Utility Software क्या है और इसके प्रकार

System Software और Application Software के विषय में आप लोगों ने तो अभी तक हमारे articles पढ़कर समझ भी चूका होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं की ये Utility Softwares क्या है? इन्हें features क्या हैं और इसके advantages क्या होते हैं किसी user के लिए? यदि आपको भी इन सभी सवालों के विषय में जानने की इच्छा है तब आपको इस article को पुरे अंत तक जरुर से पढना होगा.

Utility software, जिसे की अक्सर utility के नाम से refer किया जाता है. यह एक ऐसा system software होता है जिसे की design ही इसलिए किया गया होता है ताकि ये आपकी मदद कर सके आपके computer को ठीक तरीके से analyze, configure, optimize या maintain करने में. इसके अलावा ये आपके computer की performance को enhance करने में आपकी मदद भी करता है. एक ऐसा program जो की कोई specific task ही perform करता है, और ये अक्सर आपके system resources को manage करने से सम्बंधित होता है. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को भी सिस्टम यूटिलिटी सॉफ्टवेयर के विषय में विस्तार में समझाया जाये जिससे आपको भी इसे समझने में आसानी हो. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की यूटिलिटी सॉफ्टवेयर किसे कहते हैं.

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर क्या है (What is Utility Software in Hindi)

Utility Software Kya Hai Hindi

Utility Programs या Softwares, जिन्हें की commonly refer किया जाता है केवल “utilities” के हिसाब से भी. ये ऐसे software programs होते हैं जो की आपके computer को additional functionality प्रदान करती है और उसे और भी बेहतर perform करने में मदद करती है. इसके तहत बहुत से programs आ सकते हैं जैसे की antivirus, backup, disk repair, file management, security, और networking programs.

Utilities दुसरे applications भी हो सकते हैं जैसे की screensavers, font और icon tools, या desktop enhancements. कुछ utility programs आपके computer को unwanted software जैसे की viruses या spyware से रक्षा करने में मदद करते हैं, वहीँ कुछ तो उसमें दुसरे functionality को add करने में मदद करते हैं जिससे की वो इन्हें allow करे अपने desktop या UI को customize करने के लिए. आसान भाषा में कहा जाये तो, ऐसे programs जो की आपके computer को बेहतर बनाने में आपकी मदद करें उन्हें utilities कहा जाता है.

Utility software usually focused होते हैं की कैसे आपके computer infrastructure जिसमें की computer hardware, application software, operating system और data storage programs शामिल हो operate करते हैं. ये utilities छोटे से लेकर बड़े तक सभी shape और size में range करते हैं. वो चाहे तो single task perform करे या फिर multiple tasks. कुछ functions जो की ये utilities perform करते हैं वो हैं data compression, disk defragmentation, data recovery, computer resources और files का management, system diagnosis, virus detection, और कई ऐसे functions.

Utility Programs क्या है?

Utility program उन special software को कहा जाता है जो की किसी system के operating system की maintenance और management का सभी ख्याल रखते हैं जिससे की computer system की performance हमेशा appropriate level में रहे. ये utility programs किसी operating system का हिस्सा हो सकता है या किसी third-party developers का कोई product भी हो सकता है. यदि आप चाहते हैं को कोई program को install करना या कोई file को किसी दुसरे folder में move करना, कोई document को search करना या किसी network connection को set करना, इन सभी चीज़ों में आपको किसी न किसी utility program tools का इस्तमाल करना ही होगा.

दूसरा एक महत्वपूर्ण खासियत इसके ये हैं की इन utilities का इस्तमाल आप अपने hard drive performance को ठीक करने के लिए कर सकते हैं. Disc check, disc clean up और disc defragmentation जैसे programs आपके storage को organized रख सकते हैं और इसके साथ आपको किसी information को search, retrieve या display करने में आपकी मदद कर सकते हैं. वहीँ backup और recovery programs का इस्तमाल आप अपने data को खोने या corrupt होने से बचा सकने में इस्तमाल कर सकते हैं. वहीँ security programs से आप अपने device और data को unknown threats से बचा सकते हैं.

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर के प्रकार

वैसे तो Utility Softwares के बहुत से प्रकार होते हैं, लेकिन यहाँ हम उनमें से कुछ बहुत से महत्वपूर्ण software के विषय में ही जानने की कोशिश करेंगे.

File Management Program

इन programs का इस्तमाल files को organize करने के लिए किया जाता है और ये users को available होते हैं उन्हें access करने के लिए. इन file management programs में कुछ important concepts होते हैं जो की users की काफी मदद करते हैं. इसमें सबसे पहला आता है एक navigation system जो की user को ये सुविधा प्रदान करते हैं जिससे की वो file hierarchy को access कर सके और वो अपने काम को ढूंड सकते हैं. इन actions में आते हैं “up” और “down” जिससे folders से navigate किया जा सकता है और साथ में data तक पहुँचने के लिए user “go to” का इस्तमाल कर सकते हैं.

दूसरा function है operations functions जो की user को allow करता है files के साथ interact करने के लिए. ये सब करने के लिए जो common functions का इस्तमाल करते हैं वो हैं : open, save, close, copy, move, delete, rename, new और share.

ये तो जायज सी बात है की user obviously ही files की security को लेकर जरुर से concern होंगे. इसलिए users चाहें तो files को block किया जा सकता है एक login procedure के माध्यम से जिसे केवल वही लोग access कर सकते हैं जिनके पास file को access करने का username और password हो.

वहीँ आपके file program को organized रूप से रखने के लिए उन्हें किसी एक storage location में store करना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है. इसका अलावा एक search function भी बहुत जरुरी है जिससे की एक particular file को आसानी से ढूंडा जा सकता है. इसके लिए आप internet से search utilility softwares को download कर सकते हैं. ये आपको files को search करने में मदद करेगी.

Diagnostic और Disc Management Programs

जैसे जैसे technology हमारे जीवन का बड़ा हिस्सा बन रहा है दिनप्रतिदिन के कामों में , इसलिए इस बात की ख़ास ध्यान रखना आवश्यक है की ये खुद को और system को self maintain करे और smooth running में उनका मदद करे. Users को खुद computer की सभी चीज़ों को check करने के जरुरत नहीं है बल्कि अब computers में built in diagnostic management program और disc management programs pre-installed होते हैं.

जहाँ Diagnostic management programs इस बात को देखते हैं की system ठीक रूप से work करनी चाहिए जैसे वो चलनी चाहिए, वहीँ disc management systems programs इस बात को check करते हैं की आपकी hard drive सही रूप से operate कर रही है नहीं. ये programs आपके computer को quickly, optimally, और effectively daily basis में run करने में सहायक होते हैं.

Uninstall और Cleanup Utilities

आप सोच रहे होंगे की एक बार कोई program या application को delete किया जाता है तब उसका कोई trace नहीं रह जाता है, लेकिन असल में ऐसा नहीं होता है. बहुत से instances में, file, program, या application को trace में hard drive में रह जाते हैं. वहीँ इनसे दूर होने के लिए users uninstall utilities का इस्तमाल करते हैं. ये programs आपके hard drive को scan करता है और सभी unneeded space, memory, या left over remnants को remove करता है जो की उस application के remove करने के बाद drive में रह गए होते हैं. बहुत से computers में ये option पहले से ही installed होते हैं, जिससे की users आसानी से अपने computer को updated और fast कर सकते हैं.

वहीँ Clean up utilities भी uninstall utilities के समान होती हैं; इसमें ये ये पुराने applications और programs को delete करने के लिए, ये computer के सभी temporary files को ही delete कर देते हैं.

File Compression Programs

File compression programs को design किया गया है file की size को कम करने के लिए जिससे user को ज्यादा storage space प्राप्त होता है. Windows users के लिए, इन compressed files की usually .zip या .zipx file extension होती है. इनमें सबसे popular programs हैं Winrar, Winzip और 7-Zip. वहीँ Mac users के लिए, इन files की usually.sit या .sitx format होती है. इनमें जो Programs commonly इस्तमाल किया जाते हैं वो होते हैं RAR Expander, StuffIt Expander और MacZip.

ये file compression programs का इस्तमाल करना एक बहुत ही efficient तरीका होता है storage space को free करने के लिए दुसरे computer tasks के लिए.

Backup और Recovery Utilities

कभी कबार हमारे साथ में ऐसा हो सकता है की कुछ power outage के होने से आपके सभी files और data का corrupt भी हो सकते हैं. इससे आपकी भरी नुकसान भी हो जा सकता है. यही कारण है की आपको अपने data की सही ढंग से backup लेनी चाहिए. इसके लिए आपको backup और recovery utilities का इस्तमाल करना होगा. Internet में आपको backup के बहुत से utilites free में मिल सकते हैं जिन्हें आप download कर सकते हैं.

Antivirus, Antispyware, Firewalls, और दुसरे Security Programs

Malware की बात करें तब इसमें बहुत सी चीज़ें आती है जैसे की viruses, trojans, worms, spyware और दुसरे forms जो की computer operation को disrupt करते हैं. जैसे की मैंने कहा है malware आपके computers को बहुत से तरीकों से infect करते हैं. इसलिए यदि आपको अपने computer system को इन threats से बचाना है तब आपको software utilities का इस्तमाल करना चाहिए, ये आपके operating system को सभी malwares से बचाती है.

Windows के Popular antivirus programs हैं AVG, Norton 360, McAfee, Kaspersky और Microsoft Security Essentials. वहीँ एक firewall का इस्तमाल network ports को monitor करने के लिए किया जाता है, इसके लिए वो inbound और outbound traffic को control करते हैं. इनका मुख्य उद्देश्य है computer systems को malware और hackers से रक्षा करना. सबसे जरुरी जो बात है वो ये की आपको इन antivirus, antispyware और दुसरे security programs को up-to-date रखना चाहिए, इससे आप अपने system की रक्षा कर सकते हैं.

Utility Software के Advantages

Utility software को इसलिए design किया गया है जिससे की इसे specifically आपके system को आसानी से manage और tune किया जा सके. इसके अलावा operating system, computer hardware और application software को भी इससे manage किया जा सकते है system की.

1.  ये computer system की efficiency बढ़ाने के लिए और इसे सही रूप से maintain करने के लिए इस्तमाल किया जाता है.

2.  इसके साथ ये आपके computer को खतरनाक software threats जैसे की viruses या spyware से रक्षा करता है.

3.  ये system में ऐसी functionality add करता है जिससे की ये user को allow करे उनके desktop और user interface को customize करने के लिए.

4.  ये computer memory को manage करती है और साथ में उनकी performance को बढाती भी है.

5.  ये सभी computer functions को manage करती है और साथ में सभी files resources को efficiently इस्तमाल करती है.

Applications और Utilities में क्या अंतर होता है?

Utilities अक्सर applications से उनके size, complexity, usability और साथ में उनके function के आधार पर भिन्न होते हैं. Utilities ज्यादा technical होते हैं इसलिए इन्हें केवल वही लोग इस्तमाल करते हैं जिन्हें की computer की पहले से knowledge हो. वहीँ इसके विपरीत ही application software बहुत ही simple होते हैं इस्तमाल करने के लिए और साथ में इसे कोई भी user इस्तमाल कर सकता है. ऐसे users जिन्हें की technical knowledge न भी हो तो भी चलेगा.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर vs यूटिलिटी सॉफ्टवेयर

                 Application software            Utility Software
Application software एक ऐसा प्रकार का computer based program होता है जिसे की design किया गया होता है कुछ ऐसे tasks को perform करने के लिए जिन्हें की एक साथ grouped किया गया होता है और जो users की मदद करता है उनके कार्य को पूर्ण करने के लिए बहुत ही कम समय में और वो भी जल्द.वहीँ utility program ऐसा program होता है जिसे की design किया गया होता है कुछ specific tasks को पूर्ण करने के लिए जो की device को अच्छे ढंग से काम करने में सहायक होता है और साथ में environment को safe भी रखते हैं.
इस software को ज्यादातर download किया जाता है internet से.वहीँ utility program या तो already computer में installed होते हैं या फिर web से downloadable भी होते हैं.
इस Software का एक बहतरीन उदाहरण हैं एक video player जिसका इस्तमाल computer में बहुत से files को play करने के लिए किया जाता है.वहीँ एक utility program का बहतरीन उदाहरण हैं एक anti-virus program जो की computer में install किया गया होता है और जो की computer को safe रखता है.
इस Software अक्सर बड़े size के होते हैं और वो ज्यादा space लेते हैं.वहीँ एक Utility Software छोटे size का होता है और बहुत ही कम space लेता है साथ में power भी यदि इसकी तुलना किया जाते Application software से.
ये software एक accessory के तरह होता है जो की कुछ benefit show कर भी सकता है या नहीं.वहीँ ये software हमेशा device के प्रति कुछ benefit जरुर दिखाता है.
ये software अक्सर paid होते हैं अगर उन्हें web से download किया जाये तब.वहीँ ये software अक्सर free होते हैं अगर इसे computer में install किया जाये.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख यूटिलिटी सॉफ्टवेयर क्या है (What is Utility Software in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को यूटिलिटी सॉफ्टवेयर किसे कहते हैं के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या Internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. यदि आपको यह लेख Utility Software क्या होता है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

1 COMMENT

  1. apka dhanyawad sir , hmare liye nye nye hindi me post dalne k liye

    apko dekh kar maine bhi apna ek website open kiya he wo bhi hindi me.

    please sir support me

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here