JavaScript क्या है और कैसे Enable करे?

जावास्क्रिप्ट क्या है (What is JavaScript in Hindi)? अगर आप Internet Browsing के लिए Browsers का इस्तमाल किये होंगे तब आपने जरुर ही Enable Javascript का option जरुर से देखा होगा. तब आपके मन में ये जरुर आया होगा की आखिर ये जावास्क्रिप्ट क्या होती है और इसे Enable करना क्यूँ जरुरी होता है. वैसे इसे हम आसान शब्दों में समझने के लिए ये कह सकते हैं की JavaScript एक मुख्य programming language नहीं होता है बल्कि यह एक Scripting Language होता है. इसका इस्तमाल मुख्य रूप से Browsers में होता है और इसे HTML या CSS के साथ ही इस्तमाल किया जाता है. इसके बहुत सी खूबियाँ है जिसे की हम आगे article में जानेंगे.

अक्सर लोगों को JavaScript और Java के बीच का अंतर पता नहीं होता है और वो दोनों को समान सोचने लगते हैं. वैसे ऐसा बिलकुल भी नहीं होता है. ये दोनों ही languauge बिलकुल ही भिन्न होते हैं. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आपको लोगों को जावास्क्रिप्ट की जानकारी और इसके क्या advantages होते हैं इस्तमाल करने के, विषय में आपको पूर्ण रूप से जानकारी प्रदान की जाये जिससे आपके मन में और कोई दुविधा उत्पन्न नहीं होगी. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं जावास्क्रिप्ट के बारे में हिंदी में.

जावास्क्रिप्ट क्या है (What is JavaScript in Hindi)

JavaScript Kya Hai Hindi

JavaScript एक बहुत ही commonly used client side scripting language होती है. या हम कह सकते हैं इसे सभी major web browsers में इस्तमाल किया जाता है. इसमें सबसे बड़ी library ecosystem होती है किसी भी programming language की. चूँकि यह एक scripting language होता है इसलिए इसके code को एक HTML page में भी लिखा जा सकता है. तो जब एक user requests करता है HTML page में, जिसमें की एक JavaScript present होती है, तब ये script को browser तक भेजा जाता है और ये browser पर ही निर्भर करता है की वो इसके सह क्या करना चाहती है.

वैसे देखा जाये टी JavaScript की कोई भी relation नहीं होती है Java के साथ. बस इसके नाम में Java का इस्तमाल होने के कारण JavaScript को कहा जाता है : The World’s Most Misunderstood Programming Language (दुनिया की सबसे गलत समझी जाने वाली language)

JavaScript Official Name है ECMAScript defined under Standard ECMA-262.

JavaScript के Frameworks क्या हैं?

जिन Frameworks को Most frequently इस्तमाल किया जाता है वो हैं React JS, Angular JS, Create JS, jQuery, nodeJS इत्यादि.

जावास्क्रिप्ट का परिचय

JavaScript उन 3 Languages में से एक Language होता है जिसे की सभी web developers को जरुर से सीखना चाहिए, चलिए उन तीनों languages के विषय में भी जानते हैं.

1. HTML इसका इस्तमाल Web Pages के content को define करने के लिए किया जाता है.

2. CSS इसका इस्तमाल Web Pages का Layout को specify करने के लिए किया जाता है.

3. JavaScript इसका इस्तमाल Web Pages के Behavior को program करने के लिए किया जाता है.
केवल Web pages ही वो एकमात्र जगह नहीं होती जहाँ की JavaScript का इस्तमाल होता है. बहुत से desktop और server programs में भी JavaScript का उपयोग होता है. Node.js ऐसा की एक Program होता है. कुछ databases, जैसे की MongoDB और CouchDB, में JavaScript को एक उनके programming language के हिसाब से इस्तमाल किया जाता है.

जावा और जावास्क्रिप्ट में अंतर

अक्सर लोगों को यही लगता है की जावा और जावास्क्रिप्ट के बीच का अंतर समान ही हैं. लेकिन असल में ऐसा कुछ भी नहीं है. तो चलिए इन दोनों के बीच के अंतर के विषय में जानते हैं.

JavaScript बिलकुल भी Java के समान नहीं है. मैं आपको और एक बार बताना चाहता हूँ की JavaScript और Java दोनों अलग अलग हैं.

वैसे इन दोनों के नाम बहुत ही मिलते झूलते जरुर हैं, जो की एक doubt create करते हैं लोगों के मन में. जहाँ इस language को primarily एक scripting language के तोर पर इस्तमाल किया जाता है HTML pages में, वहीँ Java एक real programming language होता है जो की पूरी तरह से दुसरे काम में इस्तमाल किया जाता है. वहीँ Java को सीखना थोडा कठिन हो सकता है. इसे Sun Microsystem के द्वारा develop किया गया इस्तमाल के लिए उन सभी चीज़ों में जहाँ की computing power की जरूरत थी.

JavaScript को develop किया था Brendan Eich ने, जो की उस समय में Netscape में काम किया करते था, उन्होंने इसे एक client side scripting language के तोर पर develop किया था (वैसे ऐसा कुछ fundamental reason नहीं है की क्यूँ इसे एक server side environment में इस्तमाल नहीं किया जा सकता है).

Originally इस language का नाम था Live Script, लेकिन जब इसे release किया जाने वाला था, तब Java बहुत ही popular हो चूका था. इसलिए last possible moment में ही Netscape ने इसका नाम बदलकर “JavaScript” रख दिया.

Java और JavaScript दोनों ही वंसज हैं C और C++ के, लेकिन ये languages अपने पूर्वजों से बिलकुल ही अलग काम करते हैं. दोनों ही languages object oriented होती हाँ और वो कुछ समान syntax भी share करते हैं. लकिन इसमें differences ज्यादा होती हैं similarities की तुलना में.

JavaScript को कैसे Enable करे

अभी तो प्राय सभी web pages में JavaScript होता है, ये एक scripting programming language होता है जो की visitor के web browser में run करता है. ये web pages को functional बनाता है specific purposes के लिए, वहीँ अगर ये disable हो गया कुछ कारणों के लिए तब, Web Page की content या उसकी functionality भी limited या unavailable हो जाती है.

तो चलिए जानते हैं की अलग अलग browsers में JavaScript को enable कैसे करें : –

Google Chrome में

1.  आपके web browser की menu में click करें “Customize and control Google Chrome” में और select करें “Settings“.

2.  वहीँ “Settings” section में click करें “Show advanced settings…” पर.

3.  वहीँ “Privacy” के निचे click करें “Content settings.” में.

4.  जब dialog window open होता है, आपको देखना होगा “JavaScript” section को और select करना होगा “Allow all sites to run JavaScript (recommended)” में.

5.  फिर Click करें “OK” button को इसे close करने के लिए.

6.  उसके बाद Close करें “Settings” tab.

7.  Click करें “Reload this page” button पर आपके web browser में जिससे page refresh हो जायेगा.

Internet Explorer में

1.  Web browser menu पर click करें “Tools” icon पर और select करें “Internet Options” को.

2.  वहीँ “Internet Options” window पर select करें “Security” tab पर.

3.  वहीँ “Security” tab पर click करें “Custom level” button पर.

4.  जब “Security Settings – Internet Zone” की dialog window open होती है, आपको “Scripting” section पर जाना होगा.

5.  इसमें “Active Scripting” item में select करें “Enable“.

6.  ऐसा करने से आपके सामने एक “Warning!” window pops out होगी जिसमें ये पूछा जायेगा की “क्या आप sure हैं की ये setting आप change करना चाहते हैं इस zone के लिए?” select करें “Yes“.

7.  वहीँ “Internet Options” window पर click करें “OK” button पर उसे close करने के लिए.
8.  फिर Click करें “Refresh” button पर web browser के जिससे page फिर से refresh हो जायेगा.

Mozilla Firefox में

1.  इसके address bar में, type करें about:config और press करें Enter.

2.  Click करें “I’ll be careful, I promise” पर अगर कोई warning message आपके सामने appear हो तब.

3.  वहीँ search box पर, search करें javascript.enabled

4.  फिर Toggle करें “javascript.enabled” preference (right-click करें और select “Toggle” या double-click करें उस preference को) को जिसे आप इसकी value को change कर सकते हैं “false” से “true”.

5.  Click करें “Reload current page” button पर web browser के जिससे page को आप refresh कर सकते हैं.

Opera में

1.  Click करें Opera icon “Menu” और फिर “Settings”.

2.  Click करें “Websites” और फिर choose करें “Allow all sites to run JavaScript (recommended)”

3.  Click करें “Reload” button पर web browser के उस page को refresh करने के लिए.

Apple Safari में

1.  अपने web browser menu में click करें “Edit” पर और select करें “Preferences“.

2.  वहीँ “Preferences” window पर select करें “Security” tab पर.

3.  इसके बाद “Security” tab section के “Web content” पर mark करें “Enable JavaScript” checkbox को.

4.  Click करें “Reload the current page” button को web browser के जिससे आप page को refresh कर सकते हैं.

JavaScript Language क्या है?

JavaScript एक programming language ही नहीं है अगर हम strict sense में. बल्कि ये एक scripting language होता है क्यूंकि ये browser को instruct करता है background के सभी dirty work को करने के लिए. अगर आप command करें एक image को दुसरे से replace करने के लिए, JavaScript browser को कहता है ऐसा करने के लिए. क्यूंकि असल में सभी काम browser ही करता है, आपको सिर्फ कुछ codes लिखने होते हैं इस scripting language में जिससे की browser आपके सभी काम कर सके. ख़ास इसलिए ही JavaScript एक बहुत ही आसान language होता है beginners के लिए.

JavaScript के Advantages और Disadvantages

दुसरे computer languages के ही तरह, JavaScript की भी कुछ advantages और disadvantages हैं. जहाँ पहले इसे केवल कुछ कार्यों के करने तक ही limit कर दिया जाता था वहीँ आजकल इसे बहुत से कार्यों में उपयोग किया जाता है.

 जावास्क्रिप्ट के फायदे

1.  Speed. Client-side JavaScript बहुत ही fast होती है क्यूंकि ये immediately run करती है client-side browser में. जब तक outside resources की जरुरत हो, JavaScript बिलकुल ही unhindered रहती है network calls से एक backend server में. इसे client side में compiled होने की कोई भी जरुरत नहीं है जिससे की इसे कुछ speed advantages मिलते हैं.

2.  Simplicity. JavaScript बहुत ही simple होती है सीखने के लिए और साथ में implement करने के लिए भी.

3.  Popularity. JavaScript को पुरे web में इस्तमाल किया जाता है. साथ में इसे सीखने के लिए भी internet पर बहुत से resources मेह्जुद हैं. StackOverflow और GitHub ऐसे दो बड़े websites हैं जहाँ से आप Javascript के विषय में सबकुछ जान सकते हैं.

4.  Interoperability. JavaScript बड़ी आसानी से दुसरे languages के साथ compatible होती है, साथ में इसे बहुत से applications में इस्तमाल भी किया जाता है. PHP और SSI scripts के विपरीत, JavaScript को आसानी से किसी भी web page में insert किया जा सकता है. JavaScript का इस्तमाल दुसरे scripts के भीतर भी किया जा सकता है जिन्हें की अलग languages जैसे की Perl और PHP में लिखा गया है.

5.  Server Load. ये client-side में इस्तमाल होने के कारण, website server में इसकी demand कम हो जाती है.

6.  Rich interfaces. Drag, या drop components या फिर slider के होने से ये आपके website को एक rich interface प्रदान करती है.

7.  Versatility. अभी तो JavaScript को बहुत सारे servers में भी इस्तमाल किया जाने लगा है. JavaScript को front-end में clients server में इस्तमाल किया जाता है, साथ ही अभी तो एक पूरा entire JavaScript app भी बनाया जा सकता है front से लेकर back तक केवल JavaScript के मदद से.

जावास्क्रिप्ट के नुकसान

1. Client-Side Security. चूँकि ये code execute होता है users के computer से, इसलिए कुछ cases में इसे exploit भी किया जा सकता है malicious purposes के लिए. यही वो एक मुख्य कारण है जिसके लिए कुछ लोग Javascript को disable करना ज्यादा पसंद करते हैं.

2.Browser Support. JavaScript को कभी कबार अलग अलग browsers में differently interpret किया जाता है. जहाँ की server-side scripts हमेशा एक ही प्रकार का output produce करती है, वहीँ client-side scripts की output थोड़ी बहुत unpredictable होती है. वैसे ये कोई बड़ी समस्या नहीं है क्यूंकि जब तक बड़े और popular browsers में ये सही तरीके से काम कर रहे हों, तब तक सब safe होता है.

आज के समय की जावास्क्रिप्ट

अभी के समय की बात करूँ तब ये Script सभी जगहों में मेह्जुद हैं – ये सबसे commonly used client-side scripting language होता है. JavaScript को लिखा जाता है HTML documents में और ये enable करता है interactions दुसरे web pages के साथ बहुत ही unique ways में. उदाहरण के लिए, ये केवल JavaScript के कारण ही हूँ automatically schedule कर सकते हैं appointments और online games play कर सकते हैं. इसके अलावा, new developments, जैसे की Node.js, allow करता है इसका इस्तमाल server-side में वहीँ APIs, जैसे की HTML5, allow करता है control करना user media और दुसरे device features को.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख जावास्क्रिप्ट क्या है (What is JavaScript in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को जावा और जावास्क्रिप्ट में अंतर के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. यदि आपको यह post जावास्क्रिप्ट क्या होती है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

9 COMMENTS

  1. hello bro, I just started a new blog in hinglish, so can U gave some feedback, how have to design our blog in best way.
    Thanks In advance

  2. Aap css par ek post likh sakte hain. Ek post us topic par likh dijiye. Aap post achhe se explain karke likhte hain ummid hai jald css ke topic parvpost likjenge.
    Ye aap kon sa font use kar rahe hain.

  3. hello sir
    please help me
    kya hm durei kei content ko copy kr sktei hei agar kr bi liya but 6 month ho gya fhir addence improve hoga ya nhi

    agar nhi huaa to sir kya hm jintei bi copy kiyei hei contnet ko unko delet kr detei hei after baad mei apna content likhei aur fhir kya addsence improve ho jayei ga

    pls sir help me

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.