Application Software क्या है इसके प्रकार

हम सभी Users अपने Smartphones में, Computer में, laptop में या tablet में बहुत सारे Applications का इस्तमाल करते हैं. लेकिन क्या आप सही माईने में जानते हैं की ये एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है? इसके अलग अलग प्रकार क्या हैं और ये किस तरह से काम करता है. यदि आपको इनके विषय में ज्यादा जानकारी नहीं है तब तो आपके लिए यह article बहुत ही मददगार सिद्ध होने वाला है. क्यूंकि आज हम Application Software के सभी basic points को जानने वाले हैं और इसके साथ ये जानने वाले हैं की Application Software और System Software में क्या अन्तर हैं.

वैसे अगर इसकी एक general definition समझें तब यह एक ऐसा Software होता है जिसे की किसी specific task को करने के लिए किया जाता है जिससे ये users की मदद कर सके. इन software के बारे में और अधिक जानना है तब आपको यह article पूरा पढना होगा. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Application Software क्या है के विषय में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की जाये जिससे आने वाले समय में आपको इसके सम्बन्ध में कोई भी doubts न हो. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या होता है हिंदी में.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है (What is Application Software in Hindi)

Application Software Kya Hai Hindi

Application software एक term होता है जिसका इस्तमाल उन softwares के लिए होता है जो की कोई specific काम करने के लिए बने होते हैं. ये generally एक program या collection of programs होता है जिसे की end users के द्वारा इस्तमाल किया जाता है. वैसे इसे आप एक application या simply एक app भी कह सकते हैं. देखा जाये तो सभी दुसरे software जो की system software और programming software नहीं है उन्हें आप एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कह सकते हैं.

Application software की definition in Hindi

यह एक ऐसा software होता है जिसे की users को मदद करने के लिए develop किया गया होता है और ये केवल एक ही specific task perform कर सकता है. ऐसे Softwares को एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कहा जाता है. ये System Software से पूरी तरह अलग होता है. जहाँ System Software background में चलता रहता है वहीँ Application Software front end में चलता है और ये Users को चलता हुआ दिखाई भी पड़ता है.

चलिए Application Software के कुछ उदाहरणों के विषय में जानते हैं :

  • Word processing software
  • Database programs
  • Entertainment software
  • Business software
  • Educational software
  • Computer-aided design(CAD) software
  • Spreadsheet software

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के प्रकार

वैसे तो Application Softwares के बहुत से प्रकार हैं लेकिन यहाँ नीचे मैंने कुछ important types के विषय में बताया है. तो चलिए उनके विषय में जानते हैं.

1.  Application Suite: इसमें multiple applications एक साथ bundled होते हैं. जिसमें Related functions, features और user interfaces एक दुसरे के साथ interact करते हैं.

2.  Enterprise Software: ये किसी organization की जरूरतों को पूर्ण करता है और इसमें data flow होता है एक huge distributed environment में.

3.  Enterprise Infrastructure Software: ये ऐसे capabilities प्रदान करता है जो की की चाहिए enterprise software systems को support करने के लिए.

4.  Information Worker Software: ये Address करता है individual जरूरतों को जो की चाहिए manage और create करने के लिए information सभी individual projects के लिए departments के भीतर.

5.  Content Access Software: इसका इस्तमाल होता है content access करने के लिए और किसी published digital content और entertainment को address करने के लिए.

6.  Educational Software: ये ऐसे content प्रदान करता है जिसकी जरुरत होती है students के इस्तमाल के लिए.

7.  Media Development Software: यह ऐसे electronic media generate और print करती है जो की individual की need होती है consume करने के लिए.

Software और Hardware क्या होते हैं?

ये term ‘software’ refer करता है उन set of electronic program instructions या data को जिन्हें एक computer processor read करता है कोई एक task या operation को perform करने के लिए. वहीँ उसके विपरीत, ये term ‘hardware’ refer करता है उन physical components को जिसे की हम देख सकते हैं. छु सकते हैं जैसे की computer की hard drive, mouse, और keyboard.

Software को categorized किया जाता है उनके design के हिसाब से जिन्हें कुछ चीज़ accomplish करना होता है. ऐसे में Software के दो main types मेह्जुद हैं:-

1) Systems software
2) Application software

Systems Software क्या है

Systems software में ऐसे programs होते हैं जिन्हें की ख़ास तरीके से बनाया गया होता है computer को manage करने के लिए जैसे की operating system, file management utilities, और disk operating system (या DOS). ये operating system manage करते हैं computer hardware resources को applications और data के साथ. वहीँ अगर computers में systems software install नहीं होते तब हम कुछ भी operation करने के लिए हमें उसके लिए instructions को type करना पड़ता. जो की कर पाना सच में एक असंभव काम लगता है.

Applications Software

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, या simply applications, इन्हें अक्सर productivity programs भी कहा जाता है या end-user programs क्यूंकि वो users को enable करते हैं tasks complete करने के लिए, जैसे की documents create करना, spreadsheets, databases और publications, online research करना, email भेजना, designing graphics, running businesses, और यहाँ तक की गेम play करना. कहने का मतलब यह है की एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर बहुत ही specific होते हैं किसी task को करने के लिए. उन्हें केवल उसी task को करने के लिए ही design किया गया होता है. ये एक simple calculator application हो सकता है या एक complex word processing application भी हो सकता है.

Window Based Application क्या होता है और किसे कहते हैं?

Windows Application एक user build application होता है जो की एक Windows platform में run करता है. इन windows application में एक graphical user interface होता है जिसे की Windows Forms के द्वारा प्रदान किया गया होता है. Windows forms ऐसे बहुत ही variety के control प्रदान करते हैं जिसमें Button, TextBox, Radio Button, CheckBox, और दुसरे data और connection controls शामिल हैं.

Mutation Application क्या है?

Mutation Application उन application को कहा जाता है जिनका इस्तमाल होता है title ownership को change करने के लिए एक person से दुसरे तक जब कोई property को sold या transfer किया जाता है. किसी property को mutating करने का मतलब होता है की वो नया owner अपने नाम में उस जमीन या जायदाद को कर लेता है किसी land revenue department में जाकर और government भी उससे property tax charge कर सके. इन सभी documentation procedure को पहले manually किया जाता था वहीँ अभी इसके लिए Mutation Application का इस्तमाल किया जाता है.

Categorization of Application Software और System Software

दोनों Application Software और System Softwares को ज्यादा बेहतर रूप से समझने के लिए उन्हें ठीक ढंग से Categorize करना बहुत ही जरुरी होता है. तो चलिए उन्हें एक एक कर categorize करते हैं.

जैसे की हम पहले ही जानते हैं की एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को एक ही task perform करने के लिए बनाया गया है. ऐसे में अलग level के language के इस्तमाल से बहुत से अलग प्रकार के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होते हैं जैसे की :

1) Word processing software

यह एक ऐसा tool होता है जिसका इस्तमाल होता है letters, word sheets, type papers इत्यादि को create करने के लिए.
Eg: MS Word, MS Works, AppleWorks

2) Spreadsheet Software

एक ऐसा tool होता है जिसका इस्तमाल होता है number intensive problems को compute करने के लिए जैसे की forecasting, budgeting इत्यादि.
Eg: MS Excel, Quattro Pro, Lotus 1-2-3, MS Works

3) Desktop Publishing Software

इस tool का इस्तमाल illustrative worksheets, banners, newsletters, signs, gift cards इत्यादि करने के लिए इस्तमाल होता है.
Eg: MS Word, MS Publisher, Adobe PageMaker

4) Database Software

इसका इस्तमाल data store करने के लिए किया जाता है जैसे की text information, memberships, address etc. ये users को मदद करता है information को सही ढंग से sort करने के लिए.
Eg: MS Access, FileMaker Pro

5) Communication Software

ये Software Allow करता है connected computers को एक दुसरे के साथ communicate करने के लिए जिसके लिए वो audio, video या chat-based medium का इस्तमाल करते हैं.
Eg: MS Net Meeting, IRC, ICQ

6) Presentation Software

इसका इस्तमाल multimedia stacks of cards/screens का बनाने के लिए इस्तमाल किया जाता है.
Eg: MS Powerpoint, Hyper Studio, Flash, Super Card, HyperCard

7) Internet Browsers

इस tool के इस्तमाल से कोई user web में surf करता है, अपने emails read कर सकता है और साथ में web pages भी create कर सकते हैं.
Eg: Netscape Navigator, MS Internet Explorer

8) Email Programs

इन software का इस्तमाल मुख्य रूप से emails को send और receive करने के लिए किया जाता है.

Eg: MS Outlook, Netscape Messenger, Eudora, AOL Browser
जैसे जैसे technology और users की तादाद evolve हो रहे हैं, ऐसे में application software भी बदलते रहते हैं और उनमें बेहतर modifications लाया जाता है जिससे की वो real-world problems को solve कर सकें.

System Softwares की Categorization कैसे करे

देखा जाये तो मुख्य रूप से five types के systems software होते हैं, जिन्हें design किया जाता है control और coordinate करने के लिए procedures और functions को computer hardware के. ये enable करते हैं functional interaction को hardware, software और user के बीच.

Systems software सभी middleman tasks को करने के लिए किया जाता है जो की ये ensure करता है की communication software और hardware के बिच harmonious रहे.

इसलिए Systems software को mainly 5 types में categorized किया जाता है :

  • Operating system: ये communication को harnesses करता है hardware, system programs, और दुसरे applications के बीच.
  • Device driver: ये Enable करता है device communication को OS और दुसरे programs के बीच.
  • Firmware: ये Enable करता है device control और identification.
  • Translator: ये Translate करता है high-level languages को low-level machine codes में.
  • Utility: ये Ensure करता है की device और applications optimum functionality प्राप्त कर सकें.

System Software और Application Software में अंतर क्या है?

System software एक general purpose software होता है जिसका इस्तमाल computer hardware को operate करने के लिये किया जाता है. ये एक platform प्रदान करता है application software को run करने के लिए.
Application software एक specific purpose software होता है जिसे की एक specific task को perform करने के लिए User के द्वारा इस्तमाल किया जाता है.

Difference between System Software और Application Software

S.No            System Software       Application Software
1.System software का इस्तमाल computer hardware को operate करने के लिए किया जाता है.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तमाल user के द्वारा एक specific task को करने के कलिए किया जाता है.
2.System software को computer में तब install किया जाता है जब operating system को install किया जा रहा हो.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को install user’s के requirements के अनुसार किया जाता है.
3.In general बात करें तब user इन system software के साथ interact नहीं करते हैं क्यूंकि वो हमेशा background में ही काम करते हैंIn general में user interact करते हैं एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के साथ.
4.System software independently run कर सकते हैं. साथ में ये एक platform प्रदान करते हैं application software को run करने के लिए.वहीँ Application software independently run नहीं कर सकते हैं. इन्हें run करने के लिए system software की जरुरत होती है.
5.System software के कुछ उदाहरण हैं compiler assembler debugger driver इत्यादि.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कुछ उदाहरण हैं word processor web browser media player इत्यादि.

Conclusion

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है (What is Application Software in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के प्रकार के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा. यदि आपको मेरी यह post एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या होता है हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.