती है और इसमें काफी data का खर्च हो सकता है. ऐसे में अगर आपके पास WiFi की सुविधा मेह्जुद हैं तब उसे जरुर इस्तमाल करें. लेकिन वहीँ यदि नहीं है तब आप Mobile Data का इस्तमाल कर सकते हैं लेकिन ये check कर लें की आपके Update होने तक उसमें sufficient data रहेगा भी या नहीं. अन्यथा आपको Update करते वक़्त दिक्कत आ सकती है.

Data का Full backup कर लें

कई बार पाया गया है की Software Update होने के समय में data को क्ष्यति पहुंचती है इसलिए बेहतर होगा की आप Update करने से पहले अपने सभी data जैसे की Photos, Videos, documents का एक दुसरे जगह में ठीक तरीके से Backup ले लें. इससे आपको data loss होने की समस्या नहीं होती है.

Conclusion

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को सॉफ्टवेयर अपडेट करने का तरीका के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा. यदि आपको मेरी यह post सॉफ्टवेयर अपडेट करने की जानकारी हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

7 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.