Kali Linux क्या है और डाउनलोड कैसे करे?

यदि आपने Ethical Hacking का नाम सुना है तब जरुर से आपका सामना इस Kali Linux से जरुर हुआ होगा. लेकिन आप में ऐसे बहुत लोग होंगे किन्हें की ये जानने में बहुत दिलचस्पी होगी की आखिर ये Kali Linux क्या है और इसके benefits क्या हैं. यदि आप भी उन्ही में से एक हैं तब तो आज का यह article आपके लिए बहुत ही जानकारी भरा होने वाला है.

Kali Linux अब के समय में एक industry का एक leading Linux distribution है जब बात penetration testing और ethical hacking की हो तब. यह एक ऐसा distribution है जिसमें की by default (पहले से ही) बहुत से hacking और penetration tools एवं software pre loaded होते हैं. वहीँ इस linux version को दुनियाभर में बहुत से लोग इस्तमाल में लाते हैं.

इनमें ऐसे Windows users भी शामिल है जिन्हें की Linux के विषय में कुछ भी नहीं पता होता है. इसलिए चाहे उन्हें कुछ पता हो या न हो सभी को इसे इस्तमाल करने में बड़ी रूचि होती है. इसका कारण बहुत से हैं जैसे की कोई इसे केवल fun करने के लिए करते हैं, तो कुछ अपने girl friend को impress करने के लिए, वहीँ कुछ अपने पडोसी के wifi को hack करने के लिए भी करते हैं.

यकीन मानिये की ऐसा करना बिलकुल भी ठीक नहीं है क्यूंकि Kali Linux को इस कार्य के लिए नहीं बनाया गया है. इसलिए चलिए आज इस article में हम Kali Linux क्या होता है और उससे जुडी सभी बातों को गहराई से समझेंगे. जिससे आपको इसे ठीक तरीके से समझने में आसानी होगी. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

काली लिनक्स क्या है (What is Kali Linux in Hindi)

Kali Linux Kya hai Hindi
काली लिनक्स इन हिंदी

Kali Linux एक ऐसा Linux distribution होता है की जो की specialized होते हैं cybersecurity जैसे कार्यों के लिए. यह एक open-source product होता है जिसमें बहुत सारे customization किये गए होते हैं penetration testing के लिए, जिससे की ये बहुत सी companies की मदद करते हैं उनके vulnerabilities को पहचानने के लिए.

वैसे एक Linux Distribution में अक्सर एक bundle होता है जिसमें की Linux kernel होता है, साथ में एक set की core utilities और applications, साथ में कुछ default settings भी. इसलिए Kali Linux में वैसे कुछ ज्यादा unique चीज़ नहीं होता है, क्यूंकि इसमें जो भी tools होते हैं उन्हें किसी दुसरे Linux Distribution में भी install किया जा सकता है.

इसमें जो सबसे बड़ा अंतर है वो ये की Kali Linux में सभी tools pre-packaged होते हैं और इनकी default settings का चुनाव भी उनके इस्तमाल के हिसाब से पहले से ही किया जाता है जो की एक typical desktop user को fit बैठे.

Kali Linux based होता है एक Debian Linux distribution के आधार पर, और साथ में ये run करता है एक wide spectrum की devices पर. चूँकि ये open-source होता है इसलिए इसे इस्तमाल करना free होता है और legal भी, बहुत से wide range के enterprise scenarios में.

वहीँ बहुत से experts ये recommend करते हैं की Kali Linux का इस्तमाल केवल Linux के जानकार ही करें और न की beginners.

काली लिनक्स को किसने Develop किया है?

Kali Linux को develop किया गया है एक security firm Offensive Security के द्वारा सन 13th March 2013 में. इसे rewrite किया गया है Debian में, उनके previous Knoppix-based digital forensics और penetration testing distribution BackTrack के ऊपर.

काली लिनक्स का Official Statement क्या है?

Kali Linux का Offical Statement है “Penetration Testing and Ethical Hacking Linux Distribution”. आसान भाषा में कहें तब, यह एक ऐसा Linux distribution package है जिसमें की security-related tools पहले से ही pre-loaded होते हैं. ये पूरी तरह से targeted होते हैं network और computer security experts के लिए ही.

काली लिनक्स को कब और क्यूँ लाया गया?

जैसे की हम जानते ही हैं की dynamic Linux platform और साथ में Linux System का utilization धीरे धीरे बढ़ते चला गया. और जैसे जैसे Linux System का utilization बढ़ता चला गया, वैसे वैसे एक secure environment की जरुरत भी ज्यादा होती चली गयी Linux Experts के लिए. इसी secure Linux browsing को कम करने के लिए Kali Linux को introduce किया गया 13th March 2013 में.

Kali Linux एक Debian-based Linux distribution है जिसका मुख्य काम advanced Penetration Testing और Security Auditing services प्रदान करना है users को. ये Kali एक ऐसा tool है Linux users के लिए जो की बहुत से tricks प्रदान करता है security department को.

Kali Linux में ऐसे बहुत से tools packed होते हैं जो की आपको बहुत से security tasks को करने में मदद प्रदान करते हैं जैसे की Penetration Testing, Security research, Computer Forensics और Reverse Engineering इत्यादि.

यह fully awesome security package Kali Linux को develop, fund और maintain किया गया है Offensive Security के द्वारा, जो की एक leading information security training company है और इन्होने digital security system के field में कभी बड़े बड़े achievement प्राप्त किये हैं.

असल में देखा जाये तो, Kali Linux पूरी तरह से एक overall makeover होता है BackTrack Linux का, लेकिन इस Linux में, BackTrack Linux के सभी limitation को हटा दिया गया है और उसके बदले में नयी और बेहतर security tools को शामिल किया गया है.

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषता

Kali Linux एक बहुत ही बढ़िया और popular OS बन गया है अभी के समय में इसके बहुत ही बेहतरीन और strong benefits के वजह से. तो चलिए Kali Linux के विषय में कुछ और बातें जानते हैं.

1. एक नया user जो की Linux में पूरी तरह से नया है, उसे ये पता ही नहीं होगा की root ही वो एकमात्र user होता है installation के बाद. वहीँ एक दूसरी बात की pentesting tools में super user access की जरुरत होती है.

2. Kali Linux एक अच्छी choice नहीं है daily computing के लिए (जैसे की Office Work, Internet Surfing, Video Editing इत्यादि). यहाँ आप अपनी PC को दूसरों के साथ share भी नहीं कर सकते हैं.

3. Kali Linux के ज्यादातर features छुपे हुए होते हैं command line में न की menu में. इसलिए आपको यहाँ पर कोई specific office applications या tools (calculator और Quick Note को छोड़कर) नहीं प्राप्त होते हैं. यहाँ सभी tools जो available हैं वो सारे security oriented होते हैं.

4. Kali पूरी तरह से Debian based होता है, लेकिन इसमें वैसे कोई specific tools नहीं होते हैं. आप जितने में चाहे tools को इसमें install कर सकते हैं commands का इस्तमाल कर (जैसे की apt-get update, apt-get install).

5. Root के हिसाब से काम करना बहुत से समय में ठीक नहीं होता है. चूँकि इसमें कोई भी restiction नहीं होती है इसलिए आप न चाहते हुए भी बहुत से कार्य कर लेते हैं, जो बाद में आपको तकलीफ प्रदान करती है. जैसे की files type को manupulate करना, settings को बदल देना इत्यादि.

Kali Linux को Download और Install कैसे करे?

अगर आप भी अपने system में Kali Linux install करना चाहते हैं, तब आपको भी पहले इसके ISO file को download करना होगा इसके official website से.

यहाँ पर इसकी official Link दी गयी है https://www.kali.org/downloads

अगर आपकी PC एक 64 bit Intel CPU है, तब amd64 एक right download है आपके लिए. एक बार आपके download कर लिया, फिर आप चाहें तो SHA-256 fingerprint के साथ check कर सकते हैं और उसे compare भी कर सकते हैं downloaded file के साथ. एक बार आपने ISO को checksum के साथ check कर लिया, तब आप उस ISO के integrity को check कर confirm हो सकते हैं.

Kali Linux क्यूँ Beginners के लिए सही नहीं है?

अगर आप कोई ऐसे व्यक्ति हैं जो की अभी अभी ही Linux का इस्तमाल कर रहे हैं, या आप खुदको इतना ज्यादा expert नहीं मानते हैं और बार बार internet की मदद लेते हैं चीज़ों को समझने के लिए लिए तब आप जरुर से एक Beginner हैं Linux के दुनिया में. तब ये मान लें की Kali Linux आपके लिए suitable नहीं है.

Kali Linux को mainly बनाया गया है professionals के लिए जो की penetration testing run करते हैं और ऐसे लोग जो की ethical hacking सिख चुके हैं और digital forensics में कार्य कर रहे हैं. लेकिन तब भी आपको ऐसे बहुत से मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है जब आप Kali Linux का इस्तमाल कर रहे हों day-to-day usage में.

Expert होने के वाबजूद भी आपको इन tools और software का इस्तमाल बड़े ही careful तरीके से करना चाहिए. ये कोई ऐसे software नहीं है की आप केवल install करें और चीज़ें काम करना चालू हो जाये. प्रत्येक tool को carefully इस्तमाल करना पड़ता है, साथ में प्रत्येक software को install करने से पहले carefully examine भी करना पड़ता है.

इसलिए अगर आप एक beginner हैं या फिर एक average linux user हैं तब आपको पहले Linux और उसके सभी daemons, services, software, distributions को पढना होगा साथ में ये भी समझना होगा की वे काम कैसे करते हैं, इसके लिए आप बहुत से free videos और courses भी देख सकते हैं जो की आपको ethical hacking के साथ साथ Kali को कैसे apply करें के बारे में जानकारी प्रदान करती है.

Kali Linux की Modified Kernel और Software

Kali Linux based होता है Debian के ऊपर, इसलिए ये इस्तमाल करती हैं dabian की ही software architecture, और इसलिए ही आपको भी ऐसे बहुत से software मिल जायेंगे Kali Linux में जो की ठीक Dabian के तरह प्रतीत होते हैं.

वहीँ लेकिन कुछ packages को modify किया जाता है जिससे की security को harden किया जा सकें और साथ ही कुछ possible vulnerabilities को fix भी किया जा सके. जो Linux kernel इस्तमाल करता है Kali वो पहले से ही patched होता है जिससे की वो आपको allow करे wireless injection करने के लिए अलग अलग devices में.

इस प्रकार के patches अक्सर available नहीं होते हैं vanilla kernel में. वहीँ Kali Linux depend नहीं करती है Debian servers और mirrors में, लेकिन वहीँ ये build करती है packages अपने ही servers में.

यहाँ पर आपको default software sources के बारे में जानकारी मिलेगी latest release के विषय में :

deb http://http.kali.org/kali kali-rolling main contrib non-free
deb-src http://http.kali.org/kali kali-rolling main contrib non-free

इसी कारण के लिए कुछ specific software में, आपको एक अलग ही behaviour देखने को मिल सकता है जब आप वही समान program को Kali Linux या कोई दुसरे Os में इस्तमाल करें तब.

इसलिए Kali Linux official documentation में ये ख़ास तोर से सूचित किया जाता है की कोई भी 3rd-party software repositories को install न करें, क्यूंकि Kali Linux हमेशा अपनी नयी release roll करता है Debian Testing के आधार पर ही, और ऐसे में अगर आपने कोई नयी repository को install किया तब ये आपके system को break भी कर सकती है.

Kali Linux के Advantages क्या है?

चलिए Kali Linux के Advantages के विषय में जानते हैं.

1. इसमें बहुत से Advanced Penetration Testing tools है

Kali Linux में आपको 600+ super amazing advanced Penetration’ Testing tools पहले से ही pre-loaded होते हैं. इसमें BackTrack Linux के tools जो की उतने ज्यादा famous नहीं थे उन्हें replace कर दिया गया है नए advanced penetration testing tools के साथ kali linux में.

2. ये पूरी तरह से free Linux tool है

Kali Linux system पूरी तरह से free है ये अपने users को free lifetime services प्रदान करता है. इससे users इसे freely नए updates के साथ इस्तमाल कर सकते हैं.

3. Open sourced Git tree होता है

ये Kali Linux पूरी तरह से openly sourced system है जिसे की users के द्वारा access किया जा सकता है. इसकी सभी codes को कोई भी आसानी से देख सकता है, साथ में इसकी open development tree से आसानी से coding के development को प्रत्येक step में देखा जा सकता है.

4. FHS support का होना

Kali में File-system Hierarchy Standard का इस्तमाल होता है, जिससे की Linux users आसानी से binaries locate कर सकते हैं, support files, libraries, इत्यादि. यह एक महत्वपूर्ण feature होता है Kali Linux का जो की इसे दुसरे Linux systems से अलग करता है.

5. Cool Wireless support का होना

Kali Linux में ये ख़ास feature होती है जिससे की इसे किसी भी wireless support systems के साथ connect किया जा सकता है या USB ports जिसमें आप इसे connect कर सकें एक समय में

Kali Linux allow करता है इसे एक wide variety के hardware में run करने के लिए जिससे की ये और भी ज्यादा compatible बन जाता है बहुत से एनी USB और wireless devices में काम करने के लिए.

6. Kali बहुत से भाषाओं को support करता है

जैसे की Kali Linux के सभी Penetration’ tools English language में होते हैं, लेकिन इसके अलावा ये allow करता है users को अन्य भाषाओं में काम करने के लिए.

7. ARMEL और ARMHF support का होना

आप शायद जानते हों की ARM-based single-board systems जैसे की Raspberry Pi और BeagleBone Black, बाकियों के जैसे ही ज्यादा prevalent और inexpensive बनते जा रहे हैं, ठीक वैसे इसके substitute में, Kali की ARM support भी उतनी ही robust होनी चाहिए एक management tool के हिसाब से, जिसमें सभी fully working installations हों दोनों ARMEL और ARMHF systems के लिए.

क्या आपको Kali Linux इस्तमाल करना चाहिए?

ऐसे बहुत ही कम लोग होंगे जो की Kali Linux को एक primary system के हिसाब से इस्तमाल करते हों.
वें यदि आप ऐसा करना भी चाहते हों तब भी आपको अपने सभी personal files, password, data और सभी चीज़ों को एक अलग ही system save कर लेनी चाहिए. वहीँ साथ में आपको बहुत से daily-use software को भी install करना होगा अपने जीवन को आसान बनाने के लिए.

जैसे की मैंने पहले भी बताया है की, Kali Linux का इस्तमाल बहुत ही risky होता है और इसे बड़े ही ध्यान से करना चहिये, वहीँ अगर आप कभी hacked हो गए तब आपको अपने सभी data से हाथ धोना पड़ेगा, या आप एक wider audience के सामने expose भी हो सकते हैं.

आपके personal information को इस्तमाल कर आपको track भी किया जा सकता है अगर आप कोई non-legal काम कर रहे हों तब. साथ ही आप खुद भी अपने सभी data को destroy कर सकते हैं चूँकि इसमें root access ही होता है. इसलिए इन tools को इस्तमाल करते समय सावधानी बरतनी चाहिए.

कुछ professional white hackers भी मना कटे हैं इसे एक primary system के जैसे इस्तमाल करने से, वहीँ आप इसे एक USB की मदद से इस्तमाल कर सकते हैं अपने किसी भी penetration testing work को करने के लिए. इससे आपके data loss होने की संभावनाएं मानो ख़त्म हो जाती हैं.

निष्कर्ष

अगर आप सच में Kali Linux का इस्तमाल करना चाहते हैं तब आपको इसे lightly नहीं लेनी चहिये. बल्कि आपको पहले इसे सीखना होगा जिसके लिए आप Courses और Videos का इस्तमाल कर सकते हैं. साथ में आने वाली परेशानियों से दूर रहने के कला भी सीखनी चहिये.

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख काली लिनक्स क्या है (What is Kali Linux in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषता के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post Kali Linux क्या होता है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

10 COMMENTS

  1. Thanks a lot bro give us about it

    Mere site dekhakr btao na bro ki meri site kese hai or ak post dekhakr btao please ki meri post shi h ya nhi please muje reply jarur krna bro

    Thanks a lot

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.