कोरोना वायरस का कहर से कैसे जूझ रहा है पूरा विश्व

ये बात हम सभी को भली भांति पता है की किस प्रकार से Corona Virus का कहर पूरी दुनिया पर बरस रहा है. Corona Virus का कहर इतना ज्यादा भयानक और दर्दनाक है की लोगों को इससे काफ़ी तकलीफ उठानी पड़ रही है. इतना ही नहीं, बहुत से राष्ट्र इस कोरोना वायरस की महामारी को रोकने के लिए अपने पुरे देश को Lockdown भी करने लगे हैं. उदाहरण के लिए, भारत ने कल रात 12:00 बजे से पुरे देश को 21 दिनों के लिए पूर्ण Lockdown घोषित कर दिया है. इसका मतलब की अब कोई भी नागरिक घर से बाहर नहीं आ सकेगा और अपने घर पर ही बंद रहेगा.

इस प्रकार का बड़ा पदक्ष्येप लेने के पीछे जो सबसे बड़ा कारण है वो यह की कोरोना वायरस को रोक पाने का अभी के समय में कोई भी उपाय नहीं है. इसे केवल घर से बाहर न निकलकर ही रोका जा सकता है. चीन से शुरू हुआ यह Virus सच में काफी कम समय में लाखों लोगों को पीड़ित कर चूका है और साथ में अभी भी कर रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार March 24 तक, 17,200 से भी ज्यादा लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. वहीँ 390,000 से भी ज्यादा लोगों को COVID-19 Positive पाया गया है. इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं की यह बीमारी सच में कितनी बड़ी भयानक रूप ले रही है.

ऐसे में सरकार द्वारी बताई गयी चीज़ों को और Doctors के द्वारा दी गयी सुझाव पर अमल करने से ही सबकी भलाई है. ऐसे में आज हमने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को कोरोना वायरस का कहर के सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी साझा की जाये जिससे आपको भी कुछ ज्ञान मिल सके. तो फिर चलिए शुरू करते हैं.

अनुक्रम दिखाएँ

कोरोना वायरस की पूरी जानकारी हिंदी में

corona virus kahar hindi

Coronavirus असल में उस Viruses परिवार का हिस्सा है जो की हम इंसानों में काफ़ी सारी बीमारी पैदा करते हैं जिसमें common cold (आम जुकाम) से लेकर severe acute respiratory syndrome (SARS) और Middle East respiratory syndrome (MERS) भी शामिल हैं.

जानकारों का मानना है की ये viruses असल में जानवरों द्वारा ही हम इन्सान तक पहुंचे हैं. जैसे उदाहरण के लिए, SARS की बीमारी हमें civet cats से मिली हैं वहीँ MERS की बीमारी हम इंसानों तक ऊंट से आई हुई है. ठीक ऐसे ही ऐसे काफी सारे coronaviruses अब भी मेह्जुद हैं जो की भले ही जानवरों में पाए जाते हैं लेकिन इन्होने अभी तक हम इंसानों को infect नहीं किया है.

Corona Latest Updates

वर्तमान में हमने दुनिया भर में [cvct-text field=”confirmed”]+ कुल कोरोना वायरस के मामलों का पता लगाया है. वर्तमान वसूली दर [cvct-text field=”recovered-per”] है, क्योंकि [cvct-text field=”recovered”] मरीज कुल [cvct-text field=”confirmed”]+ covid-19 मामलों में से बाहर आ चुके हैं. दुर्भाग्य से, इस वायरस के संक्रमण के कारण, [cvct-text field=”death”]+ लोगों की मृत्यु हो गई है, दुनिया भर में वर्तमान में मृत्यु दर [cvct-text field=”death-per”] है. [cvct-text field=”active”]+ मामले अभी भी सक्रिय हैं, जो दुनिया भर में पाए गए मामलों की कुल संख्या के [cvct-text field=”active-per”] का प्रतिनिधित्व करता है.
[cvct-tbl layout=”layout-2″ show=”10″ bg-color=”#444″ font-color=”#ffffff”]

कोरोना वायरस का नाम कैसे पड़ा?

CoronaVirus का नाम एक Latin शब्द corona से लिया गया है, जिसका मतलब है की एक ताज के शक्ल वाला. यानि की यदि आप एक electron microscope की मदद से इस virus को देखें तब आपको दिखाई पड़ेगा की इस Virus के चारों तरफ भी एक ताज के तरह दिखाई पड़ता है, जो की इसका solar corona होता है.

कोरोना वायरस को सबसे पहले कब और कहाँ पाया गया था?

इस novel coronavirus को सबसे पहले Chinese authorities के द्वार Wuhan शहर में पाया गया वो भी January 7 2020 को. यही कारण है की इसे पहले SARS-CoV-2 नाम दिया गया. यह एक ऐसी नयी प्रजाति थी जिसे की इससे पहले कभी हम मनुष्यों में नहीं पाया गया था. इस Virus के संधर्व में काफ़ी कम जानकारी है, लेकिन ये बात साफ़ है की ये Virus एक इन्सान से दुसरे इन्सान तक आसानी से transmit कर सकता है.

कोरोना वायरस बीमारी के लक्षण क्या हैं?

अब चलिए जानते हैं की कोई व्यक्ति Corona Virus से पीड़ित है भी या नहीं ये हम कैसे पता कर सकते हैं. यानि की इस Corona Virus की Symptoms क्या हैं चलिए जानते हैं.

WHO (World Health Organization) के अनुसार, Corona Virus से पीड़ित व्यक्ति में बहुत से प्रकार के infection दिखाई पड़ती है जिसमें की बुखार, cough, साँस लेने में तकलीफ इत्यादि दिखाई पड़ती है.

वहीँ अगर Cases ज्यादा severe हो जाये तब, व्यक्ति में pneumonia, multiple organ failure और यहाँ तक की मौत होने की भी संभावनाएं दिखाई पड़ती है. अभी के अध्ययन के अनुसार इस Virus का incubation period है लगभग 1 से लेकर 14 दिन. वो भी Infection से लेकर symptoms दिखाई पड़ने का समय काल. ज्यादातर cases में लोगों में ये symptoms पांच से छह दिनों के भीतर ही दिखाई पड़ जाती है.

वहीँ एक ख़ास बात ये भी है की, infected patients भी asymptomatic होते हैं, इसका मतलब की उनके शरीर में virus होने के वाबजूद भी किसी भी प्रकार का symptoms उनमें पाई नहीं जाती है.

कोरोना वायरस कितना ज्यादा खतरनाक है?

वैसे अब तक Corona Virus से पीड़ित लोगों में करीब 8,600 recorded इंसानों की मौत हो चुकी है. ये मृत्यु की संख्या ने 2002-2003 SARS outbreak को भी पार कर चूका है, जो की चीन से उद्गम हुआ था उस समय में.

SARS Virus से infected लोगों में करीब 9 percent लोगों को मौत प्रदान किया था – जो की करीब 800 लोग दुनिभर में और वहीँ केवल चीन में ही 300 से ज्यादा लोग.

वहीँ इस नयी coronavirus की बात करें तब ये काफ़ी तेजी से फ़ैल रहा है, SARS और MERS के मुकाबले. लेकिन इसमें Mortality Rate काफी कम है जो की करीब 3.4 percent है, यह बात सच में बहुत ही संतोषजनक है.

करोना वाइरस रोकने के लिए Govt की गाइडलाइन

चलिए अब COVID-19 से आप किस तरह से बच सकते हैं और ऐसी कौन कौन सी Protection Measures हैं जिनका आप इस्तमाल कर खुदको और दूसरों को बचा सकता है. चलिए अब इन्ही के विषय में जानते हैं.

1. यदि आपकी तबियत ठीक न लगे, तब ऐसे में आपको घर पर ही रहना चाहिए. वहीँ यदि आपको कुछ mild symptoms जैसे की headache (सिरदर्द) और नाक से पानी निकलना, जैसे कुछ भी लक्षण दिखाई पड़े तब आपको घर पर ही रहना चाहिए.

क्यूँ?

ऐसा इसलिए क्यूंकि यही आप घर पर ही रहें तब आप इस प्रकार की infection को अपने घर तक ही शिमित कर सकते हैं. वहीँ आपको सही तरीके से और effectively इलाज किया जा सकता है. वहीँ Possible COVID019 और दुसरे Viruses को भी आप तक ही शिमित रखा जा सकता है.

2. अगर आपके शरीर में बुखार हो, cough हो और साथ में साँस लेने में दिक्कत हो तब, तब ऐसे में आपको medical advice के लिए तुरंत किसी Doctor से सलाह लेनी चाहिए, क्यूंकि ऐसा किसी respiratory infection या दुसरे serious condition के तरफ इशारा भी कर सकता है.

क्यूँ?

ऐसा इसलिए क्यूंकि इससे आपको advance में अपने health care provider से तुरंत ही सभी health facility प्राप्त कर सकते हैं. वहीँ इससे आप COVID-19 Virus को औरों तक पहुँचने से रोक सकते हैं.

इटली में कितने लोग कोरोना वायरस से मर चुके हैं?

अब तक इटली में कोरोना वायरस से पीड़ित करीब 743 से ज्यादा लोग मर चुके हैं.

विश्व में कोरोना वायरस से कितने लोग मर चुके हैं?

यदि हम पुरे विश्व की बात करें तब कोरोना वायरस से करीब 17500 से भी ज्यादा लोग मर चुके हैं. जो की बहुत ही कम समय में काफी ज्यादा प्रतीत होता है.

बच्चों में कोरोना वायरस के लक्षण

बच्चों में कोरोना वायरस बीमारी के लक्षण सामान्य सर्दी जुकाम या निमोनिया जैसा होता है. लेकिन कुछ दिनों के बाद जब इस वायरस का संक्रमण बढ़ जाता है, तब बच्चों के शरीर में बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या दिखाई पड़ती है.बच्चों को Coronavirus से काफ़ी कम risk होता है. वहीँ इस वायरस से उनमें severe illness या मरने की संभावनाएं भी काफी कम पाई गयी हैं, जो की सच में बेहद खुशी वाली बात है.

भारत के कितने राज्य कोरोना वायरस का शिकार हैं ?

भारत में कुल 25 राज्य COVID-19 का शिकार बन चुके हैं. वहीँ इन राज्यों में पीड़ितों की संख्या दिनबदिन बढती ही जा रही है.

चीन में कोरोना वायरस रुकने की वजह क्या है ?

चीन में Coronavirus रुकने का असली वजह यह है की इस बीमारी को रोकने के लिए सरकार को एक बहुत ही बड़ा और controversial कदम लिया गया जो की है Wuhan और इसके आसपास के सहरों को Lock Down करना. जिसके चलते उस समय लगभग 50 million लोगों को एक mandatory quarantine के तहत अपने ही घरों में बंदी बना दिया गया. इस Lock Down की प्रक्रिया को 23 January 2020 से पूरी तरह से लागु कर दिया गया था.

क्या कोरोना वायरस शिव पुराण में वर्णित हैं ?

Coronavirus का जिक्र जो Shiv Puran में होने की बात चल रह रही है वो बिलकुल ही झूठ है. कुछ समय पहले ही बात है जब लोगों में कुरान में बाल निकलने के दावे सोशल मीडिया में वायरल हुए थे लेकिन उस समय भी इस बात को बस केवल एक अफवाह बताई गयी बाद में.

कोरोना वायरस के लिए किस एक्टर ने डोनेशन किया है ?

ये तो बहुत ही प्रशंसा की बात है की हमारे कुछ Actors और Famous Celebrities ने आगे बढ़कर आम लोगों की मदद के लिए Donations प्रदान किये हैं और साथ ही ऐसा कर वो औरों के सामने एक उदाहरण प्रस्तुत किया है की कैसे वो भी अपना योगदान प्रदान कर सकते हैं. ऐसे बहुत से Actors हैं जिन्होंने की Donations दिया है जिनमें शामिल हैं Hrithik Roshan, Prabhas,Mahesh Babu, Rajinikant, Kapil Shamra इत्यदि.

Corona Virus का इलाज है या नहीं ?

कोरोना वायरस का इलाज अभी के समय में किसी के भी पास पह्जुद नहीं है. वहीँ सच बात तो यह है की ऐसी कोई भी therapies मेह्जुद नहीं है जो की इन सभी coronaviruses को काबू में कर सकें, जिनमें शामिल हैं SARS और MERS. वहीँ हमारे देश और दुसरे देशों के वैज्ञानिक इस COVID-19 का इलाज ढूंडने में काफी ज्यादा व्यस्थ हैं. वहीँ उम्मीद हैं की बहुत ही जल्द वो अपने इस मुहीम में कामयाब भी हो जाएँ.

कोरोना ठीक होने के बाद दुबारा हो सकता है ?

कोरोना ठीक होने के बाद दुबारा हो सकता है या नहीं, इसका जवाब हाँ भी है और नहीं भी. चलिए एक उदाहरण से इसे समझते हैं, चीन की बात है जहाँ पर पर शुरुवात में जब इस महामारी से काफी लोग पीड़ित हुए, वहीँ उनकी recovery होने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया. लेकिन कुछ महीने के बाद उन्हें फिर से coronavirus ने पीड़ित कर दिया दुबारा से.

कोरोना वायरस बीमारी का नाम और वायरस का नाम क्या है ?

कोरोना वायरस बीमारी का नाम है coronavirus disease (COVID-19) और कोरोना बीमारी फ़ैलाने वाले वायरस का नाम है severe acute respiratory syndrome coronavirus 2 (SARS-CoV-2) है.

कोरोना बीमारी फ़ैलाने वाले वायरस का नाम क्या है ?

कोरोना बीमारी फ़ैलाने वाले वायरस का नाम है severe acute respiratory syndrome coronavirus 2 (SARS-CoV-2) है.

किस देश में बिल्कुल भी कोरोना वायरस नहीं है ?

अब चलिए जानते हैं की ऐसे कौन से देश हैं जिसमें बिलकुल भी कोरोना वायरस नहीं है. इन देशों में शामिल हैं New Caledonia, Niue, Samoa, Vanuatu, the Cook Islands, Tonga, Namibia, Madagascar, Ethiopia, Mozambique, Botswana, Tanzania, Kenya and Angola. Uzbekistan, Laos, Uruguay, Cuba, Turkey, Greenland, Belize, Bahamas और Barbados.

Corona Virus कैसे फ़ैल रहा है ?

Doctors का मानना है की coronavirus मुख्य रूप से एक व्यक्ति से दुसरे तक फ़ैल रहा है. ऐसा तभी होता है जब कोई पीड़ित व्यक्ति किसी स्वस्थ व्यक्ति के संपर्क में आता है. यदि पीड़ित व्यक्ति के छींक या खांसने से पैदा हुए droplets किसी स्वस्थ व्यक्ति के मुंह या नाक के संपर्क में आता है तब chances हैं की वो उन्हें अपने साँस के जरिये फेपड़ों तक खिंच लेता है, ऐसे में कोरोना वायरस आसानी से फ़ैल सकता है.

कोरोना वायरस के क्या हैं लक्षण और कैसे कर सकते हैं बचाव ?

यह COVID-19 virus अलग अलग लोगों को अलग अलग तरीकों से आक्रांत करता है. COVID-19 वैसे तो एक respiratory disease है और वहीँ बहुत से infected लोगों में जिनमें यह mild से moderate symptoms दिखाता है, वो बिना किसी ख़ास treatment के ही recover हो जाते हैं. वहीँ लक्षण में शामिल हैं
• Fever (बुखार)
• Tiredness (थकावट)
• dry cough (सुखी खासी)
• साँस लेने में तकलीफ होना
• aches और दर्द होना पुरे शरीर में
• sore throat का होना (गले का फूलना)
• नाक से पानी बहना
• वहीँ कुछ लोगों में बार बार सौच होना भी शामिल है

कोरोना वायरस के लिए मास्क का इस्तमाल कैसे करें ?

कैसे आप कोरोना वायरस के लिए मास्क का इस्तमाल कर सकते हैं जिसमें शामिल है उस Mask को लगाना, उसे take off करना और साथ में मास्क को कैसे dispose करना.

Coronavirus check कैसे करें और test कहाँ कराएं ?

यह बात जान लें की Coronavirus की testing केवल तभी कराना चाहिए जब आपके शरीर में coronavirus के कुछ लक्षण दिखाई पड़ें., वहीँ यदि आपने हाल में ही कहीं दुसरे देश की यात्रा की हुई है तभी या किसी पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आये हैं तभी.

कोरोना वायरस की जांच का खर्च कितना है विभिन्न राष्ट्रो मे?

कोरोना वायरस की जाँच का खर्च भारत में Rs.4,500 तक का हैं.

कोरोना वायरस की जानकारी

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख विश्व में कोरोना वायरस का कहर जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को कोरोना वायरस बीमारी के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here